सिविल इंजीनियरिंग मे करियर कैसे बनाए civil engineer kaise bane

सिविल इंजीनियरिंग मे करियर कैसे बनाए civil engineer kaise bane

 civil engineer kaise bane -  हर कोई चाहता है उसका नाम हो और साथ मे पैसा इसलिए स्टूडेंट कई तरह के कोर्स करते है तो अगर आपका सपना सिविल इंजीनियर बनने का है तो आज हम आपको गाइड कर रहे है कैसे बने सिविल इंजीनियर |


civil engineer

इंजीनिरिंग लाइन मे कई तरह के कोर्स मौजूद है और हर कोर्स अपने जगह पर अच्छा होता है लेकिन समय का भी इसमे हाथ होता है फिलहाल इस समय सिविल इंजीनियर की डिमांड ज्यादा है | तो आपके लिए यह कोर्स करना बढ़िया साबित हो सकता है |
काल सेंटर जॉब अच्छा या बुरा जाने सच्चाई call center jobs
इंजीनियरिंग क्षेत्र के कुछ कोर्स
  • मैकनिकल इंजीनियरिंग
  • इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
  • सिविल इंजीनियरिंग
  • एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग
  • ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग
  • हार्डवेयर इंजीनियरिंग
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग
आप कोई भी इंजीनियरिंग कर सकते है लेकिन आज हम आपको Civil Engineer Kaise बने से संबन्धित कोर्स की जानकारी देने वाले है |



सिविल इंजीनियरिंग क्या है Civil Engineer

एक सिविल इंजीनियर का कार्य योजना की प्लानिंग, डिजाइनिंग, और सानराचत्मक कार्यो से लेकर रिसर्च और समाधान तैयार करना होता है | यह कार्य सरकारी या प्राइवेट क्षेत्र दोनों मे से किसी के भी हो सकते है |

सिविल इंजीनियर बनने के लिए योग्यता क्या है [ Civil Engineer Qualification }

सिविल इंजीनिरिंग को 2 भागो मे बाटा गया है  -
जूनियर सिविल इंजीनियर - जूनियर सिविल इंजीनियर बनने के लिए आप डिप्लोमा का कोर्स कर सकते है | डिप्लोमा सिविल इंजीनियरिंग मे करने के लिए आपके पास हाई स्कूल की पास सर्टिफिकेट होना जरूरी है | साथ ही उम्मीदबार को मैथ, फिजिक्स, केमिस्ट्री सबजेक्ट मे पास होना अनिवार्य है |इंजीनियर बनने के लिए 3 साल का डिप्लोमा कोर्स करना होता है |

सिनियर सिविल इंजीनियर - बनने के लिए उम्मीदवार को 12th मैथ, मैथ, फिजिक्स, केमिस्ट्री सबजेक्ट मे
पास होने के बाद सिविल इंजीनियरिंग क्षेत्र मे BE/B-Tech कोर्स करना अनिवार्य होता है | इस कोर्स की अवधि 4 वर्ष की होती है |


Civil Engineering Course - सिविल इंजीनियरिंग कोर्स

  • सिविल इंजीनियरिंग इन डिप्लोमा
  • सिविल इंजीनियरिंग इन बीटेक
  • सिविल इंजीनियरिंग इन बी.ई.
  • सिविल इंजीनियरिंग इन एम.ई.
  • सिविल इंजीनियरिंग इन पीएच.डी.
  • सिविल इंजीनियरिंग इन ग्रेजुवेट
  • सिविल इंजीनियरिंग इन पोस्ट ग्रेजुवेट
  • कंसट्रेकसन सुपरवाइजर सर्टिफिकेट कोर्स
  • बिल्डिंग सर्टिफिकेट कोर्स
सिविल इंजीनियर के लिए रोजगार - Jobs In Civil Engineer
इस क्षेत्र मे इंजीनियरिंग करने वाले के लिए Govt. और Pvt. दोनों ही क्षेत्रो मे ढेर सारे रोजगार की समभावनाए पाई जाती है | हर साल Govt Secter मे 4 हजार से 5 हजार सिविल इंजीनियर के लिए भर्ती निकलती है |

सिविल इंजीनियर की वेतन या सेलरी क्या है
सिविल इंजीनियर की वेतन काफी अच्छा होता है - सरकारी विभाग मे जो इंजीनियर काम करते है उनकी सेलरी 10 हजार से - 15 हजार होती है | सिनियर Civil Engineer की Salary एक महीने की 20 हजार रुपए होती है और डिजाइनिंग क्षेत्र मे काम करने वाले Engineer की Salary 50 हजार से 60 हजार रुपए हर महीने की होती है | Civil Engineer के लिए विदेशो मे नौकरी और अच्छी Salary दोनों प्राप्त होती है | जो हमने Salary आपको बताया यह योग्यता अनुभव और कम्पनी पर कम ज्यादा भी हो सकती है |

सिविल इंजीनियरिंग मे प्रवेश प्रक्रिया व चयन -
हर साल पालीटेक्निक मे प्रवेश के लिए Entrance Exam लिया जाता है तो आप सिविल इंजीनियर बनने के लिए पालीटेक्निक प्रवेश परीक्षा मे भाग ले सकते है | अगर आप परीक्षा पास कर लेते है तो आपको Collage और Trade का चयन करने का मौका मिलता है | ऐसे ही B - Tech उम्मीदवार बी टेक collage मे प्रवेश ले सकते
आपकी राशि क्या है अपने नाम के पहले अक्षर से जाने rashi kaise pata kare

आपकी राशि क्या है अपने नाम के पहले अक्षर से जाने rashi kaise pata kare

apni rashi kaise pata kare - अगर आप अपने बारे मे जैसे - स्वभाव - रवैया, चरित्र, गुण अवगुण या व्यवहार की जानकारी राशि के अनुसार जानना चाहते है लेकिन आपकी राशि क्या है आपको नहीं पता तो हम आपको आपके नाम के पहले अक्षर से बता रहे है क्या है आपकी राशि | Meri Rashi Kya Hai pata kaise kare |


rashi patr

चंद्रमाँ की स्थिति द्वरा निर्धारित किए गए हमारे राशि के कुछ अक्षरो से हमारे नाम की शुरुवात होती है | हमारे नाम के पहले अक्षर का बहुत ही महत्व होता है साथ ही नाम के पहले अक्षर से राशियो की पहचान भी की जाती है | राशिया भिन्न भिन्न ऊर्जाए और कमजोरिया प्रदर्शित करती है |
8 ह्यूमन जिन्होने बदली रोबोटिक्स की दुनिया

राशियो के प्रकार rashi ke Prkar -

राशिया 12 प्रकार की होती है जिनके नाम हम नीचे दे रहे है -
  1. मेष
  2. वृष
  3. मिथुन
  4. कर्क
  5. सिंह
  6. कन्या
  7. तुला
  8. वृश्चिक
  9. धनु
  10. मकर
  11. कुम्भ
  12. मीन
मेष राशि mesh rashi -
मेष राशि का स्वामी मंगल होता है इस राशि का चक्र प्रथम है इस राशि मे नाम का पहला अक्षर चू, चे, चा, ला, ली, लू, ले, लो, अ आते है | यह राशि भेड़ के समान होती है | अब आपकी राशि क्या है नाम के पहले से जान चुके होंगे |



वृष राशि Vrish Rashi -
इस राशि मे बैल का चित्र प्रदर्शित होता है इस राशि का स्वामी शुक्र है | इस राशि मे नाम का पहला अक्षर ई, ए, ओ, उ, वा, वू, वे, वो, आते है |

मिथुन राशि -
इस राशि का स्वामी बुध है इस राशि मे नारी व पुरुष का युग्म चिन्ह होता है | मिथुन राशि मे नाम का पहला अक्षर का, की, कु, घ, ड, छ, के, को, ह आते है |

कर्क राशि -
इस राशि का स्वामी चंद्रमा होता है यह राशि केकड़े के समान है इस राशि के अन्तरगत नाम के पहले अक्षर ही, हु, हे, हो, डा, डी, डु, डे, डो आते है |

सिंह राशि -
इस राशि का स्वामी सूर्य होता है इस राशि मे शेर की आकृति बनी होती है इस राशि मे नाम मे नाम के पहले अक्षर मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे, आते है |



कन्या राशि -
इस राशि का स्वामी भी बुध है इस राशि मे 1 लड़की नौका मे बैठी हुई दिखाई पड़ती है जिसके हाथ मे धानौर अग्नि होता है इस राशि के अंतर्गत ढो, प, पी, पू, ष, ठ, पे, पो आते है |

तुला राशि -
इस राशि का स्वामी शुक्र है इस राशि मे नाम के पहले अक्षर र, री, रु, रे, रो, ता, ती, तू वाले आते है |

वृश्चिक राशि -
इस राशि का रूप बिच्छू के सामन होता है इस राशि का स्वामी मंगल है इस राशि मे नाम के पहले अक्षर तो, न, नी, नू, ने, नो, या, यि, यू वाले लोग आते है |

धनु राशि -
इस राशि का स्वामी बृहस्पति होता है इस राशि के अंतर्गत य, यो, भा, भि, भू, ध, फा, ढ, भे नाम वाले लोग आते है |

मकर राशि -
इस राशि का स्वामी शनि है इस राशि वाले के पहले अक्षर का नाम भो, जा, जी, खी, खे, खो, गा, गी वाले आते है 

कुंभ राशि -
इस राशि के स्वामी शनि है इस राशि वाले के नाम का पहला अक्षर गू, गे, गो, स, सी, सू, से, सो, द आते है |

मीन राशि meen rashi -
इस राशि का स्वामी बृहस्पति है इस राशि के अंतर्गत दी, दू, थ, झ, दे, दो, च, ची, वाले आते है |
सेहत की पुड़िया - अच्छी नींद और अस्थमा अटैक से बचाव

