1
चेक बाउंस होने पर क्या करे, चेक बाउंस नियम क्या है, चेक बाउंस होने पर क्या सजा है, check bounce rule in hindi
cheque bounce rule kya kare - हमारे देश इंडिया मे चेक बाउंस होना एक सधारण सी घटना मानी जाती है इसी कारण हो सकता है अदालतों मे चेक बाउंस केश लाखो की तादाद मे लंबित है | वैसे तो सभी को पता होता है की बैंक एकाउंट मे पैसे न होने पर bank द्वारा cheque bounce कर दिया जाता है लेकिन यह बात बहुत से लोगों को नहीं पता होता की चेक निम्न कारणो से भी Bounce हो सकता है जैसे - तीन महीने से पुराना होने पर, चेक पर हस्ताछर न मेल खाने पर |
check bounce rule kya hai

चेक बाउंस होना - कई बार ऐसा हो जाता है कि आपके बैंक खाते मे प्रयाप्त राशि न होने के कारण आपका चेक बाउंस हो जाता है | तो आपको इस बात का ख्याल रखना चाहिए क्योकि अगर आपका चेक बाउंस हो जाता है तो आपके ऊपर डबल जुर्माना लगेगा | पहला जुर्माना जहा से चेक इश्यू हुआ है और दूसरा जहा पर चेक जमा हुआ है | यह जुर्माना काफी नहीं है क्योकि चेक बाउंस हो जाना अपराध है जिसके लिए आपको जेल भी जाना पड़ सकता है |



किसी को चेक देने से पहले 2 बांटो का ख्याल रखना चाहिए -
  • आपके दोस्त को जुर्माना लगेगा जहां पर वह चेक जमा करेगा [ cheque bounce ]
  • अगर आप लोन भुगतान के लिए चेक बना रहे है और यह बाउंस हो जाता है तो आपको चेक बाउंस का जुर्माना देना होगा साथ ही भुगतान मे देरी के लिए अतिरिक्त राशि भी देनी होगी |

चेक को बाउंस होने से कैसे बचाए - 

सबसे बढ़िया तरीका है कि अगर cheque Bounce से बचना है तो अपने बैंक एकाउंट मे प्रयाप्त राशि रखे जिससे चेक बाउंस होने के चांस नहीं रहेंगे | लोन भुगतान के लिए जब आपके बैंक के खाते मे सैलरी आ जाती है तो शुरुवात होती है लेकिन कभी कभी सैलरी आने मे देरी हो जाती है जिसे आप नोटिस नहीं करते और आपके एकाउंट मे प्रयाप्त राशि नहीं होता | ऐसे मे आपका चेक तो बाउंस होगा ही तो इन बाटो का ख्याल रखे | यह समस्या और भी अधिक बढ़ सकती है अगर आपने कई सारे लोन लिए होंगे |



बिज़नस के लेन देन का चेक बाउंस हो जाना -
अगर आपका कारोबार है और किसी कारोबारी से आपको चेक मिलता है जो बाउंस हो जाता है तो आप उसके खिलाफ शिकायत दर्ज कर सकते है | ऐसा करने पर कारोबारी की साख गिरती है एंव नए बिज़नस डीलिंग करने मे परेशानी होती है |

चेक बाउंस होने पर सजा - 
यदि आपने किसी को चेक दिया है और वह प्रयाप्त राशि न होने क कारण बाउंस हो जाता है तो यह के कानूनी अपराध है | जिस व्यक्ति को आपने चेक इश्यू किया है वह आपके खिलाफ नेगोंशिएसन इन्स्ट्रूमेंट एक्ट के सेक्शन 138 के तहत मुकदमा दर्ज करा सकता है | इस अपराध के लिए आपको जेल भी जाना पड़ सकता है साथ ही जुर्माने के तौर पर चेक को पूरी राशि भी ली जा सकती है |
  • Pls Share

Post a Comment

  1. बहुत ही अच्छा बताया आपने

    ReplyDelete