विकलांग पेंशन योजना बिहार 2019

विकलांग पेंशन योजना बिहार 2018 बिहार विकलांग लोन योजना क्या है विकलांग पेंशन योजना 2018-19 क्या है बिहार सशक्तिकरण योजना लोन क्या है ?

बिहार सरकार ने विकलांग पेंशन योजना 2019 और विकलांग लोन योजना की शुरुवात की है अगर आप भी विकलांग है या आपके परिवार में कोई व्यक्ति विकलांग है तो आप विकलांग पेंशन योजना और लोन योजना का फायदा ले सकते है. प्रधानमंत्री मुद्रा योजना क्या है ?

बिहार विकलांग लोन योजना क्या है ?

इस योजना को बिहार विकलांग सशक्तिकरण योजना के नाम से जाना जाता है इस योजना का मुख्य उद्देश विकलांगो के लिए शिक्षा, रोजगार और वित्तीय सहायता मे सहयोग करना है इस योजना से बिहार के विकलांगो कई तरह के लाभ मिलेंगे और बिहार के विकलांगो का जीवन स्तर ऊपर उठेगा और वह खुद ही आत्म निर्भर बना पाएग


विकलांग पेंशन योजना बिहार 2019

विकलांग पेंशन योजना 2018-19  क्या है ?

एक विकलांग को बिहार सरकार द्वारा लोन देने की अनुमति दी गई है तो कोई भी विकलांग व्यक्ति इस योजना के तहत पेंशन का दावेदार हो सकता है अगर आप बिहार के रहने वाले है तो इस योजना का लाभ आसानी से ले सकते है अगर आपको बिहार में विकलांग पेंशन कैसे मिलेगा और इसके लिए अप्लाई कैसे करे इत्यादि की जानकारी चाहिए तो कमेन्ट में लिखे हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी लेकर आयेंगे .

बिहार सशक्तिकरण योजना लोन क्या है ?

  • इस योजना से बिहार राज्य के विकलांगो को सरकारी और गैरसरकारी बैंको से ऋण मिलेगा | जो एक तरह की अच्छी सुविधा है |
  • इस योजना मे विकलांगो के लिए निशुल्क बस सर्विस, ट्रेन यात्रा इत्यादि सेवाए उपलब्ध है |
  • विकलांग सशक्ति योजना मे बिहार के विकलांगो के लिए शिक्षा एंव रोजगार की सुविधा भी दी जाएगी |
  • इस योजना से विकलांगो को दैनिक खर्च के लिए वित्तीय सहायता के लिए सुविधा दी जाएगी |
  • इस योजना से विकलांग छात्रो को छात्रवृत्ती का भी लाभ प्राप्त होगा |
  •  इस योजना मे विकलांग को शिक्षा देने के साथ विकलांग प्रमाणपत्र भी दिया जाएगा |
  • इस योजना मे विकलांग स्कूल बनाना भी शामिल है |

SHARE THIS

Admin:

भारत एक ऐसा देश है जहां से हर गली, हर नुक्कड़ से अनगिनत कहानिया निकलती है और उन कहानियो को आप तक पहुंचाने मे मदद करता है केएमजीवेब . हमारे बारे मे अधिक जाने क्लिक से;?

1 comment:

  1. Business ke liye loan chahiye ye kaise milega

    ReplyDelete