सेहत की पुड़िया - अच्छी नींद और अस्थमा अटैक से बचाव

अच्छी नींद कैसे आता है, अस्थमा रोग से बचाव के तरीके, बच्चे को दूध बहुत है फायदेमंद 
अच्छी नींद के लिए पिए गन्ने का रस - ताजगी से भर देने वाला गन्ने का रस आपको बेहतर नींद देने की भी क्षमता रहता है | कैल्सियम से लेकर अनेक खनिज पदार्थो से स्मृध गन्ने के रस के बार मे किए गए शोध मे यह बात सामने आई है कि इसमे पाए जाने वाला आकटाकोसानल नामक रसायन आपके तनाव के स्तर को भी कम करता है और अच्छी नींद देता है | जापान के त्सुकूबा यूनिवर्सिटी के योशीहीरो उरादे और भारत के महेश कौशिक के नेतृत्व मे किए गए शोध मे पाया गया कि नींद को सामान्य रखने के लिए आकटाकोसानल गन्ने के अलावा मधुमक्खी के मोम, धान की भूसी आदि मे भी पाया जाता है | यह शोध साइंटिफिक रिपोर्ट नामक पत्रिका मे प्रकाशित हुआ है |

child sleeping


अस्थमा अटैक से बचाव - अस्थमा एक परेशान करने वाली बीमारी है जो कई बार जानलेवा भी साबित होती है लेकिन अस्थमा अटैक को कम किया जा सकता है | हाल ही मे एक किए गए शोध मे यह बात सामने आई है कि सही खानपान और नियमित व्यायाम से अस्थमा पर काबू पाया जा सकता है | डेन्मार्क के बिस्पेबर्ग हॉस्पिटल के विसेषज्ञों द्वारा यह शोध किया गया है | इसके लिए यूरोपियन रेस्पीरेटरी सोसाइटी के सहयोग से इटली मे 149 लोगो का चयन किया और उन्हे 4 समूह मे बांटा गया | इनमे से एक समूह को संतुलित प्रोटीन से भरपूर भोजन और नियमित व्यायाम कराया गया | उसके बाद पाया गया कि उस समूह मे शामिल लोगो के अस्थमा मे 50% अधिक सुधार हुआ |
केला खाने के 21 फायदे banana benefits hindi
child astama


एक साल से छोटे बच्चे को न दे गाय का दूध - गाय के दूध को सेहत के लिए बहुत अच्छा माना जाता है इस कारण बच्चो को गाय का दूध दिया जाता है लेकिन नया सोध कहता है कि एक साल से कम उम्र के बच्चे को गाय का दूध नहीं देना चाहिए | विशेषज्ञ बताते है कि एक साल से छोटे बच्चे को गाय का दूध देने से उनमे सास और पाचन - तंत्र संबन्धित बीमारियो के बढ्ने की आसंका होती है | डैनोन इंडिया के हैल्थ एंड न्यूट्रिशन साइंस विभाग के नन्दन जोशी के अनुसार, गाय का दूध बच्चे की अपरिपक्व किडनी पर दबाव दाल सकता है और पाचन - तंत्र को भी कमजोर कर सकता है |
शांति और अहिंसा का सबक - मुहर्रम पर विशेष muharram kya hai

शांति और अहिंसा का सबक - मुहर्रम पर विशेष muharram kya hai

muharam kya hai muharram kyo manaya jata hai kya aapko pata hai agar nahi to aaj ham aapko mahrram par ek vishesh lekh de rahe hai
मुहर्रम शरीफ इस्लामी वर्ष [ हिजरी सन ] का पहला महिना है मुहर्रम के आगमन पर विशेष रूप से इमाम हुसैन की सहादत को याद किया जाता है | मुहर्रम की दसवी तारीख को ही इंसानियत के मसीहा इमाम हुसैन इब्ने अली ने इस्लाम को अनैतिकता के चंगुल मुक्त कर शांति, न्याय और अहिंसा के सबक दिए | न सिर्फ मुसलमानो के लिए हर उस व्यक्ति के लिए जिसके साथ जुल्म, ज्यादती और अन्याय हुआ हो | इमाम हुसैन की अहिंसक क्रान्ति मानव अधिकार, न्याय, और धैर्य का उच्चतम उदाहरण है | वह चाहे किसी भी  धर्म से सम्बंध रखता हो उसके दुख स्वर मे इमाम हुसैन का दर्द शामिल है | अन्याय के विरुद्ध दुनिया की कोई भी उल्लेखनीय क्रान्ति इमाम हुसैन [ रजीयीअल्लाहु अनहु ] के एतिहासिक आंदोलन से प्रभावित हुए बिना नहीं रह सकी |

makka madina
ईद के दिन अल्लाह का इनाम - ईद क्या है
यह महान आंदोलन आदर्श बलिदान 1400 से अधिक वर्षो से भी पहले हुआ है लेकिन अन्याय, हिंसा और आतंकबाद के खिलाफ यह आज भी दुनिया के लिए वैश्विक संघर्ष का प्रतीक है | इमाम हुसैन ने कर्बला के मैदान मे जालिम यजीदियों को संबोधित करते हुए फरमाया था कि अगर तुम्हारा कोई धर्म नहीं है तो कम से कम इस दुनिया मे अपना जीवन एक स्वतंत्र व्यक्ति की तरह जियो |



क्योकि एक स्वतंत्र को दूसरों की तुलना मे अच्छे और बुरे के बीच स्पष्ट अंतर महसूस होता है | दरअसल इमाम हुसैन को महान मानवीय इस्लामी सिद्धांतों के प्रतिस्थापक के रूप मे देखा जाता है | उन्होने बहुत ही धेर्य और धृदता के साथ अत्याचारी और अन्यायी शासक यजीद का विरोध कर पहली बार लोकतान्त्रिक नेतृव की इस्लामी अवधारणा परस्तुत की |

इमाम हुसैन ने कहा - हक [ सच ] और बातिल [ झूठ ] कभी एक नहीं हो सकते यह ऐतिहासिक तथ्य तब साबित हो गया जब उन्होने यजीद के राजदूत से कहा "मुझ जैसा व्यक्ति यजीद जैसे तानाशाह की निष्ठा कभी नहीं कर सकता" |

यदि हम इस इस दृष्टिकोण को सामने रखे  तो बड़ी आसानी से इस तथ्य का एहसास हो जाएगा की मौजूदा दौर के तथाकथित "मुजाहिदीन" की हकीकत खुखार उग्रवादियो और इस्लाम के झुठे दारोदारों के आलवा कुछ नहीं है | यह लोग गैरमुस्लिम और मुसलमानो को हिंसा और बार्बरता का निशाना बनाते है | इसलिए इस तरह के कृत्य इमाम हुसैन के सच्चे जिहाद और सहादत के सार के विलकुल विपरीत है | 
केला खाने के 21 फायदे लाभ केले खाने का सही समय banana benefits fayde hindi

केला खाने के 21 फायदे लाभ केले खाने का सही समय banana benefits fayde hindi

kela khane ke fayde, banana benefits hindi, kela khane ka sahi samay, banana benefits in english
केला banana hindi meaning benefits फायदे - केले मे कई तरह के तत्व पाये जाते है और केला सेहत के लिए बहुत फायदे वाला फल है | केला मे थाइमीन, रिबोफ्लेविन, नियासीन, और फालिक एसिड के रूप मे विटामिन ए विटामिन बी भरपूर और प्रचुर मात्रा मे पाया जाता है | आज हम आपको बता रहे है केले खाने से होने वाले फायदे | kela banana benefits hindi.

Kiss करने के 10 fayde

kela bananna khane ke 21 benefits fayde


  • केला खाने से आंखों की रोशनी जाने का खतरा कम हो जाता है क्योकि केले मे केरोटिनाइड यौगिक पाया जाता है |
  • केले मे फाइबर पाया जाता है और फाइबर पाचन क्रिया को बढ़िया बनाता है |
  • हर कोई फिट रहना चाहता है इसलिए लोग वजन कम करने के लिए कई सारे उपाय आजमाते है इलसिए लोग तरह तरह के डाइट अपनाते है लेकिन इन सबसे नुकसान ही होता है तो ऐसे मे केले का सेवन आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है | यह आपके बढ़ते वजन को कंट्रोल कर सकता है | आप सुबह मे उठकर केला खाने के बाद गरम पानी पी ले यह तरीका आपका वजन घटाने मे मददगार साबित होगा | आप दिन भर कुछ भी खाओ लेकिन सुबह मे केला खाने के बाद गरम पानी ले तो सब बराबर हो जाता है |
  • केला मे स्टार्च भरपूर मात्रा मे पाया जाता है जिसमे ग्लाईसेमिक की मात्रा बहुत कम होती है इसलिए केला पचने मे समय ज्यादा लगता है | अगर आप केला खाए तो आपको लंबे समय तक भूख का एहसास नहीं होगा और आपको एनर्जी प्रयाप्त मात्र मे मिल जाएगी |
  • केले हड्डियों के बहुत फायदेमंद है केले मे एक प्रकार का खास वैक्टरिया मौजूद होता है जिसका काम होता है खाने से कैल्सियम को खिचना और हड्डियों को मजबूती प्रदान करना |
  • एनीमिया रोगी को केला जरूर खाना चाहिए क्योकि केला खाने से खून मे हीमोग्लोबिन बनता है |
  • केला खाने से दिमाग या याद्दास्त अच्छा होता है क्योकि केले मे विटामिन बी6 एक बढ़िया स्रोत है जोकि नर्वस सिस्टम को अच्छा करता है |
  • बहुत ज्यादा केला खाने से अपच जैसी समस्या हो सकती है तो आप ईलाईची खा सकते है जिससे आपको आराम मिलेगा |
  • रोगप्रतिरोधक क्षमता अगर आप बढ़ाना चाहते है तो केले का सेवन करे केले मे कैरोटिनॉएड एंटीओक्सिडेंट पाया जाता है जो की रोगप्रतिरोधक क्षमता का वृद्धि करता है और संक्रामण से भी बच्चता है |
  • गैस समस्या मे केला फायदेमंद है क्योकि यह एसिडिटी को दूर करता है और पाचन क्रिया भी ठीक करता है |
  • banana shank आप पी सकते है अगर आप शराब पीने से हैंगओवर हो चुके है यह फायदा देगा आपको |
  • केले मे कई प्रकार के पोषक तत्व पाये जाते है - केले में तत्व मौजूद है थाईमिन, रिबोफ्लेविन, नियासिन, फोलिक एसिड, विटामिन A, B, B6, आयरन, कैल्शियम, मैगनिशियम, पोटैशियम |
  • बवासीर रोगी को चाहिए की केले मे चिरा लगाकर एक चने के बराबर देसी कपूर डाल ले और फिर केले को खा ले यह बवासीर रोगी को लाभ पहुचता है |
  • दिल को मजबूत रखने के लिए 2 केले मे शहद मिलाकर खा सकते है |
  • अगर आपका कोई अंग जल गया है तो आप उस जगह केले को मसल कर लगा सकते है इससे जलन शांत हो जाएगा |
  • किडनी को कैंसर से बचाने के लिए केले का सेवन कर सकते है |
  • आगर आपकी पैर की एडिया फटी हुई है तो आप केले के गुददे को फटी हुई एड़ी के स्थान पर रगड़ कर 10 मिनट तक लगा रहने दे |
  • चहरे को मुलायम बनाना चाहते है तो पका हुआ केला चेहरे पर मसल कर लगा सकते है | 20 से 25 मिनट हो जाने के बाद हल्के गरम पानी से चेहरे को धो ले |
  • मुह मे अगर छाला हो गया है तो आप गाय के दूध का दही ले और केला दोनों साथ मे सेवन करे | ऐसा करके आप मुह के छाले ठीक कर सकते है \
  • पेचीस और दस्त हुआ हो तो केले दही के साथ खाए आराम मिलेगा |
  • अगर आपको काही चोट लग चुकी है और खून बहना नहीं रुक रहा है तो केले का डंठल जो होता है उसका रस लगा ले |
8 ह्यूमन जिन्होंने बदली रोबोटिक्स की दुनिया robert word

