यहा मिलते है किराये पर दूल्हा रिश्तेदार

यहा मिलते है किराये पर दूल्हा रिश्तेदार

क्या आपने कभी वियतनामा का नाम सुना है अगर नहीं तो आज हम आज आपको वियतनाम के बारे मे ही बता रहे है | जी हाँ वियतनाम एक ऐसा देश है जहां पर दूल्हे बेचनी वाली बहुत से कंपनीया है जो दूल्हे बेचने का काम करती है साथ ही यह कंपनिया इस कारीबार से लाखो करोड़ो की कमाई कर रहे है |

वियतनाम मे दूल्हे बेचने का कारोबार तेजी से बढ़ रहा है, यहा पर एक दूल्हे को अरेंज कराने वाली कंपनी, दूल्हे के रिश्तेदारों का भी इंतेजाम कर देती है और उसके अनुसार पैसे लेती है | आमतौर पर एक शादी मे दूल्हा और रिश्तेदार का इंतेजाम करने का कंपनीया 4 लाख के आसपास रुपए लेती है | दूल्हे के अलावा जैसे - मम्मी पापा, चाचा चाची, दूसरे अभिभावक और दोस्तो को बुलाया जाता है जिसके पैसे कंपनी अलग से लेती है | यह कंपनिया सहदी के लिए 30 से 400 मेहमानो की व्यवस्था करा देती है |
kiraye pr dulhan

लाखो मे बिकते है दूल्हे क्यो

वियतनामा मे बहुत सी कूवारी लड़कीया माँ बन जाती है और यहा शादी किए बगैर अगर कोई लड़की गर्भवती होती है या माँ बनटी है, तो उसे कलंक माना जाता है | इसलिए यहा पर दूल्हे बेचने का कारोबार तेजी से बढ़ रहा है |  खुद को कलंक से बचाने के लिए वियतनामा मे फर्जी शादियो का चलन तेजी से बढ़ा है | ऐसी कंपनीया गर्भवती की दिखावे की शादी कराने के लिए दूल्हे से लेकर मेहमानो तक ओको किराए पर बुला लेती है और इसके बदले मे लाखो रुपए की वसूली करते है |


दूल्हा कुवरा हो यह जरूरी नहीं
एक गर्भवती लड़की को फर्जी शादी के लिए दूल्हे को करीब एक लाख रुपए देना देना पड़ता है | पहले से गर्भवती लड़की कंपनी से जिस दूल्हे को खरीदती है, यह जरूरी नहीं की वह दूल्हा कुवारा हो | यह बिकाऊ दूल्हे पहले से शादी शुदा होते है | फिर भी कूवारी लड़कीया उसे अपना पति बनाने के लिए खरीदती है और उसके बदले मे कंपनी को लाखो रूपसे देने पर कोई अफसोस नहीं होता |

एक शादी पर 4 लाख का खर्च -
एक शादी मे दूल्हे और रिश्तेदारों की व्यवस्था कराने के बदले मे कंपनीया आमतौर पर 4 लाख रुपए लेती है | कंपनी के अनुसार, शादियो मे कम से कम 20 लोगो को किराए पर बुलाया जाता है पर ज्यादा पैसे वाले लोग 400 से ज्यादा तक मेहमानो की मांग करते है और उन्हे उसके अनुसार पैसा देना पड़ता है |
राम नाम सत्य है क्यों कहा जाता है

राम नाम सत्य है क्यों कहा जाता है

हिन्दू धर्म के मानने वाले राम नाम को एक विशेष दर्जा देते है कहा जाता है तीन मर्तबा राम नाम का जप करने से 1000 हजार जप करने के बराबार होता है | आपने देखा होगा जब किसी को मृत्यु हो जाती है और जब उसके शव को अंतिम संस्कार के लिए ले जाया जाता है तो सुना होगा " राम नाम सत्य है " | लेकिन इस शब्द का प्रयोग खुशी के महोल मे नहीं किया जाता है | तो आइये जाने किसी के मरने के बाद " राम नाम सत्य है " क्यो कहा जाता है |
ram image

जीव की मुक्ति - 
जब कोई व्यक्ति मर जाता है तो उसे मुक्ति प्राप्त हो जाती है मतलब मृत्य शरीर से आत्मा आजाद हो चुकी है अब और इसका संसार के मोहमाया से कोई मतलब नहीं है | राम नाम का यही असली मतलब है |

परिवार या रिश्तेदार को मिलती है शांति
हिन्दू धर्म को मानने वाले यह भी कहते है इस नाम को जपने से मृतक के घर परिवार ररिश्तेदार को शांति का एहसास होता है | जब किसी के परिवार मे कोई मृत हो जात है तो परिवार के लोग दुख एंव सदमे मे डूब जाते है | ऐसे समय मे राम नाम सत्य है कहने से उन्हे एहसास हो जाता है कि यह दुनिया व्यर्थ है |

यह दुनिया एक भर्म: है - 
इस शब्द को जपने से अहसास होता है कि मृत्य व्यक्ति इस दुनिया को छोड़ चुका है और अब मृत व्यक्ति का इस सांसारिक दुनिया से कोई रिश्ता नहीं बचा | मतलब सास है कि इस दुनिया मे भगवान को छोड़कर सब कुछ एक भर्म है |

बीज अक्षर : - 
हिन्दू शास्त्रो मे माना जाता है की राम नाम सत्य है एक बीज अक्षर है और इसको जपने से बुरे कर्म से मुक्ति मिल जाती है | यह परम सत्‍य है कि आत्मा अपने कर्मो के अनुसार एक दूसरे संसार में उत्पन्न होती है |


तो यह कारण है जिसके वजह से मृत हो जाने पर राम नाम सत्य है कहा जाता है | यह दुनिया एक बुलबुला है अच्छे कर्म करे और बुरे कर्मो से बचे |
फ्री मोबाइल रिचार्ज पाने का अच्छा मौका मत छोड़िए

फ्री मोबाइल रिचार्ज पाने का अच्छा मौका मत छोड़िए

free mobail recharge - अगर आपके फोन मे मोबाइल बैलेन्स खत्म हो चुका है और आप चाहते है बिना पैसे खर्च किए फ्री मोबाइल रिचार्ज पाना तो आपके लिए है अच्छा मौका क्योकि एक ऐसी वैबसाइट है जो अपने यूजर के रजिस्टर होते ही दे रही है 20 rs का फ्री मोबाइल रिचार्ज | अगर आप भी इस मौके का लाभ उठाना छह रहे है तो सबसे पहले आपको यह जान लेना चाहिए कैसे आपको मिल सकता है 20 Rs का Free mobail Rechage |




20 rs का Free mobail recharge कैसे पाये

  • सबसे पहले तो आपको यहा क्लिक से उस वैबसाइट पर जाना है जो आपको देगी फ्री मोबाइल रिचार्ज |
  • जब आप फ्री मोबाइल रिचार्ज देने वाली वैबसाइट पर यहा क्लिक से जाते है तो आपके एक फार्म दिखाई देगा जिसमे आपको अपना नाम पता इत्यादि भरकर रजिस्टर होना होगा | 
  • जब आप रजिस्टर हो जाते है तो आपको अपनी प्रोफ़ाइल मे Login करना होगा |
  • एक बार जब आप लॉगिन हो जाते है तो आपको सबसे ऊपर राइट साइड मे free mobail recharge का ऑप्शन दिखाई देगा | जहा पर क्लिक करके आप 20 रुपए की अधिकतम राशि का रिचार्ज कर सकते है |
↠ध्यान दे - अगर आपको रजिस्टर होने के बाद mobail recharge का ऑप्शन नहीं दिखाई देता है तो आप इस whatsApp नंबर 8318362481 पर संपर्क कर सकते है |
↠ ध्यान दे - यह एक लिमिटेड ऑफर है कभी भी खत्म हो सकता है इसलिए जल्दी करे |


यह वैबसाइट अपने यूजर की संख्या बढ़ाना चाहती है इसलिए लोगो को लुभाने के लिए इस तरह का ऑफर दे रही है | अगर आपको इस वैबसाइट का ऑफर अच्छा लगे तो आप भी फ्री रजिस्टर हो जाए और 20 rs का मुफ्त रिचार्ज का लाभ उठाए |
मानव शरीर की 206 हड्डियों के नाम जानिये

