गैर सरकारी संगठन क्या है pdf | NGO kya hai

गैर सरकारी संगठन क्या है pdf | NGO kya hai

गैर सरकारी संगठन pdf - आपको बता दे, गैर सरकारी संगठन जिसे इंग्लिश में non government organization यानी NGO के नाम से जाना जाता है, लेकिन यह NGO [ गैर सरकारी संगठन ] क्या होता है ? NGO के उद्देश्य क्या होते है ? आज हम आपको बताने जा रहे है.
ngo ke kaam ngo ke uddeshya ngo name search ngo name list ngo name selection ngo ke naam in hindi ngo name suggestion in hindi ngo name list in delhi meaningful names for ngo in english ngo in india wiki.

NGO क्या होता है | NGO kya hota hai ?

NGO एक ऐसा संगठन है जिसका उद्देश्य समाज का कल्याण करना होता है NGO का विकास अमेरिका में किया गया था क्योंकि America में सरकार के अलावा बहुत से सामाजिक कार्य इन संगठनों के द्वारा किये जाते है। यह ऐसा संगठन है जिसे कोई भी व्यक्ति चला सकता है यह एक व्यक्ति के द्वारा नही चलाया जा सकता इसे 7 या इससे अधिक व्यक्तियों का समूह मिलकर चलाते है।

एनजीओ की शुरुवात कोई भी व्यक्ति कर सकता है लेकिन उसका उद्देश्य लोगो की भलाई का होना चाहिए मतलब समाज के कल्याण हेतु कोई भी व्यक्ति ngo की शुरुवात कर सकता है.

gair sarkari sangathan


NGO [ एनजीओ ] के उद्देश्य क्या होते है ?

हमने आपको पहले ही बताया एनजीओ के उद्देश्य लोगो और समाज के भलाई के लिए काम करना है इसलिए समाज में ऐसे बहुत से कार्य है जिसे करना ngo के उद्देश्य में शामिल किया जाता है जैसे - हम कुछ ngo के द्वारा किये गए कार्यक्षेत्रो के बारे में आपको बता रहे है -

  • महिलाओं के सर्वागीण विकास हेतु व्यावसायिक प्रशिक्षण लघु ग्राम उद्योग, गृह उद्योग की स्थापना करना एवं स्वयं सहायता समूह का गठन करना। 
  • संस्था द्वारा गरीब अविवाहित युवतियों के विवाह सम्पन्न करने के लिए हर सम्भव प्रयास करना। 
  • समय पर गरीब बच्चो और गरीबों को निःशुल्क भोजन करवाने व निःशुल्क वस्त्र वितरण का प्रयास करना तथा शिक्षा व चिकित्सा में उनकी सहायता हेतु हर सम्भव मदद करना । 
  • दहेज, छुआछुत, मद्यपान, दहेज प्रथा, निरक्षरता, बाल विवाह, बधुआ मजदूरी, वैश्यावृति सामाजिक कुरीतियों के विरूद्ध जनजागरण एवं निवारण करना। 
  • बाल मजदूर को मजदूरी से छुटकारा दिलाना तथा उन्हें स्वावलम्बी बनाने के लिए शिक्षण की व्यवस्था कर एक समृद्ध समाज बनाने का प्रयास करना तथा बेटी बचाओं बेटी बढ़ाओं के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करना तथा उनकी हर सम्भव मदद करना। 
  • फिल्माकंन निर्देशांकन, लेखांकन, नृत्यागंन सामाजिक स्तर का सांस्कृतिक कार्यक्रम का संचार करना एवं करवाना।
  • बालक/बालिकाआंे के विकास एवं उत्थान हेतु गायन, नृत्य तथा अभिनय का शिक्षण-प्रशिक्षण देना एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमांे का आयोजन करना। 
  • कुटीर उद्योग को बढ़ावा देने हेतु जनता को जागरुक करने का प्रयास करना। शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता पैदा करना तथा स्वच्छ भारत अभियान के तहत कार्य करना तथा शुद्ध पेयजल की व्यवस्था करना। 
  • समाज के विभिन्न वर्गो से निष्कासित तलाकशुदा, वृद्ध, विधवा निराश्रित महिलाओं, बालक/बालिकाओं के रख-रखाव एवं देख-रेख निःशुल्क शिक्षण-प्रशिक्षण, पुनर्वास की व्यवस्था संबंधित कल्याणकारी विभिन्न योजनाओं का प्रचार-प्रसार करना। 
  • राष्ट्रीय विकास एवं समाज सेवा कार्यक्रमों के संचालन में सहयोग देना जैसे-परिवार कल्याण, महिला शिक्षा, वृक्षारोपण, साक्षरता मिशन विकलांग कल्याण, पोलियों अभियान, परिवार नियोजन, जनसंख्या नियंत्रण, प्रौढ़ शिक्षा, पर्यावरण संरक्षण एवं प्रदूषण नियंत्रण कार्यक्रमों का प्रचार-प्रसार करना।
इस तरह के कार्यो को ही एनजीओ के उद्देश्य कहा जा सकता है. अगर आप NGO के बारे में अधिक जानना चाहते है तो कमेन्ट में अपना सवाल लिख सकते है.
भारत के प्रमुख ngo के naam | NGO in india

भारत के प्रमुख ngo के naam | NGO in india

आज हम आपको भारत के प्रमुख ngo के नाम बताने जा रहे है लेकिन उससे पहले आप को बता दे ngo क्या है ? ngo के क्या क्या कार्य है ? और ngo के उद्देश्य क्या होते है ? 

ngo ke uddeshya ngo ke kaam ngo ke naam ngo ke karya in hindi ngo sanstha information in marathi ngo ke kaam in hindi ngo ke liye project ngo sanstha in marathi

एनजीओ के लिए फंड कैसे प्राप्त करे ?
एनजीओ की शुरुवात कैसे करे ?

एनजीओ NGO क्या होता है ?

एक ऐसी संस्था या संगठन जो समाज में सामाजिक कल्याण का कार्य करता हो उसे हम एनजीओ के नाम से जानते है. NGO की शुरुवात कोई भी व्यक्ति कर सकता है लेकिन संगठन यानी समूह का होना जरुरी होता है.

यदि व्यक्तियों का समूह या समुदाय कोई सामाजिक सुधार या कल्याण का काम करना चाहता है तो वो रजिस्टर या बिना रजिस्टर किये स्वयं सेवी संस्था (NGO) के द्वारा इस कार्य को कर सकता हैं. रजिस्टर्ड एनजीओ से समाज सेवी कार्य करने पर आप सरकार और अनुदानदाता संगठन से आर्थिक सहायता ले सकते हैं. यदि कोई समाज सेवी संस्था आर्थिक सहायता न लेना चाहे तो वह सामजिक कल्याण का कार्य बिना रजिस्टर्ड किये भी कर सकता हैं.

ngo in india

एनजीओ NGO के उद्देश्य क्या होते है ? ngo ke uddeshya

  • महिलाओं के सर्वागीण विकास हेतु व्यावसायिक प्रशिक्षण लघु ग्राम उद्योग, गृह उद्योग की स्थापना करना एवं स्वयं सहायता समूह का गठन करना। 
  • संस्था द्वारा गरीब अविवाहित युवतियों के विवाह सम्पन्न करने के लिए हर सम्भव प्रयास करना। 
  • समय पर गरीब बच्चो और गरीबों को निःशुल्क भोजन करवाने व निःशुल्क वस्त्र वितरण का प्रयास करना तथा शिक्षा व चिकित्सा में उनकी सहायता हेतु हर सम्भव मदद करना । 
  • दहेज, छुआछुत, मद्यपान, दहेज प्रथा, निरक्षरता, बाल विवाह, बधुआ मजदूरी, वैश्यावृति सामाजिक कुरीतियों के विरूद्ध जनजागरण एवं निवारण करना। 
  • बाल मजदूर को मजदूरी से छुटकारा दिलाना तथा उन्हें स्वावलम्बी बनाने के लिए शिक्षण की व्यवस्था कर एक समृद्ध समाज बनाने का प्रयास करना तथा बेटी बचाओं बेटी बढ़ाओं के प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करना तथा उनकी हर सम्भव मदद करना। 
  • फिल्माकंन निर्देशांकन, लेखांकन, नृत्यागंन सामाजिक स्तर का सांस्कृतिक कार्यक्रम का संचार करना एवं करवाना।
  • बालक/बालिकाआंे के विकास एवं उत्थान हेतु गायन, नृत्य तथा अभिनय का शिक्षण-प्रशिक्षण देना एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमांे का आयोजन करना। 
  • कुटीर उद्योग को बढ़ावा देने हेतु जनता को जागरुक करने का प्रयास करना। शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता पैदा करना तथा स्वच्छ भारत अभियान के तहत कार्य करना तथा शुद्ध पेयजल की व्यवस्था करना। 
  • समाज के विभिन्न वर्गो से निष्कासित तलाकशुदा, वृद्ध, विधवा निराश्रित महिलाओं, बालक/बालिकाओं के रख-रखाव एवं देख-रेख निःशुल्क शिक्षण-प्रशिक्षण, पुनर्वास की व्यवस्था संबंधित कल्याणकारी विभिन्न योजनाओं का प्रचार-प्रसार करना। 
  • राष्ट्रीय विकास एवं समाज सेवा कार्यक्रमों के संचालन में सहयोग देना जैसे-परिवार कल्याण, महिला शिक्षा, वृक्षारोपण, साक्षरता मिशन विकलांग कल्याण, पोलियों अभियान, परिवार नियोजन, जनसंख्या नियंत्रण, प्रौढ़ शिक्षा, पर्यावरण संरक्षण एवं प्रदूषण नियंत्रण कार्यक्रमों का प्रचार-प्रसार करना।

भारत के प्रमुख ngo के naam | NGO in india

देवी अहल्याबाई स्मारक समिति नागपुर – यह भारत की वनवासी लड़कियों के लिए नि:शुल्क छात्रावास है। एक प्री-नर्सरी स्कूल, होम्योपैथिक और आयुर्वैदिक चिकित्सा व्यवस्था के अलावा स्वदेशी वस्तु भंड़ार भी चलाया जा रहा है। 

संघमित्रा सेवा प्रतिष्ठान, नागपुर -- श्री शक्तिपीठ - नागपुर, भारतीय स्त्रीजीवन विकास परिषद - ठाणे, गृहिणी विधाल – माहिम एवं उज्जवल मंडल कल्याण माहिम और कल्याण के केंद्रों में वनवासी महिलाओं को नर्सिंग का फ्री प्रशिक्षिण दिया जाता है। अनेक वनवासी बहनें यहां से प्रशिक्षिण लेकर आज अनेक अस्पतालों में नर्स हैं। इनमें से कई अपने गांवों में वापस जाकर रोगियों की फ्री सेवा करती हैं । 

छतीसगढ़ के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों की अनाथ बालिकाओं के लिए नि:शुल्क छात्रावास और पढ़ाई की व्यवस्था समिति व्यापक स्तर पर करती है। 

तेजस्विनी सेवा प्रतिष्ठान बिलासपुर कुष्ठरोगियों की स्वस्थ बालिकाओं के लिए बिलासपुर के छात्रावास में विशेष व्यवस्था की गयी है। जहां इनके माता-पिता का इलाज कराया जाता है और प्रतिष्ठान की ओर से इन्हें जीवन की उम्मीद भरी राह दिखायी जाती है। 

यशस्विनी कन्या छात्रावास रायपुर यशस्विनी कन्या छात्रावास, रायपुर में नक्सली हिंसा से प्रभावित क्षेत्रों की लड़कियों को जीवन की नयी आशा दी गयी। वैसी लड़कियां जो अपने माता-पिता को खो चुकी हैं, वो लड़कियां नए सिरे से अपना जीवन शुरू कर चुकी हैं। 

मध्यप्रदेश के जबलपुर में शिशु ज्ञान मंदिर में छात्र-छात्राओं को नाममात्र की फीस में पहली कक्षा से दसवीं तक उंच एवं अच्छी शिक्षा दी जा रही है।

ngo ke uddeshya ngo ke kaam ngo ke naam ngo ke karya in hindi ngo sanstha information in marathi ngo ke kaam in hindi ngo ke liye project ngo sanstha in marathi
ngo kaise banaye registration in delhi

ngo kaise banaye registration in delhi

ngo kaise banaye registration in delhi - अगर आपको सामाजिक कार्य करना पसंद है इसलिए ngo kaise banaye and ngo registration in delhi इत्यादि | इत्यादि के बारे मे जानकारी चाहते है तो आज हम ngo box jobs in india for freshers या ngo kaise बनाए के बारे मे बता रहे है | एनजीओ के बारे मे ऑनलाइन खोज किए गए सवाल |

यह पढे -


ngo jobs in india for freshers health ngo jobs government ngo jobs qualification for ngo jobs ngo jobs in lucknow ngo jobs in bihar international ngo jobs india ngobox jobs

खुद का NGO बनाना चाहते हो तो बनाए ऐसे

खुद ही एनजीओ की शुरुवात करने के बारे मे सोच रहे है लेकिन आपको idea नही है कि एनजीओ की शुरुवात कैसे करे तो इसके बारे मे हमने एक लेख बनाया है | जिसमे स्टेप स्टेप NGO की शुरुवात के लिए क्या क्या चाहिए इत्यादि के बारे मे पूरी जानकारी दी है | अगर आपको NGO start करना है तो यहा क्लिक से आप एनजीओ शुरू करने के स्टेप देख सकते है |

ngo kaise banaye registration in delhi

NGO registration Fee in Delhi

अगर आपको एनजीओ की शुरुवात करनी है इसके बारे मे जानकारी चाहते है तो आप हमे इन whatsapp number पर काल करके या whatsapp text sms भेजकर जानकारी हासिल कर सकते है | NGO खोलना एक सामाजिक कार्य है लेकिन NGO को open करने मे कुछ खर्च भी आते है |

Whatsapp - 08540099000
Whatsapp - 8540078000


ngo box jobs in india for freshers

अगर आप एक एनजीओ मे जॉब्स और नौकरी करना है एक सामाजिक कार्य करता के रूप मे तो आप हमे अपना नाम पता और पूरा biodata भेजे | हम जल्दी ही आपके शहर के ngo मे आपको जोड़ने का प्रयास करेनेग | अगर आपका कोई सवाल है एनजीओ के लिए तो हमे लिखे | हम जल्दी आपको एक बढ़िया प्रतिक्रिया या सुझाव देंगे |
NGO क्या है एनजीओ की शुरवात कैसे करे

NGO क्या है एनजीओ की शुरवात कैसे करे

एनजीओ क्या है ?? NGO kya hai ngo ragistration kaise kare
एनजीओ क्या है और एनजीओ की शुरुवात या रजिस्ट्रेशन कैसे करे जैसे सवाल अकसर इन्टरनेट पर सर्च किया जाता है तो आज हम NGO kya Hai और NGO के बारे मे पूरी जानकारी देने जा रहे है फिर भी आपका कोई सवाल हो NGO के लिए तो सवाल जवाब कर सकते है 


ngo photo

NGO का पूरा नाम Non Government Organization होता है एनजीओ को सामाजिक कार्य हेतु बनाया जाता है एनजीओ को सरल भाषा मे गैर सरकारी संगठन कहा जाता है | जिसमे सरकार कोई हस्तक्षेप नहीं करती है साथ NGO बिना Business Profit Propose के लिए बनाया जाता है | एनजीओ की शुरुवात सामान्य या आम आदमियो द्वारा किया जाता है या सरकार द्वारा या फिर बिजीनेस फाउंडेशन द्वारा स्थापित किया जा सकता है | सरल भाषा मे कह सकते है बिना किसी लाभ या स्वार्थ के सामाजिक कार्यो या लोगो की भलाई करने वाली संस्था एनजीओ कहलाती है और इस कार्य को करने के लिए सरकार या धनी संस्था से अनुदान प्राप्त करती है | भारत मे लगभग 2 मिलियन एनजीओ संगठन है और यूनाइटेड स्टेट मे लगभग 1.5 मिलियन एनजीओ संगठन है साथ ही आज एनजीओ की संख्या बढ़ती जा रही है |



एनजीओ - NGO की शुरवात अमेरिका से हुई | अमेरिकी सरकार बहुत से सरकारी कार्य खुद करने के बजाय नॉन ओर्गेनाइजेशन संगठन के माध्यम से अनुदान देकर करवाती है |

एनजीओ विशेष - कोई 1 व्यक्ति द्वारा एनजीओ नहीं खोला जा सकता | एनजीओ की शुरुवात एक संस्था के रूप मे पंजीकृत होने के बाद किया जा सकता है | हिंदुस्तान के सभी एनजीओ सोसायटीज एक्ट के अंतर्गत बनाए जाते है |

एनजीओ की रजिस्ट्रेशन कैसे करे


किसी के भी द्वारा 7 या अधिक लोग मिलकर एक सोसायटी बना सकते है फिर सोसायटी एक्ट के तहत एनजीओ या सामाजिक संस्था की शुरुवात या पंजीकरण कावा सकते है | लेकिन सोसायटी बनाने के लिए यह साफ या स्पष्ट करना जरूरी होता है की संगठन की कार्यकारी समिति कैसे बनेगी और काम कैसे करेगी या फिर संस्था के लिए धन को कैसे एकत्रित किया जाएगा साथ धन प्राप्ति को खर्च कैसे किया जाएगा इत्यादि | मतलब आपको इसके लिए नियम तैयार करना होता है और फिर रजिस्ट्रेशन करवाना होता है |
खुद का NGO बनाना चाहते है तो बनाए ऐसे
एनजीओ का रजिस्ट्रेशन - सभी राज्य मे एनजीओ का रजिस्ट्रेशन और मान्यताए भिन्न भिन्न होती है | इसलिए अपने राज्य के नियम का पालन करे |



उत्तर प्रदेश में एनजीओ पंजीकरण कार्यालय
अगर आप उत्तर प्रदेश मे रहते है तो आप निम्न पते पर पहुच कर एनजीओ रजिस्ट्रेशन करवा सकते है - अल्पसंख्यक कल्याण विभाग, कलेक्ट्रेट अलीगढ़, उत्तर प्रदेश 202001
एनजीओ के लिए महत्वपूर्ण जानकारी -
एनजीओ के गठन के लिए जरूरी -

  • कम से कम 7 सदस्य होने जरूरी है
  • एनजीओ बनाने के लिए बैठक करनी पड़ती है साथ ही बैठक मे एनजीओ का लक्ष्य, उद्देश, के अलावा अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव, कोषाध्यक्ष, सलाहकार, सदस्य आदि तह करने होते है |
  • बैठक मे एनजीओ के गठन का प्रस्ताव करना होता है साथ ही प्रस्ताव पर सभी सदस्यो के हस्ताक्षर और एनजीओ का नाम और गठन की तारीख भी होनी चाहिए |
  • चैरिटी कमिश्नर या असिस्टेंट चैरिटी कमिश्नर के दफ्तर से आवेदन के लिए फार्म खरीदना होता है |
फार्म के साथ डॉकयुमेंट चाहिए -
  • अध्यक्ष या सचिव के नाम पावर ऑफ अटॉर्नी 
  • एनजीओ के सभी सभी सदस्यो या ट्रस्टियो का सहमति पत्र इसके लिए प्रस्ताव देना होता है |
  • जिस पते पर एनजीओ रजिस्टर किया जा रहा है उस भवन के मालिक का अनापत्ति प्रमाण पत्र भी जरूरी होता है |
  • एक 20 रुपए के नान ज्यूडिशियल स्टेम्प पर एनजीओ की सभी चल और अचल संपत्तियो का ब्योरा देना होता है |
  • यह सब होने के बाद दफ्तर मे रजिस्ट्रेशन ऑफ सोसायटीज एक्ट राज्यो के पब्लिक ट्रस्ट के तहत आवेदन किया जाता है |
  • रजिस्ट्रेशन के बाद खाता खुलवाना पड़ता है जिसमे आर्थिक मदद के आए हुए पैसे को जमा किया सके |
  • सोसायटी रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट 1 महीने मे और ट्रस्ट के लिए 2 महीने का समय लग सकता है |
एनजीओ के लिए funding कैसे प्राप्त करे

एनजीओ के लिए funding कैसे प्राप्त करे

ngo ke liye funding - एनजीओ कैसे बनाए इसके बारे मे पहले ही जानकारी आपको दी गई है यहा क्लिक से पढे और आज हम आपको NGO के लिए Funding कैसे प्राप्त करे के बारे मे जानकारी दे रहे है | अगर आप किसी कार्य को अच्छे ढंग से करते है तो उसमे आपको सफलता जरूर मिलेगी ठीक ऐसे ही एनजीओ चलाने के लिए Funding की जरूरत होती है | तो कैसे प्राप्त करे fund.


ngo kaise banaye

NGO के लिए fund कैसे पाये -

एक एनजीओ के लिए fund जुटाने के लिए आपको कई तरह के कार्य करने की जरूरत है जैसे -
  • एनजीओ की वैबसाइट बनाए
  • एनजीओ फंड के लिए प्राइवेट कंपनी से कांटेक्ट बनाए 
  • सरकारी फंड पाने के लिए एनजीओ का रजिस्ट्रेशन करे |
  • एनजीओ के लिए सहायता प्राप्त करने के लिए कार्यक्रम का आयोजन करे |
  • मीडिया से [ news channel ] संपर्क करे |
  • न्यूज़ पेपर मे विज्ञापन दे |
  • दूसरे बड़े एनजीओ से संपर्क बनाए |
  • एनजीओ के नाम पर किसी उत्पाद को बेचना और बदले मे सहायता राशि ले |

एनजीओ की वैबसाइट बनाए
आप जिस एनजीओ के लिए fund इकठ्ठा करना चाह रहे है उस एनजीओ के नाम से एक वैबसाइट जरूर बनाए | इससे आपके एनजीओ के बारे मे लोग जान सकेगे | एनजीओ की वैबसाइट पर आप अपने द्वारा किए हुए कार्यो के बारे मे बताए और आप क्या करना चाहते है जिसके लिए आपको पैसे की जरूरत है, उसका भी वर्णन करे और लोगो से अनुदान करने के लिए कहे | इस तरह से आपके NGO के बारे मे लोग जान सकेगे और आपको अनुदान राशि भी प्राप्त हो सकेगी |

एनजीओ के लिए PVT कम्पनी से कांटेक्ट करे -
आज के समय मे अधिकतर लोग समाज सेवा से जुड़ना चाहते है लेकिन सहाता आपको तब मिलटी है जब आपको लोगो का भरोसा जीत ले | जिसके लिए के बढ़िया NGO के नाम पर होना जरूई है | आप छोटे बड़े कम्पनी के पास काल और ईमेल करके उनसे एनजीओ की मदद के लिए कहे |

कुछ कंपनिया समाज सेवा जैसी प्रोजक्ट को पूरा करने के लिए छोटे NGO की मदद लेती है और प्रोजक्ट को पूरा करवाते है \ इसके लिए कंपनिया ऑनलाइन आवेदन करने के लिए NGO को मौका देती है तो ऐसी ही किसी कम्पनी मे आप आवेदन करके उनके प्रोजेक्ट करके को पूरा कर सकते है | अगर आपने अच्छा काम करके दिया तो आपको तो आपको हमेशा के लिए भी काम प्राप्त हो सकता है |

न्यूज़ पेपर मे विज्ञापन -
आप समाज मे सुधार लाना चाहते है लेकिन यह बात लोगो तक आपको पाहुचानी होगी और इसके लिए आप न्यूज़ पेपर मे विज्ञापन दे सकते है | ऐसे कई सारे न्यूज़ पेपर है जो समाज सेवा जैसे कार्यो के लिए फ्री मे विज्ञापन न्यूज़ पेपर मे देती है | जब आपकी बात लोगो तक जाएगी तो लोग आपसे जुड़ेंगे साथ ही आपकी मदद Fund का कुछ अंश देकर करेंगे |