0

Jinnat se dosti ka mujjarib amal :- 

जीन्नात से दोस्ती का मुज्जारीब अमल जो नगीना बाबा शाह का खुद का अजमाया हुआ है ! यह अमल बहूत ही लाजवाब है ! और अगर आप इसे करना चाहते है तो इजाजत लेकर करे या फ़िर किसी उस्ताद की निगरानी मे करे !


AMAL ( अमल ) :- Surah Taubah Ayat 128,

Laqad jaa'akum rasulun min anfusikum
AAaziizun AAalayhi ma AAanittum hariisun
AAalaykum bilmu' minina ra ufur rahiim




JINNAT SE DOSTI KARNE KI TARKEEB (तरीका) :- 

अगर आप जीन्नात से दोस्ती करना चाहते है तो ऊपर बताए गये आयत को रोजाना इस की तादाद के बराबर यानी (2929) मर्तबा ! और वक़्त muqarrara पर एक अलग ROOM (कमरे ) मे (41) roz (दिन) तक पढ़े और अपने गिर्द हिसार करले और परहेज़ जलाली और जमाली करे तो बेहतर होगा ! और अमल करने के 2 HOUR तक कोई भी बदबू वाली डेर सय ना खाए और हमेशा याद रख्खे की अमल करते समय पाक साफ रहकर अमल किया करे ! जब यह अमल आप करेंगे तो पहले (31) रोज़ (दिन) "jinn" हाज़िर होगा और आपकी तिलावत सुनकर वह वापस चला जाएगा ! इस अमल मे इजाजत लेना ही कामयाबी की दलील है ! मैं कई बार बता चुका हूँ की कामयाबी बहूत जरूरी है वरना रूजात या जन का खौफ है ! और इजाजत लेकर या फ़िर किसी उस्ताद की निगरानी मे अमल करे तो कामयाबी यकीनन मिलेगी !

अगर आपको यह अमल करना है तो आप हज़रत सूफी हफीज की इजाजत लेकर कर सकते है !
EMAIL :- nghosi@gmail.com
दुआ मे याद रखे

यह पढ़े :-
1. Mohabbat KA Amal Surah Falak Ki Taweez Se
2. Jinaat Bhut Shetaan Ko Chiraag Me Jalane Ka Tarika Hindi Me
3. जीन्नात को एक दिन मे वश मे करने का आसान अमल

कृपया जानकारी शेयर करे अधिक जाने नीचे कमैंट्स KMGWEB.IN पर साम्रगी ज्ञानवर्धन के लिए है यहाँ क्लिक से हमारे बारे में शारीरिक उपाय आजमाने से पहले चिकित्‍सक अथबा सलाहकार से मिले Kindly Share Article click icons⤵

Post a Comment