मानव शरीर की 206 हड्डियों के नाम जानिये

206 वयस्क मनुष्य के शरीर मे 206 हड्डीया होती है उनमे से कुछ के नाम शायद आपको पता हो पर क्या आपको पूरे 206 हड्डीयो के नाम पता है अगर नहीं तो आज हम आपको बता रहे है वयस्क मनुष्य के 206 हड्डीयो के नाम |


मानव शरीर की हड्डीया 206

अक्षीय कंकाल (80)उपबंधि ढांचा (126)
खोपड़ी 28धड़ 52ऊपरी सिरा 32 x 2 = 64निचला छोर 31 x 2 = 62
Paired Bones (11 x 2 = 22)
  1. Nasal
  2. Lacrimal
  3. Inferior Nasal Concha
  4. Maxiallary
  5. Zygomatic
  6. Temporal
  7. Palatine
  8. Parietal
  9. Malleus
  10. Incus
  11. Stapes
Paired Bones (12 x 2 = 24)
  1. Rib 1
  2. Rib 2
  3. Rib 3
  4. Rib 4
  5. Rib 5
  6. Rib 6
  7. Rib 7
  8. Rib 8 (False)
  9. Rib 9 (False)
  10. Rib 10 (False)
  11. Rib 11 (Floating)
  12. Rib 12 (Floating)
  1. Scapula
  2. Clavicle
  3. Humerus
  4. Radius
  5. Ulna
  6. Scaphoid
  7. Lunate
  8. Triquetrum
  9. Pisiform
  10. Hamate
  11. Capitate
  12. Trapezoid
  13. Trapezium
  14. Metacarpal 1
  15. Proximal Phalange 1
  16. Distal Phalange 1
  17. Metacarpal 2
  18. Proximal Phalange 2
  19. Middle Phalange 2
  20. Distal Phalange 2
  21. Metacarpal 3
  22. Proximal Phalange 3
  23. Middle Phalange 3
  24. Distal Phalange 3
  25. Metacarpal 4
  26. Proximal Phalange 4
  27. Middle Phalange 4
  28. Distal Phalange 4
  29. Metacarpal 5
  30. Proximal Phalange 5
  31. Middle Phalange 5
  32. Distal Phalange 5
  1. Hip (Ilium, Ischium, Pubis)
  2. Femur
  3. Patella
  4. Tibia
  5. Fibula
  6. Talus
  7. Calcaneus
  8. Navicular
  9. Medial Cuneiform
  10. Middle Cuneiform
  11. Lateral Cuneiform
  12. Cuboid
  13. Metatarsal 1
  14. Proximal Phalange 1
  15. Distal Phalange 1
  16. Metatarsal 2
  17. Proximal Phalange 2
  18. Middle Phalange 2
  19. Distal Phalange 2
  20. Metatarsal 3
  21. Proximal Phalange 3
  22. Middle Phalange 3
  23. Distal Phalange 3
  24. Metatarsal 4
  25. Proximal Phalange 4
  26. Middle Phalange 4
  27. Distal Phalange 4
  28. Metatarsal 5
  29. Proximal Phalange 5
  30. Middle Phalange 5
  31. Distal Phalange 5
  1. Frontal
  2. Ethmoid
  3. Vomer
  4. Sphenoid
  5. Mandible
  6. Occipital
  1. Hyoid
  2. Sternum
  3. Cervical Vertebrae 1 (atlas)
  4. C2 (axis)
  5. C3
  6. C4
  7. C5
  8. C6
  9. C7
  10. Thoracic Vertebrae 1
  11. T2
  12. T3
  13. T4
  14. T5
  15. T6
  16. T7
  17. T8
  18. T9
  19. T10
  20. T11
  21. T12
  22. Lumbar Vertebrae 1
  23. L2
  24. L3
  25. L4
  26. L5
  27. Sacrum
  28. Coccyx

यह थी मानव शरीर की 206 हड्डीयो के नाम ध्यान रहे बच्चो के शरीर मे हड्डीयो की संख्या कम होती है मतलब एक वयस्क मानव के शरीर मे 206 हड्डी पायी जाती है |
सपने में अपना विवाह देखना sapne me khud ka vivah dekhna

सपने में अपना विवाह देखना sapne me khud ka vivah dekhna

सपने मे शादी देखना - क्या आपको खुद की शादी का सपना आया है लेकिन मतलब या सपने का सच नहीं पता कि खुद की शादी सपने मे देखने पर क्या शुभ या अशुभ होने वाला है तो हम आपको बता रहे है सपने मे खुद की शादी होते हुए देखना क्या मतलब होगा |


shadi ka sapna matlab

अशुभ शादी का सपना -

अगर किसी को शादी का सपना दिखाई पड़े तो आपको बता दे इसका अर्थ शुभ और अशुभ दोनों हो सकता है
  • अगर आप सपने मे खुद को शादी करते हुए देख रहे है तो यह सपना आपके लिए अशुभ माना जाता है
  • अगर आप सपने मे अपने किसी दोस्त या फिर किसी रिश्तेदार की शादी होते हुए देख रहे है तो यह भी अशुभ सपना माना जाता है |
  • सपने मे रोती हुई दुल्हन देखना भी अशुभ होने का संकेत माना जाता है |
  • इस तरह के सपने कुछ न कुछ अशुभ होने का संकेत दे रहे होते है |

शुभ शादी का सपना -

  • अगर सपने मे आपने किसी लड़की को शादी के जोड़े मे देखा तो यह सपना आपके लिए शुभ साबित हो सकता है क्योकि यह शुभ होने का संकेत है और आपके लाइफ मे कोई खुशी आने वाली है |
  • अगर कोई लड़की, प्रेमी की शादी होते हुए सपना देखती है तो उसका विवाह जल्द से जजल्द हो जाता है | लेकिन शादी प्रेमी से होगी या किसी और से यह कहा नहीं जा सकता है |
  • अगर कोई सपने मे विवाह के जेवर या आभूषण देखता है तो यह संकेत देता है कि उसकी शादी जल्दी होने वाली है |
शादी के शुभ और अशुभ दोनों सपनों का मतलब यहा आपने जाना लेकिन सभी के सपने अलग होते है तो अगर आपके सपने इनमे दिये गये सवालो से नहीं मिलते तो आप हमसे पूछे हम आपको सपनों का मतलब बहुत ही जल्दी बताएगे |
कंप्यूटर के फायदे और नुकसान computer ke labh aur hani

कंप्यूटर के फायदे और नुकसान computer ke labh aur hani

कम्प्युटर के फायदे और नुकसान - आज का युग डिजिटल युग है इस युग कम्प्युटर और मोबाइल का इस्तेमाल बड़े पैमाने पर किया जा रहा है लेकिन आप और हम जिस कम्प्युटर और मोबाइल का प्रयोग करते है उसके फायदे और नुकसान दोनों है तो आज हम कम्प्युटर के क्या फायदे है और क्या नुकसान है चर्चा करेंगे | आज कम्प्युटर और इंटरनेट के प्रयोग से हमारे सभी काम बहुत आसानी से हो जाते है आज हम घर बैठे शॉपिंग कर सकते है और तो और घर से हजारो मिल दूर बैठे अपने सगे सम्बन्धी से देख कर बातचीत भी लेकिन इसके कुछ लाभ और हानी भी है | आइये जाने |


computer ke nuksan

कम्प्युटर के फायदे advantage of computer

  • पुराने जमाने मे लोगो के लिए किताबे ही एक मात्र ऐसा साधन था जिससे वह शिक्षा के क्षेत्र मे जानकारी प्राप्त कर सकते थे लेकिन आज कम्प्युटर और इंटरनेट के प्रयोग से कोई भी जानकारी तुरंत प्राप्त कर सकते है | कहते है इंटरनेट पर भगवान ही केवल नहीं मिलते है बाकी सब मिलता है | मानो या मानो लेकिन यह सच है इंटरनेट की दुनिया बहुत बड़ी है यह किसी ज्ञान के खजाने से कम नहीं | यह जानकारी भी आप किसी न किसी कम्प्युटर से पढ़ रहे है |
  • आज के समय मे अधिकतर ऑफिस के कार्य कम्प्युटर से ही किये जा रहे है |
  • अगर आपको कही यात्रा करना है तो आप हवाई जहाज से लेकर ट्रेन तक की यात्रा की टिकट आप कम्प्युटर और इंटरनेट के प्रयोग से घर बैठे प्राप्त कर सकते है |
  • कम्प्युटर के आने से चिकित्सा के क्षेत्र मे बहुत सफलता मिली है आज कई तरह के टेस्ट कम्प्युटरीकृत सिस्टम से किए जाते है | बड़े से बड़े ऑपरेशन को भी इस तरह से अंजाम दिया जा रहा है |
  • कम्प्युटर की मदद से आज मोबाइल भी बनाया जा रहा है | मोबाइल को मिनी कम्प्युटर के नाम से भी जाना जाता है |
  • टाइम पास का साधन भी है कम्प्युटर, जैसे - गेम खेलना,  मूवी देखना, गाने सुनना इत्यादि काम एक कम्प्युटर से बहुत आसानी से किया जा सकता है |
  • आज कम्प्युटर की मदद से कोई भी डिजाइन, नक्शा, बहुत ही आसानी से बनाया जा सकता है | कम्प्युटर के आने से पेपर यानि कागज की बचत हो रही है |

