ऐसे पता करें आपका आधार बैंक अकाउंट से जुड़ा है या नहीं

ऐसे पता करें आपका आधार बैंक अकाउंट से जुड़ा है या नहीं

ऐसे पता करें आपका आधार बैंक अकाउंट से जुड़ा है या नहीं:- इन दिनो आधार कार्ड को बैंक एकाउंट से जोड़ने का काम तेजी से चल रहा है ! लेकिन हमारा बैंक एकाउंट हमारे बैंक से जुड़ा है या नही इसकी हमे जानकारी नही होती है ! और ऐसे मे आपको यहाँ www.kmgweb.in पर बताने वाला हूँ की की कैसे मालूम करे की हमारा आधार कार्ड हमारे बैंक एकाउंट से जुड़ा है या नही !
एक कॉल से पता चलेगा बैंक खाते से जुड़ा आधार कार्ड या नहीं!
आधार कार्ड बैंक से कैसे जोड़े


यह है तरीका:- 

1. आपका आधार नंबर आपके बैंक अकाउंट के साथ जुड़ गया है या नहीं यह पता करने के लिए  उपभोक्ता अपने मोबाइल पर *99*99# डायल करें।


2. इसके बाद 12 डिजिट का आधार नंबर डालें और ओके करें।

3. आधार नंबर सही है यह पुष्टि करने के लिए 1 डायल करें।
इसके बाद मोबाइल पर आधार कार्ड के बैंक से जुड़े होने की जानकारी मिल जाएगी।

4. इस मैसेज में यह भी बताया जाएगा कि किस बैंक से किस तारीख को आधार कार्ड लिंक हुआ है।


आधार कार्ड से आपको मिलेंगे 10 फायदे :- 
1 सरकारी स्कीम :- सरकार कई स्कीमों को आधार कार्ड से जोड़ने जा रही है। अब सब्सिडी और अन्य वित्तीय लाभ आधार से जुड़े बैंक खाते में ही ट्रांसफर किए जाएंगे।

2 दस दिनों में मिलेगा पासपोर्ट: आधार नंबर से आपको सिर्फ 10 दिनों में पासपोर्ट मिल जाएगा। पुलिस सत्यापन बाद की तारीख में किया जाएगा। ऑनलाइन आवेदन करते समय आवेदनकर्ता को पता और पहचान के प्रमाण के तौर पर सिर्फ एक आधार नंबर ही देना होगा। आवेदनकर्ता को तीन दिनों के अंदर अपॉइंटमेंट मिल जाएगा और अन्य सात दिनों के अंदर पासपोर्ट की प्रोसेसिंग होकर उनके घर पर पहुंच जाएगा। पासपोर्ट जारी करने के लिए आधार को अनिवार्य कर दिया गया है।

पढ़े :- अगर कल चांद गायब हो जाए तो सोचिए क्या होगा..?

3. नया बैंक खाता खुलवाना:-
आधार नंबर बैंक खाता खुलवाने के लिए पता का सही प्रमाण है।

4. डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट:-

यह सिस्टम 'पेंशनभोगियों के लिए जीवन प्रमाण' कहलाता है। पेंशन लाभ के लिए अब पेंशनभोगियों का खुद से मौजूद होना जरूरी नहीं है। पेंशनभोगी का विवरण आधार का इस्तेमाल करके हासिल किया जाएगा।



5. सेबी:- आधार सिर्फ पहचान का ही प्रमाण नहीं रहा है बल्कि स्टॉक मार्केट में निवेश के लिए इसे पता के प्रमाण के तौर पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

6. मासिक पेंशन :- पेंशनभोगियों को मासिक पेंशन प्राप्त करने के लिए अपने-अपने विभागों में आधार नंबर रजिस्टर कराना होगा।


7. प्रविडेंट फंड:- पीएफ (PF) का पैसा उन खाताधारकों को ही आवंटित किया जाएगा जिन्होंने कर्मचारी संचय निधि संगठन में अपना आधार नंबर रजिस्टर करवा रखा है।
Adharcard ti pf


8. डिजिटल लॉकर :- भारत सरकार का डिजिटल लॉकर एक ऐसा सिस्टम है जहां एक व्यक्ति सरकारी सर्वर पर अपना निजी दस्तावेज जमा कर सकते हैं। साइन इन करने के लिए आधार नंबर से लिंक होना जरूरी है।

9. एलपीजी सब्सिडी :- 12 अंकों वाले व्यक्तिगत आईडी नंबर का इस्तेमाल बैंक खाते में एलपीजी सब्सिडी सीधे तौर पर ट्रांसफर करवाने के लिए किया जा सकता है।

10. वोटर कार्ड से लिंक:- आधार नंबर को वोटर आईडी से भी जोड़ा जाएगा।

पढ़े :- महाबली खली से जुड़ी ये 25 बातें आपको हैरान कर देंगी!
व्हाट्सऐप पर बोल्ड, इटैलिक लिखने की ट्रिक

व्हाट्सऐप पर बोल्ड, इटैलिक लिखने की ट्रिक

हेलो दोस्तो
आज मैं आपको व्हाट्सऐप पर बोल्ड, इटैलिक लिखने की ट्रिक बताने वाला हूँ ! और यह काफी मजेदार भी है ! और इस ट्रिक को बहूत कम ही लोग जानते है ! और इस ट्रिक को आप प्रयोग करके अपने दोस्तो मे अपना इंप्रेशन बना सकते है ! तो यह ट्रिक पोपुलर होने से पहले आप प्रयोग करे और अपने दोस्तो के बीच इंप्रेशन बनाए ! आपको मैने इससे पहले वाली पोस्ट मे बताया था की कैसे फ़ेसबुक पर READ MORE का प्रयोग करके अपने पेज पर LIKE बढा सकते है ! अगर नही पढा हो तो यहाँ क्लिक करके पढ़े !
Watsaap par bold and italic kaise likhe :-
Watsap par bold italic kaise likhe


व्हाट्सऐप पर बोल्ड, इटैलिक लिखने की ट्रिक :- व्हाट्सऐप पर बोल्ड, इटैलिक लिखने की ट्रिक जानने के लिये नीचे दिये गये कमांड को फॉलो कीजिए !
पढ़े :- माउस छुए बिना कैसे चलाए फ़ेसबुक टिप्स हिन्दी !

व्हाट्सऐप पर बोल्ड Test कैसे लीखे :- व्हाट्ऐप पर बोल्ड टेस्ट लिखने के लिए वाक्य या शब्द के शुरू और अंत में * लगाएँ ! Ex-  *Hello*

व्हाट्सऐप पर इटैलिक Test कैसे लीखे :- व्हाट्ऐप पर इटैलिक test लिखने के लिए वाक्य या शब्द के शुरू और अंत में * लगाएँ ! Ex-  _Hello_


वहाट्सऐप पर कटे हुए टेस्ट कैसे लिखें :- वहाट्सऐप पर किसी लिखे हुए वाक्य या शब्द को काटने के लिए उसके शुरू और आख़िर में ~ लगाएँ ! Ex- ~Hello~




बोल्ड और इटैलिक एक साथ कैसे लिखें :- अगर आप watsapp पर बोल्ड और इटैलिक एक साथ लिखना चाहते हैं तो वाक्य या शब्द के आरंभ और अंत में ये दोनों *_ निशान लगाएँ ! Ex- *_Hello*_

ये तो थी watsapp की ट्रिक जिसे आपने अच्छे से समझ लिया होगा फ़िर भी any problem ask me !

पढ़े :- अगर कल चांद गायब हो जाए तो सोचिए क्या होगा..?

Tag:- watsapp trick #watsapp bold and italik kaise likhe #watsapp tips #watsapp
एक अच्छे बेटे की पहचान जिससे लोगो को मिला सबक

एक अच्छे बेटे की पहचान जिससे लोगो को मिला सबक

Ek Achche Bete Ki Pahchaan :- एक बेटा अपने वृद्ध पिता को रात्रि भोज के लिए एक अच्छे रेस्टॉरेंट में लेकर गया।

खाने के दौरान वृद्ध पिता ने कई बार भोजन अपने कपड़ों पर गिराया।
रेस्टॉरेंट में बैठे दूसरे खाना खा रहे लोग वृद्ध को घृणा की नजरों से देख रहे थे
लेकिन वृद्ध का बेटा शांत था। खाने के बाद बिना किसी शर्म के बेटा, वृद्ध को वॉश रूम ले गया। उनके कपड़े साफ़ किये, उनका चेहरा साफ़ किया, उनके बालों में कंघी की,चश्मा पहनाया और फिर बाहर लाया।
सभी लोग खामोशी से उन्हें ही देख रहे थे।बेटे ने बिल पे किया और वृद्ध के साथ बाहर जाने लगा। तभी डिनर कर रहे एक अन्य वृद्ध ने बेटे को आवाज दी और उससे पूछा " क्या तुम्हे नहीं लगता कि यहाँ अपने पीछे तुम कुछ छोड़ कर जा रहे हो ?? "

बेटे ने जवाब दिया" नहीं सर, मैं कुछ भी छोड़ कर नहीं जा रहा। "
वृद्ध ने कहा " बेटे, तुम यहाँ छोड़ कर जा रहे हो,
प्रत्येक पुत्र के लिए एक शिक्षा (सबक) और प्रत्येक पिता के लिए उम्मीद (आशा)। "



आमतौर पर हम लोग अपने बुजुर्ग माता पिता को अपने साथ बाहर ले जाना पसंद नहीँ करते और कहते हैं क्या करोगे आप से चला तो जाता नहीं ठीक से खाया भी नहीं जाता आप तो घर पर ही रहो वही अच्छा होगा !
क्या आप भूल गये जब आप छोटे थे और आप के माता पिता आप को अपनी गोद मे उठा कर ले जाया करते थे,
आप जब ठीक से खा नही पाते थे तो माँ आपको अपने हाथ से खाना खिलाती थी और खाना गिर जाने पर डाँट नही प्यार जताती थी फिर वही माँ बाप बुढापे मे बोझ क्यो लगने लगते हैं???

माँ बाप भगवान का रूप होते है उनकी सेवा कीजिये और प्यार दीजिये... क्योंकि एक दिन आप भी बूढ़े होगें।

शेयर जरूर करे। जिससे लोग सबक ले।
माउस छुए बिना कैसे चलाए फ़ेसबुक टिप्स हिन्दी !

माउस छुए बिना कैसे चलाए फ़ेसबुक टिप्स हिन्दी !

