0
ऐसे तो आपको इस बात कि जानाकरी है कि बीमा [ Insurance ] क्या है ? लेकिन कुछ ऐसी बीमा भी है जिसकी जानकारी शायद आपको नही होगी ! ऐसे मे आज हम आपको ऊन बीमा पॉलिसी कि जानकारी देने वाले है ! जानकारी के आभाव में लोग इसका फायदा नहीं उठा पाते हे. इसके लिए आपको कोई बीमा शुल्क भी नहीं देना होता हे. यह सेवा-शर्तों में पहले से ही होता हे. किसी भी जान-माल के नुकसान में इस बीमा राशी की मांग की जा सकती हे. आज की इस पोस्ट में, मैं आपको कुछ ऐसे ही बीमा पालिसी के बारे में बताऊंगा जो आपकी सुरक्षा के लिए पहले से बने होते हे और जिनका जानना आपके लिए बहुत ही ज्यादा जरुरी हे !




1. गैस उपभोक्ताओं का बीमा
घरेलू गैस उपभोक्ताओं का 15 लाख रूपये तक का बीमा होता हे. देश में संचालित सभी घरेलू गैस कंपनियों को इसका पालन करना जरुरी हे. गैस सिलेंडर में होने वाली किसी भी दुर्घटना में घायल व्यक्ति को अधिकतम एक लाख रूपये तक की चिकित्सकीय मदद मिलती हे और मृत्यु में 5 लाख रूपये तक का मुहावजा मिलता हे. यदि सिलेंडर फटने से सामूहिक रूप से नुकसान हुआ हे तो अधिकतम 15 लाख रूपये तक की क्षतिपूर्ति मिलती हे !





2. रेल यात्रियों का बीमा 
आरक्षित श्रेणी के साथ-साथ सामान्य श्रेणी में यात्रा करने वाले हर रेल यात्री का बीमा होता हे. रेल यात्रा के साथ रेलवे स्टेशन पर हुयी दुर्घटना की स्थिति में चार लाख रूपये तक का बीमा होता हे. बिमा राशी के लिए “रेलवे क्लैम ट्रिब्यूनल” में एक साल के भीतर आवेदन करना होता हे.

3. बैंक में जमा राशी का बिमा
बैंक में जमा राशी का बीमा चोरी, आग आदि के कारण हुए नुकसान में “निक्षेप बीमा और प्रत्यक्ष गारंटी निगम” के तहत बैंक उपभोक्ता को एक लाख रूपये तक का भुगतान करता हे. सभी सार्वजनिक बैंक इसके अंतर्गत आते हे. इसमें एक लाख से कम जमा राशी पर सिर्फ जमा राशी मिलती हे !


4. ATM कार्ड धारकों का भी होता हे बीमा 
इसमें ATM कार्डधारक की मृत्यु हो जाने पर उसके परिजन बीमा राशी के लिए आवदेन कर सकते हे. यह राशी बैंक और ATM कार्ड के आधार पर अलग-अलग हो सकती हे. इसमें मेस्ट्रो कार्ड, प्लेटिनम कार्ड, टाईटेनियम कार्ड आदि का अलग-अलग बीमा होता हे. इसके लिए ATM कार्ड का नियमित उपयोग जरुरी हे. दावे की राशी के लिए बैंक में 1 महीने के भीतर आवेदन करना होता हे !

Read VEHICLE INSURANCE KYA HAI ( Moter Vehicle Insurance Jankari )
  • Pls Share

Post a Comment