कम्प्युटर के नुकसान disadvantage of computer

  • कम्प्युटर भले ही मनुष्य से तेज काम करे लेकिन कम्प्युटर को बनाने वाला मनुष्य ही है इसलिए कम्प्युटर मनुष्य की जगह नहीं ले सकता |
  • कम्प्युटर के आने से मनुष्य कोई भी काम बहुत आसानी से बिना हिले डुले कर सकता है और इस कारण मनुष्य आलसी होता चला रहा है |
  • कम्प्युटर के अधिक प्रयोग से मनुष्य की आंखे भी खराब होने का खतरा बना रहता है |
  • कम्प्युटर से सभी कार्य होने के कारण मनुष्य अपने माइंड का इस्तेमाल कम करता है इस कारण इंसान की सोचने समझने की शक्ति कमजोर होने लगती है |
  • कम्प्युटर पर जहां पर अच्छी जानकारी आसानी हासिल कर सकते है वही पर हम बुरी चीजे भी आसानी से अनजाम दे सकते है |
  • कम्प्युटर से ऐसे असलील काम भी किए जा रहे है जो सामाजिक छवि को खराब कर रहे है |
हमारी तरफ से के छोटा सा प्रयास था कम्प्युटर के बारे मे लाभ और हानी बताने का आपको कैसे लगा हमे बताए और भी उपयोगी जानकारी के लिए पढ़ते रहे केएमजीवेब |
म्यूचुअल फंड निवेश के फायदे mutual funds investment benefits in hindi

म्यूचुअल फंड निवेश के फायदे mutual funds investment benefits in hindi

mutual funds in hindi - म्यूचुवल फंड क्या है के बारे मे हमने आपको अभी हाल ही मे बताया था और आज हम आपको म्यूचुवल फंड  के क्या फायदे है बताने जा रहे है | हर इंसान ज्यादा धन कमाना चाहता है इस लिए व्यक्ति कई तरह के स्कीम मे पैसा इन्वेस्ट करता है | अब बात आती है म्यूचुवल फंड की क्योकि म्यूचुवल फंड ही एक ऐसा जरिया इस समय बना हुआ है जहां पर बेस्ट रिटर्न प्राप्त किया जा सकता है | अगर आप म्यूचुअल फंड मे निवेश करने की सोच रहे है और आप इस क्षेत्र मे न्यू है फिर भी पूंजी पर लाभ कमाना चाहते है तो आपके म्यूचुअल फण्ड्स एक बढ़िया ऑप्शन हो सकता है | म्यूचुअल फंड मे अगर आप लंबे समय का निवेश करते है तो आपको एक अच्छा रिटर्न प्राप्त होगा लेकिन एक अच्छा रिटर्न पाने के लिए कौन सा म्यूचुअल फंड सही होगा यह आपको जानने की जरूरत है जिसके लिए आप किसी म्यूचुअल फंड एक्सपर्ट से सलाह ले सकते है |
mutual funds kya hai


mutual funds के 5 फायदे जानिए - 


  • अगर आप आयकर मे छूट पाना चाहते है तो कुछ म्यूचुअल फंड्स ऐसे है जिसमे इन्वेस्ट करके छूट पाया जा सकता है | जिसके लिए आपको 3 साल या इससे अधिक समय के लिए निवेश करना होता है | ऐसा करके निवेशक को आयकर की धारा 80 सी के तहत छूट प्राप्त होती है | आयकर मे छूट प्राप्त करने के लिए अधिकतम राशि आपको 1.5 लाख रुपए तक इन्वेस्ट कर सकते है |
  • म्यूचुअल फंड्स एक ऐसा विकल्प है जहां पर बेस्ट रिटर्न प्राप्त की जा सकता है साथ ही अगर आपको जरूरत है तो जब चाहे म्यूचुअल फंड्स मे निवेश राशि को निकाल सकते है लेकिन ध्यान रहे कुछ म्यूचुअल फंड्स ऐसे भी होते है जिनमे लॉक-इन पीरियड होता है |
  • म्यूचुअल फंड के जरिये आप खुद के बचत को भिन्न भिन्न विकल्प और खुद की जरूरत के हिसाब से निवेश कर सकते है जैसे - इक्वटी, डैट फंड |
  • म्यूचुअल फंड मे निवेश करना एक बढ़िया विकल्प इसलिए भी क्योकि म्यूचुअल फंड मे आप अपनी आप के हिसाब से इन्वेस्ट कर सकते है | इसमे आप 500 रुपए भी इन्वेस्ट कर सकते है | निवेश पूंजी कम होने का फायदा यह भी कि इसमे कई लोग इन्वेस्ट कर सकते है |
  • म्यूचुअल फंड मे निवेश करने की सोच रहे है तो आप किसी विशेषज्ञ से सलाह ले सकते है क्योकि विशेषज्ञ आपको इस बात की जानकारी देंगे किसी कम्पनी मे कब और किस स्तर पर निवेश करना है | अगर आपको शेयर मार्केट या कम्पनीयो की जानकारी नहीं है तो इस तरह से आपकी पूंजी अच्छी रिटर्न देने वाली कंपनीयो मे इन्वेस्ट हो जाता है |
क्रिकेट न्यूज़ लाइव स्कोर देखे Cricket News Live Score Live Hindi

क्रिकेट न्यूज़ लाइव स्कोर देखे Cricket News Live Score Live Hindi

Cricket News Live - क्रिकेट प्रेमी अगर आप है और आप क्रिकेट न्यूज़ लाइव स्कोर देखना चाहते है तो कैसे देखे Cricket live score Hindi हम आपको बता रहे है | क्रिकेट लाइव स्कोर देखने मे आपकी मदद करेंगे 5 एप | वह कौन से 5 App है जहां पर आप क्रिकेट न्यूज़ लाइव स्कोर देख सकते है आइये जाने |

5 app for live cricket score

स्पोर्ट कीड़ा हिन्दी - यह एप लाइव क्रिकेट के बारे जानकारी प्रदान करता है आप इस एप की मदद से लाइव कमेंट्री, क्रिकेट खबर, क्रिकेट से जुड़ी सभी आर्टिकल का मजा ले सकते है साथ ही आपको क्रिकेट वर्ड से जुड़े इंटरव्यू, मैच कैलेंडर इत्यादि भी जानने को मिलेगा |
ईएसपीएन क्रीइन्फो - अगर आपको मनपसंद भाषा मे क्रिकेट की जानकारी चाहिए तो एप आपके लिए सबसे अच्छा एप साबित हो सकता है | इस ऐप मे आपको lIve Cricket Score के साथ साथ बाल टू बाल कमेंट्री का ऑप्शन मिल जाएगा | इस एप मे एक पुश नोटफिकेशन का ऑप्शन भी मिलता है जिसके जरिये से आप एप बंद करने के बाद भी क्रिकेट स्कोर की जानकारी मिलती रहती है |






बीसीसीआई - इस एप मे भी आपको 1st एप की तरह फ्यूचर मिलेगा लेकिन इस ऐप मे एक खास फ्यूचर वीडियो हाईलाइट का भी मिलेगा साथ ही इस एप मे टिम टाइम भी दिखाया जाता है |

हॉट स्टार - यह एप एक पोपुलर एप है इस एप पर भी LIve Vidio Cricket Match देखा जा सकता है | किसी कारणवश अगर मैच लाइव नहीं चल पता तो आप लाइव स्कोर का ऑप्शन भी कर सकते है | इस एप मे रिप्ले से लेकर हाईलाइट करके क्रिकेट देखा जा सकता है |
घड़ी का महत्व क्या है वास्तु शास्त्र टिप्स