माउस छुए बिना कैसे चलाए फ़ेसबुक टिप्स हिन्दी:-


आप बिना मॉउस के ज्यादा इस्तेमाल के भी अपना फेसबुक काफी तेज तरीके से चला सकते हैं, वो भी बेहद आसानी से। जी हां, आपके कीबोर्ड में तमाम ऐसे कीवर्ड्स हैं, जिससे आप अपना फेसबुक आसानी से नैविगेट कर पाएंगे और आपको कोई परेशानी भी नहीं होगी। खास बात तो ये है कि आपका मॉउस की ज्यादा जरूरत भी नहीं पड़ेगी।
फ़ेसबुक शॉर्टकट बटन

Tag:- Facebook Shortcut Key

अगर आप माइक्रोसॉफ्ट विडोंज के यूजर हैं, तो क्रोम वेब ब्रॉउजर पर आपको शॉर्टकट्स इस्तेमाल करने के लिए alt+# बटन दबाना होगा, ताकि ये शॉर्टकट्स एक्टिवेट हो जाएं। मोजिला फायरफॉक्स के लिए आपको Alt+shift+# का इस्तेमाल करना होगा।

फ़ेसबुक शॉर्टकट key के बारे मे :-

1. आप 1 बटन का इस्तेमाल करके न्यूज फीड ऐक्सेस कर सकते हैं। और अगर आप 2 नंबर बटन दबाते हैं, तो इससे आप सीधे अपने टाइमलाइन पर चले जाएंगे। पर ध्यान रहे, ये तभी काम करेगा, जब आप ऊपर बताए गए तरीके से शॉर्टकट एक्सेस हासिल कर चुके हों।

पढ़े :- How to Add Read More Option On Facebook ( फ़ेसबुक पर Read More कैसे लगाए )

2. आप फेसबुक में अपने फ्रेंड तक पहुंचने के लिए 3 नंबर बटन दबाकर सीधे पहुंच सकते हैं, तो मैसेज इनबॉक्स में जाने के लिए आपको 4 दबाना होगा।

3. फेसबुक शॉर्टकट्स में आपको नोटिफिकेशन देखने के लिए सिर्फ 5 दबाना होगा, तो सेटिंग में जाने के लिए सिर्फ 6 नंबर का बटन दबाना ही काफी होगा।

4. अगर आपको एक्टिनिटी लॉग में जाना है तो आप 7 दबाएं और खुद के बारे में जानना है यानि अबॉउट मी ऑप्शन में जाना है, तो 8 दबाएं।

5. इसी तरह से टर्म्स के ऑप्शन में जाने के लिए 9 दबाना होगा, तो 0 का बटन आपको फेसबुक हेल्प पर ले जाएगा।

पढ़े :अगर फेसबुक पर किए ये 8 काम तो आप हो जाएंगे ब्लॉक


Tag :- Facebook Shortcut Key # without using mouse start facebook
अगर कल चांद गायब हो जाए तो सोचिए क्या होगा..?

अगर कल चांद गायब हो जाए तो सोचिए क्या होगा..?

Chand Kal Gayab Ho Jaye To Kya Hoga :- क्या आपने कभी सोचा है कि चांद हमें किस किस तरह के फायदे देता है? सोचिए कि अगर कल के ही दिन चांद गायब हो जाए तो? अगर चांद हमें रात में रोशन करना बंद कर दे, तो फिर क्या हो सकता है? इस बारे में कभी सोचा है आपने? अब आपको हम बताते है कि अगर चांद कल के दिन गायब हो जाए तो हमारे साथ क्या क्या हो सकता है... !


ग्रैविटी का क्या होगा......? 
आपको पता है कि ग्रैविटी यानि गुरुत्वाकर्षण जो हमें धरती पर रोके रखती है वो चांद की वजह से है? अगर आपको नहीं पता तो अब जान लीजिए। ऐसे में अगर चांद ही गायब हो जाए तो हम और आप कैसे जिएंगे? चांद की वजह से ही महासागरों में ज्वार-भाटा की स्थिति आती है।



Tag :- Chand ke baare Me Rochak Jaankari

अगर चांद गायह हो जाए, तो धरती तेजी से सिकुड़ेगी। ऐस में सूर्य का खिंचाव बढ़ेगा। और पृथ्वी जो घूर्णन अपनी कक्षा में करती है, वो बंद हो जाएगा। तब क्या करेंगे आप?

पढ़े :- दुनिया में कैसे आया एटीएम, पहली बार कहाँ निकला "पैसा"

क्या 24 घंटों का दिन चाहते हैं आप.......? 
अगर चांद कल के दिन गायब हो जाएगा, तो जहां रात है वहां रात रहेगी और जहां दिन है वहां हमेशा के लिए दिन हो जाएगा। ऐसे में कैसे जिएंगे आप?


बदलते मौसमों का क्या होगा........?
धरती पर अगर मौसमी परिवर्तन ही खत्म हो जाएं तो कैसे जिएंगे हम लोग? कहने का मतलब है कि जहां सर्दियां हैं, वहां सर्दियां ही रह जाएं और जो जगह 50 डिग्री पर तप रही है, वो जगह वैसी ही जलती रहे तो?

पढ़े :- किसकी खोज किसने किया जानिए GK हिंदी में
त्योहारों का क्या होगा.....?
दुनिया के कई त्योहार चांद पर आधारित हैं। मुस्लिम देशों के कैलेंडर चांद पर आधारित हैं। अब जबकि चांद रोशन ही नहीं होगा, तब हमारी धरती का क्या होगा?

Chand festival eid bakrid

Tag :- Ye thi Chand Ke baare Me Rochak Tathy

ऐसे में अब आप ही तय कर लें कि अगर चांद नहीं रहेगा, तो कितनी समस्याएं हो सकती है? अगर अब भी आपकी समझ में न आ रहा हो, तो दूसरी बार ये पोस्ट पढ़े और चित्त को स्थिर करके सोचें।

पढ़े :- मोबाइल में File और Folder को कैसे छुपाये बिना किसी एप्लीकेशन के टिप्स हिन्दी मे !
Tag :- chaand Kya Hai # Chaand Na Ho To Kya Hoga # chand Ke Na Hone se Kya Nuksaan # Chaand And Moon Rochak
वेबसाइट की स्पीड icrease करके कैसे बनाए सुपरफास्ट - Cloudflare

वेबसाइट की स्पीड icrease करके कैसे बनाए सुपरफास्ट - Cloudflare

Website Ko Kaise Banaye Suparfast:-
आज मैं आपको बताने वाला हूँ की कैसे वेबसाईट (Website) की speed बढ़ाते है ! जब तक आपकी वेबसाइट की लोडिंग स्पीड अच्छी नही होगी ! तब तक आप अपनी वेबसाइट से अच्छी ऑनलाइन earning और income नही कर सकते ! वेबसाइट की लोडिंग स्पीड बहूत ज्यादा होने से विजिटर या यूजर भी परेशान होकर वेबसाइट बन्द कर देते है ! और ज्यादा समय तक आपकी वेबसाइट पर नही रुकते !


Tag :- Website Ko Kaise Banaye Fast ? # Website Fast Open Karne Ke Tips !

वेबसाइट की लोडिंग स्पीड fast (तेज) रहना क्यों जरूरी है :- 
अब बात आती है की वेबसाइट की स्पीड सुपरफास्ट होना क्यों जरूरी है ?
दोस्तो आपको मालूम ही है की आजकल स्मार्ट फोन (android Phones ) का ज़माना है ! सभी लोग अब स्मार्ट फोन पर ही ऑनलाइन वेबसाइट विजिट करते है ! सोचिए अगर आपकी वेबसाइट की स्पीड बहूत slow (धीमी ) हो तो लोगो को कितनी problem होगी वेबसाइट को पढ़ने मे और पेज को खोलने मे ! इसके अलावा गूगल भी आपकी वेबसाइट को crawl मे बहूत ज्यादा समय (time) लेगा ! और इस वजह से low speed आपकी ranking के लिये भी harmful है !

Website speed” Google की फ़ेमस 200 ranking factors का ही एक part (हिस्सा) है ! और आप इसे  ignore नही कर सकते !


वेबसाइट की speed (स्पीड) slow (धीमी) होने का क्या कारण है ?
अब बात आती है की वेबसाइट की स्पीड slow क्यों होती है ! तो इसका सीधा सा जवाब यह है की - Heavy Images और Unnecessary JavaScript कोड ! वेबसाइट मे बहूत सारा ऐसे javascript कोड होते है ! जो की useless होते है ! मतलब उनका कोई काम नही होता है ! फ़िर भी वेबसाइट पर लगे होते है !  Heavy Images और sliders भी वेबसाइट की speed को slow (धीमी) करते है !

पढ़े :- अगर आप पूरा SEO 20 मिनट में सीखना चाहते है तो इसे जरूर पढ़े।
Tag :- website ki speed increase karne ka solution !

वेबसाइट की स्पीड तेज करने का तरीका :- वेबसाइट 
की स्पीड को बढ़ाने का सबसे बढिया तरीका है  “Setup Cache” ! Cache का प्रयोग करते ही आप अपनी website को superfast बना या कर सकते है ! Cache के बारे मे अगर आप नही जानते है तो कोई बात नही ! क्योंकि मैं आपको बताने वाला वाला हूँ पूरा process की कैसे सेट करना है !
Tag :- website ko fast kaise open karvaye !

Use Cloudflare CDN- Cloudflare एक फ्री (free) CDN है जो वेबसाइट की स्पीड को superfast करने बहूत ही हेल्पफुल  है ! मैं अब आपको सिखाने वाला हूँ की कैसे cloudflare को अपनी वेबसाइट मे setup करे :-

1 सबसे पहले आप इस वेबसाइट https://www.cloudflare.com पर चले जाए !

2 अब आप नीचे की image के according Sign Up पर क्लिक कीजिए !


3. अब आपको signup form fill करना है ! from fill करने के बाद आपका cloudflare पर account बन जाएगा और आप Login कर पायेंगे !



4. अब आप  “Add Site” पर क्लिक करके अपनी वेबसाइट को  cloudflare मे add करिए !


5. अब आप अपने वेबसाइट की लिंक डालिए और  “Begin Scan” पर क्लिक कीजिए !

पढ़े :-


6. Scan होने दीजिए ! Scan होने के बाद “Continue” पर क्लिक कीजिए !


7. अब आपकी DNS setting coudflare ने ले ली है ! तो अब फिरसे “Continue” पर क्लिक करे !


8. अब आपको यहाँ पर  free plan select करना है !



