2
दाऊद इब्राहिम के नाम से आप भली भाति परिचित होंगे दाऊद इब्राहिम के इतिहास से लेकर उमके परिवार का इतिहास देखे तो आपको पता चलेगा दाऊद के परिवार मे एक नहीं कई डॉन है | दाऊद के बारे मे अक्सर इन्टरनेट पर सर्च किया जाता है दाऊद इब्राहिम कैसे बना डॉन,दाऊद इब्राहिम की पूरी कहानी, दाऊद इब्राहिम का घर तो आज हम दाऊद इब्राहिम के पूरे परिवार की चर्चा करने वाले है |

दाऊद इब्राहिम - सैकड़ों लोगो की मौत के लिए जिम्मेदार अंडरवर्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के भाई बहनो का भी आपराधिक रिकार्ड भी छोटा नहीं है |  हालांकि दूसरों के बच्चो को अपराध की दुनिया मे धकेलने वाले डॉन ने खुद की ओलाद को इस काली दुनिया से दूर रखा है |
अट्ठारह सितम्बर का इतिहास मे महत्व
daud ibrahim photo
ओज़ोन डे पर ऐसे बचाए पृथ्वी
दाऊद के 2 बेटे और 1 बेटी -
दाऊद की पत्नी का नाम महज़बीन उर्फ जुबिना जरीन है दोनों के चार बच्चे थे तीन बेटिया माहरुख, माहरिन, और मारिया और एक बेटा मोइन है | बेटी मारिया की साल 1998 मे मौत हो गई | डॉन की सबसे बड़ी बेटी माहरुख के पति पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर जावेद मियादंद के बेटे जुनेद है | छोटी बेटी माहरिन की शादी अमेरिका मे बिज़नसमेन आयुब से हुई है | बेटे मोइन की शादी कराची मे लंदन के बिज़नसमेन की बेटी सानिया से 2011 मे हुई है मोइन ससुराल मे ही रहते है |



दाऊद की संपत्ती - 35 हजार की संपत्ति है सरकारी रिकार्ड के अनुसार दाऊद के पास है | अब तक जुर्म की दुनिया मे रहकर किसी शख्स ने इतनी दौलत नहीं बनाई है |

दाऊद के 2 भाई गैंगवार मे मारे गए -
दाऊद 1986 मे भारत छोड़कर दुबई भाग गया था इससे पहले 1981 मे उसके बड़े भाई साबिर की हत्या पठान गैंग ने कर दी थी | उसके साथ कराची मे रह रहे दूसरे भाई नूरा की 2009 मे सरदार रहमान गेंग ने मारा | एक भाई हुमायू कासकर की पिछले साल बीमारी से मौत हुई |



बहनौई की भी हुई हत्या - 
दाऊद के दुबई भागने के बाद उसका कारोबार बहनोई इब्राहिम पार्कर संभालने लगा था लेकिन गवली गैंग के गुर्गों ने उसकी हत्या कर दी | इसके बाद गॉडमदर से मशुहुर हसीना पारकर ने दाऊद का कारोबार संभाला |

11 भाई बहनी मे चौथे नंबर का इकबाल कासकर - 
दाऊद के पिता इकबाल कासकर महाराष्ट्र पुलिस मे हेड कान्सटेबल थे उनके सात बेटो मे से दाऊद एक है | इनमे इकबाल कासकर चौथे का बेटा था | कोकड़ी मुस्लिम परिवार से आने वाले दाऊद इब्राहिम की 4 बहने थी | दाऊद की बहन फरजाना तुंगेकर और हसीना पारकर की मौत हो चुकी है | मुमताज़ सेख और सईदा पारकर अभी जिंदा है | बालिबूड़ मे हसीना पार्कर पर बन रही फिल्म 22 सितंबर को रिलीज हुई |

2007 मे सबूतो के अभाव मे छूटा था
इकबाल कासकर मुंबई के नागपाड़ा इलाके मे रहता था | 2003 मे मुंबई पुलिस ने दुबई मे गिरफ्तार किया था इसके बाद 4 साल मुंबई की आर्थर रोड जेल मे रहा | 2007 मे सबूतो के अबाव मे रिहाई मिल गई | उस पर मुंबई के सारा - सहारा बिज़नस सेंटर मे ब्लैक मनी लगाने का केस चला था |

कृपया जानकारी शेयर करे अधिक जाने नीचे कमैंट्स KMGWEB.IN पर साम्रगी ज्ञानवर्धन के लिए है यहाँ क्लिक से हमारे बारे में शारीरिक उपाय आजमाने से पहले चिकित्‍सक अथबा सलाहकार से मिले Kindly Share Article click icons⤵

Post a Comment

  1. sir daud ibrahim don ki samppatti me aapne 35 hajar likhaa hai mujhse lagtaa hai wah rong hai kripyaaa use sahi kare ! 35 hajar karod sampatti hai daud ibrahim don ki

    ReplyDelete
    Replies
    1. सानिया जी ध्न्याव्द हम जल्दी ही पोस्ट अपडेट कर देंगे

      Delete