घड़ी का महत्व क्या है वास्तु शास्त्र टिप्स

घड़ी का महत्व क्या है इस जीवन मे इसस भली भांति परिचित होंगे क्योकि यह घड़िया ही है जो हमे सही समय का ज्ञान देती है | घड़ी के बिना हम हमारा जीवन सामान्य नहीं रह सकता है क्योकि अगर हमको किसी काम से कही समय से पहुचना हो तो घड़ी देखकर ही जाते है | लेकिन वास्तुशास्त्र म घड़ी का महत्व क्या है औ क्या कहता है वास्तुशास्त्र की घड़ी की दिशा किधर होनी चाहिए इत्यादि सवालो के जवाब |

वास्तु शास्त्र के अनुसार घड़ी का महत्व -

वास्तुशास्त्र की मानिए तो पता चलता है की घड़ी की दिशा अगर गलत हो तो इसका बुरा प्रभाव हमारे जीवन मे पड़ता है |
ghadi ki disha

घड़ी गिफ्ट न करे - अगर आप किसी को घड़ी तोहफे मे देने जा रहे है तो ऐसा बिल्कुल न करे क्योकि वास्तुशास्त्र के अनुसार गहदी ही है जो हर किसी को समय म बांधती है और अगर आप किसी को घड़ी गिफ्ट करते है तो समझिए आप अपना बुरा और अच्छा समय किसी को तोहफे मे दे रही है | तो ऐसा कभी नहीं चाहेंगे |

घड़ी की दिशा किधर होनी चाहिए - वास्तु शास्त्र कहता है की घड़ी की दिशा कभी भी दक्षिणी दीवार पर नहीं होनी चाहिए | मतलब घड़ी दक्षिणी दीवार पर नहीं लगाना चाहिए | दक्षिण दिशा मे यम देवता का निवास माना जाता है | यम का काम क्या है यह सबको पता ही होगा की यम प्राण हरण का काम करते है | इसलिए घड़ी दक्षिण दीवार पर नहीं लगाना चाहिए |
कहते है इस दिशा मे घड़ी टाँगने से घर के सभी सदस्यो पर बुरा असर पड़ता है और कैरियर पर बुरा प्रभाव भी छोड़ता है |



मुख्य द्वार भी न लगाए घड़ी - घर के मुख्य दरवाजे और दरवाजे के ऊपर घड़ी नहीं लगाना चाहिए | ऐसा करने से घर मे तनाव जैसी स्थिति बनती है साथ ही आसपास की ऊर्जा भी प्रभावित होती है | वास्तु शास्त्र के अनुसार बेकार या खराब पड़ी घड़ी भी घर के दीवार पर नहीं टांगना चाहिए | यह भी ध्यान रखे अगर घड़ी मे समय ठीक नहीं है जैसे घड़ी मे समय गलत बता रहा है तो उससे सही समय से मिला दे | क्योकि वास्तु शास्त्र मे यह बुरा होने का प्रतीक माना जाता है |

घड़ी की दिशा क्या होनी चाहिए - 

  • वास्तु शास्त्र की मान्यता है कि घड़ी हमेशा पूर्व, पश्चिमी या उत्तर दिशा मे होना चाहिए | ऐसा करने से घर मे सकारत्मक ऊर्जा का काम करती है |
  • वास्तुशास्त्र यह भी कहता है की जिस घर मे पेंडुलम वाली घड़ी होती है उस घर से जीवन मे आने वाली बधाए और बुरा समय दूर हो जाता है | ऐसी घड़ी को अपने कार्यस्थल या ड्राइंग रूम मे लगाना सही होता है |
  • वास्तु शास्त्र के अनुसार गोल, चौकोर, अंडाकार या आठ या छः भुजाओं वाली घड़ी सकारात्मक प्रभाव को बढ़ाती है। तो घड़ी खरीदते समय आप आगे से आकार का जरूर ख्याल रखें
  • वास्तु शास्त्र के अनुसार घर के दक्षिण दीवार पर घर के मुखिया का फोटो लगना सही रहता है | ऐसा करने से शास्त्र के अनुसार मुखिया का स्वास्थ अच्छा बना रहता है || घड़ी अगर आप दक्षिण दिशा मे लगाते है तो आपका ध्यान भी बार बार दक्षिण दिशा मे जाएगा और इससे आपको नकारात्मक ऊर्जा का एहसास होगा |
सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 जानिए right to information

सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 जानिए right to information

सूचना का अधिकार english right to informatin एक्ट का मुख्य उद्देश्य सरकारी और अर्धसरकारी विभागो की कार्यप्रणाली मे पारदर्शिता लाना है | सुंचना का अधिकार एक्ट जम्मू कश्मीर समेत देश के सभी राज्यो मे प्रभावी है | यहा क्लिक से पढे वेब होस्टिंग बिज़नस की शुरुवात कैसे करे | 

इस एक्ट के तहत भारत का कोई भी नागरिक सरकारी या अर्धसरकारी विभागो से जुड़ी सभी सूचनाए हासिल कर सकता है | पर कुछ सूचनाए और विभाग भी निश्चित किए गए है, जिन्हे सार्वजनिक करने का प्रावधान नहीं है | इसके तहत देश की सुरक्षा एजेंसिया, देश के आर्थिक मुद्दे विज्ञान प्रोद्धकी विभाग से जुड़ी सूचनाए नहीं की जा सकती है | इसके अलावा उन सूचनाओ को भी सार्वजनिक करने का प्रावधान नहीं किया गया है, जिन पर विभाग का अपना कॉपीराइट है |
suchna ka adhikar up

सूचना का अधिकार अधिनियम की विशेष बाते - 

  • सूचना का अधिकार अधिनियम 12 अक्टूबर 2005 मे लागू हुआ |
  • कार्यक्षेत्र अधिनियम मे सभी सार्वजनिक प्राधिकरण को कवर किया गया है प्राधिकरण से तात्पर्य -
  1. संविधान द्वारा या संविधान के तहत
  2. संसद द्वारा बनाए गए किसी अन्य कानून द्वारा |
  3. राज्य विधानसभा द्वरा बनाए गए किसी अन्य कानून द्वारा |
  4. प्रशासन द्वारा बनाए गए कानून या जारी अधिसूचना द्वारा गठित या स्थापित कोई स्व - शासित प्राधिकरण या निकाय, इसमे शामिल है |

सूचना के अधिकार की प्रक्रिया - 

सूचना के अधिकार के अंतर्गत किसी भी विभाग से सूचना प्राप्त की जा सकती है, इसके लिए सरकार ने 10 रुपए का स्टाप या 10 रुपए के रसीदी टिकट द्वारा एक प्राथना पत्र देकर इस विभाग की सूचना अधिकारी से सभी प्रश्नो के विषय मे जानकारी प्राप्त की जा सकती है | यदि संबन्धित अधिकारी सूचना देने से मना करता है या 30 दिन के भीतर जानकारी नहीं देता है तो इस सूचना अधिकारी के विरुद्ध कार्यवाही की जा सकती है | यह शिकायत सूचना, मुख्य सूचना आयुक्त के पास भेजी जाती है |
कुश्ती के दांव पेंच नियम इतिहास

कुश्ती के दांव पेंच नियम इतिहास

कुश्ती का इतिहास kushti के दांव पेंच कुश्ती का परिचय kushti नियम कुश्ती का मैदान कुश्ती खेल और नियम
kushti history - कुश्ती का खेल एक तरह का द्वंद्वयुद्ध है यह खेल बिना किसी शस्त्र के शारीरिक शक्ति के सहारे खेला जाने या लड़ा जाने वाला खेल है | कुश्ती की शुरुवात उस समय हुई जब मानव ने शस्त्रों का प्रयोग करना भी नही सीखा था | ऐसे टाइम मे ज्यादा शक्तिशाली व्यक्ति ही प्रधान हुआ करता था | यह एक प्रकार का युद्ध था और इस युद्ध मे विजय पाने के लिए मानव के कई तरीके अख्तियार किए जैसे दांव पेंच और इस तरह से मल्ल युद्ध अथवा कुश्ती का विकास हुआ होगा |