9. Plan select करने के बाद अब आपको image के ke according अपने “Name serves” change (बदलना) करने है !
Tips:- जहाँ से आपने domain लिया है ! ex- godaddy bigrock etc. 



10. यहाँ जो Nameserver आपको cloudflare ने दिये है वह nameserver आपको अपने doamin की DNS मे डालने है ! Nameserver change करने के कुछ ही देर बाद आपकी वेबसाइट superfast हो जाएगी ! वैसे इसमे 24 hours का Time लगता है ! लेकिन ये काफी पहले ही active हो जाती है !


11. Active होने के बाद आपको ऐसी picture दिखाई देगी !

12. अब आप अपनी वेबसाइट की speed check कीजिए ! अब आपकी वेबसाइट superfast हो गयी होगी !

वेबसाइट को और ज्यादा fast ऐसे कर सकते है - अगर आपको और भी ज्यादा Speed चहिए तो उसका भी तरीका है ! जब कुछ समय बाद आपका cloudflare Active हो जाए तो आपको picture के according “Speed” ke option पर जाना है !


अब आप HTML, CSS, Javascript सब पर tick mark कर दीजिए ! ऐसा करने से आपका कोड minify हो जाएगा और 24 hours बाद आपकी वेबसाइट की स्पीड मे बहूत ज्यादा change आएगा !



पढ़े :- how to check website speed ( वेबसाइट की speeed कैसे जांचे )

Tag :- website ko banaye superfast #fast open website tips trick # website ko fast karne ke liye code # html code and fast open website


फोन पर "हैलो" बोलने की शुरुवात कहाँ से हुयी जानिए

फोन पर "हैलो" बोलने की शुरुवात कहाँ से हुयी जानिए

फोन पर "हैलो" बोलने की शुरुवात कहाँ से हुयी जानिए:- ज्यादा फोन मोबाइल यूजर्स रिसीव करते ही ‘हैलो’ बोलते है। क्या कभी सोचा है कि फोन उठाते ही सबसे पहले आप -हम  हैलो क्यों बोलते हैं? या फिर हैलो के अलावा और कुछ क्यों नहीं कहते। अब ये मत कहना कि जब से फोन आया है तब से लोग हैलो ही कहते हैं। अगर नहीं जानते तो जानिए क्यों फोन पर बात करते समय सबसे पहला शब्द हैलो कहा जाता है।

why do we say hello on the phone

कहा जाता है कि हेलो नाम था फोन का अविष्कार करने वाले वैज्ञानिक ग्राहम बेल की गर्लफ्रेंड का। बेल की गर्लफ्रेंड का पूरा नाम था मारग्रेट हैलो। बताया जाता है कि ग्राहम बेल अपनी गर्लफ्रेंड को हेलो कहकर बुलाया करते थे। जब उन्होंने फोन का अविष्कार किया तो पहला शब्द अपनी गर्लफ्रेंड के नाम पर लिया उसके बाद इस शब्द का इस्तेमाल लोग भी करने लगे।

ऑक्सफोर्ड इंग्लिश डिक्शनरी के अनुसार हैलो शब्द पुराने जर्मन शब्द हाला, होला से बना है, जिसका इस्तेमाल नाविक करते थे। ये शब्द पुराने फ्रांसीसी या जर्मन शब्द ‘होला’ से निकला है। इसका मतलब होता है ‘कैसे हो’ यानी, हाल कैसा है जनाब का? अंग्रेज़ कवि चॉसर के ज़माने में यानी 1300 के बाद ये शब्द हालो (hallow)बन चुका था। इसके दो सौ साल बाद यानी शेक्सपियर के ज़माने में हालू (Halloo) बन गया। फिर ये शिकारियों और मल्लाहों के इस्तेमाल से कुछ और बदला और हालवा, हालूवा,होलो (hallloa, hallooa, hollo) बना।


वैसे फोन पर हेलो बोलने की एक और कहानी है। कहा जाता है कि जब टेलीफोन का आविष्कार हुआ तो शुरुआत में लोग फोन पर पूछा करते थे ‘आर यू देयर?’ तब उन्हें यह विश्वास नहीं था कि उनकी आवाज दूसरी ओर पहुंच रही है !


Tag:- फोन पर "हैलो" बोलने की शुरुवात कहाँ से हुयी जानिए

लेकिन अमेरिकी आविष्कारक टॉमस एडीसन को इतना लंबा वाक्य पसंद नहीं था। उन्होंने जब पहली बार फोन किया तो उन्हें उन्होंने कहा, हेलो।

पढ़े :- दुनिया में कैसे आया एटीएम, पहली बार कहाँ निकला "पैसा"



माना जाता है कि 1877 में टॉमस एडीसन ने पीट्सबर्ग की सेंट्रल डिस्ट्रिक्ट एंड प्रिंटिंग टेलीग्राफ कंपनी के अध्यक्ष टीबीए स्मिथ को लिखा कि टेलीफोन पर स्वागत शब्द के रूप में हैलो का इस्तेमाल करना चाहिए। उनकी सलाह को सभी ने मान लिया। उन दिनों टेलीफोन एक्सचेंज में काम करने वाली ऑपरेटरों को ‘हेलो गर्ल्स’ कहा जाता था।

पढ़े :- मोबाइल में File और Folder को कैसे छुपाये बिना किसी एप्लीकेशन के टिप्स हिन्दी मे !


Tag:- #Hello kyo bola jataa hai #why do we say hello on the phone #hello bolne ki shuruvaat kaise hui #hello sabd kaha se aaya !
मोबाइल में File और Folder को कैसे छुपाये बिना किसी एप्लीकेशन के टिप्स हिन्दी मे !

मोबाइल में File और Folder को कैसे छुपाये बिना किसी एप्लीकेशन के टिप्स हिन्दी मे !

मोबाइल में File और Folder को कैसे छुपाये बिना किसी एप्लीकेशन के टिप्स हिन्दी मे ! How to Hide file And Folder !
आज मैं आपको बताने वाला हूँ कैसे अपने एंड्रॉयड फोन मे किसी भी फाइल और फोल्डर को छुपाते है और हमे क्यों इसे छुपाने की ज़रूरत पड़ती है !
कई बार कुछ काम की फाइल होती हे जिन्हें हम दुसरो की नजर से छुपाना चाहते हे. कई बार हमारा फोन हमारा दोस्त मांगता हे तब हमें डर रहता हे की कही यह हमारी प्राइवेट चीजें ना देख ले. उस समय यह ख्याल आता हे की कैसे भी करके file और folder को hide कर लू और हम नेट पे app खोजते हे. लेकिन आज में आपको जो trick बताने वाला हु उसमे किसी भी तरह के app की जरूरत नहीं हे. आपके मोबाइल में ही एक छोटी सी ट्रिक से आप किसी भी file और folder को hide कर सकते हे.



How To Hide File And Folder In Android

1. सबसे पहले अपने android फोन में file manager ओपन करे और उसमे एक नया folder बनाये. menu में new folder का आप्शन होगा उस से new folder create करें.

2. अब उस folder या file को rename करे. rename करते समय सबसे पहले .(dot) लगाये. जैसे मेने फोल्डर का नाम दिया .nadeem (आप कोई और नाम भी दे सकते हे)

3. यह नाम देते ही आप जैसे ही ok करेंगे आपका folder hide हो जायेगा. आप चाहे तो उस folder में कुछ भी छुपा के रख सकते हे.
4. इसे वापिस unhide करने के लिए menu में show hidden files पे क्लिक करे आपका file या folder वापिस आ जायेगा.


पढ़े :- ऐसे जानिए आपका बॉयफ्रेंड/गर्लफ्रेंड व्हाट्सएप पर किससे कर रहा है बात


Tag :- How to Hide file And Folder " Android Phone Me Folder Kaise Chupaye !
एक कहानी - सत्य का ज्ञान

एक कहानी - सत्य का ज्ञान


जाबाल के पुत्र सत्यकाम गुरुकुल मे रहकर ब्रह्म के सत्य के बारे मे जानना चाहते थे ! सत्यकाम माँ की आज्ञा लेकर वे गौतम ऋषि के आश्रम चले आए ! ऋषि ने चार सौ दुर्बल गायों को उन्हे सौंपते हुए कहा ! वत्स ! इन स्वस्थ गायों के साथ साथ जब इनकी संख्या भी बढ़ जाए तब मेरे पास आना ! सत्यकाम ऊन गायों को लेकर तुरन्त वन चले गये ! दिन रात गायों की हिंसक पशुओं से सुरक्षा और उनकी देखभाल करना उनकी साधना बन गयी ! जंगल की खुली हवा ताजा घास और स्वच्छ पानी मिलने के कारण समय के साथ न गाये पूरी तरह स्वस्थ हो गयी ! बल्की उनकी संख्या भी पूरी एक हजार हो गयी ! गायों के निरंतर ध्यान शुद्ध और शांत वतावरण ने सत्यकाम को पूरी तरह से एकाग्रचीत बना दिया ! उनकी सेवा रूपी तपस्या से ईश्वर ऊन पर प्रसन्न हुए ! और उन्हे ब्रह्म का ज्ञान हो गया ! तब वह गायों को वापस आश्रम पहुँचे तो उनकी उपलब्धिया देखकर आचार्य अत्यंत प्रसन्न हुए ! तब सत्यकाम ने उनसे ब्रह्म ज्ञान का उपदेश देने का आग्रह किया ! इनके जवाब मे आचार्य ने कहा की तुम्हे सत्य का ज्ञान हो गया है ! अब और किसी उपदेश की ज़रूरत नही है ! तब सत्यकाम ने उनसे कहा की वह अपने गुरु के मुख से सत्य को ब्रह्म को जानन चाहते है ! इस तरह उन्होने आचार्य से संपूर्ण ज्ञान प्राप्त किया ! सत्यकाम पूर्ण ज्ञानी होकर वापस घर आ गये और शांति के साथ अपने धर्म का पालन करने लगे !


