1
Janmdin Ki Hardik Shubhkamnaye In Hindi Font, Janmdin Ki Kavita In Hindi, Janmdin Ki Hardik Shubhkamnaye In Marathi, Brithday Wishesh In Hindi, Janmdin Ki Hardik Shubhkamnaye Meaning, Janmdin Ki Hardik Shubhkamnaye In Sanskrit

जन्मदिन शायरी बधाई हिन्दी मे -

क्या आप अपने मित्रो को जन्मदिम पर बधाई देना चाहते है तो आज हम आपके लिए कुछ चुनिन्दा बधाई के लिए शायरी, जन्मदिन मुबारकबाद, शादी सालगिराह के लिए पेश करने वाले है | आइये देखेते है कौन से है -

Janmdin Ki Badhai


निकलता हुआ सूरज दुआ दे आपको |
खिलता हुआ फूल खुसबु दे आपको ||
हम तो कुछ देने के काबिल नहीं है |
खुदा हजार खुशिया दे आपको ||
शुभ जन्मदिवश 


Duaa Hai Ki Kaamyaabi Ki Har Sikhar Par Aapka Naam Hoga |
Aapke har KAdam par Duniya Ka Salam Hoga ||
Himmat Se Mushkilo Ka Saamna KArnaa Hamari Duaa HAi ||
KI Waqt Bhi AApka Gulaam Hoga || Happy Brithday 

Happy Brithday Wishes


जन्मदिन मुबारक शायरी 
"दीप जलते जगमागते रहे, आप हम को हम आपको याद आते रहे |
जब तक जिंदगी है दुआ है हमारी ||
आप फूलो की तरह मुसकुराते रहे |

Gulaab Khilte Rahe Jindagi Ki RAah Me |
Hansi Chamakti RAhe AAp Ki Nigaah me ||
Khusi Ki Lahar Mile Har Kadam PAr |
aapko Deta Hai Ye Dil Duaa Baar BAar ||

हम आपके दिल मे रहते है |
इसलिए हम हर दर्द सहते है ||
कोई हमसे पहले विश न करदे आपको |
इसलिए एडवांस मे हैप्पी बर्थडे कहते है ||


Janmdin Par Hindi Best Kavita


सुनो राम सिया शबरी अहिल्‍या सब तुम्‍हारी बाट जोहती हैं

आज भी ये सब कण कण में राम खोजती हैं।

गीध व्‍याध वानर को अब कौन गले लगाता है

करुणा, क्षमा, दया को बाजार में नित्‍य बेचा जाता है।

त्रेता से कलियुग की यात्रा बहुत कठिन रही होगी

अब बैठो राम किसी वन में छद्म भरा कलियुग देखो

नाम तुम्‍हारे बिकते, बाजारों में जोर-शोर से

घर में मां-बाप-भाई के रिश्‍ते कैसे रिसते हैं देखो।

तुम्‍हारे नाम पर आज कितनों की रोजी-रोटी ज़िंदा है

तुम्‍हारे नाम पर आज पूरे शहर-गांव-कस्‍बे में मेला है

सब पूजते हैं राम, कहां जानते हैं राम, नहीं मानते हैं राम

पाथर में ढूढ़कर तुम्‍हें पूजने वाले फिर भी कहां शर्मिंदा हैं।

बस राम तुम्‍हारे जन्‍मदिन पर इतना ही कहना है

क्षमा शील बन इनके व्‍यापारों को मत उगने देना

कल हो जायें पाथर राम, राम को पाथर मत होने देना

राम तुम्‍हारे जन्‍मदिन पर बस इतना ही अब कहना है।

बात अधूरी है मेरी फिर कभी बोलूंगी तुमसे

अभी जन्‍मदिन और मनाओ हे वनवासी राम

राजा रह कर मन में वन और वन में मन

व्‍याख्‍याओं से परे तुम्‍हें मुझे अपने मन में रखना है

बस राम तुम्‍हारे जन्‍मदिन इतना ही कहना है।
-अलकनंदा सिंह

Janmdin Ki Badhaiya In Shayri
तेरे लिए अनमोल तौहफा हूँ लाया 
बस गुजारिश है हंस कर कुबूल कर ले 
ये आईना है तेरे लिए सनम 
मेरे लिए बस तू ही अंमलोल रत्न 
Happy Brithady To Girl Friend


तेरे मुस्कान पर दिल दे बैठे है हम  
उसे यूं ही सलामत रखना 
हँसते हुए हरा देना सारे गम 
बस ज़िंदादिली कायम रखना  
Happy Brithday To Lovely Friend

ऐसा हो जन्मदिन तुम्हारा 
दुख न आए कभी दुबारा
खुशिया के हो नजारे चारो और 
और हम पीकर मचाए शोर ही शोर 


कृपया जानकारी शेयर करे अधिक जाने नीचे कमैंट्स KMGWEB.IN पर साम्रगी ज्ञानवर्धन के लिए है यहाँ क्लिक से हमारे बारे में शारीरिक उपाय आजमाने से पहले चिकित्‍सक अथबा सलाहकार से मिले Kindly Share Article click icons⤵

सवाल जवाब पुंछे करे

  1. Very Good Shayri Pls Wright More Sher Sharyri ! hindi shayru;; english shayri; marathi shayri ' love shayri' love poem all topic cover pls

    ReplyDelete