साइकिल का आविष्कार किसने किया पूरी जानकारी


साइकिल का आविष्कार किसने किया पूरी जानकारी

क्या आपको पता साइकिल के आविष्कार के बारे मे अगर नहीं तो आज हम चर्चा करने वाले है साइकिल के आविष्कारक कौन है ओर साइकिल के बारे मे ||

Cycle


अगर आपको लगता है साइकिल का आविष्कार आसानी से ओर सरल तरीके से आविष्कार हुआ होगा तो आप गलत है || क्योकि साइकिल का इतिहास बहुत ही विवादित ओर गलत सूचनाओ से भरा हुआ है || लेकिन साइकिल का आविष्कार बहुत लोकप्रिय आविष्कार मे से एक है ||



आप इस समय के साइकिल और उस समय के साइकिल को अगर देखेगे तो आपको बहुत ज्यादा अंतर मिलेगा || ओर सबसे बड़ी बात यह है की पहली साइकिल बनाने का दावा बहुत सारे लोग करते है || आप पढ़ रहे साइकिल का आविष्कार किसने किया ||


साइकिल का इतिहास ::

किसी भी चीज के आविष्कार की सफल कहानी के पीछे कई छोटी बड़ी कहानिया छिपी होती है || ओर ऐसा ही साइकिल के आविष्कार के बारे मे || तो चलिए जानते है साइकिल के आविष्कार से जुड़े कई अजीबो गरीब कहानिया || पहली मशीन जो कुछ कुछ साइकिल जैसी दिखती थी || उसका आविष्कार फ्रांस मे जिन थेसन ने किया था || जोकि चार पहिया वाली मशीन थी || 




दो पहिये वाली मशीन का आविष्कार 1816 मे जर्मनी मे हुआ || और इस मशीन को चलाने के लिए चालक को साइकिल की शीट पर बैठकर जमीन पर दौड़ना पड़ता था ||

आज के समय मे जिस साइकिल को चलाने के लिए हम प्रयोग करते है उसका आविष्कार 1839 मे स्काटलेंड लोहार कर्कपैट्रिक मैकमिलन ने किया था || और इस साइकिल मे आगे वाला पहिया 30 इंच ओर पीछे वाला 40 इंच का था || जिसमे चेन से जुड़े हुए पैडल्स नहीं थे बल्कि साइकिल के पीछे वाले पहिये मे  रॉड से जुड़ा हुआ दो पैडल लगाया गया था और इस पैडल को बारी बारी घुमाने पर साइकिल चलती थी || और यह साइकिल लोकप्रिय नहीं हो पाई जिसे आप कर्कपेट्रीक का दुर्भाग्य ही समझ सकते है ||


इसके बाद साइकिल को और बेहतर बनाते गए जिसमे बहुत सारे लोगो का योगदान रहा || सन 1863 मे Bone Shaker नाम से एक साइकिल आई जिसमे रबड़ के टायर नहीं थे तो आप समझ सकते है यह आरामदायक नहीं रहा होगा || और इस साइकिल का नाम Bone Shaker रखा गया ||


इसके बाद 1870 मे ordinary नाम से साइकिल आई जिसे खास तौर पर High Wheelers साइकिल नाम से जाना गया || और इसमे भी अगला टायर पिछले टायर के मुक़ाबले बड़ा था लेकिन इसमे रबड़ के टायर लगाए गए थे और इसको स्टील से बनाया गया था || इसलिए यह साइकिल काफी चर्चा मे रही || और इस साइकिल को सबसे पहला साइकिल कहा गया ||


इस तरह से समय के साथ धीरे धीरे साइकिल को बेहतर बनाते गए ओर सन 1890 मे एक और साइकिल Safety Bike नाम से आई जो दूसरी साइकिलों के मुक़ाबले बहुत ज्यादा चलने मे सुरक्षित थी || इसमे स्टील का प्रयोग बढ़िया ढंग से किया गया था ओर इस साइकिल की मजबूती अच्छी थी | और यह साइकिल उस समय के साइकिल मे से एक थी मतलब यह साइकिल बाकी की साइकलों से ज्यादा पोपुलर हुई ||


आज के समय मे गियर वाली साइकिल और अलग अलग कामो के लिए अलग अलग प्रकार की साइकिल बन रही है ||

यह भी पढे - सूक्ष्मदर्शी की खोज किसने की जानिए हिन्दी मे

साइकिल के बारे मे रोचक जानकारी - 
  • हम एक कार की जगह 15 साइकिल खड़ी कर सकते है | 
  • पूरी दुनिया मे लगभग 1 अरब साइकिल और इससे दुगुनी साइकिल की संख्या है | 
  • दुनिया मे सबसे तेज साइकिल चलाने वाला John Howard Olampic Cyclist है जो 250 KM/Hour की Speed साइकिल चला सकता है || 
  • 1 सप्ताह मे 3 घंटे या 30 किलोमीटर साइकिल चलने से दिल की बीमारी का आधा खतरा दूर हो जाता है | 
  • दुनिया की सबसे बड़ी Tandam Bycycle लगभग 20 मीटर लंबी है और जिस पर 23 लोग बैठ सकते है

तो यह थी साइकिल से जुड़े कुछ इकठ्ठा की हुई जानकारी || आपको कैसी लगी पोस्ट साइकिल का आविष्कार किसने किया पूरी जानकारी हमे बताना न भूले ||
SHARE

Milan Tomic

Hi. I’m Designer of Blog Magic. I’m CEO/Founder of ThemeXpose. I’m Creative Art Director, Web Designer, UI/UX Designer, Interaction Designer, Industrial Designer, Web Developer, Business Enthusiast, StartUp Enthusiast, Speaker, Writer and Photographer. Inspired to make things looks better.

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

7 Comments:

  1. बहुत ही अच्छी जानकारी प्रस्तुत की है आपने। साइकिल हमेशा से ही मुझे आ‍कर्षित करती रही है। इस पोस्ट को पढ़ कर मजा आ गया।

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका बहूत बहूत आभर उमीद् है आगे भी पाठक के रुप मे आप यह आते रहेंगे !

      Delete
  2. Anonymous21:44

    bahut achi jankari dihai

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद आगे भी आते रहे !

      Delete
  3. Thank's for information

    ReplyDelete
  4. बहुत ही अच्छी और रोचक लेख की प्रस्तुति। मुझे पसंद आया।

    ReplyDelete
  5. बहुत ही रोचक

    ReplyDelete