8 ह्यूमन जिन्होंने बदली रोबोटिक्स की दुनिया robert word

रोबर्ट कैसे बनाए क्या आप जानते है अगर नहीं तो आज हम रोबर्ट बनाने का तरीका और रोबर्ट कि दुनिया मे बनाने वाले 8 ह्यूमन के बारे मे जानेगे
टेक्नोलॉजी इस कद्र आगे बढ़ चुकी हे की जो चीज हम सपने में भी नहीं सोच सकते आज वो हकीकत हे. हमने कभी नहीं सोचा था की एक इंसान का काम मशीन करेगी. आज देख लो विदेशों में इंसान के काम भी रोबोट कर रहे हे. भारत के दिवाकर वैश्य ने भी ऐसा रोबोट बनाया था. दो महीने की मेहनत से उन्होंने रोबोट को मानव का रूप दिया. इसे Wifi और ब्लूटूथ से भी जोड़ा जा सकता हे. इस रोबोटिक मानव की बैटरी 1 घंटे तक चलती हे. इसमें कुल 21 सेंसर लगे हुए हे. यह रोबोट हमारी एक आवाज पर चल सकता हे. आज में आपको कुछ ऐसे ही ह्यूमन के नाम बता रहा हु जिन्होंने रोबोटिक्स की दुनिया में तहलका मचा दिया |

यह पोस्ट एक वैबसाइट ऑनर के द्वारा हमे भेजा गया है जिनकी वैबसाइट का नाम माई नेट सलुशन है यहा क्लिक से जाए

robert image
रॉबर्ट कार कैसे बनाए घरेलू उपकरणो के प्रयोग से

8 ह्यूमन जिन्होंने बदली रोबोटिक्स की दुनिया

1. नेक्सी
MIT मीडिया लैब तथा मीका रोबोटिक्स ने 2008 में एक अनूठा मोबाइल एक्सपेरिमेंटल रोबोट बनाया जो ना केवल चेहरे पर हावभाव प्रकट कर सकता था बल्कि उंगलियों से भी चीजें उठा सकता था.
2. रीम-बी
2008 में एक ऐसा रोबोट बनाया गया जो ना केवल आवाज पर प्रतिक्रिया दे सकता था बल्कि चेहरे भी पहचान सकता था और खुद चल भी सकता था. यह रोबोट अपने वजन के 20% के बराबर भार भी उठा सकता था
3. कोबियन
जापान के वसेट्रा विश्वविधालय ने वर्ष 2009 में कोबियन ह्युमन रोबोट विकसित किया जो चलने और बोलने के साथ-साथ अलग-अलग भाव प्रकट कर सकता था |


4. रोबोनाट 2
नासा और जनरल मोटर्स कम्पनी ने टांगो वाला एक विकसित रोबोट बनाया जो स्पेस स्टेशन के अंदर चल सकता था और ऊंचाई पर भी चढ़ सकता था. यह 24 फरवरी 2011 को लोंच होए स्पेस शटल डिस्कवरी मिशन का हिस्सा था
5. असीमो
यह दूसरी पीढ़ी का रोबोट था जो 3 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दोड़ सकता था और उछलने में भी सक्षम था. हौंडा कम्पनी द्वारा विकसित इस रोबोट में स्वतंत्र मूवमेंट टेक्नोलॉजी का उपयोग किया गया था
6. शैफ्ट
टोक्यो विश्वविधालय द्वारा विकसित इस रोबोट ने 2013 में DARPA रोबोटिक्स चैलेंज जीता था. इसे बाद में गूगल कम्पनी में अपने स्वामित्व में ले लिया. यह एक ऐसा नवीन रोबोट था जो मानवीय कार्यों को करने वाली गतिविधियों पर नियन्त्रण रख सकता था
7. पेप्पर
जापान के सॉफ्टबैंक कारपोरेशन की सहायक इकाई एल्डेबेरेन रोबोटिक्स SA ने यह ह्युमन रोबोट विकसित किया को लोगो के साथ रह सकता था, भावनाओं को प्रकट कर सकता था और लोगों से बातचीत कर सकता था
8. मानव
भारत के अग्रणी कंप्यूटर संस्थान A-SET ट्रेनिंग एंड रिसर्च इंस्टिट्यूट के रोबोटिक्स एंड रिसर्च हेड दिवाकर वैश्य ने भारत का पहला थ्रीडी प्रिंटिंग रोबोट बनाया था जिसकी प्रोसेसिंग क्षमता इसे मनुष्य के बराबर बोलने और चलने योग्य बनाती हे. भारत का पहला रोबोट हे जिसमे थ्री दी प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया
रिश्तो को संभालने का हुनर - best relationship kaise kare

रिश्तो को संभालने का हुनर - best relationship kaise kare

ये उदासी कैसी ...? आपके अपने आपसे दूर हो रहे है अगर ऐसा है तो इन सवालो के जरिये अपने जवाब तालाशिए .....



आपके अपने आपसे नाखुश क्यू रहते है .......?
हो सकता है ये वो लोग हो जिनकी आप कदर तो करते है पर जाने अंजाने मे उबकी उपेक्षा भी कर बैठे हो | आपको उनकी चिंता है पर उनके लिए अपनी भावनाए जाहीर नहीं कर पाते तो अपना रवैया बदलीये |
ब्लू ह्वेल गेम के चक्रव्यूह मे फंस रहे है बच्चे 
आपसे दूर होने पर सबसे ज्यादा दुख किसे होता है ...?
जाहीर है उन्हे जो आपको बहुत प्यार करते है आप भी उन्हे प्यार दे |



क्या आप इनके साथ प्र्याप्त समय बिताते है .....?
शायद नहीं | पर इसके बावजूद वे लोग आपको अच्छा एहसास कराने कि कोशिस करते है | जब इनके साथ हो तो पूरे मन से इनके साथ रहे | ज्यादा समय बिताना जरूरी नहीं पर जो समय बीता रहे है वह अच्छा हो \

क्या आओ अपने करीबी लोगो पर समय कि जगह पैसा खर्च करते है ....?
रिश्तो के प्रति अपराध बोध कम करने के लिए हम अक्सर अधिक पैसा खर्च करने लगते है कई बार खुद को खुश करने के लिए भी उनकी शॉपिंग आदि पर पैसा खर्च करने लगते है ध्यान रहे पैसा कुछ समय के लिए स्थिति को बादल सकता है पर समय बहुत सी छीजो को बादल देता है | अपनों के साथ समय बिताए |

क्या आप दूसरों को अच्छा महसूस कराते है ....?
ऐसे कई लोग है जो आपके लिए अच्छा सोचते है और करते है तो आप हर रोज किसी एक का आभार व्यक्त करे | वे दूर है तो कभी कभार उनसे बात करते रहे उन्हे और आपको को दोनों को अच्छा लगेगा |
यहा क्रिकेट खेलकर सुलटाते है झगड़े

यहा क्रिकेट खेलकर सुलटाते है झगड़े

हमारे देश मे क्रिकेट दीवाने की कमी नहीं है क्रिकेट खेल हमारे लिए भले मनोरंजन का साधन हो पर पापुआ न्यू गिनी की ट्रोब्रियंड जनजाति के लिए यह अमन शांति बनाए रखने का तरीका है |

न्यू गिनी - आस्ट्रेलिया के उत्तर मे स्थित दुनिया का सबसे बड़ा दिविप है न्यू गिनी मे ट्रोब्रियंड नमक एक जगह है | जहां ट्रोब्रियंड जनजाति के लोग रहते है | जिस तरह दुनिया मे पाई जाने वाली सभी जंजातियों के अपने नियम कायदे होते है |

janjati



इनमे से एक नियम के बारे मे सुनकर चौक जाएँगे आप भी क्योकि यह नियम जुड़ा है लड़ाई झगड़े के निपटारे से | अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर ऐसा क्या खास है झगड़ा का निपटारा करने मे ??
हम आपको बता दे जब इनके बीच झगड़ा होता है तो वह मर पीट और बहस नहीं करते बल्कि क्रिकेट खेल कर झगड़े को सुलझाते है |
दुल्हन कि एंट्री के लिए यूनिक आइडियाज

इस क्रिकेट मैच मे महिलाए भी लेती है भाग -

इस मैच मे जो जीतता है झगड़े के मुद्दे पर उसी कि बात मानी जाती है | ट्रोब्रियंड जनजाति को सन 1793 मे खोजा गया था | साल 1894 मे ट्रोब्रियंड दीप समूह तब सामने आया था जब यहा एक कैथोलीक मिसन से जुड़े लोग यहा पाहुचे थे | तब इस जगह को "पापुआ न्यू गिनी" के नाम से जाना जाने लगा |



कैसे इस जनजाति ने सीखा क्रिकेट -
साल 1903 मे विलियम गिलमोर नाम के एक ब्रिटिस व्यक्ति ने ट्रोब्रियंड जनजाति के लोगो को क्रिकेट से परिचय कराया | उन्हे क्रिकेट सीखने के पीछे उनके बीच लड़ाई झगड़ा और दुश्मनी को खत्म करना था | हालाकी गिलमोर ने इस जनजाति के लोगो को जिस तरह क्रिकेट खेलना सिखाया था उसके नियमो मे अब बहुत बदलाव आ गए है | वहा के क्रिकेट मैच मे एक टीम मे 40 - 50 सदस्य शामिल हो सकते है |

क्रिकेट मैच शुरू और खत्म कैसे 
क्रिकेट शुरू करने से पहले इस जनजाति के आद्यात्मिक गुरु बेट और बाल को हाथ मे लेकर प्राथना करते है ताकि क्रिकेट मैच के नतिजे सुखद रहे और मैच के दौरान मौसम अच्छा रहे | मैच के पहले और मैच के बीचो बीच मे टीम के सभी सदस्य प्राथना और नाच गाने का प्रदर्शन करते है | यही नहीं जब कोई सदस्य आउट होता है तो उस व्यक्ति को नृत्य या नाचना पड़ता है और उसकी कोरियोग्राफी विपक्षी टीम करती है | मैच खत्म होने के बाद दोनों टीमे एक दूसरे से अपने भोजन कि अदला बदली करती है |

ग्रीनलैंड के बाद यह दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा दीप है यहा कि एक और खासियत है - यहा सामान्य कैरेंसी नहीं चलती बल्कि यहा समान खरीदने के लिए केले के पत्तों का इस्तेमाल किया जाता है |
नाक को हिलाने - डुलाने भर से काल कट जाएगी

नाक को हिलाने - डुलाने भर से काल कट जाएगी

जरा सोचिए बस और मेट्रो की भीड़ मे जेब से फोन निकाले बगैर ही आप वीडियो रोक सके या गाना आगे बढ़ा पाए तो कितना अच्छा रहेगा |