Random Post Widgets For Blogger - स्टाइलिश रेन्डम टूल

Random Post Widgets For Blogger - स्टाइलिश रेन्डम टूल

हेलो दोस्तो
मैने आपको पिछली पोस्ट मे बताया था की कैसे recent post widget ब्लॉग मे लगाते है ! और इस पोस्ट मे आपको rendom post widget for blogger के लिये बताने वाला हूँ !
Rendom Post Widget ब्लॉग पर लगाने से आपको बहूत ही फायदा होगा ! जैसे की जब भी कोई विजिटर आपके ब्लॉग पर आएगा ! और जैसे ही किसी पोस्ट पर क्लिक करेगा तो उसे हर बार मतलब जब भी आपकी कोई भी पोस्ट पढ़ने के लिये क्लिक करेगा तो उसे हर बार न्यू पोस्ट दिखेंगी !
अगर आप अपने ब्लॉग को सुंदर और आकर्षित बनाना चाहते है तो हमारी यह पोस्ट आपके लिये बहूत ही फायदेमंद होगी ! इस widget से हम अपने ब्लॉग की डिजाइन को बहतरीन बना सकते है !
Rendom post widget for blogger
Screen Shot

अब मैं आपको बताता हूँ कैसे rendom post widget ब्लॉग मे लगाया जाए ! स्टेप बाई स्टेप :- 


Rendom Post Widget ब्लॉग मे कैसे लगाए ?

स्टेप 1 सबसे पहले आप अपने ब्लॉग के डेशबोर्ड मे चले जाइए !

स्टेप 2 डेशबोर्ड मे जाकर layout पर क्लिक कीजिए ! और अब आपको जहाँ पर rendom post widget लगाना है ! वहाँ की add a gadget पर क्लिक कीजिए !

स्टेप 3 add a gadget पर क्लिक करने के बाद html/java script को सेलेक्ट कीजिए !


स्टेप 4 अब आपके सामने एक popup पेज ओपन हो जाएगा ! तो आप वहाँ पर बड़े बॉक्स मे नीचे दिये कोड को कॉपी करके paste कर दीजिए ! और टाइटल मे rendom post widget लिखना ना भूले !

कोड के लिये यहाँ क्लिक कीजिए ! 

स्टेप 5 अब save ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए !

अब आपने अपने ब्लॉग पर rendom post widget ब्लॉग पर सफलता पूर्वक लगा लिया है ! पोस्ट से रिलेटेड किसी भी सहायता के लिये हमसे कमेन्ट द्वारा सम्पर्क कर सकते है !


पढ़े :- How to Add Keyboard Keys Effect In Blog Post ( ब्लॉग पोस्ट मे कीबोर्ड की इफेक्ट कैसे लगाए )



Tag:-  random post widgets for blogger" random post widget blog me kaise lagaye !
ब्लॉगर ब्लॉग से  "SHOWING POSTS WITH LABEL" को कैसे डिलीट करे !

ब्लॉगर ब्लॉग से "SHOWING POSTS WITH LABEL" को कैसे डिलीट करे !

हेलो दोस्तो, आज हम बात करेंगे की कैसे अपने ब्लॉग से  SHOWING POSTS WITH LABEL"  को डिलीट किया जाए ! और इस टॉपिक की शायद आप लोगो को तलाश भी रही होगी ! क्योंकि इसे अगर आप डिलीट कर देते है तो आपका ब्लॉग और भी प्रोफेशनल हो जाता है ! तो चलिये अब जानते है की कैसे  SHOWING POSTS WITH LABEL" को डिलीट किया जाता है !


how remove SHOWING POSTS WITH LABEL
स्टेप बाई स्टेप :-

स्टेप 1 सबसे पहले अपने ब्लॉग के डेशबोर्ड मे लॉगिन हो जाइये!

स्टेप 2 डेशबोर्ड मे टेम्पलेट ऑप्शन पर क्लिक करके Edit HTML ऑप्शन पर क्लिक कीजिए !

स्टेप 3 CTRL+F दबा कर नीचे दिये हुए कोड को सर्च कीजिए !

<b:includable id='status-message'>

स्टेप 4 जब आपको ऊपर दिया हुआ कोड मिल जाए तो आप देख सकते है strating कोड से लेकर last कोड तक नीचे दिये गये image जैसा दिख रहा होगा !




स्टेप 5 अब आप ऊपर की इमेज मे देख सकते है की कोड कुछ नीचे दिये गये कोड की तरह दिख रहा है !

<b:includable id='status-message'>
...................................................
...................................................
...................................................
...................................................
</b:includable>


स्टेप 6 अब आपको करना यह है की जो ऊपर कोड दिख रहा है ! Strart से last तक सारे कोड को डिलीट कर दीजिए !


स्टेप 7 अब डिलीट किये गये कोड की जगह नीचे दिये गये कोड को कॉपी करके paste कर दीजिए !

<b:includable id='status-message'>
<b:if cond='data:navMessage'>
<div>
</div>
<div style='clear: both;'/>
</b:if></b:includable>


स्टेप 8 अब आप टेम्पलेट को save कर दीजिए ! अब आपने "SHOWING POSTS WITH LABEL" को डिलीट कर लिया है !

पढ़े :- ATM पिन में क्यों होते हैं सिर्फ 4 डिजिट? जानें ऐसे ही 8 सवालों के जवाब

अगर आपको कोई दिक्कत हो तो तुरन्त कमेन्ट कीजिए अपनी समस्या ! हम जल्द ही आपकी समस्या का जवाब देने की कोशिश करेंगे !

पढ़े :- Facebook Like Button For Bloggers ( फ़ेसबुक लाइक बट्टन कैसे लगाये )
 मेकअप करके कैसे 5 मिनट मे छुपाए मूहासे या पिंपल्स- टिप्स इन हिन्दी

मेकअप करके कैसे 5 मिनट मे छुपाए मूहासे या पिंपल्स- टिप्स इन हिन्दी

क्या आप किसी शादी या पार्टी मे नही जा पाते या फ़िर डेट पर जाने से पहले इन पिंपप्ल (मूहासे) की फिक्र होती है ! तो अब आपकी परेशानी ख़त्म होने वाली है ! आज आपको बताने वाला हूँ कैसे मेकअप करके 5 मिनट मे छुपाए मूहासे या पिंपल्स ! यह तरीका आपको उस समय बहूत काम आएगी जब आप किसी शादी, पार्टी या फ़िर डेट पर जाने वाली हो ! आप तो जानती होगी की आप जितना भी मेकअप करती है फ़िर भी पिंपल को छुपाना मुश्किल होता है ! और पीम्पल (मूहासे ) को एक दिन मे मिटाया नही जा सकता इसलिए कही जाने से पहले थोड़ा अलग तरीके से मेकअप कीजिए ! इससे आपके पीम्पल भी नही दिखाई देंगे ! और आपका स्किन भी बहूत soft होगी ! अब आप वह तरीका जान ले जिससे आपके पीम्पल मूहासे मेकअप से छुप जाए :-

मेकअप करने का तरीका

1 सबसे पहले चहरे को अच्छी तरह से धो ले और एक बर्फ ( ice ) टूकड़ा लेकर अपने चहरे पर लगाए !

2 अब चहरे पर जो pimples या मूहासे है उनमे थोड़ा प्राइमर लगाए या फ़िर पूरे चहरे पर भी लगा सकते है !


3 अब एक ब्रश मे concealer लेकर पीम्पल के ऊपर लगाए ! चहरे पर लगाने के लिये yellow concealer ही सेलेक्ट करे ! लेकिन हमेशा आपके स्किन के कलर से थोड़ा Dark कलर का concealer ही प्रयोग करे !

4 अब dry ( सूख ) हो जाने के बाद पूरे चहरे पर foundation लगाए !

5 अब चहरे पर फिनिसिंग पाऊडर लगाकर आपका जो एक्सट्रा मेकअप है वह लगा लिजिए !

ऐसे आप ऊपर के टिप्स को अपनाकर अपने चहरे पर जो pimples है या फ़िर उसका जो दाग है उसे पूरी तरह से छुपा सकते है ! और इस तरीके को अपना कर आप एक quit सा लुक पा सकते है !


पढ़े :- पानी पीने का सही तरीका क्या है - जानिये
अगर आप पूरा SEO 20 मिनट में सीखना चाहते है तो इसे जरूर पढ़े।

अगर आप पूरा SEO 20 मिनट में सीखना चाहते है तो इसे जरूर पढ़े।

Keywords

1. Keywords in <title> tag:- टाइटल टैग में जो भी लिखा जाता हैं, वो आपके पेज के टाइटल के रूप में सर्च इंजन रिजल्ट्स में दिखाई पड़ेगा। इसलिए इसका सही प्रयोग करना बेहद आवश्यक हैं। याद रखिये कि टाइटल टैग कुल छह या सात शब्द का ही हो और उसमे कीवर्ड शुरुवाती हिस्से में ही प्रयोग किया गया हो।



2. Keywords in URL:- अपने पेज के मुख्य कीवर्ड का प्रयोग पेज के URL में जरूर करे। यह SEO के लिए बेहद फायेदेमंद रहता हैं। लेकिन, आपने पूरे पेज पर अगर कही भी कीवर्ड का प्रयोग नहीं किया हैं तो इसका कोई ख़ास फायेदा शायद आपको न मिले।


3. Keyword density in document text:- पेज के content में इस बात का भी ध्यान रखे कि कितने बार कीवर्ड का प्रयोग कर दिया हैं। 3 से 7 प्रतिशत का प्रयोग ही SEO के लिए लाभकारी हैं। Keyword Stuffing से बचे। याद रखे, गूगल के latest update के अनुसार यह आपके वेबसाइट के लिए बुरा साबित हो सकता हैं।

4. Keywords in anchor text:- आपकी वेबसाइट के लिए inbound links पर प्रयोग में लाये गए anchor text पर keywords का प्रयोग करे। याद रखिये, ये links आपकी वेबसाइट के favor में उस वेबसाइट के द्वारा दिए गये एक वोट की तरह काउंट किये जाते हैं।

5. Keywords in headings (< H1 >, < H2 >, etc. tags):- आपके पेज पर दी गयी Headings महत्वपूर्ण keywords का प्रयोग करने के लिए एक और महत्वपूर्ण जगह होती है। लेकिन यह भी ध्यान रखे कि आप उस हैडिंग के नीचे उपयोग में लाये गये keyword के बारे में भी जरूर कुछ valuable content शेयर करे।

6. Keywords in the beginning of a document:- अपने content के शुरुआत में keywords का प्रयोग करे। हालांकि ये पहले बताये गये तरीको जितना असरदार तो नहीं होता, परन्तु इसका भी अच्छा लाभ मिलता हैं।

7. Keywords in metatags :- अगर आपके पास कुछ ऐसे keywords हैं जो गूगल के लिए ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं हैं तो भी आप उनका प्रयोग यहाँ metatags में कर सकते है। याद रखिये कि वे keywords, गूगल के अलावा Yahoo और Bing पर आपको अच्छी rank पाने में मदद कर सकते हैं।

