0

ममी के बारे मे जानकारी हिन्दी मे || History Of Mummy

आपने ममी का नाम तो सुना होगा और ममी क्या होते है जानते भी होंगे लेकिन क्या आपने कभी यह सोचा है इन्हे ममी क्यू बोलते है और क्यो बनाया जाता है ममी और ममी कहा पाई जाती है ?

history of mummy


प्राचीन सात आश्चर्यों मे से एक है मिस्र का पिरामिड शायद आप इसके बारे मे जानते भी होंगे अगर नहीं जानते तो यहा क्लिक से पढे पिरामिड के बारे मे 15 रोचक तथ्य | ममी - किसी मृत शरीर पर लेप आदि लगाकर मृत शरीर को सालो तक सुरक्षित रखने के तरीको को ममी कहा जाता है और लोगो का ऐसा मानना है की मिस्र के पिरामिड के अंदर ममी को रखा गया है |



ममी की उत्पत्ति प्राचीनकाल मे मिस्र के लोगो द्वरा हुई | मिस्र के लोग और बाकी देशो मे लोग अपने करीबी रिसतेदार और प्रिय जानवरो की मृत्यु के बाद उनकी ममी बनाकर सालो तक उन्हे संभाल कर रखते थे | मिस्र मे लगभग एक मिलयन ममी है और भी ऐसे कई देश है जहा पर ममी आज भी पाई जाती है |

ममी का मतलब क्या है ||

क्या आपको मालूम है ममी का क्या मतलब है | ममी अरबी भाषा के मुमिया से बना बना हुआ है जिसका अरबी भाषा मे अर्थ होता है मोम या तारकोल के लेप से रखी गयी वस्तु | अगर आपको लगता है की मिस्र मे ममी बनाने की शुरुवात हुई थी तो ममी शब्द प्राचीन मिस्र के शब्द है तो आप गलत है | 

ममी क्यो बनाया जाता था |

प्राचीन मिस्र और भी कई देशो मे लोग पुनर्जन्म मे विश्वास रखते थे और उनका मानना था की मृत व्यक्ति के शरीर को संभालकर रखना चाहिए | ऐसा करने से मृत व्यक्ति अपने शरीर को पा सकता है | और इसी कारण प्राचीन समय के लोगो ने ममी बनाना चालू किया | ओर आज तक ममी बनाने की प्रक्रिया चल रही है |



कैसे बनाया जाता है ममी

पहले के समय एक ममी बनाने मे 70 दिन लग जाते थे और ममी को बनाने के लिए धर्मगुरु और पुरोहित के साथ साथ विशेसज्ञ भी होते थे | ममी बनाने के लिए सबसे पहले मृत शरीर की पूरी नमी को खत्म किया जाता है और ऐसा करने मे कई दिन का समय लगता था | जब शरीर की नमी खत्म हो जाती थी तो पूरे मृत शरीर पर परत दर परत काटन की पट्टिया लपेटा जाता था | 

जब पूरे शरीर पर पट्टी लपेट ली जाती थी तो शरीर के आकार से मिलते जुलते लकड़ी के ताबूत तैयार किए जाते थे और फिर इन ताबूत को रंगा जाता था | और यह सब जब पूरा हो जाता था तब धर्मगुरु के मतानुसार इस पर धार्मिक वाक्य आदि लिख दिया जाता था और एक धार्मिक समारोह करके ताबूत को शरीर सहित चबूतरे पर सम्मान के साथ रख दिया जाता था |


ममी का इतिहास काफी पुराना है | हम समय समय पर आपके लिए कई तरह की जानकारी लाते है अगर आपको जानकारी अच्छी लगी ममी के बारे मे तो आप हमारी सराहना कर सकते है |

कृपया जानकारी शेयर करे अधिक जाने नीचे कमैंट्स KMGWEB.IN पर साम्रगी ज्ञानवर्धन के लिए है यहाँ क्लिक से हमारे बारे में शारीरिक उपाय आजमाने से पहले चिकित्‍सक अथबा सलाहकार से मिले Kindly Share Article click icons⤵

सवाल जवाब पुंछे करे

कमेंट बॉक्स में अपने विचारों से अवगत करायें लेकिन याद रखे लोगिन कर Publish बटन क्लिक करते ह, अभद्र भाषा का प्रयोग ना करें Advertising comments not allowed