रैगिंग क्या है जानिए

आपने रैगिंग का नाम तो सुना होगा लेकिन रैगिंग क्या है कौन करता है रैगिंग आइये जाने |
12वीं कक्षा के परिणाम घोषित होने वाले है। जिसके बाद बच्चे अपनी रुचि अनुसार कोरस चुनेगें। कुछ बच्चे रेगूलर कालेज करेंगे, कुछ नोन-कालेज करेंगे. यह समय इन बच्चों के लिए बहुत कीमती होता है। 

इस समय का लिया फैसला उनका भविष्य तय करता है। बच्चे भी बड़े उत्साहित होते है। नया कालेज, नयी पढ़ाई सब नया। ऐसे में जब नये students को रेंगिग का सामना करना पड़े तो कितना बुरा लगता है। रैंगिग इस समय की सबसे बड़ी बुराई है। और यह अब तो कालेजों तक ही सीमित नहीं रह गई है। अब तो स्कूलों में भी यह सब होना शुरू हो गया है। आखिर क्या है? यह रैंगिग। कहने को तो यह नये students के साथ जान-पहचान है। 
ragging apradh hai

परंतु अब तो इसने बड़ा भयानक रूप ले लिया है। अब तो पुराने students नये students को बहुत परेशान करते है। नये-नये, अजीब-अजीब काम करवाते है। पहले रेंगिग के नाम पर थोड़ा सा हंसी, मजाक, थोड़े से मनोरंजन, सीनियर छात्रों के प्रति सम्मानजनक व्यवहार हुआ करता था। परंतु अब इसका रूप भयानक हो गया है। रैगिंग अपशब्द बोलना, नशा कराना, यौन उत्पीड़न, कपड़े उतरवाना जैसे घृणित स्तर तक पहुंच चुकी है। जिसके कारण नये students को काफी तकलीफ होती है। वह कालेज आने से डरने लगते हैं |

कई बार यह रैंगिग इतनी गलत तरीके से होती है कि बच्चे या तो डिपरेशन में चले जाते है या तो आत्महत्या जैसा बड़ा कदम उठा लेते है। इन सब से बच्चे तो परेशान होते ही है इनके साथ-साथ उनके माता-पिता व पूरा परिवार परेशान हो जाता है। खासकर होस्टल में तो और भी बुरा हाल होता है। इन सब को देखते हुए सरकार ने इसके खिलाफ कड़े कानून बनाये है। इस सबको रोकने के लिये सरकार के साथ-साथ सभी शिक्षण संस्थानों को भी कड़े कदम उठाने चाहिए। 
  1. सभी स्कूलों और कालेजों में एंटी रैंगिग सेल बनने चाहिए। जहाँ पीड़ित छात्र व छात्राएं अपनी परेशानियाँ बिना किसी डर कर बता सके। और दोषी students को सजा मिल सके। 
  2. जगह-जगह पर सी. सी. टी. वी कैमरे लगे होने चाहिए। ताकि यह पता चलता रहे कि कहाँ क्या हो रहा है। 
  3. कुछ टीचरस की डयूटी लगानी चाहिए ताकि कोई भी किसी को भी परेशान न कर सके। 
  4. और साथ ही बड़े students को समझना चाहिये कि मजाक, मजाक के हद तक होना चाहिये और अंत में सभी से मैं यह निवेदन करना चाहती कि किसी के साथ भी किसी भी तरीके का गलत मजाक न करे |
SHARE

Milan Tomic

Hi. I’m Designer of Blog Magic. I’m CEO/Founder of ThemeXpose. I’m Creative Art Director, Web Designer, UI/UX Designer, Interaction Designer, Industrial Designer, Web Developer, Business Enthusiast, StartUp Enthusiast, Speaker, Writer and Photographer. Inspired to make things looks better.

  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
  • Image
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 Comments:

Post a Comment