काएस्ट यूनिवर्सिटी [ दक्षिण कोरिया ] कियो विश्वविद्यालय [ जापान ] के कम्प्युटर विशेज्ञों ने आपकी यह खवाइस पूरी कर दिखाई है | उन्होने अत्याधुनिक सेंसर से लैस स्मार्ट चसमा "ईची नोज " बनाया है | जो नाक को लग अलग अंदाज मे छूकर स्मार्टफोन के 3 बड़े फीचर को नियंत्रित करने की सुविधा प्रदान की है |

काला साम्राज्य - दाऊद के परिवार मे एक नहीं कई डॉन



निर्माण दल से जुड़े प्रोफेसर जोयुंग ली के मुताबिक "ईची नोज" ब्लूटूथ के जरिये आसानी से स्मार्टफोन से जुड़ जाएगा | इसमे लगे इलेक्ट्रोग्राफी [ ईओजी ] सेंसर यूजर के नाक के इशारे भापकर फोन को काटने, वीडियो रोकने प्ले करने, आवाज घाटने बढ़ाने और अलग गाना बजाने के निर्देश देंगे | ईओजी सेंसर फेशियल रिक्गिनिशन तकनीकी पर काम करते है |

चश्मा एसे करेगा काम -

  • नाक दाई और व बाई और हिलान पर कटेगी काल
  • नाक को उंगली से ऊपर करने पर वीडियो पाज होगा
  • नाक के निचले हिस्से उंगली फिरान्दे से गाना बादल जाएगा |
लाखो कमा रहे है ये डिजिटल परिवार Youtube से कमाई

लाखो कमा रहे है ये डिजिटल परिवार Youtube से कमाई

आज यूट्यूब पर अपने विडिओ चैनल का फैशन नोट कमाने का शानदार जरिया भी है नोएडा मे एक परिवार के नन्द - भाभी और भतीजे जैसे 8 सदस्य यूट्यूबर है और साथ मिलकर Youtube से लाखो की कमाई कर रहे है |
यह कोई मुश्किल काम नहीं है आप भी youtube से Paisa कमा सकते है साथ ही यूट्यूब स्टार बन सकते है |
उत्तर भारत का एक ऐसा परिवार है जहा के पूरे परिवार मे 8 यूट्यूबर है यानि यह परिवार यूट्यूब से अच्छी ख़ासी कमाई करता है |

यूट्यूब चैनल कैसे बनाए और सेटिंग कैसे करे
श्रुति के यूट्यूब चैनल की यू हुई शुरुवात -
बात शुरू हुई साल 2010 मे जब 31 वर्षीय इंजीनियर श्रुति आनंद के पति अर्जुन साहू यूएस मे एनआईआईटी मे नौकरी करते थे | ऐसे मे खाली समय का इस्तेमाल करने के लिए उन्होने श्रुति अर्जुन आनंद के नाम से अपना यूट्यूब चैनल शुरू किया | उनके पति अक्सर यूएस से तरह तरह के कास्मेटिक उनके लिए खरीद कर लाते थे |
श्रुति ने सोचा की क्यो न उन कास्मेटिक्स की मदद से खुद को नए नए अंदाज मे सजाकर दिलचस्प वीडियो बनाया जाए | ब्राइडल मेकअप तरह तरह के हेयरस्टाइल, आईलाइनर लगाने का सही तरीका, फाउंडेसन के चयन के लिए सही तरीका से जुड़े | श्रुति के वीडियो लोगो को काफी पसंद आने लगे आज उनके 803716 सब्सक्राइबर है और 14 करोड़ से ज्यादा लोग उनका चैनल देख चुके है | उनके मेहदी डिजाइन वीडियो और सिलीब्रिटीज का अंदाज अपनाने के तरीको जैसे वीडियो काफी पसंद किए जाते है |



30 लाख की नौकरी छोड़ी - अर्जुन ने इस काम के लिए 30 लाख रुपए सालाना की नौकरी इस काम के लिए छोड़ दी है साथ ही उन्होने अपने 2 चचेरे विक्रम सिंह और विशाल वैसय व प्रिया के कज़िन पंकज टोपवाल को भी इस बिज़नस मे शामिल कर लिया है |

घरेलू नुस्खो का अड्डा
प्रीतिप्रियाटीवी नामक इस अड्डे की सरदार है निशा की बहन प्रिया | 2012 मे शुरू हुए इस यूचैनल के वर्तमान मे 11,31,846 सब्सक्राइबर है | और इस चैनल को 9,54,36,624 बार देखा जा चुका है |



इस परिवार के यूट्यूब चैनल के नाम
  • माई मिस आनंद
  • गढ़वाली - बुलेन्द्खंद जायके
  • घरेलू नुस्खो का अड्डा
नोएडा के अपार्टमेंट मे बनाते है विडिओ -
 इस परिवार ने नोएडा मे अपार्टमेंट किराए पर लिया हुआ है जहां वह अपने वीडियो की शूटिंग और एडिटिंग करने के बाद अपलोड करते है | एक कमरे मे एक बड़ा सा वाईट बोर्ड रखा हुआ है | जिसमे हफ्ते भर के शूटिंग शेड्यूल का लेखा जोखा होता है की किस वीडियो की शूटिंग किस दिन और कितने बजे होगी | परिवार के सदस्य वीडियो को लेकर हफ्ते मे एक बार मीटिंग भी करते है साथ ही एक दूसरे को न्यू न्यू तरीके और सुझाव भी देते है
कोरिया परमाणु ताकत के पीछे पाकिस्तान का हाथ

कोरिया परमाणु ताकत के पीछे पाकिस्तान का हाथ

पाक ने दिया था उत्तर कोरिया को परमाणु तकनीकी जानिए क्या है पूरा मामला, परमाणु तकनीकी उत्तर कोरिया चीन बना रहा है मजबूत पाकिस्तान और कोरिया को परमाणु तकनीकी से
पाक के उत्तरी कोरिया से परमाणु सम्बंध - ऐसा माना जाता है की पाकिस्तान ने उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम को आगे बढ़ाने मे मदद की सीआईए की रिपोर्ट से द्नो देशो के परमाणु संबंधो की जानकारी हुई | पाक के परमाणु बम के जनक माने जाने वाले अब्दुल कादिर खान ने 2004 मे ईरान, उत्तरी कोरिया, लीबिया को परमाणु तकनीकी को बेचने की बात स्वीकार की थी | इस माह की शुरुवात मे पाक भौतिक विज्ञानी परवेज़ हूड़बॉय ने बताया था कि इस बात के संकेत है कि खान ने अकेले यह काम नहीं किया | इसमे उच्च स्तर के लोगो का हाथ भी रहा होगा |

north koriya
ब्लूव्हेल गेम के चक्रव्यूह मे फस रहे है बच्चे bluewahle game kya hai
अमेरिका के पास भी सबूत -

  • 1995 मे पाक मे अमेरिका के पूर्व राजदूत ओकले ने तस्वीर पेश की जिसमे विमान से उत्तर कोरिया से खरीदा नोडोंग मिसाइल के हिस्से उतारे जा रहे है व सेट्रीफ्यूज लद रहे है |
  • 2002 मे अमेरिका ने दावा किया पाकिस्तान से उत्तरी कोरिया को परमाणु तकनीकी दी, ख़ान से पूछताछ की मांग की तब पाक प्रमुख मुसर्राफ़ ने इंकार किया |


70 के दशक मे हुई शुरुवात -
  • 1976 मे पाक की तत्कालीन मुख्यमंत्री जुल्फिकर भुट्टो ने उत्तर कोरिया की यात्रा की थी |
  • पाकिस्तान की मंशा कोरिया प्रायदीप के जरिये अमेरिका और चीन मे संतुलन बनाने की थी |
कादिर खान की अहम भूमिका -
  • 1975 मे पाकिस्तान के परमाणु वैज्ञानिक अब्दुल कादिर खान यूरोप के यूआरईएनसीओ से सेंट्रीफ्यूज तकनीकी चौरी कर वापसा लौटे |
  • 1976 मे पाकिस्तान मे कहुता शौध प्रयोगशाला की स्थापना की और चोरी की तकनीकी से परमाणु तकनीकी का विकाश शुरू किया |
  • 1980 और 90 के दशक मे उत्तर कोरिया के साथ लीबिया और ईरान को परमाणु तकनीकी बेची, 2004 मे गुनाह काबुल कर आम माफी मांगी |


2 शैतानी ताकतों का मेल -
  • उत्तर कोरिया के पास मिसाइल तकनीकी थी लेकिन इन मिसाइलों के लिए परमाणु हतियार नहीं |
  • इसी प्रकार पाकिस्तान ने चोरी की तकनीकी से परमाणु बम तो बना लिया था लेकिन प्र्क्षेपित करने के लिए मिसाइल नहीं |
उत्तर कोरिया की ताकत -
  • 2006 मे प्योंगयांग ने पहला परमाणु विस्फोट किया |
  • 09 परमाणु परीक्षण किए है उत्तर कोरिया ने अब तक |
  • 5 हजार किमी मारक क्षमता की मिसाइले बनाने का दावा |
पाकिस्तान की ताकत -
  • 150 के करीब परमाणु बम होने का अनुमान |
  • 2500 किमी तक शाहीन 3 मार कर सकती है |
  • 4 परमाणु रियकटर देश मे अभी कार्ययत है |
भुट्टो ने तसदीक की थी -
  • 2004 मे पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो ने भी दुबई मे दिए एक इंटरव्यू मे परमाणु तकनीकी बेचने की बात मान चुकी है |
  • 1989 मे तत्कालीन सेना प्रमुख मिर्जा असलंम बेग ने कश्मीर मे घुसपेठ और उत्तर कोरिया को परमाणु तकनीकी बेचने का प्रस्ताव रखा |
  • 1993 मे कादिर के अनुरोध पर वह उत्तर कोरिया गई ताकि अधिक दूरी ताक मारक क्षमता वाली मिसाइले खरीदी जा सके |
काला साम्राज्य - दाऊद के परिवार मे एक नहीं कई डॉन

काला साम्राज्य - दाऊद के परिवार मे एक नहीं कई डॉन

दाऊद इब्राहिम के नाम से आप भली भाति परिचित होंगे दाऊद इब्राहिम के इतिहास से लेकर उमके परिवार का इतिहास देखे तो आपको पता चलेगा दाऊद के परिवार मे एक नहीं कई डॉन है | दाऊद के बारे मे अक्सर इन्टरनेट पर सर्च किया जाता है दाऊद इब्राहिम कैसे बना डॉन,दाऊद इब्राहिम की पूरी कहानी, दाऊद इब्राहिम का घर तो आज हम दाऊद इब्राहिम के पूरे परिवार की चर्चा करने वाले है |

