जूता के बारे में 15 रोचक इतिहास

जूता के बारे में 15 रोचक इतिहास

जूता तो पहनते होंगे लेकिन जुता की खोज या आविष्कार किसने किया ? जूता पैरों में पहनने की एक ऐसी वस्तु है जिसका प्रयोग मनुष्य अपने पैरो की ईंट पत्थर काटे और पैरो को मरुस्थली स्थानों पर जलने से बचाने के लिए और सुरक्षा के लिए जूतों का उपयोग करता है यह एक सजावट की वस्तु के रूप में भी किया जाता है.


juta ki khoj kisne ki

जूतों का इतिहास एंव रोचक तथ्य 

  • चाईना मे नई दुल्‍हन के लाल जूते को छत से फेंक दिया जाता है, इसके पीछे मान्‍यता ये है कि ऐसा करने से नए जोड़े के जीवन में खुशहाली आती है।
  • North Dakota में यदि आप जूते पहने हुए लेट जाते हैं या सो जाते हैं तो इसे कानूनन अपराध माना जाता है
  • यदि Maine में आप किसी गली में चल रहे हो और आपके जूते की Lace खुली है तो इसे गैर कानूनी माना जाता है
  • एक जूते के निर्माण में 100 से ज्‍यादा प्रकार के Operations होते हैं।
  • 18वीं शताब्‍दी तक Europe में पुरूष और महिलाओं के जूते एक जैसे ही आते थे, उन जूतों में कोई फर्क नहीं होता था।
  • Winnatka, Illinois नामक देश में यदि आपने सिनेमा घर में जूते उतारे और उनमें से बदबू आ रही है तो इसे कानून के खिलाफ माना जाता है और आप पर मुकदमा दायर हो सकता है।
  • सबसे पहला जूता 4000 साल पहले चमड़े से बनाया गया था, जो गर्मी से पैरो की सुरक्षा करता था।
  • 9वीं और 10वीं शताब्‍दी में यूरोप के राज-कुमार लकड़ी से बने जूते पहना करते थे।
  • सेक्पीयर के समय से भी पहले चप्‍पल का प्रयोग था, और सही मायने में उस समय भी Slippers दोनों पैरो के अलग-अलग आते थे
  • पहली बार महिलाओं के लिए 1840 में जूते Design किये गये थे और वो महारानी विक्‍टोरिया के थे।
  • स्पेन की एक गुफा में 15000 साल पुरानी पेंटिग मे जूते की चित्र को दर्शाया गया है।
  • वर्तमान में जो जूते का Fashion चल रहा है, यह 1633 में England द्वारा लाया गया था।
  • जूतों में Heels का उपयोग इसलिए किया जाने लगा, जिससे रेगिस्‍तानी इलाके में जलती रेत से ऐडी को बचाया जा सके।
  • अमेरिका में सबसे ज्‍यादा बिकने वाले जूतों का Size है, 8.5 महिलाओं के लिए और 10.5 पुरूषों के लिए
यह थी जूतों की चटपटी बाते आपको कैसी लगी hme अपनी प्रतिक्रिया देना न भूले ! अगर आपके पास भी जूतों से सम्बन्धित या किसी ऐसी ही टॉपिक पर जानकारी हो तो हमे कॉंटेक्ट अस द्वारा भेज सकते है 
कोयल चिड़िया के बारे मे रोचक जानकारी

कोयल चिड़िया के बारे मे रोचक जानकारी

कोयल in english cuckoo कोयल चिड़िया की पहचान उसकी सुरीली आवाज से होता है और अगर किसी स्त्री की सुंदर सी आवाज हो तो उसकी तुलना कोयल चिड़िया से की जाती है पर क्या आपको पता है कोयल चिड़िया से जुड़े रोचक जानकारी अगर नहीं तो आज हम जानेगे कोयल चिड़िया के बारे मे रोचक जानकारी |

About Cuckoo in Hindi


कोयल चिड़िया के बारे मे रोचक जानकारी

  • कोयल एक माध्य आकार का पक्षी है नर कोयल नीलापन के लिए काला होता है और मादा तितर पक्षी की तरह धब्बेदार चितकबरी होती है |

  • कोयल ही एक ऐसी अकेली चिड़िया है जो अपना अंडा दूसरे पक्षी के घोसले मे रखती है और तो और दूसरी पक्षी के अंडो को उठा लेती है या फिर खा जाती है |
  • कोयल चिड़िया का रंग पूरी तरह कला होता है और यह भारतीय पक्षी है |
  • कोयल पक्षी अपने कुक्कू सुरीली आवाज के लिए पहचानी जाती है पर आपको यह नहीं पता हो शायद की नर कोयल ही सुरेली गीत की तरह आवाज निकालता है |
  • मादा कोयल 12 से 20 अंडे देती है और सारा अंडा कौवे के घोसले मे देती है |
  • कोयल को कुक्कू नाम से भी जाना जाता है और कोयल झारखंड राज्य की राज्य पक्षी है |
  • कोयल पक्षी की 120 से अधिक प्रजातिया पाई जाती है |
  • कोयल पक्षी का वैज्ञानिक का नाम युडाईनेमिस स्कोलोपेकिस है | और कोयल चिड़िया ज़्यादातर एशिया और अफ्रीका मे पाई जाती है |
  • कोयल का मुख्य भोजन कीड़े - मकोड़ो और झालिया है |
  • कोयल पक्षी कभी भी खुद के लिए घोसला नहीं बनाती |



आपको कैसी लगी पोस्ट कोयल चिड़िया के बारे मे रोचक जानकारी अगर आपको अच्छा लगे तो आप हमारी सराहना कर सकते है |
ममी के बारे मे जानकारी हिन्दी मे -

ममी के बारे मे जानकारी हिन्दी मे -

ममी के बारे मे जानकारी हिन्दी मे || History Of Mummy

आपने ममी का नाम तो सुना होगा और ममी क्या होते है जानते भी होंगे लेकिन क्या आपने कभी यह सोचा है इन्हे ममी क्यू बोलते है और क्यो बनाया जाता है ममी और ममी कहा पाई जाती है ?

history of mummy


प्राचीन सात आश्चर्यों मे से एक है मिस्र का पिरामिड शायद आप इसके बारे मे जानते भी होंगे अगर नहीं जानते तो यहा क्लिक से पढे पिरामिड के बारे मे 15 रोचक तथ्य | ममी - किसी मृत शरीर पर लेप आदि लगाकर मृत शरीर को सालो तक सुरक्षित रखने के तरीको को ममी कहा जाता है और लोगो का ऐसा मानना है की मिस्र के पिरामिड के अंदर ममी को रखा गया है |



ममी की उत्पत्ति प्राचीनकाल मे मिस्र के लोगो द्वरा हुई | मिस्र के लोग और बाकी देशो मे लोग अपने करीबी रिसतेदार और प्रिय जानवरो की मृत्यु के बाद उनकी ममी बनाकर सालो तक उन्हे संभाल कर रखते थे | मिस्र मे लगभग एक मिलयन ममी है और भी ऐसे कई देश है जहा पर ममी आज भी पाई जाती है |

ममी का मतलब क्या है ||

क्या आपको मालूम है ममी का क्या मतलब है | ममी अरबी भाषा के मुमिया से बना बना हुआ है जिसका अरबी भाषा मे अर्थ होता है मोम या तारकोल के लेप से रखी गयी वस्तु | अगर आपको लगता है की मिस्र मे ममी बनाने की शुरुवात हुई थी तो ममी शब्द प्राचीन मिस्र के शब्द है तो आप गलत है | 

ममी क्यो बनाया जाता था |

प्राचीन मिस्र और भी कई देशो मे लोग पुनर्जन्म मे विश्वास रखते थे और उनका मानना था की मृत व्यक्ति के शरीर को संभालकर रखना चाहिए | ऐसा करने से मृत व्यक्ति अपने शरीर को पा सकता है | और इसी कारण प्राचीन समय के लोगो ने ममी बनाना चालू किया | ओर आज तक ममी बनाने की प्रक्रिया चल रही है |



कैसे बनाया जाता है ममी

पहले के समय एक ममी बनाने मे 70 दिन लग जाते थे और ममी को बनाने के लिए धर्मगुरु और पुरोहित के साथ साथ विशेसज्ञ भी होते थे | ममी बनाने के लिए सबसे पहले मृत शरीर की पूरी नमी को खत्म किया जाता है और ऐसा करने मे कई दिन का समय लगता था | जब शरीर की नमी खत्म हो जाती थी तो पूरे मृत शरीर पर परत दर परत काटन की पट्टिया लपेटा जाता था | 

जब पूरे शरीर पर पट्टी लपेट ली जाती थी तो शरीर के आकार से मिलते जुलते लकड़ी के ताबूत तैयार किए जाते थे और फिर इन ताबूत को रंगा जाता था | और यह सब जब पूरा हो जाता था तब धर्मगुरु के मतानुसार इस पर धार्मिक वाक्य आदि लिख दिया जाता था और एक धार्मिक समारोह करके ताबूत को शरीर सहित चबूतरे पर सम्मान के साथ रख दिया जाता था |


ममी का इतिहास काफी पुराना है | हम समय समय पर आपके लिए कई तरह की जानकारी लाते है अगर आपको जानकारी अच्छी लगी ममी के बारे मे तो आप हमारी सराहना कर सकते है |
रोचक तथ्य भारत के बारे मे - Intresting Fact About India

रोचक तथ्य भारत के बारे मे - Intresting Fact About India

रोचक तथ्य भारत के बारे मे - Intresting Fact About India

भारत के बारे मे कई ऐसे अज्ञात तथ्य है जिनके बारे मे बहुत लोगो को नहीं पता होगा | इस देश ने महान व्यक्ति जैसे आर्यभट्ट, शून्य के आविष्कारक को जन्म दिया यहा क्लिक से पढे | अगर आप भारत के इतिहास मे जाए तो आपको होश उड़ा देने वाले तथ्य मिलेंगे जिस पर आप गर्व से कह सकते है की आप भारतीय है | आइये जानते है भारत के बारे मे रोचक तथ्य -

bharat ke bare me

  • शायद आपको पता न हो लेकिन अभी हाल ही एक ऐसा पोस्ट ऑफिस बनाया गया है जो पानी मे तैरता है | पुरे विश्व मे भारत ही एक ऐसा देश है जहा पर सबसे बड़ी डाक वयस्था है | अभी हाल ही मे कश्मीर के डल लेक मे एक तैरने वाला पोस्ट ऑफिस शुरू किया गया है |

  • दुनिया मे किसी भी देश से ज्यादा मस्जिद [ 3,00, 000  ] भारत मे है और साथ मे भारत दुनिया का सर्वाधिक मुस्लिम जनसख्या वाला देश भी है |
  • मानव केल्कुलेटर शकुंतला देवी - आप इस गणना को बिना कैल्कुलेटर के कितनी देर मे हल कर सकते है [ 7,686,369,774,870 म 2,465,099,745,779 ] कम से कम 5 से 10 मिनट लग ही जाएँगे | लेकिन इस सवाल का जवाब बिना किसी कैल्कुलेटर के शकुंतला देवी ने 28 सेकंड मे हल केआर दिया था | इसलिए उनको मानव केलकुलेटर कहा जाता है |
  • चाइना और USA के बाद भारत के पास दुनिया की तीसरी सक्रिय आर्मी है |॥
  • भारत मे हर साल एक धार्मिक मेला का आयोजन किया जाता है जिसे कुम्भ मेला कहते है और यह विश्व का सबसे बड़ा मेला है |  और इस मेले को अंतरिक्ष से भी देख सकते है |

  • तक्षिला को दुनिया की पहली यूनिवर्सिटी कहा जाता है जिसकी शुरुवात तकरीबन 700 BC ,मे की गयी |
  • भारत मे दुनिया की सबसे ज्यादा इंगलिश बोलने वाली जनसंख्या है |
  • भारत दुनिया मे दूध उत्पादित करने वाला सबसे बड़ा देश है |
  • मार्शल आर्ट भी भारत की ही देंन है |
  • भारत एकमात्र ऐसा देश है जहा 1986 मे आधिकारिक रूप से डायमंड की खोज की गयी थी |

यह थी हमारे महान भारत की टॉप 10 रोचक तथ्य अगर आपको पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप हमारी सराहना कर सकते है |
समुद्र मंथन का रहस्य क्या है सच्चाई जानिए

समुद्र मंथन का रहस्य क्या है सच्चाई जानिए

आपने किताबी मे या किसी पौराणिक धारावाहिक में अमृत के बारे मे कितनी बार सुना होगा ! अमृत का नाम आते ही एक अमृत मंथन की एक छवि उभरकर सामने आ जाती है ! आपके मन मे यही छवि बनी होगी की देवतागढ़ और अमृत को लेकर भागे राक्षस !! पर क्या अपने अमृत से जुड़े तथ्यों को तलाशने को कोशिश की है ! अगर नही तो चलिए आज जानते है अमृत क्या है  और क्या आज भी इसे पाना सम्भव है !

यह पढे - टाइटेनिक जहाज के बारे मे रोचक और महत्वपूर्ण तथ्य

rahsya

क्या है अमृत [ WHAT IS THE AMRIT ]

आपने अमृत क्या है टीवी सीरियल को देखकर आपने ज़रूर जान लिया होगा ! और जिसे नही पता अमृत क्या है तो उन्हे बताना चाहूंगा की अमृत होने का मतलब होता है दुनिया पर राज़ करना ! अनंतकाल तक जीना और जो चाहे वह करना ! अमृत अगर कोई पी ले तो समझिए वह अमर हो गया ! 7 चिरंजीवीयो का उल्लेख महाभारत मे मिलता है ! और चिरंजीव का मतलब है अमर व्यक्ति !



अमर होने का रहस्य क्या है इसे जानने से पहले हम पहले यह जान लेते है अमृत मंथन क्यों हुआ था और अमृत का सेवन किस किस ने किया था ! अमृत का स्वाद और इसके अलावा जानेगे की क्या आज के समय मे अमृत पाना संभव है |

समुन्द्र मंथन क्षीरसागर मे शुरू हुआ ऐसा कहते है | 27 अक्तूबर 2014 की खबर के अनुसार आर्कियोलोजी और ओशनोलोजी डिपार्टमेंट ने सूरत जिले के पींजरात गाँव के पास समुंदर मे मंदराचल पर्वत होने का दावा किया था  | आर्कियोलोजी मितुल त्रिवेदी के अनुसार बिहार के भागलपुर के पास स्थित भी एक मंदराचल पर्वत है जो गुजरात के समुन्द्र से निकले पर्वत का हिस्सा है |

एक न्यूज़ चैनल की खबर के मुताबिक बिहार और गुजरात मे मिले इन दोनों पर्वतो का की बनावट एक ही तरह के ग्रेनाइट पत्थर से हुआ है | मतलब यह दोनों पर्वत एक ही है | जबकि आमतौर पर ग्रेनाइट पत्थर के पर्वत समुन्द्र मे नहीं मिला करते || जो पर्वत खोजा गया है उस पर्वत के बिचोबीच नाग आकृति है | और इसलिए ऐसा लगता है यही पर्वत मंथन के दौरान इस्तेमाल किया गया होगा |और इसी कारण गुजरात के समुन्द्र मे मिला यह पर्वत शोध का विषय बना हुआ है |




सन 1998 मे पिंजरात गाँव के समुन्द्र मे किसी प्राचीन नगर के अवशेष मिले है | और इस अवशेष को लोग मानते है की यह भगवान कृष्ण की नगरी द्वारका के है | एक शोधकर्ता ने बताया है वह और उसके कुछ साथी 800 मीटर की गहराई तक अंदर गए हुए है और उन्हे पर्वत पर घिसाव का निशान मिला है |


आज क्या अमृत पाना संभव है ?

जल ही जीवन है और यह भी सच है की जल मे कुछ ऐसे तत्व मौजूद है जिससे अमृत निकाला जा सकता है | एक शोधअनुसार पता चला है की गंगा मे ऐसे गुण है जिससे की उसका जल कभी सड़ता नहीं और ऐसा जल अमृत के समान ही है |



बहता नदी का जल है अमृत समान - नदी का पानी पीने लायक होता है और समुन्द्र का पानी पीने लायक नहीं | कुछ लोगो का मानना है की ग्रह और नक्षत्रों की विशेष स्थिति मे धरती का जल अमृत के समान हो जाता है | लेकिन आपको पता ही है आजकल सभी नदीयो का जल परदूषित कर दिया गया है |

संजनीवनी बूटी की कथा आपने सुनी होगी और इस बूटी की कथा भी अमरता से जुड़ी है | और इस विद्या का ज्ञान असुरो के गुरु शंकराचार्य के पास थी ऐसा कहते है |

आपने टीवी सीरियल मे शायद देखा होगा युद्ध मे जब दैत्य मारे जाते थे तो वे उनको संजीवनी बूटी देकर जिंदा कर दिया करते थे | और आज के समय मे भी इस बूटी को ढूंढा जा सकता है |



विज्ञान भी इस दिशा मे कार्य कर रहा है की कैसे किसी को अमर किया जाए मतलब कभी न मरे | इसके लिए बहुत सारे प्रयोग शोधकर्ताओ और प्रयोगशालों मे किए जा रहे है | रूस के साइबेरिया के जंगलो मे एक ऐसी ओषधि पाई जाती है जिसे जिंगसिंग कहते है | और इसका चीन के लोग करके देर तक युवा बने रहते है |