0
महात्मा गांधी का जीवन परिचय, महात्मा गाँधी जयंती पर कविता, गाँधी जयंती पर निबंध भाषण |
MAHATMA GANDHI JAYANTI PAR KAVITA BHASHAN JIVAN PARICHAY - महात्मा गांधी की जयंती नजदीक आ रही है ऐसे मे आज मोहनदास करम चंद गाँधी का जीवन परिचय और गाँधी जयंती पर कविता poem भाषण के बारे मे जानकारी देने जा रहे है |


gandhi jayanti kavita

गाँधी जयंती पर कविता GANDHI JAYANTI POEM HINDI

मेरे नाम को सेकुलरिज़्म का मुखोता बना दिया है तुमने
मुझे सत्ता पाने का जरिया बना दिया है तुमने
गांधी गांधी के जाप से अपने स्वार्थो की पूर्ति की है |
तुमने नोट वाले गांधी से मोहब्बत की है तुमने
स्वार्थ और मक्कारी की इबादत की है तुमने 
हर पल हर दिन मेरे नाम की हत्या की है तुमने 
मेरे नाम पर वोट बैंक की राजनीति की है तुमने
गांधीवादी पैकट मे नकली सपने बेचे है तुमने
अपने स्वार्थो की पूर्ति के लिए, गांधी को भारत से बड़ा
बना दिया है तुमने गांधी के नाम के बहाने,
क्रान्तिकारियों के बलिदानो को को भुला दिया है तुमने
युवा भारत को अहिंसा के नाम पर ननपुंसक बना दिया है तुमने
हे भगवान मेरे भारत को इन गांधीवादियो से बचा
लो भारत के युवाओ को फिर से राष्ट्रपूजा सीखा दो
मेरे नाम को अब और बिकने से बचा लो |

गांधी जयंती की शुभकामनाए

महात्मा गांधी का जीवन परिचय - 
महात्मा गांधी जिनका पूरा नाम मोहनदास करम चंद गांधी है | गांधी जी को लोग प्यार से बापू नाम से भी जानते है | गांधी जी जन्म 2 अक्टूबर 1869 मे गुजरात के पोरबंदर मे हुआ था | गांधी जी के पिता का नाम करम चंद गांधी और माता का नाम पुतली बाई | गांधी जी की पत्नी का नाम कस्तूरबा गांधी और बच्चो के नाम - हरीलाल, मणिलाल, रामदास, और देवदास |  गांधी से वकालत का अध्ययन किया था |
गांधी जी ने स्वतंत्रा सेनानी का कार्य किया. गांधी जी ने कई आंदोलन किए जिनमे से कुछ के नाम - असहयोग आंदोलन, भारत छोड़ो आंदोलन, हरिजन आंदोलन, दक्षिण अफ्रीका मे आंदोलन, नमक सत्यागृह इत्यादि | गाँधी जी को राष्ट पिता की उपाधि दी जाती है |

गांधी जयंती पर निबंध

गांधी जयंती हमारे भारतवर्ष मे राष्ट्रिय त्योहार के रूप मे मनाया जाता है | यह हर साल 2 अक्टूबर को मनाया जाता है | क्योकि इसी दिन भारत के राष्ट्रपिता गांधी जी का जन्म हुआ था |  इस दिन जयंती का आयोजन बापू जी को सम्मान देने के लिए मनाया जाता है |

गांधी जी अहिंसा के मार्ग पर चलते थे और अपने जीवन मे इसी रास्ते पर चलकर भारत देश को आजादी दिलाई | इसलिए आज पूरा भारत गांधी जी को शांति और सच्चाई के प्रतीक के रूप मे भी याद करता है |

गांधी जयंती एक राष्ट्रिय पर्व है इसलिए इस दिन पूरा भारत जैसे _ स्कूल< कालेज< सरकारी एंव गैरसरकारी कार्यालय इत्यादि बंद रहते है |  गांधी जी का जीवन सादा जीवन और उच्च विचारो से भरा था और यही सीख आने वाले पीड़ियों को भी लेना चाहिए |  गांधी जी धूम्रपान और मदिरा के खिलाफ थे | इस वजह से गांधी जयंती के दिन शराब की बिक्री बंद रहती है | गांधी जी ने ब्रिटिश शासन से भारत की स्वतन्त्रता के लिए अहिंसा आंदोलन की शुरुवात की थी | गांधी जयंती की आप सभी को बहुत बहुत बधाई  |
  • Pls Share

Post a Comment