दाऊद इब्राहिम - सैकड़ों लोगो की मौत के लिए जिम्मेदार अंडरवर्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के भाई बहनो का भी आपराधिक रिकार्ड भी छोटा नहीं है |  हालांकि दूसरों के बच्चो को अपराध की दुनिया मे धकेलने वाले डॉन ने खुद की ओलाद को इस काली दुनिया से दूर रखा है |
अट्ठारह सितम्बर का इतिहास मे महत्व
daud ibrahim photo
ओज़ोन डे पर ऐसे बचाए पृथ्वी
दाऊद के 2 बेटे और 1 बेटी -
दाऊद की पत्नी का नाम महज़बीन उर्फ जुबिना जरीन है दोनों के चार बच्चे थे तीन बेटिया माहरुख, माहरिन, और मारिया और एक बेटा मोइन है | बेटी मारिया की साल 1998 मे मौत हो गई | डॉन की सबसे बड़ी बेटी माहरुख के पति पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर जावेद मियादंद के बेटे जुनेद है | छोटी बेटी माहरिन की शादी अमेरिका मे बिज़नसमेन आयुब से हुई है | बेटे मोइन की शादी कराची मे लंदन के बिज़नसमेन की बेटी सानिया से 2011 मे हुई है मोइन ससुराल मे ही रहते है |



दाऊद की संपत्ती - 35 हजार की संपत्ति है सरकारी रिकार्ड के अनुसार दाऊद के पास है | अब तक जुर्म की दुनिया मे रहकर किसी शख्स ने इतनी दौलत नहीं बनाई है |

दाऊद के 2 भाई गैंगवार मे मारे गए -
दाऊद 1986 मे भारत छोड़कर दुबई भाग गया था इससे पहले 1981 मे उसके बड़े भाई साबिर की हत्या पठान गैंग ने कर दी थी | उसके साथ कराची मे रह रहे दूसरे भाई नूरा की 2009 मे सरदार रहमान गेंग ने मारा | एक भाई हुमायू कासकर की पिछले साल बीमारी से मौत हुई |



बहनौई की भी हुई हत्या - 
दाऊद के दुबई भागने के बाद उसका कारोबार बहनोई इब्राहिम पार्कर संभालने लगा था लेकिन गवली गैंग के गुर्गों ने उसकी हत्या कर दी | इसके बाद गॉडमदर से मशुहुर हसीना पारकर ने दाऊद का कारोबार संभाला |

11 भाई बहनी मे चौथे नंबर का इकबाल कासकर - 
दाऊद के पिता इकबाल कासकर महाराष्ट्र पुलिस मे हेड कान्सटेबल थे उनके सात बेटो मे से दाऊद एक है | इनमे इकबाल कासकर चौथे का बेटा था | कोकड़ी मुस्लिम परिवार से आने वाले दाऊद इब्राहिम की 4 बहने थी | दाऊद की बहन फरजाना तुंगेकर और हसीना पारकर की मौत हो चुकी है | मुमताज़ सेख और सईदा पारकर अभी जिंदा है | बालिबूड़ मे हसीना पार्कर पर बन रही फिल्म 22 सितंबर को रिलीज हुई |

2007 मे सबूतो के अभाव मे छूटा था
इकबाल कासकर मुंबई के नागपाड़ा इलाके मे रहता था | 2003 मे मुंबई पुलिस ने दुबई मे गिरफ्तार किया था इसके बाद 4 साल मुंबई की आर्थर रोड जेल मे रहा | 2007 मे सबूतो के अबाव मे रिहाई मिल गई | उस पर मुंबई के सारा - सहारा बिज़नस सेंटर मे ब्लैक मनी लगाने का केस चला था |
ब्लू व्हेल गेम के चक्रव्यूह मे फंस रहे है बच्चे - blue whale game

ब्लू व्हेल गेम के चक्रव्यूह मे फंस रहे है बच्चे - blue whale game

ब्लू व्हेल गेम क्या है और इससे कैसे बच्चे क्या आप जानते है अगर नहीं तो आज हम ब्लू व्हेल गेम के बारे मे आपको बताने वाले है और इससे अपने बच्चे को कैसे बचाए

भारत सहित पूरे देश मे ब्लू व्हेल गेम के चलते कई बच्चे अपनी जान गवा चुके है मामले की गंभीरता को देखते हुए भारत सरकार ने गूगल और फेसबूक से ब्लू व्हेल गेम के लिंक को ब्लॉक करने को कहा है | लेकिन यह इतना आसान नहीं है क्योकि यह गेम किसी लिंक से या किसी APK या किसी एप मे नहीं मिलता | यह ब्लू व्हेल गेम सीधे पर्सनल मैसेज के माध्यम से भेजा जाता है और खेला जाता है |


Blue Whale game

ब्लू व्हेल गेम के टास्क
ब्लू व्हेल गेम मे 50 टास्क होते है और इन टास्क को 50 दिन मे पूरा किया जाता है और 50 दिन जो गेम खेलता है उसके आत्महत्या या सुसाइड करने का होता है |
कम पैसे मे शुरू करे बिज़नस और पाए अधिक मुनाफा

ब्लू व्हेल गेम से बचने के तरीके -


  • किसी भी सोशल मीडिया साइट पर कोई टास्क जॉइन न करे |
  • अगर आपको कोई पर्सनल मैसेज करे और वह मैसेज ब्लू व्हेल गेम से संबन्धित हो तो तुरंत उसकी सिकायत करे |
  • किसी अंजान व्यक्ति के कुछ कहने पर उसके लिए मनचाहा काम न करे |
  • अगर आपका बच्चा छोटा है और सोशल मीडिया का प्रयोग कर रहा है तो उसे ब्लू व्हेल गेम के बारे मे बताए और सावधान करे |
ब्लू व्हेल गेम
इस गेम मे हर दिन एक नया टास्क पूरा करना होता है | इस गेम मे कुछ भी अच्छा नहीं है क्योकि इस गेम के हर एक टास्क मे खुद को नुक्सान पहुचाना होता है जैसे - खुद के खून से ब्लू व्हेल बनाना, डरावनी फिल्मे देखना, देर रात को जागना इत्यादि |

इस गेम मे फंसे हुए बच्चे को कुछ हेशटैग से पहचाना जा सकता है -
  • सबसे पहले तो अपने बच्चे के व्यवहार पर खास नजर रखे |
  • बच्चे के सोने और उठने की आदत मे बदलाव तो नहीं है इस गेम को खेलने वाले को सुबह मे 4:30 am पर उठना पड़ता है |
  • इस गेम को खेलने वाले नटखट बच्चे भी अपने परिवार और दोस्तो से कटे कटे से रहते है |
  • अपने बच्चे के हाथ पैर और शरीर पर ध्यान दे क्योकि इस गेम के टास्क मे बच्चे को अपने को नुकसान पाहुचाना पड़ता है | ब्लू व्हेल का निशान बनाने को कहा या उकसाया जाता है |
दुल्हन की एंट्री के युनीक आइडियाज - दुल्हन english meaning

दुल्हन की एंट्री के युनीक आइडियाज - दुल्हन english meaning

शादी किसी भी की रहे वह उसे खास बनाना चाहता है शादी को स्पेशल बनाने के लिए लोग क्या क्या नहीं करते है | हर कोई अपनी शादी मे किसी प्रकार की कसर नहीं छोड़ना चाहता है | दुल्हन english meaning, दुल्हन मेकअप, दुल्हन मेहंदी डिजाइन, दुल्हन मेकअप वीडियो, दुल्हन का लहंगा  | इसमे लड़कीया तो कभी पीछे नहीं रहती और इसलिए अपनी शादी मे लड़कीया अपने धमाकेदार एंट्री से सभी को चौकाना चाहती है या चौका रही है अगर आप भी जल्दी शादी करने की सोच रहे है या करने जा रहे है तो आज आपके लिए हम कुछ खास आइडिया देने वाले है मतलब दुल्हन की एंट्री के युनीक आइडियाज | चलिये जानते है दुल्हन की एंट्री कैसे करे या होनी चाहिए | दुल्हन english meaning - Bride


duhan mehdi



स्पार्कल एंट्री - अगर आप एक रोमांटिक एंट्री चाहती है तो दुल्हन को चाहिए की अपने पति के साथ हाथो मे हाथ डालकर स्पार्कलस के बीच एंट्री करे | यह एक रोमांटिक तरीका तो लगता ही है और इस तरीके मे ज्यादा शोर शराबा भी नहीं होता |
सुंदर त्वचा पाने के लिए अपनाए यह टिप्स
पेरेंट्स के साथ एंट्री - अगर आप दुल्हन बन चुकी है इसका मतलब आप अपने जीवन की नई शुरुवात करने वाले है | आप अपने जीवन की शुरुवात मे अपने माता पिता को शामिल कर सकते है मतलब आप अपने माता पिता के साथ एंट्री कर सकते है | यह भी एक अच्छा तरीका है |



क्यूट बच्चो के साथ एंट्री - बच्चो के साथ दुल्हन का एंट्री करना बेहद आकर्षित भरा लगता है और अगर बच्चे क्यूट है तो दुल्हन की एंट्री उनके साथ बहुत ही अच्छा रहेगा | बच्चो के हाथ मे तख्तिया भी रहे जिन पर लिखा हो हर कम द ब्राइड |


रायल एंट्री - रायल एंट्री मे दुल्हन सिंहासन पर बैठकर एंट्री करती है और सिंहासन फूलो से सजा होता है तो आप इस तरह से भी शादी मे एंट्री कर सकती है यह देखने मे काफी अच्छा होता है और देखने वाले बस देखते ही रह जाएँगे और आप बिलकुल खिल जाएंगी |


लाड़ली बहन की परफेक्ट एंट्री - अगर आपकी बहन आपकी लाड़ली बहन है तो आप जरूर चाहते होंगे की आपकी बहन की एंट्री खाश हो तो आप अपने बहन को एक पालकी पर बैठाकर ला सकते है जिससे आपकी बहन की एंट्री स्पेशल बन जाए |
नवरात्र मे मंदिर की सफाई करने का तरीका

नवरात्र मे मंदिर की सफाई करने का तरीका

नवरात्र मे मंदिर की सफाई करने की सोच रहे है तो आज आपको हम बताने वाले है कैसे कर सकते है मंदिर की सफाई | मंदिर को साफ सुथरा रखना बहुत ही जरूरी है | नवरात्र मे 9 दिन तक देवी माँ की पूजा होती है साथ नवरात्र मे लोग अपने घरो मे बहुत ही शुद्धि रखते है | वैसे तो अधिकतर लोग अपने घरो मे अलग कमरा मंदिर के लिए बना लेते है लेकिन कुछ घरो मे रसोई मे एक छोटा सा मंदिर होता है | मंदिर की साफ सफाई हर कोई रोजाना ई करता है लेकिन त्योहार मे कुछ खास ध्यान ही रखा जाता है और मंदिर की सजावट भी की जाती है |
गणेश चतुर्थी क्यो मनाई जाती है