कुश्ती के नियम - 

कुश्ती खेलने के कुछ नियम चित्र मे निर्देशित किए गए है |


IMAGE SOURCE - भारतखोज

ओलम्पिक kushti फ्री स्टाइल के निम्न नियम बनाए है -

  • बाल या जाँघिया पकड़ना वर्जित है 
  • अंगुली और अगुंठा मरोड़ना भी वर्जित है |
  • शरीर या सिर पर कैंची का प्रयोग करना वर्जित है |
  • गले को दबाना या किसी प्रकार का ऐसा दांव पेंच लगाना जिससे सांस रुकने की संभावना है वर्जित है |
  • पाँव को कुचलना भी वर्जित है |
  • कुश्ती पहलवान का आपस मे बात करना वर्जित है |
  • हथेलियो के प्रयोग से धोबी पछाड़ मारना वर्जित है |
  • अंगुलियो से दांव पेंच खेलना जैसे अंगुली फसाना मना है |
ओलंपिक खेल मे शांबों नाम की भी एक कुश्ती होती है इस कुश्ती मे पहलवान मोटे कपड़े का जैकट पहनते है | इस जैकट को पहनकर पहलवान दांव पेंच लगाता है | 
जियो डीटीएच सेटअप बॉक्स शुभारंभ की तारीख reliance jio online booking

जियो डीटीएच सेटअप बॉक्स शुभारंभ की तारीख reliance jio online booking

जियो डीटीएच online booking - रिलायंस जियो जल्द ही जियो डीटीएच की लांचिंग करने वाली है हालाकी अभी जियो डीटीएच बूकिंग, price, online dth booking date एंड dth jio लांचिंग तारीख के बारे मे अभी किसी तरह की कोई पुष्टि नहीं हुई है |


jio dth setup box online booking


जियो डीटीएच के प्लान Jio DTH Plan
  • जियो डीटीएच बेसिक 
  • होम पैक जियो 
  • डीटीएच गोल्ड प्लान 
  • जियो रजत डीटीएच योजना 
  • जियो डीटीएच प्लैटिनम प्लान 
  • जियो डीटीएच मेरा प्लान

जियो डीटीएच बुकिंग ऑनलाइन कैसे करे - 

अभी तो Jio DTH लांच तो नहीं हुआ है लेकिन अगर आपको जियो डीटीएच के आने का इंतेजार है तो हो सकता है अगस्त 2018 तक आपका इंतेजार खत्म हो जाये | लेकिन ध्यान रहे जियो डीटीएच प्राप्त करने के लिए आपको जियो डीटीएच ऑनलाइन बूकिंग करना होगा | जिसके लिए आपको jio.com वैबसाइट पर जाना होगा | जब भी dth की शुरुवात होती है बूकिंग की तो आपको निम्न तरीके से jio dth मिलेगा |

  • जियो डीटीएच खरीदने के लिए सबसे पहले ऑनलाइन बूक करना होगा |
  • जियो डीटीएच बूक करने के लिए आपको जियो की वैबसाइट पर जाना होगा यहा क्लिक से जाये |
  • अब आपको जियो डीटीएच बूकिंग का ऑप्शन दिखाई देगा |
  • अब आपको अपना नाम एंव एड्रेस भरना होगा |
  • जब सारे प्रोसेस पुरे हो जाएँगे तो अंत मे आपको भुगतान करना होगा |
  • भुगतान करने के बाद आपको जियो डीटीएच प्राप्त हो जाएगा जिसके मिलने का निर्देश आपको जियो के आधिकारिक वैबसाइट पर ही दिखाई देगा |

Jio dth Features

  • HDMI Support
  • Recording HD
  • Wi- Fi
  • Bluetooth
  • Oprating System Android And Google Crome
  • DC Favorable
  • cabel
  • Remote Control
  • Audio Output
रामनवमी का इतिहास क्यो मनाया जाता है

रामनवमी का इतिहास क्यो मनाया जाता है

ram navmi kyo manaya jata hai - राम नवमी का त्योहार जो हर साल मार्च या अप्रैल मे मनाया जाता है इसके पीछे का छुपा इतिहास क्या है रामनवमी का महत्व क्या है इत्यादि सारांस आज बता रहे है 2018 के राम नवमी के उपलक्ष्य मे | तो आइये जाने इतिहास राम नवमी के आने के खुशी पर | ram navmi itihas

कहा जाता है की राम नवमी का त्योहार भगवान विष्णु के 7वे अवतार भगवान राम है और इस उपलक्ष्य मे राम नवमी मनाई जाती है | इसी दिन राजा दशरथ की सबसे बड़ी रानी कोशल्या ने भगवान राम को जन्म दिया था जो भगवान सरी कृष्ण के 7वे अवतार थे | यह त्योहार भारत मे बड़े धूम धाम से मनाया जाता है साथ ही यह फेस्टिवल भारत का प्रमुख त्योहार है |

ram navmi ki kahani

राम नवमी का इतिहास मे महत्व -

भारत मे रामनवमी का पर्व बहुत ही आस्था और श्रद्धा से मनाया जाने वाला पर्व है इस पर्व के दिन ही चेत्र रामनवमी का अंत होता है | हिन्दू धर्म मे रामनवमी का विशेष महत्व है क्योकि इस दिन ही भगवान श्री नाम का जन्म हुआ था | भक्तजन इस तिथि को धूम धाम से मनाते है साथ ही पवित्र मे जाकर स्नान करते है | माना जाता है स्नान से पुण्य प्राप्त होता है |

रामनवमी पर पूजा कैसे करे

  • पुराणो से पता चलता है कि भगवान श्री नाम का जन्म मध्याह्न काल मे हुआ था |
  • मध्याह्न काल मे जन्म होने के कारण इस दिन तीसरे प्रहर तक व्रत रखा जाता है और दोपहर मे राम पर्व को मनाया जाता है |
  • इस दिन भगवान श्री राम और रामचरितमानस की पूजा पाठ करना उचित है |
  • नवमी पर श्री राम मूर्ति को शुद्ध करने के लिए पवित्र ताजे जल से स्नान कराना चाहिए फिर वस्त्रो से सजाकर आरती, पुष्प और पीला चन्दन इत्यादि को अर्पित करना चाहिए और भगवान राम की पूजा करे |
  • भगवान राम की भक्ति के लिए अखंड पाठ भी कर सकते है |
  • भगवान श्रीराम को दूध, दही, घी, शहद, चीनी मिलाकर बनाया गया पंचामृत तथा भोग अर्पित किया जाता है। 
  • भगवान श्रीराम का भजन, पूजन, कीर्तन आदि करने के बाद प्रसाद को पंचामृत सहित श्रद्धालुओं में वितरित करने के बाद व्रत खोलने का विधान है |
पीसीएस क्या है PCS परीक्षा की तैयारी कैसे करे

पीसीएस क्या है PCS परीक्षा की तैयारी कैसे करे

what is pcs officer in hindi - पीसीएस क्या है और PCS परीक्षा की तैयारी कैसे करे इत्यादि की जानकारी अक्सर लोग खोज करते है | अगर आपकी भी खवाइस PCS Full From Provincial Civil Services बनने की है तो हम यहा आपको गाइड कर रहे है PCS क्या है और पीसीएस परीक्षा की तैयारी कैसे करे एंव पीसीएस परीक्षा योग्यता एंव आयु सीमा क्या होती है |

PCS क्या है what is pcs officer in hindi

पीसीएस एक सिविल सर्विस है ये राज्य लोक सेवा आयोग { SPSC } द्वारा आयोजित की जाने वाली राज्य सिविल सेवा परीक्षा भर्ती होती है एंव संबंधित राज्य सरकार के विशेष अनुरोध पर केंद्र सरकार द्वारा स्थापित राज्य प्रशासनिक न्यायाधिकरण (एसएटी) राज्य सरकार के कर्मचारियों की भर्ती और सेवा संबंधित सभी मामलों का फैसला करता है |
pcs exam clear kaise kare

PCS परीक्षा की तैयारी के कैसे करे

  • सबसे पहले तो पीसीएस क्वालिफ़ाई करने के लिए खुद को मानसिक तौर पूरे यकीन के साथ तैयार करे की आप इस परीक्षा को क्लियर कर सकते है |
पाठ्यक्रम के बारे मे जाने - 
सभी परीक्षाओ का एक सिलेबस निर्धारित होता है तो इस परीक्षा का भी सिलेबस जो है उसके बारे मे अध्ययन करे | ऐसा करने से आपको एक मार्ग दिखाई देगा और क्या पढ़ना है उस पाठयकर्म को समझ जाएँगे | अगर आपके नहीं पता पीसीएस एक्जाम मे क्या पढ़ना है तो कुछ समय के बाद हम आपको इसके बारे मे भी जानकारी देंगे |



डिजिटल तैयारी भी करे - डिजिटल जमाना है तो डिजिटल दौर मे देखा गया है कि पीसीएस उम्मीदवार ई- बुक्स और ई- रीडिंग्स पर ज्यादा ध्यान एंव दिलचस्पी दिखा रहे है | इंटरनेट पर पीसीएस उम्मीदवारों की दिलचस्पी को देखते हुए बहुत सारे PCS शिक्षण संस्थाओ ने ऐसी वैबसाइट बनाई है जहां पर PCS परीक्षा की तैयारी के लिए अध्ययन सामग्री, टेस्ट-सीरीज, डिस्कशन फोरम इत्यादि आसानी से प्राप्त हो जाये तो आप पीसीएस परीक्षा के लिए तैयार की गई वैबसाइट पर जाये और खुद की तैयारी अच्छी तरह से करे |

निर्देशक नाम की एप प्ले स्टोर से डाउनलोड करके तैयारी कर सकते है

सिलेबस खत्म करने का समय निर्धारित करेसिलेबस को खत्म करने के लिए आप एक समय सीमा का बाधित करे जैसे अगर आप छह महीने मे अपना सिलेबस खत्म कर लेते है तो आपको अपना सिलेबस रिविज़न के बढ़िया समय मिल जाएगा | तो आप एक समय सारणी बनाए और समय सारणी के हिसाब से खुद को तैयार करे |

यूपीपीसीएस एक्जाम पैटर्न UPPCS Exam Pattern -

UPPCS की 3 परीक्षाए होती है
  1. प्राम्भिक परीक्षा - के 2 पेपर होंगे एक ही दिन मे एंव 2 शिफ्ट मे तो आपको अपना पूरा फोकस 1st पेपर पर देना है क्योकि मेरिट 1st से ही बनेगा | दूसरा पेपर क्वालिफ़ाई है तो इसमे आपको कुछ खाश करने की जरूरत नहीं है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है की आप इसे इग्नोर करे | पहला पेपर सामन्य अध्ययन का है इसमे और प्रश्नों की संख्या 150 होगी इसके अंक 200 रहेंगे | प्राम्भिक परीक्षा निकालने के लिए आपको 10 क्षेत्रो से जुड़े प्रश्न तैयार करना होगा -
यह अनुमानित आकडा है कम या ज्यादा भी हो सकता है - अगर आपको UPPCS पास होना है तो आप 115 से 120 प्रश्न सही  करने का लक्ष्य निर्धारित करे |
प्राम्भिक परीक्षा के 150 प्रश्नो को हल करने के लिए आपको निम्न क्षेत्रो की तैयारी करनी होगी |
  1. भारतीय इतिहास
  2. भूगोल; 
  3. संविधान
  4. इकोनोमी
  5. सामान्य विज्ञान 
  6. पर्यावरण; 
  7. कृषि
  8. यूपी स्पेशल और कर्रेंट अफेयर्स
आप घटना चक्र पूर्वालोकन की आठ किताबों वाली सीरीज खरीद कर तैयारी करे यह आपके लिए बहुत ही लाभकारी साबित होगी |
मुख्य परीक्षा - इसके लिए हम एक अलग लेख बना रहे है जल्दी ही अपडेट करेंगे |

साक्षत्कार - UPPCS की मेन्स को पास करने वाले स्टूडेंट को पर्सनाल्टी टेस्ट से भी गुजरना होता है | इसके बाद इंटरव्यू और मुख्य परीक्षा के मार्क्स जोड़कर एक फाइनल मेरिट बनती है |
  • इंटरव्यू का पूरा मार्क्स  200 होता है 
  • आपकी रूचि, शैक्षणिक बैकग्राउंड के विषय में पूछा जा सकता है. 
  • प्रायः सामान्य जागरूकता , बुद्धि, वाक्पटुता, चरित्र, अभिव्यक्ति शक्ति / व्यक्तित्व की जाँच की जाती है |
UPPCS परीक्षा की तैयारी के बारे मे अधिक जानने के लिए पढ़ते रहे हम इस तरह की और भी लेख बनाते रहेते है |
लोक अदालत की स्थापना कब हुई

लोक अदालत की स्थापना कब हुई

लोक अदालत क्या है और लोक अदालत की स्थापना कब हुई जैसे सवाल सरकारी परीक्षा मे पूछे जाते है तो हम आपको लोक अदालत क्या है और लोक अदालत की स्थापना कब हुई बता रहे है |

लोक अदालत की स्थापना - लोक अदालत की स्थापना का विचार सबसे पहले भारत के भूतपूर्व न्यायधीश पी.एन. भगवती द्वारा किया गया था और सबसे पहला लोक अदालत का आयोजन 1982 मे गुजरात मे हुआ और कुछ समय बाद 2002 मे लोक अदालत को स्थायी रूप से बना दिया गया |

lok adalat sthapna

लोक अदालत क्या है

लोक अदालत विवादो को समझोते के माध्यम से सुलझाने के लिए एक वैकल्पिक संघ है | सभी प्रकार के सिविल बाद तथा ऐसे अपराधो को छोड़कर जिनमे समझोता वर्जित है | सभी अपराधीक मामले भी लोक अदालत द्वारा निपटाए जा सकते है |
  • लोक अदालतों के फ़ैसलों को अदालत का फ़ैसला माना जाता है | जिसे कोर्ट की डिक्री की तरह सभी पक्षो पर अनिवार्य रूप से बाध्य होते हुए लागू कराया जाता है |
  • लोक अदालत के फ़ैसलों के विरुद्ध किसी भी न्यालय मे अपील नहीं की जा सकती है |
  • स्थायी लोक अदालतों मे समझोते के मादयम से निस्कारित मामलो मे अदा की गई कोर्ट फीस लौटा दी जाती है |
  • अभी जो विवाद अदालत के समक्ष नहीं आये है उन्हे भी प्री - लिटीगेशन स्तर पर बिना मुकदमा दायर किये ही पक्षकारो की सहमति से प्राथना पत्र देकर अदालत मे फैसला कराया जा सकता है |
डाटा एंट्री क्या है इन हिन्दी data entry course in hindi

डाटा एंट्री क्या है इन हिन्दी data entry course in hindi

data entry course in hindi - डाटा एंट्री कैसे की जाती है डाटा एंट्री क्या है data entry course in hindi के बारे मे जानिए | डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए आपको जानकारी होनी चाहिए की डाटा एंट्री ऑपरेटर कैसे बने |

data Entry - नाम से ही पता चलता है की डाटा की एंट्री करना है लेकिन डाटा की एंट्री क्या है तो समझे कम्प्युटर की भाषा मे हर उस एंट्री की डाटा कहा जाता है जिसे हम इनपुट डिवाइस के प्रयोग जैसे - कीबोर्ड, माउस, इत्यादि से कम्प्युटर मे प्रवेश कराते है |

 data entry opreter kaise bane

"एक कम्प्युटर मे कीबोर्ड के माध्यम मे कुछ भी अगर आपने टाइप किया तो इसे ही हम डाटा के नाम से जानते है | इसी तरह कम्प्युटर मे अगर हम फोटो, वीडियो, एमपी3 इत्यादि को अपलोड करे तो यह डाटा कहलाता है |"

डाटा एंट्री ऑपरेटर कैसे बने data entry opreter kaise bane

डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए शैक्षिक योग्यता और कम्प्युटर से संबन्धित जानकारी का ज्ञान होना जरूरी है |


शैक्षिक योग्यता - डाटा एंट्री के लिए न्यूनतम योग्यता 12th होती है लेकिन कुछ पोस्ट के लिए स्नातक भी मागा जाता है |

कम्प्युटर से संबन्धित जानकारी - 

  • टाइपिंग - टाइपिंग करना आज के समय मे लगभग सभी को आता है लेकिन दाता एंट्री जॉब करना चाहते है तो एक स्पीड बनाए फास्ट टाइपिंग करने के लिए |
  • भाषा - आपको हिन्दी और इंग्लिश की अच्छी जानकारी होनी चाहिए जैसे डाटा एंट्री वर्क मे राम को इंग्लिश Ram भी टाइप करना पड़ सकता है | यह तो एक आसान सा वर्ड है |
  • कम्प्युटर सामन्य ज्ञान - आपको ईमेल भेजना, तेजी से कम्प्युटर प्रयोग करना, फोटो करना, इंटरनेट का प्रयोग अच्छी तरह से आना |
अगर आपकी टाइपिंग स्पीड अच्छी है और भाषा की आपको अच्छी पकड़ है साथ ही आपको कम्प्युटर चलाना, इंटरनेट का प्रयोग करना आता है तो आप डाटा एंट्री जॉब के लिए एप्लाई कर सकते है | डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए कई तरह के कोर्स भी किये जाते है लेकिन आपके पास उपरोक्त योग्यता और जानकारी है तो आप सीधे ही डाटा एंट्री ऑपरेटर बन सकते है और आपको किसी प्रकार का कोर्स भी नही करना होगा |

डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए कोर्स - 

डाटा एंट्री ऑपरेटर बनने के लिए आप स्टेनोग्राफर या डाटा एंट्री ऑपरेटर का कोर्स कर सकते है | यह कोर्स आप किसी भी आईटीआई कॉलेज से कर सकते है | 
मोबाइल चोरी हो जाये तो क्या करे khoya hua mobile kaise pata kare

मोबाइल चोरी हो जाये तो क्या करे khoya hua mobile kaise pata kare

मोबाइल चोरी पता कैसे करे - मोबाइल चोरी हो जाना या गुम हो जाना या खो जाना तो क्या करे, ऐसे मे मोबाइल का पता कैसे करे | यह हर कोई जानना चाहता होगा लेकिन क्या सच मे मोबाइल के चोरी या गुम हो जाने पर पता लगाया जा सकता है | मोबाइल फोन अगर आपका चोरी और गुम हो जाता है तो आप उसे कैसे ढूंढ सकते है बताने वाले है तो आइये आगे जाने तरीका केएमजीवेब हिन्दी पर |

मोबाइल खो जाये या चोरी हो जाये तो क्या करे

आप जब भी एक फोन खरीदते है तो इंटरनेट का प्रयोग करने के लिए गूगल की सर्विस जीमेल का प्रयोग करते है | जिसके लिए आपको एक जीमेल आईडी बनानी पड़ती है जिसे जीमेल आईडी के नाम से जाना जाता है | तो आपका फोन या मोबाइल अगर चोरी हो गया है या खो गया है, गुम हो गया है तो इसी गूगल की सर्विस से खुद के फोन को खोज सकते है | अगर आपको नहीं पता है GMAIL की मदद से फोन ढूँढे तो हम आपको स्टेप बता रहे है कैसे खोया मोबाइल खोजे |
chori ka phone

जीमेल की मदद से फोन ढूँढे find mobail phone

  • गुम हुए फोन को गूगल की सर्विस Android Device Manager की मदद खोजने मे मदद मिल सकती है | इसके लिए आपको खो हुए फोन मे जो जीमेल आईडी दर्ज है उसकी मदद लेनी होगी |
  • सबसे पहले आप किसी भी कम्प्युटर पर टाइप करे FIND YOur Device | अब आपको गूगल सर्च मे गूगल की सर्विस FInD YOUR Phone दिखाई देगा | अब आप उस पर क्लिक करे | अब आपसे एक जीमेल मागी जाएगी तो आप खोये हुए फोन मे जो जीमेल दर्ज है उससे लॉगिन करे |

टिप्पणी - आपको इस सर्विस से लाभ उस समय मिलेगा जब आपके फोन मे इंटरनेट ऑन हो |
  • अगर आपके गुम हुए फोन मे इंटरनेट ऑन है तो आप गूगल की सर्विस Find Your Phone की मदद से निम्न कार्य कर सकते है |
  1. Lock your phone
  2. Try calling your phone
  3. Consider erasing your device
  4. Locate
  1. Lock your phone - अगर आपका फोन गुम हो गया है तो इसकी मदद से आप अपने फोन को लॉक कर सकते है साथ ही एक मैसज भी सेट कर सकते है |
  2. Try calling your phone - इसकी मदद से गुम हुए फोन पर RIng कर सकते है | इस ऑप्शन से Silent Mode फोन मे Ring बजने लगता है | अगर आपका फोन घर पर ही इधर उधर हो गया है और ढूँढने पर नहीं मिल रहा है तो आप इसकी मदद से अपने फोन पर रिंग कर सकते है |
  3. Consider erasing your device - अगर आपके फोन मे पर्सनल डाटा मौजूद है तो इसकी मदद से खो चुके फोन के डाटा को मिटाया जा सकता है |
  4. Locate - इसकी मदद से आप अपने फोन को trace कर सकते है जिससे आपका खोया फोन किस स्थान पर है पता लग सकता है |
प्रधानमंत्री रोजगार योजना एंव नियम pradhan mantri rozgar yojana wiki

प्रधानमंत्री रोजगार योजना एंव नियम pradhan mantri rozgar yojana wiki

pradhan mantri rozgar yojana - प्रधानमंत्री रोजगार योजना मे अब आठवी दर्जा पास युवको को भी ऋण लेने की छूट है | पहले  pradhan mantri rozgar yojana मे न्यूनतम शैक्षिक योग्यता हाई स्कूल पास या फेल की स्कीम मे अब आठवा पास युवको को ऋण लोन दिया जाएगा | प्रधानमंत्री रोजगार योजना स्कीम मे पहले व्यक्तिगत आधार पर एक लाख रुपए और भागीदारी वाली परियोजनाओ के लिए 6 लाख रुपए के ऋणों की सीमा थी लेकिन अब व्यापारिक कारोबार के लिए एक लाख रुपए, अन्य गतिविधियो के लिए 2 लाख रुपए और दो या दो अधिक योग्य लोगो की परीयोजनाओ के लिए 10 लाख रुपए ऋण लोन लिए जा सकते है |
pm rojgar yojna hindi


पारिवारिक आय के मानक मे भी रियायत देते हुए यह प्रावधान किया गया है कि अब स्कीम के लाभर्थी, उसकी पत्नी और परिवार की आय 40 हजार से ज्यादा नहीं होनी चाहिए | सीमा के लागत की 15 फीसदी दर दी गई है | जबकि मार्जिन मनी के मामले मे 5 फीसदी की सीमा को बदल कर बैंको को यह छूट दी गई है कि ये परियोजना लागत के 5 से 12 फीसदी तक मार्जिन मनी ले सके |


प्रधानमंत्री रोजगार योजना के नियम pradhan mantri rozgar yojana rule

  • शिक्षित बेरोजगार पुरुषो महिलाओ को रोजगार हेतु 2 लाख रुपए लोन नीचे दिए गए परियोजनाओ के आधार पर किसी एक परियोजना के आधार पर किसी एक परियोजना के लिए ले सकते है | फार्म महाप्रबंधक जिला उधोग केंद्र मे जमा कर सकते है अथवा डाक से भेज सकते है |
प्रधानमंत्री रोजगार योजना के लिए योग्यता - आठवि पास हाई स्कूल पास या फेल इंटर/हाई स्कूल/आईटीआई/डिप्लोमा/इंजी/ या अन्य कोई तकनीकी शैक्षिक योगिता वाले के है | मूल लागत मे 15 प्रतिशत अनुदान है और 5 प्रतिशत से 12.5 प्रतिशत धनराशि अभ्यार्थी को मार्जिन मनी के रूप मे अपने पास से लगानी है | इस योजना मे 22.5 प्रतिशत अनु0 जनजाति तथा 27 प्रतिशत पिछड़ी जाती के लिए आरक्षित है | सब्ससिडी और मार्जिन मनी परियोजना लागत की 20 फीसदी है | आयु 15 से 40 वर्ष के मध्य होनी चाहिए |

फार्म के साथ नत्थी करके भेजे -
  • आयु सत्यापित के लिए प्रमाण पत्र की प्रति |
  • शैक्षिक योग्यता तकनीकी योग्यता की सत्यापित प्रतिया भेजे |
  • राशन कार्ड अथवा निवाश प्रमाण पत्र जो 3 वर्ष से अधिक पुराना न हो |
  • प्रोजेक्ट रिपोर्ट का विवरण |
सूची देखने के लिए किलक करे
बोको हराम क्या है कुछ अनकही बाते

