2
वैज्ञानिकों को एक बार फिर अंतरिक्ष में शक्तिशाली रेडियो संकेतों के प्रमाण मिले हैं। ये संकेत ठीक उसी जगह पर मिले हैं जहां पहले भी एलियन की मौजूदगी के अस्पष्ट संकेत मिले थे। दूसरी तरफ सेन फ्रांसिस्को के वैdज्ञानिक भी एलियन को रेडियो ट्रांसमीटर से संदेश भेजने की तैयारी में जुट गए हैं। ‘मेटी’ नामक एक एनजीओ ने इसकी पुष्टि की है।


हालांकि प्रसिद्ध वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग ने हाल ही में चेतावनी दी थी कि ब्रह्मांड में एलियन से यदि इंसान का सामना हुआ तो वह धरती वासियों पर हमला भी कर सकते हैं। इसके बावजूद ‘मेटी’ के वैज्ञानिकों ने एलियन को संदेश देने वाले एक कार्यक्रम की लांचिंग कर दी है।



इस एनजीओ ने घोषणा की है कि वह अंतरिक्ष में मौजूद अलौकिक ताकतों या एलियंस से संपर्क बनाने के लिए ब्रह्मांड में ट्रांसमीटर लगाकर संदेश भेजने की तैयारी में जुट गया है। इस एनजीओ का मानना है कि एलियन धरती पर इंसानों से संपर्क की कोशिश करें, उससे पहले ही हम उन्हें संदेश भेजना चाहते हैं।


उधर, खगोल विज्ञान के प्रसिद्ध जर्नल ‘एस्ट्रोफिजिकल’ ने अपनी ताजा रिपोर्ट में यह कहकर वैज्ञानिकों को चौंका दिया है कि अंतरिक्ष में ठीक उसी जगह पर किसी परग्रही के छह तरह के रेडियो संकेतों की गड़गड़ाहट खोजी गई हैं जहां वर्ष 2012 में एलियन की मौजूदगी के संकेत मिले थे। यह स्थान धरती से 3 अरब प्रकाश वर्ष की दूरी पर स्थित है।

रेडियो संकेतों की यह खोज पुर्तो रिको स्थित एरेसिबो ऑब्जर्वेटरी और वेस्ट वर्जीनिया में ग्रीन बैंक टेलिस्कोप से जुड़े खगोल विशेषज्ञों ने की है। हालांकि वैज्ञानिकों ने कहा कि जिन रेडियो संकेतों को एलियन का माना जा रहा है वह न्यूरॉन सितारों से पैदा होने वाली सौर झिलमिलाहट के चलते अथवा किसी परग्रही के भी हो सकते हैं लेकिन इस बारे में अभी से कुछ कहना जल्दबाजी होगी।

कृपया जानकारी शेयर करे अधिक जाने नीचे कमैंट्स KMGWEB.IN पर साम्रगी ज्ञानवर्धन के लिए है यहाँ क्लिक से हमारे बारे में शारीरिक उपाय आजमाने से पहले चिकित्‍सक अथबा सलाहकार से मिले Kindly Share Article click icons⤵

Post a Comment