मंदिर की साफ़ सफाई कैसे करे आइये जाने - 


  • सबसे पहले मंदिर के कमरे को साफ पानी से धोना चाहिए लेकिन बहुत से घरो मे छोटे मंदिर है और आपके घर मे छोटा मंदिर है तो आप उसे साबुन के पानी से अच्छी तरह धो दे |
  • अगर आपके घर मे धातु की बनी मूर्तिया है तो ऐसी मूर्तियो को नमक और टुथपेस्ट से धोना चाहिए | ऐसा करके आप अपनी मंदिर की मूर्तियो को एकदम चमका सकते है और मूर्ति बिलकुल नया सा दिखने लगेगा |
  • जोत और पूजा की जो थाली होती है वह लगभग सभी लोग पीतल की प्रयोग मे लेते है तो आप उन्हे नींबू और नमक से साफ कर सकते है | नींबू और नमक से थाली को रगड़ने पर उनमे चमक आ जाएगी |
  • मंदिर के कमरे और मंदिर मे जो पर्दा लगा हुआ है उन्हे नया खरीद कर ले आए और लगा दे और यह नहीं कर सकते है तो पुराने पर्दे को अच्छे से धोकर सूखा ले फिर लगा दे |
  • अगर आपके मंदिर मे पीतल की घंटी है तो उसे साफ करने के लिए इमली का प्रयोग करे इमली के गूदे मे घंटी को कुछ समय तक भिगाकर रख दे और फिर उसे रगड़ कर साफ करदे |
  • जब आपका मंदिर बिलकुल साफ हो जाए तो आप ताजे ताजे फूलो से मंदिर को सजा सकते है साथ ही मंदिर के द्वार पर फूलो की माला लगा सकते है फिर मूर्तियो पर ताजे फूलो की माला चढ़ाए और अगर आप अपने मंदिर को जगमागाता हुआ देखना चाहते है तो मार्केट से लाइट लाकर सजावट करके मंदिर मे लगा सकते है |
बच्चे करते है बिस्तर गीला तो रोजाना खिलाए यह चीजे

बच्चे करते है बिस्तर गीला तो रोजाना खिलाए यह चीजे

कई माता पिता अपने बच्चो की बार बार पेशाब करने की आदत को लेकर परेशान रहते है कई बार बच्चे यूरिन इन्फेक्शन, तनाव, पुरानी कब्ज या असंतुलित हारमोन के कारण बिस्तर मे पेशाब कर देते है | अगर आपका बच्चा भी बिस्तर पर पेशाब कर रहा है तो इससे आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है | आइये जाने कैसे बच्चो को बिस्तर गीला करने से रोका जा सकता है |

bistar gila

दालचीनी - अगर आप अपने बच्चे के बेडवेटिंग की समस्या से परेशान है और दूर करना चाहते है तो अपने बच्चे को दालचीनी और शुगर का टोस्ट बनाकर दे | रोजाना इसे खाने से बच्चो की बार बार पेशाब करने की आदत दूर हो जाएगी |



आंवला - यूरिन इनफेकसन या कब्ज को दूर करने के लिए आंवला के पानी मे 1 टेबलस्पून शहद, थोड़ी सी हल्दी और कालीमिर्च रोजाना डालकर दे इससे बच्चे की पेशाब बिस्तर पर करने की आदत चली जाईगी |
ग्रीन टी के फायदे green tea benefits
चेरी का जूस - रोजाना बच्चे को सुलाने से पहले चेरी का जूस जरूर पिलाए इससे बच्चो को बार बार पेशाब नहीं आएगा और वह आराम से सो भी जाएँगे |

अखरोट और किशमिश - बच्चो को रोजाना अखरोट और 5 किशमिश जरूर खिलाए इससे तनाव, कब्ज और असंतुलित हार्मोन की समस्या दूर हो जाएँगे |
18 सितंबर का इतिहास मे महत्व - today history in hindi

18 सितंबर का इतिहास मे महत्व - today history in hindi

today history in hindi - वैसे तो हर दिन का कुछ न कुछ इतिहास होता है लेकिन 18 सितम्बर को क्या खास रहा हम आपको आज बताने वाले है | अबसे हमारा प्रयास रहेगा हर दिन का आपको इतिहास की जानकारी दे फिलहाल आज हम 18 सितम्बर के इतिहास के बारे मे जानते है |
भारतीय इतिहास की प्रमुख तिथिया क्लिक से पढे

आज का इतिहास 18 सितम्बर -



सन 1502 - दुनिया की चौथी यात्रा के दौरान क्रिस्टोफर कोलम्बल कोस्टिरिका पाहुचा |
सन 1615 - जहाँगीर के दरबार मे इंग्लैंड नरेश जेम्स प्रथम का राजपूत थोमस भारत पाहुचा |
सन 1803 - ब्रिटिश फौजों ने पूरी पर कब्जा किया |
सन 1851 - न्यूयार्क टाइम्स का प्रकाश शुरू हुआ |
सन 1860 - इटली की आजादी की लड़ाई मे पोपा के 4 हजार सैनिक मारे गए |
सन 1900 - डॉ, शिवसागर रामगुलाम का जन्म मारिशस मे हुआ |
सन 1934 - सोवियत संघ ने लीग ऑफ नेशंस की सदस्यता ग्रहण की |
सन 1961- राष्ट्र संघ महासचिव दाग हैमरशोल्ड उत्तरी रोडेशिया मे एक विमान दुर्घटना मे मारे गए |
सन 1981- फ्रांस की संसद ने मौत की सजा समाप्त करने का प्रस्ताव पारित किया |
सन 1982- लेबनान की ईसाई मिलिशिया ने शाटिला और साबरा के शिवीरों मे 800 फिलिस्तीनी सरनाथियों को मौत के हवाले उतार दिया |
सन 1987 - नागालैंड ने अंग्रेजी को राज्य की सरकारी भाषा बनाया |
सन 1988 - बर्मा मे सेना ने सत्ता पर कब्जा किया |
सन 1992 - भूतपूर्व उपराष्ट्रपति हिदायतुल्ला का निधन |
सन 2000 - आइवरी कोस्ट के सैनिक शासक जनरल राबर्ट गुएई पर कातिलाना हमला हुआ |
सन 2001 - केंद्रीय मंत्रीमण्डल ने प्राथमिक शिक्षा अनिवार्य और मुफ्त करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी |
सन 2007 - महेंद्र सिंह धोनी को भारत की वन डे टिम का कप्तान नियुक्त किया गया |
कम पैसे मे शुरू करे बिज़नस पाए अधिक मुनाफा - business kaise kare

कम पैसे मे शुरू करे बिज़नस पाए अधिक मुनाफा - business kaise kare

business tips, business loan kaise le, business kaun sa kare, business in india for lot money, business idea in hindi, business guide in english
अगर आप बिज़नस करने जा रहे है तो आपका मकसद यही होगा की कम लागत मे अधिक मुनाफा कमाया जाए तो आज हम आपको ऐसे ही बिज़नस के बारे मे बताने वाले है जिसे आप करके हर महीने 50 हजार रुपए की कमाई कर सकते है | यह बिज़नस आप 4 लाख 25 हजार मे शुरू कर सकते है और महीने मे 50 हजार रुपए कमा सकते है | बिज़नस कैसे करे, बिज़नस आइडिया हिन्दी मे, बिज़नस की शुरुवात कैसे करे |

business

सस्ता बिज़नस अधिक फायदा -
कुछ बिज़नस ऐसे होते है जिनमे प्रोडेक्ट की डिमांड सीजन के हिसाब से ज्यादा होती है | लेकिन कुछ प्रोडेक्ट ऐसे है जिनकी डिमांड पूरे साल बनी रहती है | अगर आप कोई बिज़नस शुरू करने जा रहे है तो आप इन बांतो का ध्यान जरूर रखे |
  • बिज़नस ऐसे प्रॉडक्ट से जुड़ा होना चाहिए जिसकी मार्केट हर समय बनी रहे |
हम आपको एक ऐसे ही बिज़नस के बारे मे बताने वाले है जिसमे आपको 4 लाख 25 हजार रुपए का निवेश करना होगा और बिज़नस का जो एस्टिमेट है उस हिसाब से सभी खर्च काटने के बाद आप 50 हजार मंथली की कमाई कर सकते है |



शुरू करे नोट बूक मैन्यूफैकरिंग - 
किताब और कापियो की डिमांड हर समय बरकरार रहती है | नोट बूक हो या नोटपेड या आर्डर बूक हर इलाके मे इसकी मार्केट आपको मिल जाएगी | जब स्कूल का सीजन आ जाता है तो इसकी डिमांड बहुत ज्यादा बढ़ जाती है लेकिन दूसरे सीजन मे भी इसकी मांग बनी रहती है तो आप बेहतर क्वालटी के प्रोडेक्ट तैयार कर आप अपनी अच्छी मार्केट बना सकते है | मांग बनी रहने से आपके कारोबार सफल होने की उम्मीद भी ज्यादा है | इस बिज़नस मे खाश बात यह है कि इस बिज़नस के लिए सरकार मुद्रा स्कीम के तहत आपकी मदद भी करेगी |

इस बिज़नस को शुरू करने के लिए कुल खर्च 16 लाख 88 हजार रुपए -
एक खास साइज़ का बिज़नस शुरू होने मे पूरा खर्च 16.88 लाख रुपए आँका गया है लेकिन इसमे से आपको खुद के पास से 4.25 लाख रुपए रुपए ही निवेश करना होगा | बाकी खर्च के लिए मुद्रा योजना के तहत सरकार आपकी मदद करेगी |



लोन देकर करेगी सरकार मदद - बिज़नस शुरू करने के लिए आपको अपने पास से 4.23 लाख रुपए दिखाना जरूरी है | वर्किंग केपिटल लोन - 9 लाख रुपए टर्म लोन - 3.65 लाख रुपए यह लोन मुद्रा स्कीम के तहत किसी भी बैंक से आसानी से लिया जा सकता है |

ऐसे होगी 50 हजार रुपए तक की मंथली इनकम -
16.88 लाख रुपए के निवेश पर जो एस्टिमेट तैयार किया गया है उसमे सालाना 2 लाख नोटबूक, 40 हजार ऑर्डर बूक और 40 हजार नोटपैड का प्रॉडक्शन हो सकता है |

  • सलाना टर्नओवर - 59 लाख रुपए
  • सलाना प्रॉडक्शन कास्ट - 47 लाख रुपए
  • ग्रास ऑपरेटिंग प्राफ़िट - 12 लाख रुपए 
  • एक्सपेन्स कास्ट - 5 लाख रुपए
  • नेट प्रॉफ़िट - 7 लाख रुपए - इस प्राफ़िट मे से आपको टैक्स के अलावा बैंक लोन भी भरना होगा जो 5 साल के लिए है | इस लिहाज से आप 50 हजार रुपए महीने मे मुनाफा कमा सकते है |
मुद्रा लोन की अधिक जानकारी यहा क्लिक से
ऐसे करे एप्लाई - इसके लिए आप प्रधानमंत्री योजना के तहत किसी भी बैंक से एप्लाई कर सकते है | जिसके लिए आपको एक फार्म भरना होगा | फार्म मे आपको निम्न जानकारी देनी होगी - नाम, पता, बिज़नस शुरू करने का एड्रेस, एजुकेशन, मौजूदा इनकम उर कितना लोन चाहिए | इसमे आपको किसी भी तरह की प्रोसेसिंग फीस या गारंटी फीस नहीं देना पड़ेगा | लोन एमाउंट आप 5 साल मे लौटा सकते है |
रफ्तार का राजा जापान - high speed bullet train in japan

