1
विवाह मुहूर्त कैसे निकाले - शुभ शादी या शुभ विवाह मे मुहूर्त निकाला जाता है जिसके लिए लोग अपने घरो पर पंडित जी को बुलाते है और शादी का मुहूर्त निकालना पंडित जी की ज़िम्मेदारी होती है | लेकिन शादी या विवाह की तारीख की ज़िम्मेदारी आप बिना किसी पंडित के खुद ही निकाल सकते है | विवाह शादी का मुहूर्त कैसे निकालते है जानिए तरीका |

विवाह की शुभ तारीख निकालना हो तो उसके लिए वर वधू की जन्म कुंडली मिलाई जाती है और देखा जाता है कौन सी राशि वर वधू की समान है |
shadi ki taarikh 2018

विवाह मुहूर्त विधि नियम -

  • दूल्हा दुल्हन का जन्म जिस चंद्र नक्षत्र मे हुआ है उस नक्षत्र के चरण मे आने वाले अक्षर को भी विवाह की तारीख को निकालने या ज्ञात करने मे प्रयोग किया जाता है |
  • विवाह की तारीख हमेशा दूल्हा दुल्हन की कुंडली मे मिलान करने के बाद ही निकाला जाता है |
  • विवाह के मुहूर्त के लिए समय का निधारण किया जाता है वह वर-कन्या की राशियो मे शादी की एक समान तारीख को शादी मुहूर्त के लिए लिया जाता है |
  • वर और कन्या की कुंडलियों का मिलान जब कर लिया जाता है तो उसके बाद वर वधू की राशि मे जो तारीख समान होती है | उसे ही विवाह का शुभ मुहूर्त माना जाता है |
तो इस तरह से शादी की मुहूर्त निकाला जाता है यदि कोई प्रश्न हो तो पूछे शादी विवाह मुहूर्त के बारे मे जानना है तो सवाल करे जैसे - कब होगी शादी, शादी की तारीख निकालना इत्यादी |
  • Pls Share

Post a Comment