0
बाबरी मस्जिद किसने तोड़ा तो आपको बता दे 1972 बैच के आईपीएस अधिकारी रहे किशोर कुणाल ने दावा किया है अयोध्या मे राम मंदिर बाबर नहीं, औरंगजेब  के शाशन काल मे तोड़ा गया था | ब्रिटिश काल की फाइलों, प्राचीन संस्कृत सामाग्री, खोदाई की समीक्षा व विदेशी प्रयटको का हवाला देते हुए उनकी लिखी पुस्तक अयोध्या रीविजीटेड मे यह दावा किया गया है |


अयोध्या मे रविवार को पत्रकारो से कुणाल ने कहा कि यह पुस्तक दोनों समुदायो के बीच तनाव खत्म करने मे मिल का पत्थर साबित होगी | कुणाल ने कहा की आम धारणा यह कि बाबर ने राम मंदिर को तोड़वाया था | जो की बिलकुल गलत है - बाबर के नाम से जो मस्जिद कही जाती है वह कभी बनी ही नहीं |



यही नहीं मंदिर को तोड़े जाने की घटना भी बाबर के शासन मे नहीं हुई थी बल्कि यह घटना 1660 ई. मे तब हुई थी जब फिदाई खान अयोध्या मे औरंगजेब का गवर्नर था |
महाबली खली से जुड़ी यह 25 बाते आपको हैरान कर देंगे
विदेशी लेखको ने भी किया राम मंदिर का जिक्र
पुस्तक मे बताया गया है संस्कृत, अँग्रेजी और फ्रांसीसी विदयवानों का अपनी पुस्तक मे उल्लेख करते हुए किशोर कुणाल ने यह साबित करने की कोशिश कि अयोध्या मे विवादित स्थल पर मंदिर मौजूद था | पुस्तक मे बताया है कि 1767 मे भारत आए आस्ट्रिया फादर के जोसेफ टीफेंथेलर ने भी अपनी पुस्तक मे इसका उल्लेख किया है | उन्होने ने बताया की औरंगजेब ने मंदिर तोड़कर मस्जिद बनवाया था |

  • 1801 मे भारत आए अंग्रेज़ पर्यटक सी मेंटल ने भी औरंगजेब द्वारा मंदिर तोड़ मस्जिद बनवाने की बात लिखी है |
  • 1841 मे बने एक गजेटियर मे भी औरंगजेब द्वारा मंदिर तोड़ने जाने का जिक्र है |
  • 1631 मे हिंदुस्तान आए इटली के प्रयटक डिलेट ने जिक्र किया है कि उन्होने अयोध्या मे राम मंदिर देखा है |

कृपया जानकारी शेयर करे अधिक जाने नीचे कमैंट्स KMGWEB.IN पर साम्रगी ज्ञानवर्धन के लिए है यहाँ क्लिक से हमारे बारे में शारीरिक उपाय आजमाने से पहले चिकित्‍सक अथबा सलाहकार से मिले Kindly Share Article click icons⤵

Post a Comment