पादने के फायदे मतलब आवाज प्रकार benefits of fart hindi

पादने के फायदे मतलब पाद का मतलब आवाज, सुन कर ही हंसी आ जाती है लेकिन क्या करे जब लोग इंटरनेट पर सर्च कर रहे है पाद के फायदे, पाद की आवाज, पाद के प्रकार पाद क्यो आता है कारण प्रकार पादना in english

पादने के फायदे मतलब पादना in english- पाद का मतलब आवाज, सुन कर ही हंसी आ जाती है लेकिन क्या करे जब लोग इंटरनेट पर सर्च कर रहे है पाद के फायदे, पाद की आवाज, पाद के प्रकार पाद क्यो आता है कारण, तो ऐसे लोगो को आज हम बता रहे है यहा पादने के फायदे और यह कोई हसने की बात नहीं क्योकि पाद तो सभी मारते है चाहे भले ही हमारे देश की प्रधानमंत्री मोदी जी ही क्यो न हो | पादना in english meaning in hindi meaning

आपको पता ही है पाद छोड़ना या हवा छोड़ना हमारे जीवन का सामान्य हिस्सा है लेकिन अगर तेज आवाज मे पाद निकाल जाए तो शर्मिंदगी महसूस होती है |


padne ke fayde

पाद इन इंग्लिश को Fart कहा जाता है | अब आइये जाने पाद मे कौन कौन सी गैस सम्मिलित होती है |

पाद गैस तत्व - इंसान की पाद मे जो गैस होती है उसमे सामान्य तौर पर नाइट्रोजन 59% आक्सीजन 4% हाइड्रोजन 21% कार्बन डाई आक्साइड 9% मिथेन 7% और सल्फर 1% होती है |



पाद मारने से क्यो आती है बदबू - पाद मे बदबू का मुख्य कारण सल्फर डाई आक्साइड है और यह हमे डाइट मे पत्तागोभी, बीन्स, चीज सोडा, और अंडे इत्यादि से मिलते है | अगर आप इनका सेवन करते है तो आपके पाद की बदबू कुछ ज्यादा ही होगी क्योकि इन सभी डाइट मे S2U की मात्रा अधिक होती है |


पादने के बारे मे रोचक तथ्य -

  • पाद ज्वलनशील होता है इसलिए पाद मे आग भी लग सकता है |
  • पादने से BP कंट्रोल मे रहता है और यह आपके स्वास्थ के बढ़िया होता है |
  • पाद को रोकना नुकसानदायक होता है अगर आप पाद को रोकते है तो पाद की गैस सर मे जाकर सिर दर्द जैसी समस्या उत्पन्न करती है | पाद रोकने वाला इंसान जब सोता है तो पक्का सोते समय उसकी पाद निकलनी है |
  • ब्लूव्हेल मछ्ली के पादने पर जो बुलबुला बनता है वह इतना अधिक चौड़ा होता है कि उसमे एक घोडा समा सकता है |
  • दुनिया मे कई तरह के जीव जन्तु मौजूद है लेकीन आपको बता दे जीव जंतुवों मे सबसे ज्यादा पाद दीमक मारता है | दीमक गाय से भी ज्यादा मिथेन गैस छोड़ता है |
  • कुत्तो के अंदर देखने की क्षमता इतनी अधिक है कि वह खुद की पाद मार कर देख सकते है |
  • अन्तरिक्ष मे जाने वाला व्यक्ति पाद नहीं सकता है क्योकि वहा पेट मे द्रव से गैस को पृथक करने के लिए गुरुत्वाकर्षण बल नहीं मौजूद है |
  • इंसान के मरने के बाद यह न सोचना वह पाद नहीं सकता है क्योकि इंसान मरने के 3 घंटे बाद भी पाद सकता है |
  • पाद और टट्टी के बीच अंतर बताने का काम आपके पिछवाड़े में मौजूद नर्व करती है. लेकिन कई बार यदि टट्टी बहुत पतली हो जाए तो ये नर्व कंफ्यूज हो जाती है और पाद के साथ थोड़ी बहुत लैटरिंग भी निकल जाती है।
  • ऐसी दवाईयाँ भी आती है जिसे खाने पर आपके पाद में से गुलाब और चाॅकलेट जैसी खूशबू आएगी। like: father christmas |
  • एक सामान्य व्यक्ति दिन मे 14 बार पाद मारता है और अपनी पूरी जिंदगी में लगभग 402,000 बार|

पादने के फायदे - 

  • पाद मारने से पेट दर्द से बचा जा सकता है अगर कोई इंसान पाद रोकता है तो उसे पेट दर्द की समस्या हो सकती है तो सही समय पर पाद लेना लाभदायक है |
  • एक रिसर्च के अनुसार छोटी मात्रा में पाद को सूंघना स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। पाद में हाइड्रोजन सल्फाइड गैस होता है। छोटी मात्रा में यह शरीर में जाने से कैंसर, दिल का आघात, दौरा और गठिया होने की संभावना कम हो जाती है।
  • आंत में बनने वाली गैस की वजह से कई बार पेट की सूजन हो जाती है। यही कारण है कि गैस को रोकने की आदत छोड़ देना चाहिए।
  • सबसे बड़ा फायदा पाद मारने से हमे सकुन बहुत मिलता है तो अब पाद को रोकिए नहीं पाद को खुल कर बाहर निकाले |

SHARE THIS

Admin:

भारत एक ऐसा देश है जहां से हर गली, हर नुक्कड़ से अनगिनत कहानिया निकलती है और उन कहानियो को आप तक पहुंचाने मे मदद करता है केएमजीवेब . हमारे बारे मे अधिक जाने क्लिक से;?

0 comment: