चाणक्‍य की इन 5 बातों पर कीजिए अमल, बदल जाएगी लाइफ

चाणक्‍य नीति - जो भी कहे पर जो महापुरुष होते है उनकी बातों मे होता है दम और चाणक्‍य नीति के बारे मे आपने सुना ही होगा तो ऐसे ही 5 बाते चाणक्‍य ने बताई है जिस पर अगर कोई शख्स अमल कर ले तो इंसान की जिंदगी बदल सकती है | आइये जाने 5 बाते जो चाणक्‍य ने बताए है |

चाणक्‍य नीति - जो भी कहे पर जो महापुरुष होते है उनकी बातों मे होता है दम और चाणक्‍य नीति के बारे मे आपने सुना ही होगा तो ऐसे ही 5 बाते चाणक्‍य ने बताई है जिस पर अगर कोई शख्स अमल कर ले तो इंसान की जिंदगी बदल सकती है | आइये जाने 5 बाते जो चाणक्‍य ने बताए है |



आलस्य से रहे दूर - चाणक्‍य के कहा है हर इंसान अपने तह किए गए गोल्स को पा सकता है लेकिन उसके लिए आलस्य से रहना होगा दूर चाणक्‍य कहते है कि यदि जीवन मे आगे बढ़ना है या कुछ करना है तो आलस्य का का त्याग करे यही वह बांधा है जो मनुष्य के सामने खड़ी होती है |




अपनी कमजोरी किसी को न बताए - चाणक्‍य कहते है ऐसा कोई इंसान नही है जिसकी कोई कमजोरी न हो जिसका मतलब है कि सभी की कोई न कोई कमजोरी होती है और कमजोर होना एक तरह से मनुष्य का स्वभाव है लेकिन चाणक्‍य कहते है अपनी कमजोरी कभी भी किसी को नहीं बतानी चाहिए चाहे वह इंसान कितना भी आपके करीब हो क्योकि चाणक्‍य कहते है कि आपके कमजोरी का फाइदा आपके बुरे समय मे कोई भी उठा सकता है |



फिजूलखर्ची से बचे - चाणक्‍य कहते है इंसान का बुरा समय कभी भी आ सकता है और बुरे समय मे न तो मित्र साथ देता है और न ही सगे संबंधि लेकिन उस बुरे समय मे आपके द्वारा बचाया हुआ धन ही काम आता है इसलिए मनुष्य को चाहिए फजूलखर्ची न करते हुए अपने धन को बचाना चाहिए |

बदनामी से बचे - चाणक्‍य कहते है सज्जन मुनुष्य का सबसे बड़ा गहना उसका चरित्र इज्जत और प्रतिष्ठा ही होती है ऐसे मे हर व्यक्ति की किसी न किसी स्तर पर बदनामी का डर होना चाहिये आचरण ऐसा करना चाहिए कि आपकी प्रतिष्‍ठा और चरित्र पर आंच ना आए क्‍योंकि यश, प्रतिष्‍ठा और इज्‍जत चली गई तो उसका लौटना असंभव है. चाणक्‍य कहते हैं- अपमानित हो के जीने से मरना अच्छा है. मृत्यु तो बस एक क्षण का दुःख देती है, लेकिन अपमान हर दिन जीवन में दुःख लाता है.



मित्रता सोच समझ करे - .चाणक्‍य कहते है हर व्यक्ति को सोच समझकर करनी चाहिए मित्रता न तो अपने से आर्थिक रूप से सम्पन्न व्यक्ति से मित्रता करनी चाहिए और न ही बेहद अभावगर्स्त गरीब से यह दोनों आपके मुशुबीयत मे कभी काम नहीं आएंगे तो चाणक्‍य कहते मित्रता अपने से बराबरी वाले मे करनी चाहिए |

SHARE THIS

Admin:

भारत एक ऐसा देश है जहां से हर गली, हर नुक्कड़ से अनगिनत कहानिया निकलती है और उन कहानियो को आप तक पहुंचाने मे मदद करता है केएमजीवेब . हमारे बारे मे अधिक जाने क्लिक से;?

0 comment: