भाग्यवान और धनवान बनने हेतु 10 अचूक टोटके

धनवान बनना चाहते है लोग लेकिन धनवान कैसे बने जब भाग्यवान और धनवान बनने हेतु 10 अचूक टोटके पता ही नहीं हो धनवान बनने के उपाय मंत्र टोटका अजमाए तरीके

क्या आप भाग्यवान और धनवान बनने हेतु 10 अचूक टोटके जानना चाहते है ? एक धनवान व्यक्ति अपने को भाग्यवान समझता है लेकिन धनवान कैसे बने ? धनवान बनना चाहते है तो धनवान बनने के मंत्र उपाय तरीके अजमाए फिर देखे आप धनवान कैसे बन जाते है.

धनवान कौन होता है ?

एक ऐसा व्यक्ति जिसके पास धन दौलत रुपया पैसा गाड़ी बँगला किसी चीज की कमी न हो उसे समाज में लोग धनवान समझते है और ऐसे ही व्यक्ति को धनवान कहा जाता है . हर इंसान ढेर सारे पैसे की चाह रखता है और पैसे को पाने के लिए जी तोड़ काम या मेहनत करता है लेकिन इतने मेहनत समय गुजरने के बाद भी सफलता की प्राप्ति नहीं हो मिलती तो आपको जानने चाहिये शास्त्रो मे क्या लिखा है धनवान कैसे बने के उपाय के बारे मे | यह उपाय आपकी सफलता के बीच आ रहे रुकावट को दूर कर सफकता पाने मे आपकी मदद करेगी लेकिन यह उपाय आपको सच्चे मन और आस्था से करना होगा | हम जो उपाय तरीके बता रहे है वह पुरानी मान्यताओ पर आधारित है



भाग्यवान और धनवान बनने हेतु 10 अचूक टोटके
  • धनवान बनने की सोच रहे है तो सबसे पहले धन बचाने की भी सोचे यह जरूरी है लेकिन कई बार धन बचाने की कोशिश करने के बाद भी धन नहीं बच पता मतलब कई आचनक से वाले खर्चे आपका बजट बिगाड़ देता है |

  • आज के युग मे लोगो का मानना है कि पैसे ही सब कुछ है इसलिए हर व्यक्ति धनवान बनना चाहता है | लेकिन ध्यान रहे अगर कोई व्यक्ति धनवान बनता है तो अपने कर्म और परिश्रम से ही बन पाता है साथ ही कहते है धन हमे साधन तो दे सकता है लेकिन खुशी नहीं |
  • साधन की चाह हर कोई रखता है इसका कारण वह व्यक्ति मेहनत नहीं करना चाहता तो आपको बता दे बिना किसी मेहनत के अपने कर्म और दिनचर्या मे को परिवर्तित कर आप या कोई भी धनवान बन सकता है लेकिन इसके लिए आपको मजबूत या दृढ़ बनना होगा |

भाग्यवान और धनवान बनने हेतु 10 अचूक टोटके

बड़े बुजर्गों का आदर करे और खुद पर विश्वास करे
आपके विचार बनाते है आपको अमीर तो सबसे पहले आप धन्यवाद बोलने या कहने की आदत डालनी होगी लेकिन बदले मे जरूरी नहीं है आपके सामने वाला व्यक्ति आपसे अच्छा व्यावहार करेया आपकी मदद करे | मतलब बुरे व्यक्ति के साथ भी आप अच्छा व्यवहार करे.

धनवान बनने की चाह है अगर तो सबसे पहले आप खुद को धनवान मानना शुरू करे क्योकि आप जो खुद को मानेगे वही आपको प्राप्त होगा साथ ही अपने घर को वास्तु नियमो के अनुसार बदले जैसे - पूजा के स्थान पर माता लक्ष्मी की प्रतिमा स्थापित करे.

शंख को घर मे स्थापित करे या रखे -
आपको पता ही है समुन्द्र मंथन मे 14 रत्नो की प्राप्ति हुई थी उसमे से शंख भी है और यह लक्ष्मी जी के साथ पाया गया था और इस कारण शंख को लक्ष्मी भ्राता भी कहा जाता है साथ ही शंख का प्रयोग हर पूजा मे किया जाता है | शंख की ध्वनि पवित्र ध्वनि मानी जाती है और इसके रखने से घर मे सुख शांति का वास होता है.

माँ लक्ष्मी का प्रतीक पीली कौड़िया 
लक्ष्मी जो को धन प्राप्ति का प्रतीक माना जाता है और इस वजह से हिन्दू धर्म मे उनसे जुड़ी हुई हर वस्तु का विशेष महत्व होता है | माँ लक्ष्मी का प्रतीक कौड़ियो का विशेष महत्व है इलसिए कौड़ियो को केसर के घोल मे भिगोकर अपनी तिजोरी मे रखे साथ ही नारियल की पूजा करे और उसे चमकीले कपड़े मे लपेटकर कौड़ियो के समपी रखे.

दूरभाग्य से बचे
अगर आपमें शारीरिक दोष, वास्तु दोष और कर्म दोष है तो आपको बता दे इन सबसे दुर्भाग्य का निर्माण होता है इसलिए शरीर के सभी छिद्रों को भली भाति साफ़ करे. घर के शौचालय और स्नान घर को भी साफ़ सुथरा बनाए साथ ही आपको अपने कर्मो को अच्छा बनाये और ऐसा कोई कर्म न करे जिससे आपको पछताना पड़े. घर में धुपबत्ती जलाए या फिर ऐसी अगरबत्ती का इस्तेमाल करे जिसमे लकड़ी की तिल्ली लगी हो .

पंछी को स्वतंत्र करे
अगर आपके पास कोई पंछी है जो पिंजरे में बंद है तो आप उन्हें आजाद करदे साथ ही अगर कोई व्यक्ति आपके सामने किसी पंछी को पिंजरे में ले जा रहा है तो उसे भी आजाद करवाने की कोशिश करे. यह करके आप देखे इस तरह से आपके कर्ज ख़त्म हो जाते है और अगर आपने किसी पक्षी को पिंजरे में रखा है तो आप आज या कल कर्जा में डूबने वाले है.

धनवान बनने के लिए उपाय धन का नुक्सान होने से बचे 

अगर आपका धन बेवजह नुकसान में चला जा रहा है या धन चोरी या गायब हो रहा है तो आप रोजाना सुबह उठकर नीम के लकड़ी का दातुन करे साथ ही रात में किचन में जूठे बर्तन न रखे उत्तर दिशा में बैठकर ही भोजन करें और भोजन की थाली में हाथ न धोएं.

एकादशी का व्रत रखें 
हिन्दू धर्म में एकादशी और प्रदोष का व्रत रखने के पीछे का विज्ञान यह कि यह आपके चंद्र और शनि के खराब असर को बेअसर कर शुभ में बदल देता है। प्रत्येक पक्ष (शुक्ल और कृष्ण पक्ष) के ग्यारस और त्रयोदशी को विधिपूर्वक व्रत रखेंगे तो निश्‍चित ही आपके ‍जीवन से निर्धनता और सभी तरह के संकट दूर हो जाएंगे.


SHARE THIS

Admin:

भारत एक ऐसा देश है जहां से हर गली, हर नुक्कड़ से अनगिनत कहानिया निकलती है और उन कहानियो को आप तक पहुंचाने मे मदद करता है केएमजीवेब . हमारे बारे मे अधिक जाने क्लिक से;?

0 comment: