0

Resume kaise Bnaye रेज्यूम कैसे बनाए

आपका resume सही मायने मे वो आईना होता है जिसमे आपके कैरियर की झलक दिखाई पड़ती है | कोई भी एम्प्लोयर रेज्यूमे को महज एक बार पढ़कर यह अंदाजा लगा लेता है कि आप उसकी कंपनी जा जॉब प्रोफ़ाइल के लिए सूटलेबल है या नहीं | लिहाजा जरूरी है कि अपने रेज्यूमे मे आप न सिर्फ अपने जरूरी डिटेल्स मेंशन करे बल्कि उसे समय अनूसार अपडेट भी करे | reume banane ka tarika hindi jankari, resume making guide, resume update tips Hindi, resume create tips.
Resume Kaise Bnaaye New Tips - बदलते सिनेरियो के साथ जॉब सर्च के तरीको मे काफी बदलाव आया है | आज कई ऑनलाइन वैबसाइट न सिर्फ आपको जॉब ओपेनिंग के बारे मे इन्फॉर्म करती है बल्कि resume भेजकर डाइरेक्टली एप्लाई करने की फैसिलटी भी देती है लेकिन इसके बावजूद कई लोगो को कंपनीज से इंटरव्यू काल नहीं आते, असल मे ऐसा उनके रेज्यूमे के एफ़्क्टिव न होने के कारण होता है | जहा कुछ लोग resume को Upload कर उसे update नहीं करते  वही कुछ सही कीवर्ड या फॉर्मेट का इस्तेमाल नहीं करते |


Resume बनाने के लिए तरीका -

ऐसे मे हम आपको एफेक्टिव resume बनाने के कुछ टिप्स दे रहे है जो आपके लिए हेल्पफूल हो सकती है -
आप क्वालिटीज और स्ट्रेंथ को करे मेंशन - यहा पर आपकी वह क्वालिटीज व स्ट्रेंथ मेंशन करने की बात हो रही है | जो कंपनी या एप्लाई की जाने वाली जॉब प्रोफ़ाइल से मैच करती है | जैसे - अगर आप डिजाइनर की पोस्ट के लिए एप्लाई कर रहे है तो "क्रिएटिव" "थिंक आउट ऑफ द बॉक्स" जैसे एजेक्टिव्स यूज कर सकते है |

हालांकि इसका मतलब कतई नहीं है कि एक्सेजरेट करके यानि बढ़ा चढ़ा कर अपनी कवालटीज़ बताए | इससे अगर जॉब आपको मिल भी गई तो आपको सवाईव करने जैसी प्रोब्लेम फेस करनी होगी | इसलिए पहले अपने आप मे देखे कौन कौन से पोजिटिव पॉइंट है जो आपके वर्किंग प्रोफ़ाइल से मैच करते है उन्हे रेस्यूमे मे लिखे |



स्पेलिंग एरर्स और टाईपोज को करे क्रॉसचेक - अगर आपने अपने रेज्यूमे मे " आई एम ए करियर ओरियंटेड पर्सन ...." या फिर आई एम ग्रेजुवेट फ़्राम ........" जैसे वाक्यो का इस्तेमाल किया है तो उन्हे हटा दे | क्योकि आज के दौर मे टाइपोग्राफ़िकल एरर्स या स्पेलिंग एरर्स वाले रेज्यूमे को सेकंड चांस नहीं मिलती | एक CV आपकी कैपिबिलीटीज और एक्सपीरियंस को ब्यान करता है | ऐसे मे एम्प्लोयर के बीच यह मैसेज जाता है कि सीवी मे इतनी गलतिया है तो काम मे कितनी गलतिया होगी |

सही कीवर्ड्स का करे इस्तेमाल - हर जॉब प्रोफ़ाइल मे कुछ कीवर्ड्स होते है फिर चाहे कम्प्युटर की फील्ड हो, मीडिया इंडस्ट्री हो, मेडिकल से जुड़ी फील्ड हो या फिर बैंकिंग से | आपको अपने रेज्यूमे मे अपनी इंडस्ट्री मे इस्तेमाल किए जाने वाले सही वर्ड्स यूज करने चाहिए ताकि एम्पलॉयर को लगे की आप इंडस्ट्री के वर्क कल्चर से वाकिफ है और आपको जॉब प्रोफ़ाइल की अच्छी जानकारी है | इससे एम्पलॉयर पर आपका पोजटिव इंप्रेशन बनेगा |

सिम्पल फार्मेट मे रखे रेज्यूमे - रेज्यूमे बनाते समय उसका फार्मेट कितना हो सके सिम्पल रखे यानि फेन्सी, कलरफूल या फिर मल्टीपल फॉन्टस का इस्तेमाल न करे | इसके अलावा फॉन्ट या टेक्स्ट साइज़ मे भी ज्यादा अंतर नहीं होना चाहिए | कुल मिलकार आपके सीवी का फार्मेट रीडेबल, सिम्पल और विजुअली अपीलिंग होना चाहिए | बहुत ज्यादा ब्यूटीफिकेशन आपके एम्पलॉयर को अट्रैक्ट तो कर सकता है लेकिन जरूरी नहीं है कि वह उसे पूरा पढे | इसके अलावा जरूरी इन्फोर्मेशन को हमेशा बुलेट फार्म मे लिखे | पैराग्राफ मे लिखने से हमेशा बचे | इससे ग्रामाटिकल एरर्स भी कम होगी और बुलेट फार्म मे लिखने से उन्ही बातों पर एम्पलॉयर फोकस करेगा, जो आप उन्हे बताना चाहते है |

कृपया जानकारी शेयर करे अधिक जाने नीचे कमैंट्स KMGWEB.IN पर साम्रगी ज्ञानवर्धन के लिए है यहाँ क्लिक से हमारे बारे में शारीरिक उपाय आजमाने से पहले चिकित्‍सक अथबा सलाहकार से मिले Kindly Share Article click icons⤵

Post a Comment