8. Keywords in tags :- गूगल सर्च इंजन के spiders आपके पेज पर लगी images को तो नहीं पढ़ सकते, परन्तु उनके textual description से उन images को जान पाते हैं। इसलिए images के alt टैग का प्रयोग जरूर करे।


9. Keyword proximity :- Keywords proximity एक ऐसा मानक हैं जिससे पता लगता है कि text में keywords कितने close है। ये ज्यादा अच्छा है कि वे तुरंत एक दुसरे के साथ हो, उनके बीच में कोई दुसरे शब्द न हो। उदाहरण के लिए, अगर आप “dog food” के बीच में कोई शब्द न लिखते हुए उसे साथ में लिखते है तो ये अलग अलग paragraph में लिखने से ज्यादा अच्छा रहेगा। Keywords proximity उन keywords phrases पर लागू होता है जो 2 या उससे अधिक words से मिलकर बने होते है।

10. Keyword phrases:- keywords का प्रयोग करते समय आप बहुत सारे शब्दों से मिलकर बनी keyword phrases के लिए optimize कर सकते है। उदाहरण के लिए, “SEO services”। ये ज्यादा अच्छा होगा कि जब आप keyword phrases के लिए optimize करे तो उन keywords का चयन करे जो popular है।

11. Secondary keywords:- Secondary keywords को optimize करना एक सोने की खान के बराबर हो सकता है क्योंकि जब हर कोई ज्यादा popular keywords के लिए optimize कर रहा है, तो वहाँ इस तरह के keywords पर pages के लिए competition कम होता हैं।

12. Keyword stemming:- वैसे इंग्लिश के लिए, यह एक बड़ा factor नहीं हैं क्योंकि एक root से जुड़े सभी words को एक दुसरे से सम्बंधित समझा जाता हैं। अगर आपके पेज पर dog शब्द का प्रयोग हैं तो आपके पास dogs और doggy के लिए भी hits आयेंगे। लेकिन, दूसरी भाषाओ में keywords stemming एक महत्वपूर्ण मुद्दा हो सकता हैं क्योंकि एक stem से जुड़े भिन्न शब्दों को एक दुसरे से सम्बंधित नहीं माना जाता हैं। अतः आपको उन सभी keywords के लिए optimize करना होगा।

13. Synonyms:- मुख्य keywords के लिए optimize करने के साथ साथ target keywords के synonyms भी प्रयोग करने चाहिए। ये English में बनी websites के लिए अच्छा है क्योंकि जब sites की ranking करनी होती हैं तो search engines बेहद समझदारी से synonyms प्रयोग भी कर लेते है। लेकिन बहुत सारी अन्य भाषाओं में rankings की गणना के लिए synonyms को प्रयोग में नहीं लाया जा सकता है।

14. Keyword Mistypes :- Spelling errors का होना भी बेहद सामान्य बात है और यदि आप जानते है कि misspellings या alternative spellings के रूप में आपके target keywords बेहद popular हो चुके है तो आपको उन रूपों के लिए भी optimize करने की कोशिश करनी चाहिए। हाँ, इस से आप ज्यादा traffic प्राप्त कर सकते है। लेकिन, याद रखिये कि spelling में गलतियों के होने से आपकी website का अच्छा impression नहीं बनता है। इसलिए, बेहतर होगा कि आप ये प्रयोग न करे या फिर इस को केवल metatags में ही उपयोग में लाये।

15. Keyword dilution:- जब आप उन keywords की अत्यधिक मात्रा के लिए optimize करेंगे जिनका आपके content से कोई सम्बन्ध नहीं हैं, तो ये आपके सभी मुख्य keywords से मिल सकने वाले लाभ को भी प्रभावित कर देता है।

16. Keyword stuffing:- Keyword stuffing कृत्रिम रूप से 10% या उससे ज्यादा keywords का content में प्रयोग करना हैं। याद रहे, ये आपको search engines से बैन होने का खतरा पैदा करता है !

Links – Internal, Inbound, Outbound


1. Anchor text of inbound links:- जैसे कि पीछे keywords section में बताया गया है, यह अच्छी rankings लाने के लिए important factors में से एक है। यह बहुत अच्छा होगा यदि आपका keyword, anchor text में हो, लेकिन नहीं भी है तो ठीक है। हालाकि, बार बार एक ही anchor text का प्रयोग मत करे क्योंकि Google इसके लिए penalize भी कर सकता है। Synonyms, keyword stemming या फिर अपनी site का नाम प्रयोग करे।

2. Origin of inbound links:- याद रखे, anchor text के अलावा ये भी जरुरी है कि जो साईट आप की site से जुडी है, वो reputable है या नहीं। साधारणतया जो sites बेहतर Google PR वाली होती है reputable मानी जाती है। Poor sites और link farms से प्राप्त links आपको बहुत हानि पहुंचा सकते है, इसलिए किसी भी तरह उनसे बचे।






3. Links from similar sites:- अक्सर links के लिए, ये समझा जाता हैं कि जितने ज्यादा उतना बेहतर हैं। लेकिन links की संख्या के मुकाबले, आप की site से जुडी sites की reputation ज्यादा जरुरी है। और उनका anchor text, उपयोग किये anchor text में keywords की कमी/उपस्तिथि, link की age आदि भी बहुत जरुरी है।

4. Links from .edu and .gov sites:- ये links बहुत कीमती है क्योंकि .com, .biz, .info आदि domains के मुकाबले .edu and .gov sites ज्यादा reputable मानी जाती है। हालाकि इस प्रकार के links प्राप्त करना बहुत कठिन है।

5. Number of backlinks:- अक्सर इस प्रकार के links के लिए भी, ये समझा जाता हैं कि जितने ज्यादा उतना बेहतर हैं। लेकिन links की संख्या के मुकाबले, आप की site से जुडी sites की reputation ज्यादा महत्वपूर्ण है। और उनका anchor text भी जरुरी है। ध्यान रखिये, उसमें एक keyword है या नहीं, वे कितने पुराने है, इत्यादि।

6. Anchor text of internal links:- ये भी जरुरी है, लेकिन इतना नहीं जितना कि inbound links का anchor text।

7. Around-the-anchor text:- Anchor text के ठीक आगे या पीछे का text भी महत्व रखता है क्योंकि ये दर्शाता है कि link किस प्रकार सम्बंधित हैं उस site से जिस से वो जुड़ा हैं। कही ये link कृत्रिम रूप से बनाया गया हैं या text के natural flow के अनुसार हैं।

8. Age of inbound links:- ज्यादा पुराना होना ज्यादा अच्छा है। बहुत सारे नए links एक साथ पा लेना उन्हें खरीदना समझा जाता है।

9. Links from directories:- ये tactics कार्य करेगी या नहीं, कहना जरा मुश्किल हैं क्योंकि ये पूर्ण रूप से निर्भर करता है कि किस प्रकार की directories से ये links मिले है। DMOZ, Yahoo Directory और इन जैसी directories में listed होना आपकी ranking के लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है। लेकिन, PR 0 directories के बहुत links बेकार है क्योंकि, यदि आपके पास ऐसे सैकडों या हजारों links है तो इसको link spamming भी माना जा सकता हैं।

10. Number of outgoing links on the page that links to you:- यह जितना कम हो उतना ही आपके लिए अच्छा है क्योंकि इस प्रकार आपके links ज्यादा महत्वपूर्ण दिखाई देते है।

11. Named anchors: - Internal Navigation के लिए Named anchors फायदेमंद माने जाते है। लेकिन, SEO के लिए भी ये काफी फायदेमंद है क्योंकि ये दर्शाते हैं कि एक विशेष page, paragraph या text महत्वपूर्ण है।

12. IP address of inbound link:- Google अक्सर इस बात से इनकार करता रहा है कि वह उन links में जो एक ही तरह की IP address या C class से आते है, कोई भेदभाव करता है। इसलिए माना जा सकता हैं कि Google, सभी inbound links के लिए प्रयोग में लाये IP address का कोई विशेष महत्त्व नहीं मानता। हालाकि, Bing और Yahoo एक ही IPs या IP classes से जुड़े links को discard कर सकते है। इसलिए हमेशा विभिन्न IPs से links प्राप्त करना बेहतर रहता हैं।

13. Inbound links from link farms and other suspicious sites:- मुमकिन है कि ये आपको प्रभावित नही करे जब तक, links का स्वभाव reciprocal नही है। यहाँ धारणा ये है कि link farm से प्राप्त links के बारे में कुछ भी वर्णन करना आप के लिए तो संभव नहीं हैं। इसलिए आपको इसकी सजा नहीं मिलेगी। जबकि Google algorithm में आये कुछ पिछले बदलाव इसके विपरीत सलाह देते है। इसलिए, आपको हमेशा link farm और अन्य संदेहजनक sites से दूर रहना चाहिए। यदि आप देखते है कि वे आपसे links रख रहे है तो उनके webmaster से संपर्क कर link हटाने के लिए बोले।

14. Many outgoing links:- Google बहुत सारे links वाले pages को पसंद नहीं करता है, इसलिए आपको प्रत्येक पेज पर 100 से कम रखने चाहिए। बहुत सारे outgoing links आपको ranking अच्छा करने में कोई लाभ नहीं पंहुचा सकते हैं बल्कि उनसे आपकी website की स्तिथि और बेकार हो सकती हैं।

15. Excessive linking, link spamming:- यदि आपके पास एक जैसी sites से बहुत सारी links है, तो यह आपकी rankings के लिए अच्छा नहीं है क्योंकि इससे ऐसा लगता है कि link खरीदी गयी है या तो फिर spamming की गयी है। सही मायने में, उनमे से केवल कुछ ही links आपकी website की SEO rankings के लिए consider की जाएँगी।

16. Outbound links to link farms and other suspicious sites:- link farms या किन्ही suspicious sites से प्राप्त inbound links से ज्यादा किसी पुरानी website को दिया गया outbound link, आपको हानि पंहुचा सकता हैं। इसलिए आपको समय समय पर उन sites के बारे में जानकारी लेनी चाहिए जिनसे आप के links है क्योंकि कभी कभी अच्छी sites भी bad neighbors साबित हो जाती है।

17. Cross-linking:- Cross-linking तब होता है जब site A, site B से जुडती है, site B, site C से जुडती है site C, site A से जुडती है। यह सबसे आसान उदहारण है लेकिन इससे ज्यादा complex schemes भी संभव है। Cross-linking को बिलकुल reciprocal link trading की तरह देखा जाता हैं और इसके लिए penality भी लग सकती हैं।

