मौत को मात देने वाले स्टीफन हॉकिंग के बारे में stephen hawking in hindi

स्टीफन हॉकिंग के बारे मे स्टीफन हॉकिंग के नियम stephen hawking in hindi stephen hawking ke vichar स्टीफन हॉकिंग - विश्व प्रसिद्ध महान वैज्ञानिक और बेस्टसेलर रही किताब "अ ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम" के लेखक स्टीफन हाकिंग का 14 मार्च 2018 को निधन हो गया | मगर देह त्यागने से पहले साबित कर गए कि अगर इच्छा शक्ति हो तो व्यक्ति कुछ भी कर सकता है |

ब्लैक होल और बिग बैंग थ्योरी को समझने मे उन्होने अहम योगदान दिया है | stephen hawking के पास 12 मानद डिग्रिया है और अमेरिका का सबसे उच्च नागरिक सम्मान उन्हे दिया गया है | 8 जनवरी 1942 को जन्मे स्टीफन हाकिंग का स्कूली जीवन बहुत अच्छा नहीं था | उनके परिवार की आर्थिक हालत भी ठीक नहीं थी | वे शुरू मे अपनी कक्षा मे ओसत से कम अंक पाने वाले छात्र थे | stephen hawking को बोर्ड गेम खेलना बहुत ही अच्छा लगता था साथ ही उन्हे गणित मे बहुत दिलचस्पी थी | ग्यारह वर्ष की उम्र मे स्टीफन स्कूल गए और उसके बाद यूनिवर्सिटी कालेज, ऑक्सफोर्ड मे उच्च शिक्षा हासिल की |
stephen hawking niyam

स्टीफन हॉकिंग गणित का अध्ययन करना चाहते थे लेकिन यूनिवर्सिटी कालेज मे गणित उपलब्ध नहीं थी इसलिए उन्होने भौतिकी अपनाई | हालाकी ऑक्सफोर्ड मे अपने अंतिम वर्ष के दौरान हाकिंग अक्षमता के शिकार होने लगे | उन्हे सीढ़िया चढ़ने मे कठिनाईयो का सामना करना पड़ा |


stephen hawking in hindi

 स्टीफन हॉकिंग की समस्याए धीरे धीरे इतनी बढ़ बढ़ गयी की वह ठीक से बोल भी पाते थे | वह महज 21 साल की उम्र के बाद amyotrophic lateral sclerosis [ ALS ] नाम की बीमारी के शिकार हो गए | इस बीमारी के कारण उनके अंग एक एक करके काम करना बंद कर दिया | तब डॉक्टरो ने बताया कि हाकिंग शायद 2 साल से अधिक जी न पाए और हो सकता है 2 साल मे ही स्टीफन हाकिंग इस दुनिया को अलविदा कह दे |

स्टीफन हाकिंग ने दिया मौत को मात - 
डॉक्टर के द्वारा हाकिंग के मौत का समय बताए जाने पर भी स्टीफन ने हार नहीं मानी और 76 साल तक जीते हुए अनेक थ्योरी और ब्रह्मांड के कई रहस्यो को सुलझाने मे मदद की |
  • जीने की इच्छा और चुनोतियों को स्वीकार करके स्टीफन हाकिंग ने यह साबित कर दिया कि मृत्यु निश्चित है, लेकिन जन्म और मृत्यु के बीच हम कैसे जीना चाहते है, यह सिर्फ हम पर निर्भर करता है
  • मरने के अधिकार जैसे मुद्दे पर उन्होंने कह था कि कोई भी व्यक्ति जो किसी भी लाइलाज बीमारी से जूझ रहा है और बहुत ज्यादा दर्द मे है उसे अपने जीवन को खत्म करने का अधिकार होना चाहिए | उसकी मदद करने वाले व्यक्ति को किसी भी तरह की मुकदमे से मुक्त होना चाहिए |
SHARE

Milan Tomic

Hi. I’m Designer of Blog Magic. I’m CEO/Founder of ThemeXpose. I’m Creative Art Director, Web Designer, UI/UX Designer, Interaction Designer, Industrial Designer, Web Developer, Business Enthusiast, StartUp Enthusiast, Speaker, Writer and Photographer. Inspired to make things looks better.

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 Comments:

Post a Comment