0
लूडो का इतिहास
लूडो खेल की इतिहास की बात करे तो पचिसी या लूडो भारत मे 6वी शताब्दी मे जन्म लिया | भारत मे इस खेल Ludo की शुरुवात मुगल सम्राटों द्वारा किया गया यह माना जाता है | जिसका उल्लेखनीय उदाहरण अकबर है | भारत मे इस खेल का सबसे पहला सबूत अजंता की गुफाओ पर बोर्डो का चित्रण है |



भारत मे लूडो बोर्ड गेम की लोकप्रियता

भारत मे लूडो बोर्ड खेल एक समय था बहुत ही लोकप्रिय था लेकिन समय का फेर है कुछ समय से लूडो गेम समाप्त होने के कगार पर था लेकिन अब लूडो गेम फिर से लोगो को लुभा रही है क्योकि आज लूडो गेम ने स्मार्ट फोन पर जगह बना लिया है |




लूडो खेल - लूडो खेल को चार लोगो के साथ मिलकर खेला जा सकता है लेकिन अगर आपके दोस्त कम है जैसे एक दोस्त है फिर भी इसे खेल सकते है लेकिन Ludo game अकेले नहीं खेला जा सकता है |
लूडो गेम मे एक पासा फेकना होता है और नम्बर जितना पासा मे आए उतने चाल चलने होते है | लूडो गेम मे चार तरह की गोटिया होती है हरी पीली नीली लाल जो बचो को काफी लुभाती है और इस खेल को बच्चे बहुत पसंद करते है और यह एक ऐसा खेल है जिसे बड़े भी समय होने पर खेलते है और इसे हर मौसम मे खेला जा सकता है |



यह पढे - शानदार डील्स Top 5 gadget Flipkart पर 500 Rs के अन्दर

लूडो गेम स्मार्ट फोन पर कैसे खेले - 
इस खेल को स्मार्ट फोन पर अब खेला जा सकता है आप चाहे तो Play Stor से इसे DownLoad कर सकते है बस उसके लिए आपको Paly Stor पर लिखना होगा Ludo Game और आपके सामने Install का ऑप्शन आ जाएगा | और अगर आप चाहे तो यहा से भी Ludo Game Downlaod कर सकते है |

कृपया जानकारी शेयर करे अधिक जाने नीचे कमैंट्स KMGWEB.IN पर साम्रगी ज्ञानवर्धन के लिए है यहाँ क्लिक से हमारे बारे में शारीरिक उपाय आजमाने से पहले चिकित्‍सक अथबा सलाहकार से मिले Kindly Share Article click icons⤵

सवाल जवाब पुंछे करे

कमेंट बॉक्स में अपने विचारों से अवगत करायें लेकिन याद रखे लोगिन कर Publish बटन क्लिक करते ह, अभद्र भाषा का प्रयोग ना करें Advertising comments not allowed