18. Single pixel links:- यदि आपके पास एक link है जोकि एक pixel है या बस इतना ही बड़ा है कि मानव नेत्र उसको देख ना सके, तो कोई भी इस पर click नहीं करेगा और जाहिर है कि ये links केवल search engines को manipulate करने के लिए प्रयोग किये जायेंगे।

Meta Tags


1. <Description> metatag:- metatags की जरुरत लगातार ख़तम हो रही है लेकिन यदि कही metatags है तो वहाँ वो महत्व भी रखते है, ये कुछ और metatags है। metatag का प्रयोग अपनी site का एक बेहतरीन description लिखने में कीजिए। लेकिन एक हकीकत यह है कि metatags, Bing और Yahoo पर अभी भी जरुरी है, metatag का एक और फायदा भी है- ये कभी कभी search results में आपकी site के डिस्क्रिप्शन के रूप में आ जाता है।

2. <Keywords> metatag:- टैग metatag भी जरुरी हैं। परन्तु, सभी metatags की तरह इस पर Google की तरफ से कोई ध्यान नहीं दिया जाता और Yahoo तथा Bing भी थोडा ही ध्यान देते है। metatag को जरुरत के हिसाब से लगभग 10 से 20 keywords का ही रखे। tag में उन keywords का प्रयोग न करे जो आपने अपने पेज में प्रयोग ही नहीं करें, ये आपकी website की rankings के लिए बुरा होगा।

3. <Language> metatag:- यदि आपकी साईट language-specific है तो इस tag को खाली न रहने दीजिये। Search engines के पास एक पेज की भाषा को निर्धारित करने के लिए, metatag पर भरोसा करने के अलावा बहुत सारे प्रभावी रास्ते है, लेकिन वे इस पर भी विचार करते है।

4. <Refresh> metatag:- metatag, visitors को आपकी site से दूसरी site पर redirect करने का एक रास्ता है। ऐसा केवल तब कीजिए जब आपने हाल ही में अपनी site को एक नये domain में migrate किया हो और आप कुछ समय के लिए अपने visitors को redirect करने की जरुरत रखते है। ज्यादा समय के लिए प्रयोग में लेने के बाद, metatag का प्रयोग unethical practices में गिना जाता है। और ये आपकी website की ratings को बुरी तरह से प्रभावित कर सकता है। किसी भी परिस्तिथि में 301 के द्वारा redirect करना ज्यादा उचित है।


Content

1. Unique content:- अधिक से अधिक ऐसे content का होना जो किसी अन्य website से भिन्न हैं, आपकी site की rankings को तेजी से बढाता है।

2 Frequency of content change :- बार बार content में परिवर्तन यक़ीनन पसंद किया जाता है। ये बहुत अच्छा होगा कि आप लगातार नये content जोड़ें। लेकिन, ये इतना भी अच्छा नहीं होगा अगर आप के द्वारा डाले गए content, पुराने content पर कुछ छोटे update करके ही बना दिए गये हैं।

3 Keywords font size :- जब document text में एक keyword का font size दुसरे texts के हिसाब से बड़ा होता है तो, वो ज्यादा आकर्षक लगता है, इसीलिए ये दुसरे text के मुकाबले ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाता है। ऐसा ही headings में भी कीजिए, जो साधारण रूप से बाकी text के मुकाबले बड़े font size में होनी चाहिए।

4 Keywords formatting :- Bold और Italic करके, इस प्रकार के शब्दों और phrases को ज्यादा important बनाना भी एक और तरीका है। हालाकि, Bold, Italic और बड़े font sizes का प्रयोग जरुरत के हिसाब से करे क्योंकि इसका विपरीत प्रभाव भी आपकी website पर हो सकता हैं।

5 Age of document:- सर्च इंजन recent documents को पसंद करते हैं। अगर ऐसा संभव नहीं तो regularly updated का प्रयोग करने का प्रयास करे।

6 File size :- साधारण रूप से, long pages ज्यादा पसंद नही किये जाते है। निश्चित ही आप ज्यादा अच्छी rankings पा सकते है यदि आप दिए गए topic पर एक long पेज की बजाय 3 छोटे पेज प्रयोग करते है। इसलिए, long pages को कई छोटे pages में convert कर ले और इस बात का भी ध्यान रखे कि text में 100-200 शब्द या उससे भी कम रखने वाले pages को Google नापसंद करता है।

7 Content separation:- Marketing नजरिये से देखने पर, content separation उचित हो सकता है लेकिन SEO के लिए ये गलत है क्योंकि जब आपके पास एक URL और उससे अलग content है तो सर्च इंजन confuse हो जाएगा कि पेज का वास्तविक content क्या है।

8 Poor coding and design :- Search engines के हिसाब से ख़राब design और poor coding style वाली sites सही नहीं होती। हालांकि, ऐसी बेहद कम sites है जो poor code या बुरे images की वजह से ban कर दी गयी है लेकिन जब एक site का design या coding ख़राब है तो वह site किसी भी तरह indexable नहीं हो सकती। इस प्रकार ख़राब design और code आपको बहुत हानि पहुंचा सकते है।

9 Illegal Content:-  दुसरे लोगों के copyrighted content को बिना उनकी इजाजत के प्रयोग करने से या ऐसे content का प्रयोग जो कानून के खिलाफ प्रचार करता हो, आपको search engines से बाहर निकाल सकता है।

10 Invisible text :- यह एक black hat SEO तरीका हैं और spiders इसका पता लगा लेते है कि आपने text मुख्य रूप से उनके लिए वहा रखा है नाकि लोगों के लिए। अगर ऐसा हैं तो penalty पर चकित होने की जरुरत नहीं है।

11 Cloaking :- Cloaking भी एक illegal तकनीक है, जिसमे आंशिक रूप से content विभाजन भी शामिल हो जाता है क्योंकि spiders एक पेज देखता है, और बाकी सब उसी पेज के दुसरे version होते है।

12 Doorway pages :- ऐसे Page बनाना जिनका लक्ष्य spiders को यह जताना होता हैं कि आपकी वेबसाइट एक highly-relevant साईट हैं जबकि वो हैं नहीं। जी हाँ, यह भी एक तरीका सर्च इंजन को चकमा देने का।

13 Duplicate content :- जब site पर बहुत सारे pages पर एक जैसा content होता है तो ये आपकी site को बड़ा महत्वपूर्ण नहीं बनाता है। याद रखिये, duplicate content के वजह से आपकी website पर penalty लग सकती हैं।

Visual Extras and SEO


1. JavaScript:- यदि इसका प्रयोग समझदारी से किया जाए तो ये हानि नहीं पहुँचाता। लेकिन यदि आपका मुख्य content, JavaScript के जरिये दीखता है, तो ये spiders के लिए बहुत कठिन बना देता है। यदि JavaScript code में कोई गड़बड़ है तो spiders उसे follow नहीं कर सकते है तो ये आपकी ratings को जरुर नुकसान पहुंचाएगा।

2. Images in text :- केवल texts से भरी हुई site बहुत boring होती है. लेकिन, बहुत सारे images का होना और कोई text न होना तो Seo के लिए बहुत ज्यादा गलत है। हमेशा, टैग का प्रयोग करे और उसमे अपने images के लिए कुछ meaningful description जरूर दे।

3. Podcasts and videos:- Podcasts और videos बेहद ज्यादा लोकप्रिय हो रहे है। लेकिन जैसा सभी non-textual goodies के साथ होता हैं, search engines उन्हें नहीं पढ़ सकते हैं। इसलिए, यदि आपके पास podcast या video की tapescript नहीं है तो यह लगभग ऐसा होगा कि वहाँ podcast या movie हैं ही नहीं क्योंकि ये search engines में indexed नहीं होगा।

4. Images instead of text links:- text links के बजाय images का प्रयोग करना गलत होगा, खासतौर पर जब आप tag में भरेंगे। लेकिन फिर भी यदि आप tag में भरते है, तो यह बिलकुल वैसा नहीं होगा जैसे एक bold, underlined, 16-pt. link होने पर होगा, इसलिए images का प्रयोग केवल navigation के लिए करे यदि यह आपकी site के graphic layout के लिए सच में जरुरी है।

5. Frames:- Frames, SEO के लिए बहुत ज्यादा गलत है। उनके प्रयोग न करे जब तक कि बेहद जरुरी ना हो।

6. Flash:- Spiders, Flash movies के content को इंडेक्स नहीं करते है, इसलिए अगर अपनी site पर Flash का प्रयोग करे तो, इसको एक alternative textual description देना भी याद रखे।

7. A Flash home page:- सोभाग्य से ये बीमारी अब कम होती नजर आ रही है। एक Flash home पेज का होना और HTML version का न होना, SEO के नजरिये से बहुत खतरनाक है।

Domains, URLs, Web Mastery


1. Keyword-rich URLs and filenames:- यह बहुत जरुरी factor है खासतौर पर Yahoo! और Bing के लिए।

2. Site Accessibility:- एक और fundamental issue जो अक्सर अनदेखा कर दिया जाता है। Broken links, 404 errors, password protected areas और बहुत से ऐसे कारणों की वजह से, यदि आपकी वेबसाइट accessible नहीं होती हैं तो वह website आसानी से indexed नहीं हो सकती।

3. Sitemap:- एक पूरा और अपडेटेड sitemap होना बहुत अच्छा है। Spiders को यह पसंद है, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि ये पुरानी तरह का HTML sitemap है या special format का Google का sitemap है।

4. Site size:- Spiders को बड़ी sites ज्यादा पसंद है इसीलिए site साइज़ में जितनी बड़ी होगी उतना ही फायदेमंद हैं। हालाकि, बड़ी sites अक्सर user-unfriendly हो जाती हैं। इसलिए, कभी कभी बड़ी sites को कुछ छोटी छोटी sites में बाँट देना बेहतर रहता हैं। दूसरी तरफ ये भी एक फैक्ट हैं कि ऐसी sites मुश्किल से ही होती है जो कभी penalize कर दी गयी क्योंकि उनमे 10,000 से ज्यादा pages है। इसलिए, एक बड़ी website को केवल pieces में सिर्फ इस वजह से न बाटें क्योंकि यह लगातार बड़ी होती जा रही हैं।

5. Site age:- Wine की तरह पुरानी sites भी ज्यादा respected होती है। यह माना जाता है कि एक नयी site के मुकाबले, एक पुरानी बनी हुई site ज्यादा विश्वासयोग्य होती है।