बोको हराम क्या है कुछ अनकही बाते

बोको हराम - बोको हराम का नाम तो सुना ही होगा, आज कल बोको हराम से जुड़ी खबरे न्यूज़ पर दिखाई जाती है आइये जाने बोको हराम क्या है | "नाइजीरिया मे सक्रिय आतंकी संगठन को बोको हराम के नाम से जाना जाता है" | नाइजीरिया देश मे  बोको हराम संघटन का मकसद वर्तमान मे उपस्थित सरकार का तख़्तापलट करना है साथ ही नाइजीरिया को एक इस्लामिक देश मे बदलना है |
boko haram

बोको हराम के बारे मे अनकही बाते -

  • बोको हराम एक अरबी वर्ड है जिसका मतलब होता है 'पश्चिमी शिक्षा हराम' |
  • बोको हराम संगठन का आधिकारिक नाम "जमाते एहली सुन्ना लिदावति वल जिहाद" है | इसका मतलब है " जो लोग पैगम्बर की दी हुई शिक्षा पर यकीन करते है और जिहाद फैलाने के लिए बाध्य है"
  • नाइजेरिया के मुस्लिम नेता युसुफ ने बोको हराम संघटन की स्थापना की और इस संघठन का गठन 2002 मे हुआ |
  • बोको हराम आज नाइजीरिया के अलावा अपने पड़ोसी देशो पर भी पर भी हमले करता है |
  • बोको हराम का दहशत पूरे नाइजेरिया मे है लेकिन अभी हाल ही उसने 200 लड़कीयो को अपहरण कर पूरे दुनिया मे हाहाकार मचा दिया |
  • इस संघटन का मकसद पश्चिमी शिक्षा से बच्चो को दूर कर देना है और इस्लामिक शिक्षा देना है |
  • 2011 में क्रिसमस के दिन राजधानी आबुजा में चर्च पर बोरो हराम ने धमाका किया था |
बलवा क्या है की परिभाषा dhara 147 in hindi

बलवा क्या है की परिभाषा dhara 147 in hindi

बलवा, धारा 147 in hindi - बलवा करना और बलवा करने के लिए क्या दण्ड मिल सकता है आज चर्चा का रहे है उससे पहले जानिए बलवा का मतलब - दंगा-फ़साद करना, उपद्रव मचाना, बग़ावत विप्लव, विद्रोह करना होता है | बलवा क्या है तो समझे बल और हिंसा का प्रयोग करना | dhara 147 information in hindi

बलवा करना - जब कभी "विवि - विविरुद्ध या उसके किसी सदस्य द्वारा या उसके किसी सदस्य द्वारा ऐसे जमाव के सामान्य उद्देय को अग्रसर करने मे बल या हिंसा का प्रयोग किया जाता है |, तब ऐसे जमाव का हर सदस्य बलवा करने के अपराध का दोषी है |


dhara 147


टिप्पड़ी - बल और हिंसा के प्रयोग से युक्त दंगा एक ऐसा कार्य है, जो किसी "विवि - विविरुद्ध जमाव 
या उसके किसी सदस्य द्वारा, ऐसे जमाव के सामन्य उद्देश्य को अग्रसर करने के लिए किया जाता है |



आवश्यक तत्व - दंगा नामक अपराध निम्न तत्वो द्वारा संरचित होता है -

  • यह कि, अभियुक्त जो पाँच या पाँच से अधिक थे, "विवि - विविरुद्ध जमाव संरचित किए थे |
  • यह कि, वे सब एक सामन्य उद्देश्य से अनुप्रमाणित थे |
  • यह कि उस "विवि - विविरुद्ध जमाव ने अथवा उसके किसी सदस्य ने उस उद्देश्य को अग्रसर करने के लिए बल या हिंसा का प्रयोग किया था |

बलवा करने के लिए दण्ड - 

जो कोई बलवा करने का दोषी होगा, वह दोनों मे से किसी भांति के कारवास से, जिसकी अवधि दो वर्ष तक की हो सकेगी या जुर्माने से या दोनों से दण्डित किया जाएगा |
  • धारा 147 यानि बलवा करना, दंगे के अपराध के लिए दण्ड का प्रावधान प्रस्तुत करती है | यह ध्यान देने की बात है कि इस धारा के अंतर्गत दंगा अपराध करने के लिए विविविरुद्ध जमाव का वही सदस्य अकेला दण्डित नहीं हो सकता, जिसने जमाव के सामन्य उद्देश्य को अनुप्रमाणित करने के लिए बल या हिंसा का प्रयोग किया था, बल्कि उस जमाव के सभी सदस्य इस धारा के अंतर्गत दण्ड्निय है चाहे भले ही उन सभी ने स्वय बल या हिंसा का प्रयोग न किया हो |
भारतीय संविधान मे महिलाओं के अधिकार

भारतीय संविधान मे महिलाओं के अधिकार

महिलाओ के अधिकार - भारत एक विकासशील देश है साथ ही भारत का नाम पूरे वर्ड मे सभ्यता एंव संस्कृति के नाम से भी जाना जाता है फिर भी इस देश मे आज भी महिलाओ को खुद के अधिकार नहीं पता है | तो आज हम यहा भारतीय संविधान मे महिलाओ को, क्या अधिकार दिए है बता रहे है |


mahila sashaktikaran adhikar

भारतीय संविधान मे महिलाओ के सुरक्षा के लिए बहुत से कानून बने है जो उन्हे समाज मे सम्मान से रहने का अधिकार देता है |

महिलाओं के सामाजिक अधिकार

  • लड़की जब 18 वर्ष की हो जाती है तो वह कानूनन वयस्क मान ली जाती है और उसे विवाह करने की स्वतंत्रा प्राप्त हो जाती है | वह जिस लड़के से चाहे विवाह कर सकती है | चाहे लड़का किसी भी धर्म या जाती से हो |
  • शादी के समय लड़कियो को मायके से दहेज के रूप मे काफी जेवर व रुपया प्राप्त होता है | लड़की के पास विवाह के बाद जो संपत्ति होती है चाहे वह मायके से मिली हो या ससुराल से, उस पर कानूनन अधिकार लड़की का होता है |
  • अपने पति के मृत्यु या तलाक के बाद स्त्री अपने बच्चो के संरक्षक बनने का भी अधिकार प्राप्त है | चाहे पति की याचिका से पूर्व ही अपना दावा परस्तुत कर रखा हो फिर भी पत्नी को दावा दायर करने तथा बच्चो को अपने संरक्षण मे करने का अधिकार मिला है |
  • यदि स्त्री अपनी ससुराल मे पति या अन्य किसी भी व्यक्ति से प्रताड़ित होती है तो उसे आई. पी. सी. की धारा 498 A के तहत उनके विरुध्द्ध आपराधिक रिपोर्ट लिखाने का पूरा अधिकार है |
  • हिन्दू विवाह कानून के तहत स्त्रीया व्याभिचार, पागल, यौनरोग या लाइलाज रोगग्रस्त पति से छुटकारा पाने के लिए विवाह विच्छेदन हेतु याचिका दायर कर सकती है |
  • तलाक के बाद महिलाए अपने और बच्चो के भरण पोषण की राशि लेने का भी दावा कर सकती है | भरण पोषण लेने राशि पाने के अधिकारी वह स्त्रीया होगी जो खुद काही नौकरी न कर रही हो, जिन्होने दूसरा विवाह भी न किया हो और स्वेच्छाचारी जीवन न बीता रही हो | बच्चो को उनके बालिग होने तक [ 18 साल ] तक ही भरण पोषण भत्ता मिलेगा |
  • तलाक के बाद भी स्त्री को पिता के मकान मे आकार रहने का पूरा अधिकार है चाहे वह मकान निजी हो या किराये पर |
  • पति के मृतु के बाद उसकी विधवा को अपनी ससुराल मे रहने का उतना ही अधिकार है जितना की पति के जीवित रहते था | मृत पति के संपत्ति पर उसकी पत्नी और बेटे बेटी का बराबर का हिस्सा होता है |
  • अगर पति की मृत्यु बिना वसीयत किए ही हो गई तो भी उसकी विधवा को अदालत मे याचिका दायर करने पर वसीयत के बिना भी अपना हक मिल सकता है |