शेयर कैसे खरीदे आज हर कोई जानने की चाह रखता है क्योकि शेयर मार्कटिंग मे इन्वेट्मेंट के साथ पैसा भी कमाया जा सकता है लेकिन कैसे तो आज हम आपको बताने वाले है कैसे शेयर खरीदे एंव हमने पहले ही बताया शेयर क्या होता है यहा क्लिक से पढे शेयर क्या होता है | share market kaise sikhe kharide

शेयर मार्कटिंग मे पैसा कमाना इतना आसान भी नहीं है क्योकि शेयर मार्कटिंग से पैसा कमाने के लिए इस क्षेत्र मे शेर बनना होगा नहीं तो समझिए आपका पैसा डूबेगा तो अगर आप शेयर मार्कटिंग की इन्वेस्टिंग की करने की ठान ही लिया है तो सबसे पहले शेयर मार्केटिंग की पूरी जानकारी लीजिए | हम आपको शेयर मार्कटिंग के बारे मे बता रहे है आगे भी आपको शेयर मार्टिंग से जुड़ी कई जानकारी बताने वाले है तो आते रहिए शेयर मार्केट सीखे |





share-kaise-beche

शेयर खरीदने के लिए आपको पास 3 एकाउंट होना जरूरी है

  • पहला - डिमेट एकाउंट
  • दूसरा - बैंक एकाउंट
  • तीसरा - ब्रोकिंग एकाउंट
शेयर खरीदना या बेचना है तो सबसे पहले किसी शेयर बाजार के रेग्युलेटर [ securities Exchange Board Of India ] अर्थात सेबी के पास जाकर रजिस्टर्ड स्टाक ब्रोकर एकाउंट खोलना होगा | साथ ही आपको डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट्स के पास डीमैट अकाउंट भी ओपन करवाना होगा।

इंडिया मे NSDL [ National Securities Depositoiry Limited ] और CSDL [ Central Depository Services india ] डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट्स हैं | डिमैट एकाउंट खोलने के लिए सबसे पहले डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट्स के पास जाना होगा फिर एक फार्म भरना होगा |




NSDL & CSDL की वैबसाइट पर आप मान्यता प्राप्त डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट्स अर्थात डीपी की सूची देख सकते है | जब आप खाता खुलवा लेते है तो आपको डीपी नंबर और एकाउंट नंबर मिल जाएगा | अब अगर अपने डीपी के साथ कोई भी लेन देन आप करेंगे तो आपको दोनों तरह के नंबर देने पड़ते है |

अगर आप निवेशक बनना चाहते है तो आप इन ट्रेडिंग कंपनी मे जाकर खुद का तीनों तरह का एकाउंट खुलवा सकते है |

  • hdfcsecurities.com
  • icicidirect.com
  • sharekhan.com 
  • indiabulls.com
  • investsmartonline.com
डिमैट एकाउंट से आप निम्न तरह का काम कर सकते है -
  • आईपीओ के लिए आवेदन, 
  • शेयरों की खरीद बिक्री, 
  • शेयरों का ट्रांसफर 
  • फिजीकल रूप में पड़े शेयरों को डीमैटेरियलाइज कर सकते हैं |
शेयर बाजार मे निवेश के लिए आपके पास बैंक मे सेविंग एकाउंट होना भी जरूरी है | यह इसलिए जरूरी है क्योकि आप इसी के जरिये शेयर खरीदने के लिए पैसे का भुगतान कर पाएंगे या फिर शेयर की बिक्री पर मिलने वाले रकम को प्राप्त कर पाएंगे |

कंपनियां अपने निवेशकों को डिविडेंड का भुगतान भी उसी बैंक अकाउंट में ट्रांसफर करती हैं। कई ब्रोकर्स तीनों अकाउंट की सुविधा अपने ग्राहकों को देते हैं। जब आपने इतना सबकुछ कर ही लिया है तो अपने ब्रोकर को ऑर्डर प्लेस कर दें और कर लीजिए शेयर बाजार में एंट्री |

हम हमेशा आपके लिए अच्छा सोचते है तो अगर आपको कुछ न समझ मे आए या शेयर बाजार मे निवेश से जुड़े सवाल आपके मन मे है तो बेझिझक पूंछे | हम आपको संतुष्ट करने वाला उत्तर देने की कोशिश करेगे|

कृपया जानकारी शेयर करे अधिक जाने नीचे कमैंट्स KMGWEB.IN पर साम्रगी ज्ञानवर्धन के लिए है यहाँ क्लिक से हमारे बारे में शारीरिक उपाय आजमाने से पहले चिकित्‍सक अथबा सलाहकार से मिले Kindly Share Article click icons⤵

क्लिक से

Post a Comment

  1. Great article, Thanks for your great information, the content is quiet interesting. I will be waiting for your next post.

    ReplyDelete