रफ्तार का राजा जापान - high speed bullet train in japan

दुनिया की सबसे तेज रफ्तार ट्रेन का रिकार्ड जापान की एलओ सीरीज ट्रेन का है इसका परीक्षण जापान ने 21 अप्रैल 2015 को किया था | इसकी अधिकतम रफ्तार 603 KM/Hour है | 2027 तक इस ट्रेन को चलाने की योजना है | यह अत्याधिक चुंबकीय तकनीकी मैगनोटिक लेवीटेशन से चलती है | इसमे बिजली से चार्ज किए गए चुंबक ट्रेन को पटरी से चार इंच ऊपर रखते है | इससे शोर कम रफ्तार अधिक हो जाती है |

bullet train

हर देश की चाह, खुले हाई स्पीड की राह - Bullet Train In India

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने जापानी समकक्ष शिजों एबी के साथ गुरुवार को देश मे बुलेट ट्रेन या हाई स्पीड रेल [ एचएसआर ] की बुनियाद राखी | इसे भारतीय अर्थव्य्स्था के लिए बेहतर अवसर के रूप मे देखा जा रहा है | अपने आर्थिक सामाजिक और प्राकृतिक लाभ के चलते ही एचएसआर दुनिया के कई देशो को आकर्षित कर रही है | इसकी शुरुवात जापान से 1964 मे शिनक्नसेन ट्रेन के रूप मे हुई | चीन जर्मनी फ्रांस समेत करीब 15 देश इसे अपना चुके है | कई देशो मे इसके निर्माण की योजना है | विश्व की सर्वाधिक रफ्तार ट्रेन जापान के पास ही है | हाई स्पीड ट्रेन की न्यूनतम रफ्तार 200 KM/Hour होती है |
रेलवे ट्रेन टिकट बूकिंग एजेंसी कैसे खोले जानकारी
विकास को गति, पर्यावरण सुरक्षित, रोजगार सहित देश को होंगे कई फायदे -



बढ़ेगी प्रति व्यक्ति जीडीपी -
समावेशी विकास को ध्यान रख जब जापान ने 1964 मे पहली बुलेट ट्रेन चलाई तो उसकी प्रति व्यक्ति जीडीपी 825 डॉलर थी | अब यह 36 हजार डालर है चीन मे एचएसआर के बाद प्रति व्यक्ति जीडीपी 3500 से 8 हजार डालर पहुच गई है | 2022 मे जब भारत मे यह ट्रेन चलेगी तो प्रति व्यक्ति जीडीपी करीब 3 हजार डालर होगी | भारत को इसका फाइदा मिलेगा क्योकि इस रूट पर मुंबई, वापी, और ठाणे जैसे कई बड़े व्यावसायिक केंद्र है |

नए रोजगार - करीब 20 हजार लोगो को इसके निर्माण कार्य मे और 4 हजार से अधिक लोगो को निर्माण के बाद स्थायी नौकरी मिलेगी |

तकनीकी समझने मे मदद -
बुलेट ट्रेन चलने से देश की कंपनियो को इसकी तकनीकी को समझने मे मदद मिलेगी | इससे भविष्य मे स्वदेशी स्तर पर बुलेट ट्रेन चलाने का प्रयास होगा साथ ही भारतीय रेलवे को भी फायदा होगा |



शीर्ष एचएसआर और देश -
चीन - शंघाई मैगलेव ट्रेन -
431 किमी/घंटा रफ्तार विश्व की मौजूदा हाई स्पीड ट्रेन है | चीन मे 22 हजार किमी का एचएसआर ट्रेक है जो दुनिया का सर्वाधिक है |

चीन - हार्मोनी सीआरएच 380ए
अधिकतम रफ्तार 380 किमी/घंटा है | बीजिंग से शंघाई के बीच 2010 मे इसे शुरू किया गया था |

इटली - एजीवी इटालो
अधिकतम रफ्तार 360 किमी/घंटा है 2012 मे चालू हुआ |

स्पेन - सिमेंस वेलैरो ई/एवीई 103
अधिकतम रफ्तार 350 किमी/घंटा है बार्सिलोना और मेड्रिड़ के बीच 2007 मे शुरू हुई |

स्पेन - टाल्गो 350
अधिकतम रफ्तार 350 किमी/घंटा है 2005 से यह ट्रेन मेड्रिड़ - बार्सिलोना रेल लाइन पर चल रही है |

अन्य प्रमुख देश -
  • मोरकको - केनित्रा और टेंगीयर के बीच 2018 मे एचएसआर शुरू होगी 
  • इन्डोनेशिया - जाकार्ता से बांडुग के बीच एचएसआर चलाने की योजना
  • सऊदी अरब - मदीना से मक्का चलाने की योजना
  • उज्बेकिस्तान - छह सौ किमी ट्रैक पर टाल्गो 250 एचएसआर चलती है
  • दक्षिण कोरिया - सियोल से बूसान के बीच कोरियन ट्रेन एक्स्प्रेस चलती है
  • ताइवान - ताइपे रेलवे स्टेशन से जुओयिंग स्टेशन तक चलती है 
  • अमेरिका - कई रूटो पीआर चालू साथ ही कुछ अन्य रूट प्रस्तावित
  • फ्रांस - 1981 मे यूरोप की पहली एचएसआर पेरिस - ल्यान के बीच चली | 2647 किमी मौजूदा एचएसआर रेल नेटवर्क है इसके साथ ही जर्मनी और रूस मे कई रूटो पर एचएसआर चलती है |
सुंदर त्वचा पाने के लिए अपनाए कुदरती टिप्स

सुंदर त्वचा पाने के लिए अपनाए कुदरती टिप्स

चेहरे को सुंदर और चमकदार कैसे बनाए क्या आपको पता है अगर नहीं चलिए जानते है सुंदर बनने का तरीका |
सुंदर और स्वस्थ त्वचा पाना हर स्त्री की चाहत होती है पर व्यस्थ जीवन की वजह से बार बार ब्यूटी पार्लर जाना संभव नहीं हो पाता है | कुछ आसान घरेलू उपाय जिसकी मदद से आप घर बैठे पा सकती है मनचाही सुंदरता | तो आज हम आपको सुंदर कैसे दिखे इसके लिए बताने वाले है कुदरती टिप्स |
सोने से 3 घंटे पहले खाना क्यो खाए जानिए 

सुंदर त्वचा पाए इन तरीको से


  • विटामिन्स, मिनरल्स और एंटी ऑक्सीडेंट से भरपूर होता है केला सेहत ही नहीं, बल्कि सौन्दर्य की दृष्टि से भी फायदेमंद साबित होता है | पके केले के पेस्ट को ग्लिसरीन के साथ मिलाकर चहेरे पर लगाए और 10 मिनट तक छोड़ दे | जब सुख जाए तो ठंडे पानी से धो ले | ऐसा करने से रूखी त्वचा कोमल बनी रहती 
  • प्रतिदिन सुबह खाली पेट एक गिलास गुनगुने पानी मे नींबू का रस और शहद मिलाकर पीने से त्वचा मे चमक आती है |
  • चहेरे, गर्दन और हाथो पर नियमित रूप से नींबू का छिलका रगड़ने से त्वचा की रंगत मे निखार आता है |
  • नीबू के छिलके को आर्मपिट्स मे रगड़ने से पसीने की बदबू दूर हो जाती है |
  • नींबू के छिलको पर चीनी डालकर नाखूनो और एड़ियो पर रगड़ने से उनमे चमक आ जाती है |
  • आंखो को डार्क सर्कल से बचाने के लिए खीरे या आलू को घिसकर आंखो को आसपास लगाकर दस मिनट रखे और उसके बाद ठंडे पानी से धो ले |
  • खुले रॉम छिद्रो को बंद करने के लिए नींबू के रस मे कच्चा दूध मिलाकर चहेरे पर लगाए और दस मिनट बाद धो ले |
  • चहरे के दाग धब्बो को मिटाने के लिए हरे नारियल का पानी नियामित रूप से लगाए | इससे कुछ ही महीने मे आपको फर्क नजर आने लगेगा |
  • डैड्रफ दूर करने के लिए खट्टे दहि से सिर की त्व्चा की मालिस करे और आधे घंटे के बाद मालिस कर ले |
  • दही मे शहद मिलाकर चेहरे पर लगाए इससे त्वचा की टैनिंग दूर हो जाती है |
  • अधिक तेज धूप से यदि आपकी त्वचा झुलस गई हो तो 2 चम्मच टमाटर के रस मे 4 चम्मच छाछ मिलाकर लगाए |
  • त्वचा को चमकदार बनाए रखने के लिए जूस, सूप , छाछ लस्सी और नींबू पानी जैसे तरल पदार्थो का सेवन अधिक करना मात्रा मे करना चाहिए | दिन भर मे कम से कम 8 से 10 गिलास पानी पिए |
  • पुदीने के पत्तों को  पीसकर उसमे खीरे का रस मिलाकर चेहरे पर लगाए और आधे घंटे बाद ठंडे पानी से धो ले यह बहुत अच्छे टोनर का काम करती है | इससे ढीली त्वचा मे कसाव आ जाएगा |
Happy Watsapp Status In Hindi - खुशियो की चाभी

Happy Watsapp Status In Hindi - खुशियो की चाभी

Love status - Whatsapp Status in Hindi, sad love status for whatsapp status in hindi, sad love status for whatsapp dard bhare status in hindi, dard bhare status in marathi, Dil Ka Dard SMS, दर्द भरे Hindi Status.

