मौत को मात देने वाले स्टीफन हॉकिंग के विचार in hindi

मौत को मात देने वाले स्टीफन हॉकिंग के विचार in hindi

क्या आपको पता है मौत को भी मात देने स्टीफन हॉकिंग के बारे मे विचार in hindi अगर नहीं तो आज हम आपको स्टीफन हॉकिंग के विचार in hindi मे जानकारी दे रहे है 
विश्व प्रसिद्ध महान वैज्ञानिक और बेस्टसेलर रही किताब "अ ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम" के लेखक स्टीफन हाकिंग का 14 मार्च 2018 को निधन हो गया | मगर देह त्यागने से पहले साबित कर गए कि अगर इच्छा शक्ति हो तो व्यक्ति कुछ भी कर सकता है |

ब्लैक हॉल थ्योरी को समझने वाले स्टीफन हॉकिंग in hindi

ब्लैक होल और बिग बैंग थ्योरी को समझने मे उन्होने अहम योगदान दिया है | stephen hawking के पास 12 मानद डिग्रिया है और अमेरिका का सबसे उच्च नागरिक सम्मान उन्हे दिया गया है | 8 जनवरी 1942 को जन्मे स्टीफन हाकिंग का स्कूली जीवन बहुत अच्छा नहीं था | उनके परिवार की आर्थिक हालत भी ठीक नहीं थी | वे शुरू मे अपनी कक्षा मे ओसत से कम अंक पाने वाले छात्र थे | stephen hawking को बोर्ड गेम खेलना बहुत ही अच्छा लगता था साथ ही उन्हे गणित मे बहुत दिलचस्पी थी | ग्यारह वर्ष की उम्र मे स्टीफन स्कूल गए और उसके बाद यूनिवर्सिटी कालेज, ऑक्सफोर्ड मे उच्च शिक्षा हासिल की |
स्टीफन हॉकिंग के विचार in hindi

स्टीफन हॉकिंग गणित का अध्ययन करना चाहते थे लेकिन यूनिवर्सिटी कालेज मे गणित उपलब्ध नहीं थी इसलिए उन्होने भौतिकी अपनाई | हालाकी ऑक्सफोर्ड मे अपने अंतिम वर्ष के दौरान हाकिंग अक्षमता के शिकार होने लगे | उन्हे सीढ़िया चढ़ने मे कठिनाईयो का सामना करना पड़ा |

stephen hawking के बारे मे जानकारी हिन्दी मे जाने ?

 स्टीफन हॉकिंग की समस्याए धीरे धीरे इतनी बढ़ बढ़ गयी की वह ठीक से बोल भी पाते थे | वह महज 21 साल की उम्र के बाद amyotrophic lateral sclerosis [ ALS ] नाम की बीमारी के शिकार हो गए | इस बीमारी के कारण उनके अंग एक एक करके काम करना बंद कर दिया | तब डॉक्टरो ने बताया कि हाकिंग शायद 2 साल से अधिक जी न पाए और हो सकता है 2 साल मे ही स्टीफन हाकिंग इस दुनिया को अलविदा कह दे |

स्टीफन हाकिंग ने दिया मौत को मात रहस्य ?

डॉक्टर के द्वारा हाकिंग के मौत का समय बताए जाने पर भी स्टीफन ने हार नहीं मानी और 76 साल तक जीते हुए अनेक थ्योरी और ब्रह्मांड के कई रहस्यो को सुलझाने मे मदद की |
  • जीने की इच्छा और चुनोतियों को स्वीकार करके स्टीफन हाकिंग ने यह साबित कर दिया कि मृत्यु निश्चित है, लेकिन जन्म और मृत्यु के बीच हम कैसे जीना चाहते है, यह सिर्फ हम पर निर्भर करता है.
  • मरने के अधिकार जैसे मुद्दे पर उन्होंने कह था कि कोई भी व्यक्ति जो किसी भी लाइलाज बीमारी से जूझ रहा है और बहुत ज्यादा दर्द मे है उसे अपने जीवन को खत्म करने का अधिकार होना चाहिए | उसकी मदद करने वाले व्यक्ति को किसी भी तरह की मुकदमे से मुक्त होना चाहिए |
खली का जीवन परिचय रोचक तथ्य the great khali height age salary wife

खली का जीवन परिचय रोचक तथ्य the great khali height age salary wife

खली का जीवन परिचय रोचक तथ्य the great khali height age salary wife - खली का नाम तो सुना होगा लेकिन खाली के बारे मे जीवन परिचय और रोचक तथ्य क्या आप जानते है ? अगर नहीं तो आज जानिए the great khali height age salary the great khali wife khali का जीवन परिचय hindi me great khali salary खली का जीवन परिचय रोचक तथ्य । 

खली का जीवन परिचय रोचक तथ्य the great khali height age salary wife


1.द ग्रेट खली के नाम से मशहूर भारतीय मूल के डब्ल्यूडब्ल्यूई ( WWE ) रेसलर का असली नाम दिलीप सिंह राणा है। वो रेसलिंग में आने से पहले पंजाब पुलिस में काम करते थे। खली का सीना 56 इंची नहीं, बल्कि 63 इंची है। ये भारतीय रिकॉर्ड है।


the great khali height age salary

2.द ग्रेट खली खाने-पीने के मामले में बाकी के पहलवानों से बिल्कुल उलट हैं। विशुद्ध शाकाहारी हैं। वो नॉन-वेज से दूर रहते हैं तो शराब को हाथ तक नहीं लगाते। डोपिंग के मामले में खली का रिकॉर्ड बेहद साफ-सुथरा है। कभी तंबाकू तक का इस्तेमाल नहीं किया।

3.दिलीप सिंह राणा उर्फ द ग्रेट खली का नाम हिंदू देवी काली के नाम पर पड़ा है, जो आंतरिक शक्ति का प्रतीक मानी जाती हैं।

4.खली रेसलिंग की दुनिया के सबसे लंबे खिलाड़ी हैं। खली की लंबाई 7 फुट 1 इंच है। उनकी ये लंबाई उन्हें बाकियों पर भारी रखती है। खली का वजन 157 किलो है, जो लगभग 347 पाउंड के बराबर है।

5.दिलीप सिंह राणा उर्फ द ग्रेट खली ने प्रो रेसलिंग में पहली बार 7 अक्टूबर 2000 में कदम रखा था। वो शुरुआती सालों में दिलीप सिंह राणा उर्फ द ग्रेट खली नहीं, बल्कि जायंट सिंह नाम से रिंग में उतरते थे। इसका मतलब होता है भीमकाय शरीर का मालिक।

6.खली सामान्य शरीर के मालिक नहीं हैं, न ही वे पूरी तरह से स्वस्थ हैं। वो बचपन से ही एक्रोमेगली नाम की बीमारी से पीड़ित हैं, जिसकी वजह से उनका शरीर असाधारण तरीके से भीमकाय है। इसी रोग की वजह से उनका चेहरा भी कुछ ‘अजीब’ दिखता है।

 7.एक्रोमेगली नाम की बीमारी से पीड़ित द ग्रेट खली का पूरा परिवार साधारण कद काठी का है। पर खली के दादा जी की लंबाई 6 फुट 6 इंट थी।

8.द ग्रेट खली अपने किशोरावस्था में अपने भारी भरकम शरीर की वजह से परेशान रहते थे। खली ने स्वीकार किया है कि ज्यादा लंबी कद-काठी की वजह से उन्हें शर्म आती थी।

9.खली पंजाब पुलिस में रहते हुए बॉडीबिल्डिंग करते थे। खली सन 1997 और 1998 में मिस्टर इंडिया रह चुके हैं।

खली के बारे मे जानिए हिन्दी जानकारी 

10.पंजाब पुलिस के तत्कालीन एडीजीपी एन एस भुल्लर ने खली को रेसलिंग में जाने से मना किया था। साथ ही वो खली के विदेश जाने के फैसले से भी सहमत नहीं थे।

11.खली ने बताया था कि कैरियर की शुरुआत करने में उन्हें पैसों की काफी दिक्कत हुई थी और आज वह रेसलिंग की दुनिया में वो मशहूर हैं।


the great khali height age salary wife

12.खली भले ही अमेरिका जाकर बेहद अमीर हो गए। पर वो अपने गांव को नहीं भूल पाए। द ग्रेट खली ने अपने गांव के विकास में काफी पैसा दान दिया। बचपन में अभाव की जिन्दगी जीने तथा कुछ दिन के लिए ही स्कूल का मुंह देखने वाले दिलीप सिंह राणा को लोग दलबू कहकर पुकारते थे।

13 खली भले ही इंटरनेशनल स्टार हैं, लेकिन वे कभी पत्थर तोड़ने का काम करते थे। खली के गांव धिराना की औरतें उनसे भारी भरकम काम करवाती थीं। इसी दौरान खली पर पुलिस ऑफिसर भुल्लर की निगाह पड़ी और वो पंजाब पुलिस में भर्ती हुए।

14.द ग्रेट खली में इतना दम है कि उनकी मार की वजह से ब्रायन ओंग नाम के रेसलर की मौत हो गई। ये 28 मई 2001 की घटना है। वो समय खली के करियर का शुरुआती समय था। खली ने ब्रायन को सर के बराबर उठाकर रिंग में जोरदार तरीके से पटका था जिससे उसकी मौत हो गई थी। इसके बाद प्रमोशनल कंपनी ने ब्रायन के परिवार को 1.3 मिलियन डॉलर का मुआवजा दिया था

15.द ग्रेट खली रेसलिंग की दुनिया के सबसे खतरनाक खिलाड़ी माने जाने वाले अंटरटेकर को सिर्फ मुक्के बरसाकर ही बेहोशी की हालत में ला जीत दर्ज कर चुके हैं। अंडरटेकर के आगे बड़े-बड़े सूरमा पानी मांगा करते थे, पर खली के आने के बाद अंडरटेकर को लगातार हार झेलनी पड़ी। खली ने सबसे पहले अंडरटेकर को 7 अप्रैल 2006 में हराया था।

16.द ग्रेट खली का पसंदीदा मूव खली बंब है, जिसमें वो दोनों हथेलियों को एक साथ कर विपक्षी पर जोरदार वार करते हैं। उनके इस मूव से विपक्षी सीधा धराशायी हो जाता है। खली के इस मूव की वजह से कुछ देर के लिए खूंखार अंटरटेकर रिंग में ही बेहोश हो गया था।

17.द ग्रेट खली 2007-2008 में वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियन रह चुके हैं। उन्होंने इस ताज के लिए जान सीना, अंटरटेकर, ट्रिपल एच जैसे खूंखार फाइटरो को हराया था।

18.खली रिंग में हमेशा शालीन भी नहीं बने रहे। उन्होंने कुछ साल पहले अपनी मैनेजर नताल्या को रिंग में ही 'किस' करके सनसनी फैला दी थी। इसके लिए उन्हें खासी आलोचना भी झेलनी पड़ी थी।

19.द ग्रेट खली विकलांगों की श्रेणी में आते हैं। वो 2009 के विशेष ओलंपिक (विकलांगों और मानसिक रूप से विकलांगों) के ब्रांड अंबेसडर भी रह चुके हैं।

20.द ग्रेट खली सिर्फ भारतीय टीवी चैनलों पर ही नजर नहीं आते, बल्कि उन्होंने बॉलीवुड के साथ ही हॉलीवुड में भी खासा काम किया है। यही नहीं, वो फ्रेंच फिल्म में भी नजर आ चुके हैं।

खली का जीवन परिचय से जुड़े रोचक तथ्य -


21.द ग्रेट खली कई सारे ब्रांड्स को इंडोर्स करते हैं। मौजूदा समय में उनका एक सीमेंट के लिए किया गया ऐड लोगों को खूब पसंद आ रहा है, जिसमें उनके भारी भरकम शरीर की वजह से दीवार तक टूटने लगती है।

22.द ग्रेट खली को द पंजाबी मॉन्सटर, द पंजाबी प्लेब्वॉय नाम से भी जाना जाता है। यही नहीं उन्हें 'द प्रिंस ऑफ द लैंड ऑफ 5 रिवर्स' के नाम से भी जाना गया।

23.द ग्रेट खली की प्रतिभा से भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ अब्दुल कलाम बेहद प्रभावित हुए। डॉ कलाम ने सन 2005 में खली को राष्ट्रपति भवन बुलाकर उनसे मुलाकात भी की थी।

great khali wife house in india

24.खली को सन 2012 में ऑपरेशन से गुजरना पड़ा। इसकी वजह से उन्हें प्रोफेशनल रेसलिंग से संन्यास लेना पड़ा। इस बीच वो मनोरंजन की दुनिया में बने रहे।

25.प्रोफेशनल रेसलिंग से संन्यास लेने के बाद अब खली पत्नी हरमिंदर कौर के साथ इंडिया में खूबसूरत जिंदगी जी रहे हैं। हालांकि हाल ही में सुनने में आया था कि वो फिर से रिंग में वापसी कर रहे हैं।
तेज बहादुर biography इन हिन्दी

तेज बहादुर biography इन हिन्दी

तेज बहादुर biography - तेज बहादुर कौन है तेज बहादुर का biography इन हिन्दी मे तेज बहादुर लेटैस्ट न्यूज़ इन हिन्दी. आपको पता है तेज बहादुर का नामांकन रद्द होने के कगार पर है इसलिए आज तेज बहादुर यूट्यूब से लेकर गूगल पर सबसे ज्यादा सर्च किया जा रहा है | ऐसे मे आज हम तेज बहादुर के बारे मे बताने वाले है | तेज बहादुर का जीवन परिचय तेज बहादुर यादव विकिपीडिया तेज बहादुर यादव लेटेस्ट न्यूज़

तेज बहादुर की कहानी - तेजबहादुर वाराणसी से चुनाव लड़ने जा पहुचे है वही समाजवादी पार्टी के उम्मदीवार गठबबंधन मे तेज बहादुर को आगे किया है | आपको बता दे तेज बहादुर बीएसएफ़ के जवान थे | जवानो का खराब खाना मिलता है इसका वीडियो बनाकर यूट्यूब पर डाला था इसलिए उन्हे अपनी नौकरी से हाथ खोनी पढ़ी |

यह भी पढे -

तेज बहादुर यादव विकिपीडिया

तेज बहादुर की चर्चा 2017 मे शुरू हुई

बीएसएफ़ का जवान तेजबहादुर 2017 मे बहुत चर्चा मे थे इसका कारण जवानो को मिलने वाले खाने को लेकर शिकायत करना था | इसके लिए तेजबहादुर ने एक वीडियो यूट्यूब पर डाला था जिस वीडियो मे जवानो को मिलने वाले खराब खाने को दिखाया था | यह सब होने के बाद अप्रैल 2017 मे बीएसएफ़ के उच्च पद्दधिकारियो ने तेज बहादुर को अनुशाशन का दोषी मानते हुए बर्खास्त कर दिया था |

तेज बहादुर यादव ने वीडियो में ये कहा

देशवासियो, मैं आपसे एक अनुरोध करना चाहता हूं। हम लोग सुबह 6 बजे से शाम 5 बजे तक, लगातार 11 घंटे इस बर्फ में खड़े होकर ड्यूटी करते हैं। कितना भी बर्फ हो, बारिश हो, तूफान हो, इन्हीं हालातों में हम ड्यूटी कर रहे हैं। फोटो में हम आपको बहुत अच्छे लग रहे होंगे मगर हमारी क्या सिचुएशन हैं, ये न मीडिया दिखाता है, न मिनिस्टर सुनता है। कोई भी सरकार आईं, हमारे हालात वहीं हैं |