6. Site theme:- ऐसा नहीं हैं कि केवल URLs और पेज में प्रयोग किये गए keywords ही महत्व रखते हैं। इनसे ज्यादा, Site theme अच्छी ranking के लिए जरुरी है क्योंकि जब site किसी एक theme में fit हो जाएगी, तो ये इस theme से जुड़े अपने सभी pages की rankings को तेजी से बढ़ाएगी।

7. File Location on Site:- File की location भी महत्वपूर्ण होती है और जो files, root directory या उसके पास में स्थित है वो अच्छी rank पाती है उन files के मुकाबले जो 5 या उससे भी नीचे दबी हुई है।

8. Domains versus subdomains, separate domains:- एक अलग domain होना ज्यादा अच्छा रहेगा- उदाहरण के लिए, blablabla.blogspot.com को छोड़ कर आपको एक अलग blablabla.com domain राजिस्टर करना चाहिए।

9. Top-level domains (TLDs):- सभी TLDs एक समान नहीं होते है। ऐसे भी TLDs ही है जो दुसरो से ज्यादा अच्छे है। उदाहरण के लिए, .ws, .biz, या .info domains से ज्यादा, चर्चित TLD .com ज्यादा अच्छा है लेकिन .edu या .org जैसे domains से ज्यादा अच्छा कोई नही है।

10. Hyphens in URLs :- एक URL में शब्दों के बीच में hyphens होने से readability बढ़ जाती है और SEO rankings में मदद मिलती है। ये दोनों hyphens में लागू होता है, फिर वो domains के नाम में हो और या URL के बाकी हिस्से में।

11. URL length:- साधारणत: ये ज्यादा महत्व नही रखता है। लेकिन, एक बहुत लम्बा URL है तो ये spammy सा दिखना शुरू हो जाता है। इसलिए URL में अधिकतम 10 शब्दों का ही प्रयोग करे।

12. IP address:- ये भी तीन परिस्तिथियों में महत्वपूर्ण हो सकता हैं; अगर shared hosting की स्तिथि है या जब एक site किसी मुफ्त में hosting देने वाले से host होती है और तब भी, जब IP या IP addresses की पूरी C-class, spamming या अन्य कारणों से blacklisted है।

13. Adsense will boost your Ranking Adsense किसी भी प्रकार से SEO ranking से नहीं जुड़ा है। Adsense ads की वजह से, Google आपको बिलकुल भी कोई ranking bonus नही देगा। Adsense शायद आपकी income तो बढ़ा सकता है लेकिन इसकी वजह से search rankings पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता।

14. Adwords will boost your ranking:- Adsense की तरह Adwords का भी आपकी search rankings को बढ़ाने में कुछ हाथ नहीं होता है। Adwords आपकी site पर ज्यादा traffic ला देगा लेकिन यह किसी भी तरह से rankings को नहीं बढ़ाता हैं।

15. Hosting downtime :- Hosting downtime सीधा accessibility से जुड़ा हुआ है क्योंकि यदि कोई site बार बार down हो जाती है, तो यह indexed नहीं हो सकती है। लेकिन आमतौर पर ऐसा नहीं होता, यदि आपका hosting provider वास्तव में विश्वसनीय नहीं है और उसका uptime 97-98% से कम है, तो ये आपके लिए परेशानी बन सकता है।

16. Dynamic URLs:- Spiders सामान्य रूप से static URLs को पसंद करते है, हालांकि आप बहुत सारे dynamic pages को भी top positions पर देखेंगे। Long dynamic URLs सच में बुरे होते है और आपको dynamic URLs को SEO-friendly तरीके से लिख सकने वाले किसी टूल का प्रयोग करके rewrite करना चाहिए।

17. Session IDs:- यह dynamic URLs से भी ज्यादा बुरा है, Session IDs का प्रयोग ऐसी जानकारी के लिए न करे जो आप spiders के द्वारा indexed कराना पसंद करते है।

18. Bans in robots.txt:- यदि site के काफी भाग की indexing बैन हो जाती है तो यह nonbanned part को भी उसी तरह प्रभावित करती है क्योंकि spiders एक “noindex” site पर बहुत ही कम बार आएगा।

19. Redirects (301 and 302):- जब आप redirects का ठीक तरह से प्रयोग नहीं करते हो तो ये बहुत नुकसान पहुंचा सकता है- शायद target पेज न खुले या इस से भी ख़राब हो जाए। जब visitor तुरंत ही कोई दूसरा पेज ले जाया जाता है तो किसी redirect को एक black hat technique के जैसे माना जा सकते है।

पढ़े :- ऐसे जानिए आपका बॉयफ्रेंड/गर्लफ्रेंड व्हाट्सएप पर किससे कर रहा है बात
ऐसे जानिए आपका बॉयफ्रेंड/गर्लफ्रेंड व्हाट्सएप पर किससे कर रहा है बात

ऐसे जानिए आपका बॉयफ्रेंड/गर्लफ्रेंड व्हाट्सएप पर किससे कर रहा है बात

अगर आपको शक है कि आपकी गर्लफ्रेंड या क्लोज फ्रेंड व्हाट्स एप पर किसी और से नजदीकियां बढ़ा रहे हैं या फिर किसी गलत व्यक्ति के चंगुल में फंस चुके हैं तो आप उनके व्हाट्स एप अकाउंट को हैक करके सारे मैसेजेस और चैट पढ़ सकते हैं। वैसे व्हाट्स एप हैक करना इतना भी आसान नहीं, लेकिन आप हमारे इस ट्रिक को अजमाकर अपने दोस्त के चेट को पढ़ पायेंगे ! (कृपा इस ट्रिक का गलत इस्तेमाल न करें। अपनी गर्लफ्रेंड या फ्रेंड से उनकी चैट को एक्सेस करने की पूर्वअनुमति ले लें)

पढ़े :- ऐसे बनाए चंद मिनट मे स्मार्टफोन को प्रोजेक्टर - तकनीकी ज्ञान

1. सबसे पहले आप कुछ ऐसा करें कि जिसकी व्हाट्सएप चैट आपको पढ़नी है उसका फोन कुछ देर के लिए आपके पास हो।

2. अब अपने पीसी पर web.whatsapp.com ओपन करें।


3. अब जिसका फोन आपके पास है उसके फोन में व्हाट्सएप ओपन करें और सेटिंग्स में जाकर व्हाट्सएप वेब पर क्लिक करें।

4. अब पीसी की स्क्रीन पर दिए गए क्यूआर कोड को मोबाइल से स्कैन करें।


5. बस ऐसा करते ही आपके पार्टनर का अकाउंट आपके पीसी पर ओपन हो जाएगा।


6. ध्यान रहे कि अकाउंट लॉगइन करते समय 'Keep me logged in' पर क्लिक करना न भूलें।

पढ़े :- बस 15 मिनट पढ़े ईमेल और कमाएं महीने में 10 हजार रुपये


नोट: हमारी वेबसाइट किसी को भी किसी और का व्हाट्सएप अकाउंट पर नजर रखने की नसीहत नहीं देती है।
बस 15 मिनट पढ़े ईमेल और कमाएं महीने में 10 हजार रुपये

बस 15 मिनट पढ़े ईमेल और कमाएं महीने में 10 हजार रुपये

अगर आप भी घर बैठे पैसा कमाने का जरिया जानना चाहते हैं तो आज हम आपको कुछ ऐसी वेबसाइट्स के लिए बताते हैं जहां से आप बस कुछ ही मिनटों में अच्छा-खासा पैसा घर बैठे कमा सकते हैं

1.पैसा लाइव डॉट कॉम- आप बिना किसी इनवेस्टमेंट के तुरंत पैसा कमाना चाहते हैं तो यह वेबसाइट बेहतर विकल्प है। यहां अकाउंट बनाते ही आपको 99 रुपये मिल जाते है। आप अपने 10 दोस्तों का यहां अकाउंट बनवा लें तो फौरन आपको 10 हजार रुपये मिल जाएंगे। पहले 10 दोस्तों को रेफर करने के बाद आपको 2 रुपये मिलेंगे और जब इनबॉक्स में मेल पढ़ेंगे तो 25 पैसे से 5 रुपये तक कमा सकते है। यह वेबसाइट चेक से पेमेंट 15 दिन में एक बार करती है.! वेबसाइट पर जाने के लिये क्लिक करे !


2 Uminto डॉट कॉम - इस वेबसाइट पर आप फ्री मोबाइल रिचार्ज earn कर सकते है ! इसके फ्यूचर बहूत सारे है !
Singup करने पर 100 रुपए मिलते है ! दोस्त को join करवाने पर 5 रूपए पर फ्रेंड मिलते है ! और भी बहूत सारे तरीके है फ्री रिचार्ज earn करने के ! Singup करने के लिये क्लिक करे 


3.सेंडर अर्निंग डॉट कॉम- यहां इमेल, ऑनलाइन शॉपिंग और सर्वे के द्वारा पैसा कमाया जा सकता है। इसके लिए पहले यहां आपको अकाउंट बनाना होगा और अपना रजिस्ट्रेशन कंफर्म करना होगा। एक मेल पढ़ने पर 1 डॉलर यानि तकरीबन 60 से 65 रुपये दिया जाता है। शर्त यह है कि 6 महीने में अगर एक बार भी इस साइट पर विजिट नहीं किया तो आपका अकाउंट डिएक्टिवेट कर दिया जाएगा। पेमेंट के लिए जब अप्लाई करें तो आपके अकाउंट में कम से कम 30 डॉलर यानि लगभग 1800 से 2000रुपये होने चाहिए।


4.मनी मेल डॉट कॉम- इस वेबसाइट पर बस 15 मिनट ईमेल पढ़कर आप महीने का 10,000 हजार कमा सकते है। इसके लिए आपको रोजाना अपने अकाउंट पर लॉगिन करना होगा और इनबॉक्स में आएं मेल पढ़ने होंगे। यहां एक मेल पढ़ने पर 20 पैसे से लेकर 200 रुपये तक दिए जाते है।

पढ़े: ऐसे बनाए चंद मिनट मे स्मार्टफोन को प्रोजेक्टर - तकनीकी ज्ञान


5. कैश फॉर ऑफर डॉट कॉम- घर बैठे पैसा कमाने के लिए यह एक बेहतर वेबसाइट है। ऑनलाइन गेम खेलकर, दोस्तों का अकाउंट बनवाकर, ईमेल पढ़कर, सर्वे और कैश ऑफर्स के द्वारा आप पैसा कमा सकते है। जैसे ही यूजर वेबसाइट पर साइन-इन करता है उसे तकरीबन 5 डॉलर यानि 300 से 350 रुपये तक मिल सकते है। जब यूजर वेबसाइट का गोल्ड मेंबर बन जाता है तो 72 घंटे से भी कम टाइम में उसे पेमेंट कर दी जाती है।