जन्मदिन बधाई शायरी हिन्दी
हर किसी को दिल मे उतनी ही जगह दो जितनी वो देता है
वर्ना या तो खुद रोओगे या वो तुम्हें रुलाएगा |
खुश रहो लेकिन कभी संतुष्ट मत रहो
अगर जिंदगी मे खुश रहना है तो पैसे को हमेशा जेब मे रखना दिमाग मे नहीं
 इंसान अपनी कमाई के हिसाब से नहीं अपनी जरूरत के हिसाब से गरीब होता है |

दुनिया मे सबसे ज्यादा सपने तोड़े है इस बात ने कि लोग क्या कहेगे | 
जब लोग अनपड़ थे तो परिवार एक हुआ करते थे
टूटे परिवारो मे अक्सर पढे लिखे देखे गए है | 
 हर समस्या का दो हल होते है - भाग लो [ रन अवे ] दूसरा भाग लो [ पार्टीशिपेट ] पसंद आपको ही करना है |
अपनी सफलता का रौब माता पिता को न दिखाओ
उन्होने अपनी जिंदगी हार के आपको जिताया है | 

 यदि जीवन मे लोकप्रिय होना है तो सबसे ज्यादा आप शब्द का उसके बाद हम शब्द का और सबसे कम मैं शब्द का प्रयोग करना चहाइए |
 इस दुनिया मे किसी का कोई हम दर्द नहीं होता है
लाश को श्मशान मे रखकर अपने ही लोग पुंछते है और कितना वक्त लगेगा |
दुनिया के असंभव काम - माँ की ममता और पिता की क्षमता का अंदाजा लगा पाना | 
यदि कोई इंसान आपको गुस्सा दिलाने मे कामयाब हो जाता है तो समझ लीजिए की आप उसके हाथो की कठपुतली है | 
यदि कोई तुम्हें नजर अंदाज करदे तो बुरा मत मानना क्योकि लोग अक्सर हेसियत से बाहर महगी चीज को नजर अंदाज कर देते है  
कोई देख न सका उसकी बेबसी जो साँसे बेच रहा है गुब्बारों मे डालकर 
 मुझे कौन याद करेगा इस दुनिया मे
हे ईश्वर बिना मतलब के तो लोग तुम्हें भी याद नहीं करते 
 जब आप गुस्से मे तो कोई फ़ैसला न करना और जब आप खुस हो तो कोई वादा न करना [ यह याद रखना कभी नीचा नहीं देखना पड़ेगा ]
 दुनिया मे ऊपर वाले का संतुलन कितना अधभूत है 100 KG अनाज का बौरा जो उठा सकता है वो खरीद नहीं सकता और जो खरीद सकता है वह उठा नहीं सकता |
इन्टरनेट Google पर तेजी से बढ़ रही है हिन्दी

इन्टरनेट Google पर तेजी से बढ़ रही है हिन्दी

hindi ya english kya best hai, hindi khoj, hindi website, hindi me jankari, hindi ka istemal
कुछ समय इनतारनेट पर कुछ भी सर्च करना होता था तो इंगलिश मे ही सर्च किया जाता था लेकिन समय बदल रहा है और आज आज हिन्दी इंगलिश से लोहा लेने को तैयार बैठी है | आज इन्टरनेट पर हिन्दी सामग्री की खपत तेजी से बढ़ी है | बीते कुछ समय वर्षो मे 94 फीसदी की दर से वृद्धि हुई है | जबकि अँग्रेजी सामग्री का इस्तेमाल महज 19 फीसदी की दर से बढ़ा है |
आत्मा क्या होता है जानिए
hindi

इन्टरनेट पर हिन्दी की पकड़ Hindi is fast growing on the Internet

  • आज इन्टरनेट पर 50 हजार से ज्यादा हिन्दी ब्लॉग मौजूद है |
  • आज 15 से अधिक हिन्दी सर्च इंजन है साइबर संसार मे |
  • आज 5 भारतीय मे से 1 भारतीय इन्टरनेट पर हिन्दी मे सामग्री ढूंदता है 
  • एक रिपोर्ट के मुताबिक 94% सलाना की दर से इन्टरनेट पर हिन्दी का इस्तेमाल बढ़ रहा है |
  • रिपोर्ट मे यह भी पाया गया की  इन्टरनेट पर 20 करोड़ से भी ज्यादा हिन्दी पढ़ने वाले यूजर 2021 तक हो जाएँगे |
  • विकिपीडिया का नाम कौन नहीं जानता आज के टाइम विकिपीडिया पर 1.2 लाख से ज्यादा हिन्दी पेज मौजूद है | 

हिन्दी की ऑनलाइन बढ़ती धमक -
  • साल 2000 - इस साल मे हिन्दी का पहला वेबपोर्टल अस्तित्व मे आया |
  • साल 2003 - इस साल मे हिन्दी का पहला ब्लॉग "नौ दो ग्यारह" बना | आपको बता नौ दो ग्यारह हिन्दी भाषा का पहला चिट्ठा था जिसे आलोक कुमार द्वारा 21 अप्रैल 2003 मे शुरू किया गया था |
  • साल 2011 - इस साल मे हिन्दी दिवस पर माइक्रो ब्लोगिंग वैबसाइट ट्विटर का संस्करण हुआ |
Google ने भी माना लोहा - 
  • अँग्रेजी और जर्मन के बाद हिन्दी तीसरी भाषा है जिसमे Google ने व्रचुवल असिस्टेंट एप जारी किया गूगल एलो एक मैसेजिंग एप है जो Android और IOS प्लेटफार्म पर काम करता है | यह न सिर्फ हिन्दी यूजर की बात सुनता समझता है बल्कि उसकी जरूरत के मुताबिक प्रतिक्रिया भी करता है |
  • इसी तरह का एप्पल ने भी व्रचुवल असिस्टेंट जारी कर चुका है जो हिन्दी मे भी काम करता है |
फेसबूक ड्राइविंग लाइसेन्स ऐसे बना सकते है

फेसबूक ड्राइविंग लाइसेन्स ऐसे बना सकते है

अभी तक आपने मोटर साइकिल, कार इत्यादि का ड्राइविंग लाइसेन्स बनवाया होगा लेकिन आज हम आपको फेसबूक के लिए ड्राइविंग लाइसेन्स बनाने का तरीका बता रहे है | यह एक Fun के लिए है तो आप इसे सीरियस तौर पर न ले |


facebook id card


वैसे फेसबूक आईडी या ड्राइविंग लाइसेन्स बनाने की कई वैबसाइट इन्टरनेट पर मौजूद है लेकिन हम आपको बढ़िया वैबसाइट के बारे मे बताएँगे जहां से आप आसानी से फेसबूक ड्राइविंग लाइसेन्स बना सकते है |



जब आपका फेसबूक ड्राइविंग लाइसेन्स बन जाएगा तो उसे आप सीधे अपने दोस्तो को share भी कर सकते है लाइसेन्स मेकर वैबसाइट से | आप चाहे तो अपना फेसबूक ड्राइविंग लाइसेन्स डाउनलोड भी कर सकते है |
लड़की को गरम कैसे करे तरीका

Fb Licence Card Create By Facebook License Maker

  • सबसे पहले आप अपने फेसबूक मे लॉगिन कीजिए और फिर यहा क्लिक कीजिए | क्लिक से न्यू पेज खुल जाएगा |
  • अब आपको फेसबूक लॉगिन बटन पर क्लिक करना होगा | यह आपसे परमिशन मागेगा फेसबूक मे इंटर होने के लिए तो आप परमिशन दे क्लिक करे "Continue As YourName"
  • अब आपका लाइसेन्स कार्ड बन चुका है आप चाहे तो फेसबूक लाइसेन्स कार्ड डाउनलोड कर सकते है | स्मार्ट फोन यूजर लाइसेन्स डाउनलोड करने के लिए फोटो पर tab करे और फिर save कर सकते है | अगर आप कम्प्युटर का प्रयोग कर रहे है तो माऊस के राइट बटन को क्लिक करके फोटो को save कर सकते है |

  • अब आपके फोन Gallery मे Fb Driving License देख सकते है |
इस तरह से अपने लिए facebook driving' license बना सकते है अगर आपको कोई समस्या आए आईडी बनाने मे तो हमे बताए हम आपकी मदद कर सकते है |
कागज की खोज - kagaj ki khoj in india

कागज की खोज - kagaj ki khoj in india

कागज का प्रयोग आपने किया तो है लेकिन क्या आप कागज के इतिहास के बारे मे जानते है जैसे - कागज की खोज किसने किया, कागज का इतिहास क्या है, भारत मे कागज का आरम्भ कब और कैसे हुआ | अगर आपको नही पता है तो आज इस लेख मे आपको कागज के बारे मे जानकारी प्राप्त होगी आइये जाने कागज के बारे मे |

कागज - कागज को बनाने के लिए घास फूंस, लकड़ी, कच्चे माल, सेलुलोज-आधारित उत्पाद का प्रयोग किया जाता है |  कागज की महत्वता क्या है इससे आप भली भाति परिचित है | कागज का प्रयोग शिक्षा, व्यापार, बैंक, इत्यादि मे किया जाता है | कागज का आर्थिक और सामाजिक व्यवस्था मे महत्वपूर्ण योगदान है इसके बिना कार्यप्रणाली को पूरा कर पाना सम्भव नहीं हो पाता |

kagaj avishkar
कागज का सर्वप्रथम प्रयोग चीन मे किया गया साथ ही कहा जाता है हान राजवंस के [ 202 ई.पू. ] मुख्य शाशक हो - टिश के राज दरबार मे त साई लून द्वारा कागज निर्माण की कला को लोगो के सामने लाया | यह जो कागज बना था वह भांग, शहतूत, पेड़ के छालो तथा अन्य तरह के रेशो का प्रयोग करके कागज बनाया गया था | यह कागज काफी चमकीला, मुलायम, लचीला, और चिकना होता था | कागज बनाने का तरीका धीरे धीरे पूरे दुनिया मे फैलाया गया | "त- साई - लून को " कागज के संत " के रूप मे सम्मान किया जाता है |



भारत मे कागज की खोज -
यह बात तो साफ है की कागज की खोज का श्रेय चीन को जाता है लेकिन चीन के बाद भारत मे कागज का निर्माण और प्रयोग का संकेत सिंधु सभ्यता से प्राप्त होता है |

कागज के बारे मे तथ्य -
  • कहा जाता है भारत मे कागज नेपाल के आर्ग से आया था लेकिन इस विषय पर कोई प्रमाण और विश्वाष के कोई स्पष्ट साक्ष्य नहीं मिलते है |
  • चीनी यात्री इत्सिंग द्वारा लिखी पुस्तक मे कागज का उल्लेख किया गया है जिसमे कहा गया है की कागज का प्रथमया आदान - प्रदान भारत से हुआ लेकिन इस बात का कोई स्पष्ट साक्ष्य नहीं प्राप्त होता है |
  • अलबरुनी फारसी विद्वान लेखक ने यह साफ कर दिया की कागज का आविष्कार चीनीयो ने किया था और अरब देश के वाशियों ने चीनियो के केंप पर कब्जा बनाकर कागज निर्माण का फार्मूला प्राप्त किया | इस तरह से कागज बनाने की तकनीकी पूरे विशाव ए फ़ैली |


भारत मे कागज के उद्योग -
  • भारत मे कागज बनाने की शुरुवात मुगल काल मे हुआ |
  • कश्मीर के सुल्तान जैनुल आबिदीन द्वारा सबसे पहला कागज बनाने की मिल कश्मीर मे स्थापित किया |
  • आधुनिक कागज का उद्योग कलकत्ता मे हुगली नदी के तट पर बाली नामक स्थान पर स्थापित किया |
  • बंगाल मे सन 1887 मे टीटा कागज मिल्स को स्थापित किया गया लेकिन यह मिल कागज को बनाने मे सफल न हो पाई |