3
लोन चाहिए तो जानिए लोन के प्रकार loan types hindi information
आज लोन पर इंटरनेट पर सर्च किया जाता है लोन चाहिए, लोन के प्रकार, लोन कैसे मिलेगा, लोन बिना गारंटी, Loan Hindi jankari इत्यादि इससे पता चलता है कि लोन कैसे लिया जाता है हर किसी को जानकारी नहीं है | आपको जानकारी नहीं तो परेशान होने की जरूरत नहीं है आज हम आपको बता रहे है लोन कैसे मिलेगा | जब किसी ब्यक्ति द्वारा कमाई हुई आमदनी उसके खर्चे या उसके किसी कार्य को पुरा करने मे अक्षम हो जाती है तब उस ब्यक्ति द्वारा लोन लेने के विचार उत्पन्न होते है | आज लगभग सभी जैसे - SBI, PNB, HDFC, Union Bank Of India इत्यादि बैंक लोन देती है | तो आज आप जानेगे लोन कैसे ले, लोन के प्रकार, लोन क्या है, इत्यादि |

Loan Types In India - भारत मे लोन तीन प्रकार के होते है -
  1. अल्पकालिक लोन (Short term loan): पैसे लौटाने की अवधि एक साल से कम 
  2. मध्यकालिक लोन (Medium term loan): पैसे लौटाने की अवधि एक से तीन साल के बीच 
  3. दीर्घकालिक लोन (Long term loan): पैसे लौटाने की अवधि तीन साल के ऊपर

Personal Loan - अपने निजी कार्यो को करने के लिए जो लोन लिया जाता है उसे Persnal Loan कहते है | जैसे - बच्चो के स्कूल के फीस भरने के लिए, दवा हॉस्पिटल खर्च के लिए, किसी को महगी गिफ्ट देने के लिए या फिर घर के लिए महगा समान लेने के लिए इत्यादि | पर्सनल लोन पर ब्याज दर सभी बैंको के भिन्न भिन्न होते है जैसे की अभी SBI मे 17.65% वार्षिक ब्याज दर तह है |

पर्सनल लोन Loan की ब्याज दर दूसरों लोनों की अपेक्षा अधिक होती है | पर्सनल लोन के लिए बैंक आपसे ज्यादा डोक्यूमेंट की डिमांड नहीं करते है वे बस आपकी इनकम देखकर आपका लोन पास कर देते है | पर्सनल लोन Short Term Necessity के लिए लेना चाहिए जिसे आप 4 वर्ष के दौरान लौटा देना अनिवार्य है |

गोल्ड लोन Gold Loan - बैंक हमे गोल्ड लोन तब देता है जब हम बैंक मे गोल्ड जमा करते है मतलब गोल्ड बैंक मे रखने के बदले लोन मिलता है | यह लोन आपके द्वारा जमा किए गए Gold की कीमत और Quality पर दिया जाता है | अधिकतर केश मे पाया गया है कि बैंक Gold के कीमत पर 80% लोन देता है | वैसे तो गोल्ड पर लोन कोई लेता है पर किसी प्रकार की इमेर्जेंसी होने पर इस तरह के लोन लिए जाते है | गोल्ड लोन पर पर्सनल लोन के अपेक्षा कम ब्याज लगता है | 



प्रॉपर्टी लोन - प्रॉपर्टी लोन घर के कागजात, जमीन या किसी और प्रॉपर्टी के कागजात गिरवी रखकर लिए गए लोन को Property Loan कहते है | यह लोन अधिकतम 15 साल के लिए दिया जाता है साथ ही यह लोन कागजात मे प्रदर्शित राशि का 40 - 60 % होती है |

Home Loan - अगर किसी व्यक्ति को घर बनवाना होता है तो होम लोन ले सकता है होम लोन मे आपको घर बंववाने की कीमत के साथ, मकान का रजिस्ट्रेशन, स्टांप ड्यूटी, आदि के व्यय को जोड़कर बैंक से लोन ले सकते है | इस तरह के Loan मे Bank आपको कुल खर्च का 75 से 85 % लोन देती है और बाकी के राशि का इंतेजाम आपको खुद कही और से करना होता है | 

मान लीजिए आपने एक प्लाट के लिए लोन लिया जिसकी कीमत 6 लाख आँकी है तो आप बैंक को केवल 6 लाख का 30 प्रतिशत मतलब 1 लाख 80 हजार दे दीजिए | बाकी की राशि धीरे धीरे घर बनने के विभिन्न स्तर तक जमा करते रहे | यह लोन भरने के लिए सामी 5 साल से 20 साल का होता है | ऋण की शर्तो के अलावा कुछ शुल्क भी देना होता है जैसे - process fee, administrative charges, legal fees, assessment fees etc.
  • Pls Share

Post a Comment

  1. That is an extremely smart written article. I will be sure to bookmark it and return to learn extra of your useful information. Thank you for the post. I will certainly return.

    ReplyDelete
  2. Business loan k like kyaa karna hoga sir

    ReplyDelete
  3. Charge card loans https://imsgcanada.com/ or advances usually accompany higher financing costs and also different expenses for having access to the cash.

    ReplyDelete