पढ़े: ऑनलाइन पैसा कमाने के बारे में झूठ हैं ये 5 बातें, क्या आप भी मानते हैं सच


6.मैट्रिक्स मेल डॉट कॉम- ईमेल के द्वारा पैसा कमाने के लिए यह भी एक अच्छा विकल्प है। इस वेबसाइट पर आप ऑफर्स के द्वारा ईमेल पढ़ते हुए साइट विजिट करें और बाकी लोगों को इसके बारे में बताकर पैसा कमाएं। यूजर 25 से 50 डॉलर तक यानि लगभग 3000 रुपये एक घंटे में कमा सकता है।


ऐसे बनाए चंद मिनट मे स्मार्टफोन को प्रोजेक्टर - तकनीकी ज्ञान

ऐसे बनाए चंद मिनट मे स्मार्टफोन को प्रोजेक्टर - तकनीकी ज्ञान

एक स्मार्टफोन कितने बेहतरीन फीचर्स से लैस होता है ये शायद आप जानते हों, लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि इसे और शानदार कैसे बनाया जाता है। जब आप अपने फोन में कोई वीडियो या मूवी देखते हैं तो आपको लगता होगा, कि इसकी स्क्रीन थोड़ी बड़ी होनी चाहिए थी। आपकी इसी चिंता को दूर करने के लिए हम आपके लिए लाएं है एक ऐसी तकनीक जिसे आप घर बैठे चंद मिनटों में ही बना सकते हैं, जिसके चलते आपका फोन देखते ही देखते एक प्रोजेक्टर में कनवर्ट हो जाएगा। तो चलिए आपको इस प्रक्रिया के बारे में बता देते हैं !

इस तकनीक को बनाने के लिए आपको चाहिए:
शू बॉक्स
मैगनिफाइंग ग्लास



पेपर क्लिप
कटिंग नाइफ
स्टिकी टेप
रूलर (स्केल)
पेंसिल
स्मार्टफोन

पढ़े:-  ऑनलाइन पैसा कमाने के बारे में झूठ हैं ये 5 बातें, क्या आप भी मानते हैं सच

इस तकनीकी की पूरी प्रक्रिया पढ़े :- 

इसके लिए आपको शू बॉक्स का मध्य बिंदू ढूंढना है। इसके बाद इस बिंदू के ऊपर मैगनिफाइंग ग्लास रखकर एक गोला बनाना है। अब उस गोले को चाकू से काट लें, इससे शू बॉक्स के बीचोंबीच एक होल बन जाएगा।



अब मैगनिफाइंग ग्लास को शू बॉक्स के अंदर से उस गोले पर लगाइए और स्टिकी टेप से उसे अच्छे से चिपका दीजिए।

शू बॉक्स के नीचे की तरह एक छेद कीजिए और उसमें से अपने फोन का चार्जर केबल अंदर डालिए।

अब अपने स्मार्टफोन का स्टैंड बनाने के लिए पेपर क्लिप का इस्तेमाल कीजिए।


इसके बाद आपको स्मार्टफोन की स्क्रीन का मिरर फीचर ऑन करना होगा।

आईफोन यूजर अपने फोन की सेटिंग्स में जाएं, फिर जनरल पर क्लिक करें, फिर इंटरफेस पर क्लिकर करके टच पर टैप करें। अगर आप एंड्रायड यूजर हैं तो आप पिक्चर फ्लिप एप डाउनलोड कर सकते हैं।

पढ़े :- ATM पिन में क्यों होते हैं सिर्फ 4 डिजिट? जानें ऐसे ही 8 सवालों के जवाब

इसके बाद आप शू बॉक्स को बंद कर दीजिए और उसे किसी स्टैंड पर दीवार की तरफ करके रख दीजिए। ध्यान रहे की शू बॉक्स का मेगनिफाइंग ग्लास वाला हिस्सा दीवार की तरफ हो।

तो लीजिए आपका अपना शू बॉक्स प्रोजेक्टर तैयार है, अब आप अपने फोन की वीडियो को बड़े स्क्रीन पर देख सकते हैं।
ऑनलाइन पैसा कमाने के बारे में झूठ हैं ये 5 बातें, क्या आप भी मानते हैं सच

ऑनलाइन पैसा कमाने के बारे में झूठ हैं ये 5 बातें, क्या आप भी मानते हैं सच

क्या आप भी ऑनलाइन पैसा कमाने के बारे में सोचते हैं? अगर हां तो आपने क्या कोई बिजनेस आइडिया या कोई ऑनलाइन टूल सर्च किया है? ऑनलाइन मनी मेकिंग किसी आर्ट की तरह है और इससे काफी मुनाफा भी हो सकता है, लेकिन इससे जुड़े कई मिथ हैं जिन्हें लोग सच मानते हैं। हम आपको बताने जा रहे हैं ऑनलाइन मनी मेकिंग मिथ्स के बारे में...

Paisa Kaise kamae online


1. Myth # आपके कम्प्यूटर स्किल बहुत अच्छे होने चाहिए

ऑनलाइन पैसे कमाने के लिए सबसे जरूरी है लोगों से जुड़ने की क्षमता। जरूरी नहीं है कि आपके कम्प्यूटर स्किल्स बहुत अच्छे हों।

बिना कम्प्यूटर स्किल्स के कौन से ऑनलाइन काम किए जा सकते हैं-

1. यूट्यूब वीडियो अपलोडिंग
2. ऑनलाइन सर्विसेज जैसे ऑनलाइन टीचिंग
3. काउंसलर्स


2 Myth # आपको किसी भी टॉपिक का एक्सपर्ट होना जरूरी है 

सबसे जरूरी है कि आप अपना पैशन चुनें और उस हिसाब से टॉपिक चुनें। जरूरी नहीं की आपको उस टॉपिक की पूरी जानकारी हो। धीरे-धीरे काम करके ही परफेक्शन हासिल किया जा सकता है।

न्यू कमर्स के लिए हैं कौनसे ऑनलाइन काम-

1. ब्लॉगिंग
2. नेटवर्क मार्केटिंग

यह पढ़े :- ब्लॉग या वेबसाइट फ्री मे बनाने का तरीका 

3 Myth # बहुत कम टाइम में हो जाएंगे पॉपुलर

अगर आप ये सोचते हैं तो ये गलत है। ऑनलाइन मनी मेकिंग में अगर कुछ लोगों को छोड़ दिया जाए तो अपना काम सेटअप करने में कुछ महीने या साल भी लग सकते हैं। ये मान कर चलें की जितना टाइम एस्टिमेट आपने लिया है उससे ज्यादा समय ही लगेगा।

सबसे कम टाइम में पॉपुलर होने वाले कुछ ऑनलाइन काम जरूर हैं, लेकिन इनके लिए बहुत परफेक्शन चाहिए।


उदाहरण के तौर पर TVF ऑनलाइन चैनल को अपना बेस बनाने में 1.5 साल से ज्यादा समय लगा। इसे सबसे पहले The Viral Fever के नाम से लॉन्च किया गया था। अगर हिस्ट्री देखी जाए तो TVF 2010 से शुरू हुआ था और लोकप्रियता 2014 - 2015 में मिली।

4 Myth # टाइम मत वेस्ट करिए, ऑनलाइन कुछ नहीं होता

अगर कोई आपसे ये कहता है या आप ये मानते हैं कि ऑनलाइन टाइम वेस्ट होता है और कुछ नहीं तो ये गलत है। ऑनलाइन वर्किंग में पार्ट टाइम से लेकर फुल टाइम तक बहुत सा स्कोप है।


क्या-क्या कर सकते हैं ऑनलाइन- 

1. ब्लॉगिंग- V.ब्लॉगिंग
2. नेटवर्क मार्केटिंग
3. सर्विसेज प्रोवाइडिंग
4. कंटेंट राइटिंग
5. स्टार्टअप्स
6. बाइंग एंड सेलिंग आदि

यह पढ़े :- ब्लॉग वेबसाईट बनाकर इस वेबसाइट से पैसे कमाएं 

5 Myth # सिर्फ कुछ तरीकों से कर सकते हैं ऑनलाइन मनी मेकिंग

ऑनलाइन मनी मेकिंग की कोई लिमिट नहीं है। अगर आपको पास कोई भी आइडिया है तो आप ऑनलाइन पैसे कमा सकते हैं। पिछले कुछ दिनों में कई ऐसा वेबसाइट्स, राइटर्स, ब्लॉगर्स सामने आए हैं जिनको देखकर ये कहा जा सकता है कि ये कुछ अलग है। वेबसाइट से लेकर इंडिपेंडेंट ब्लॉग तक बहुत कुछ मिल सकता है।

उदाहरण के तौर पर एक वेबसाइट liquorkart आपके घर पर ही शराब, ग्लास, ऑनलाइन गिफ्ट आदि डिलिवर कर देगी। इसी तरह Ondoor साइट किसी भी तरह की सबजी-भाजी तक फ्रेश आपके घर पर आ जाएगी। इसी तरह ऐप्स के जरिए भी आप मनी मेकिंग कर सकते हैं।

6 Myth # ऑनलाइन मनी मेकिंग हमेशा आसान होती है

ये सही है की जिस काम में आपका दिल लगे वो आसान लगता है, लेकिन ऑनलाइन मनी मेकिंग आसान नहीं होती। आपको कड़ी मेहनत करनी होती है और साथ ही साथ इंट्रस्टिंग कंटेंट और सर्विस देनी होती है जो आसानी से ऑफलाइन मिल भले ही जाए लेकिन ऑनलाइन उसकी जरूरत ज्यादा लगे।

7 Myth # ऑनलाइन कुछ बेचने के लिए चाहिए स्लीजी कंटेंट

अगर आप ऑनलाइन सेलिंग की बात कर रहे हैं तो जरूरी नहीं की चीप और हल्के कंटेंट से ही चीजें बिकेंगी। वॉट्सऐप जैसा ऐप बिना एड और मार्केटिंग के दुनिया का सबसे बड़ा ऐप बन गया। अगर आपके पास सही प्रोडक्ट है तो जरूरी नहीं की उसके लिए कोई चीप एडवर्टाइजिंग की जाए।