दुनिया का विनाश कब होगा 2018 - 19 kalyug ka ant kab hoga

दुनिया का विनाश कब होगा 2018 - 19 kalyug ka ant kab hoga

दुनिया का विनाश कब होगा 2018 - 19 kalyug ka ant kab hoga कयामत meaning in hindi कयामत को लेकर बहुत सारी सारे सवाल इन्टरनेट पर सर्च किए जाते है जैसे कयामत कब आएगा, दुनिया कब खत्म हो जाएगी, दुनिया का अंत कब होगा, दुनिया का विनाश कब होगा, दुनिया मे प्रलय या तबाही कब होगी | तो आज हम धर्मो से जानेगे कयामत कब आएगा |

इस्लाम के अनुसार दुनिया का विनाश कब होगा 2018 - 2019 

ऐसा ही कुरान मे कहा गया है की जब कयामत नजदीक होगा तो सूर्या जमीन के इतना करीब आ जाएगा की धरती पीतल की बन जाएगी | इस्लामिक कुरान मे कयामत का जिक्र है | पवित्र कुरान मे बताया गया है की मुहर्रम की 10 वी तारीख [ इस्लामिक कलेंडर ] शुक्रवार का दिन होगा जब कयामत आएगी साथ ही एक प्रलय का जिक्र किया गया है जिसमे पैगंबर नूह अ. स, को को आदेश मिलता है की जल प्रलय होने वाला है एक नौका तैयार करो और सभी जाती के 2 - 2 नर मादाओ को लेकर बैठ जाओ |

कयामत कब आएगी इस पर एक मुफ़्ती साहब ने कहा की इस्लाम लोगो को अंधा नहीं बनाता या कोई नहीं जानता कयामत कब आएगीम, कौन से हालात मे आएगी और क्यो आएगी | मुफ़्ती साहब ने यह भी बतया की जब तक इस धरती पर एकेश्वर को मानने वाले लोग है है तब तक कयामत नहीं आ सकती है |
हदीस - कयामत का जिक्र हदीस मे मिलता है जब सूर्य पूर्व की बजाय पश्चिम से निकलेगा और आधा निकालने के बाद वह पुनः पूर्व से निकलेगा | एक अमेरिकी वेज्ञानिक मैगजीन डी ग्लेक्सी मे भी कही गई है | इस्लाम मे लोगो को गुमराह करने का काम नहीं किया किया गया है बल्कि इस्लाम मे सारी बाते बहुत ही सही ढंग से साफ सुथरी बताई गई है | लोगो को गुमराह कर दहशत फैलाना इंसानियत के खिलाफ है जैसा की हेराल्ड कैपिंग ने कुछ समय पहले कह दिया था जिससे काफी तहलका भी मचा की कयामत 21 मई को आने वाली है |

पुराण मे दुनिया के विनाश कब होगा ?

हिन्दू धर्म के लगभग सभी पुराणो के काल को 4 युग मे बांटा गया है हिन्दू धर्म के मान्यताओ के अनुसार जब 4 युग पूरे होते है तो संसार मे प्रलय आएगी क्योकि 4 युग पूरे हो जाने पर ब्रहमा सो जाते है और जब जागते है तो संसार को फिरसे निर्माण करते है फिर एक नए युग का आरंभ होता है |

महाभारत मे संसार के प्रलय का जिक्र -

महाभारत मे भी कलयुग संसार के प्रलय का जिक्र है जिसमे बताया गया है की यह कोई जल प्रलय नहीं होगा | यह प्रलय पृथ्वी पर बढ़ रही गर्मी से होगा | महाभारत के वनपीआरवी मे इसका उल्लेख मिलता है जिसमे कहा गया है की सूर्य का तापमान इतना तेज या बढ़ जाएगा की 7वो समुन्द्र और नदिया सुख जाएगी संवर्तक नाम की अग्री पृथ्वी को पाताल तक भस्म कर देगी  | वर्षा पूरी तरह से खत्म हो जाएगी, धरती के जीव और निर्जीव जल जाएँगे इसके बाद लगातार 12 वर्षो तक बारिश होगा जिससे सारी धरती जलमग्न हो जाएगा |




नास्त्रेस्देमस की भविष्यवाणी -

नास्त्रेस्देमस की भविष्यवाणी कुरान मे कही बात से मिलती जुलती है नास्त्रेस्देमस ने कहा मैं देख रहा हु की एक आग का गोला पृथ्वी की और बढ़ रहा है जो धरती को निगल जाएगा और कुरान मे भी कुछ ऐसा कहा गया है की सूर्य पृथ्वी के इतना करीब कयामत के समय आ जाएगा की धरती को खत्म कर देगा | नास्त्रेस्देमस ने एक बात और लिखी 1 आग का गोला समुन्द्र मे गिरेगा और सारी पुरानी सभ्यताओ को यानि पूरे दुनिया को खत्म कर देगा |

दुनिया का विनाश यानि कयामत कब आएगा ?


दुनिया के अंत को लेकर वैज्ञानिकों की अवधारणा है की जब भी सूर्य का अंत होगा उसी समय दुनिया का अंत निश्चित है | पृथ्वी की उत्पत्ति वैज्ञानिको के अनुमान से 4 से 5 साल अरब पहले हुआ जब हमारा सौर मण्डल बना | सौर मण्डल मे बृहस्पति के 63 उपग्रह हैं, शनि के 56 उपग्रह हैं, युरेनस के 27, नैप्च्यून के 13, मंगल के 2 , पृथ्वी का 1 और शुक्र व बुध के कोई उपग्रह नहीं है और यह तब तक घूमते रहेंगे जब तक सूर्य मौजूद है | सूर्य के गर्भ मे जो नाभकीय विखंडन चल रहा है उसी से सारे नक्षत्र को ऊर्जा प्राप्त होती है | जब तक सूर्य के पास नाभकीय ईधन है तब तक सूर्य जलता रहेगा | जब नाभकीय ईधन खत्म हो जाएगा तो सूर्या का विस्तार होगा और सूर्य लाल दानव का रूप ले लेगा मतलब सूर्या इतना विशाल हो जाएगा की वह पृथ्वी की कक्षा को घेर लेगा | जब ऐसा होगा ग्रह मण्डल मे भारी हलचल मचेगी और फिर धरती का विनाश या अंत हो जाएगा |

फिलहाल हमे डरने की जरूरत नहीं है क्योकि वैज्ञानिक ने कहा है की सूर्या अभी 5 अरब साल तक जलता रहेगा और तब तक यह सब देखने के लिए हम सब जिंदा नहीं रहेंगे |