जनवरी 2019 में तेज बहादुर के बेटे ने किया था सुसाइड
तेज बहादुर यादव के 22 वर्षीय बेटे रोहित ने 17 जनवरी 2019 की रात सुसाइड कर लिया था। हरियाण के रेवाड़ी स्थित अपने आवास में रोहित ने खुद को गोली मारी ली थी। घटना के वक्त घर पर कोई नहीं था। तेज बहादुर उस समय प्रयागराज में चल रहे कुंभ मेले में गए हुए हैं वहीं मां शर्मिला देवी अपने ऑफिस में थी।
श्री कृष्ण का जीवन परिचय shri krishna jeevan parichay

श्री कृष्ण का जीवन परिचय shri krishna jeevan parichay

shri krishna jeevan parichay - हिन्दू धर्म मे कृष्ण को भगवान मान जाता है और उनके मानने वाले उनकी बड़ी ही सर्धा से पूजा करते है | क्या आपको पता है  shri krishna jeevan parichay अगर नहीं तो आज हम आपको बता रहे श्री कृष्ण के जीवन के बारे मे |
shree krishna youtube, i shri krishna, shri krishna h d wallpaper, श्री कृष्ण की बाल लीला

भगवान श्री कृष्ण परिचय -

भगवान श्री कृष्ण को अलग अलग स्थानो पर भिन्न भिन्न नाम से जाना जाता है -
  • यूपी मे गोपाल या कृष्ण इत्यादि नाम से पुकारा जाता है |
  • राजस्थान मे श्री नाथ जी या ठाकुर जी के नाम से जाना जाता है |
  • महाराष्ट्र मे भगवान बिठ्ठल के नाम से जाना जाता है |
  • उड़ीशा मे जगन्नाथ जी के नाम से पुकारा जाता है |
  • बंगाल मे गोपाल कहा जाता है |
  • दक्षिण भारत मे वेंकटेश या गोविंदा के नाम से जाने जाते है |
  • गुजरात मे द्वारिकाधीश जी के नाम से श्री कृष्ण के नाम से जाना जाता था |
  • असम, त्रिपुरा, नेपाल और पूर्वोत्तर क्षेत्रो मे कृष्ण नाम से ही जाना जाता है |
  • मलेसिया, इंडोनेशिया, अमेरिका, इंग्लैंड, फ़्रांस इत्यादि देशो में कृष्ण नाम ही विख्यात है।

sri krishna itihas

1 :- गोविंद या गोपाल मे गो शब्द का मतलब गाय एंव इंद्रियो से है | गो एक संस्कृत शब्द है और गो का अर्थ ऋग्वेद मे मनुष्य की इंद्रिया होती है और यह मतलब जो इंद्रियो का विजेता हो या फिर जिसके वश मे इंद्रिया हो वही गोविंद गोपाल होता है |

2 :- श्री कृष्णा के पिता का वसुदेव था स्लिए इन्हे वासुदेव के नाम से भी जाना जाता है | श्री कृष्णा के दादा का नाम शूरसेन था | श्री कृष्ण का जन्म उत्तर प्रदेश [ यूपी ] के मथुरा जिले के राजा कंस की जेल मे हुआ था |

3 :- श्री कृष्ण के भाई का नाम बलराम था और उद्धव एंव अंगरिस उनके चचेरे भाई थे | अंगरिस ने तपस्या की थी और जैन धर्म के तीर्थकर नेमिनाथ के नाम से विख्यात हुए थे |

4 :- श्री कृष्ण ने 1600 राजकुमारियों को राजा नरकासुर की कारागार से मुक्त कराया था और उन राजकुमारियों से विवाह किया था | ऐसा इसलिए क्योकि वह राजकुमारी आत्महत्या करने जा रही थी कारण उस समय हरण की हुई स्त्रियो को अछूत माना जाता था और समाज उन स्त्रियो को अपनाता नहीं था |

5 :- श्री कृष्ण की मूल पटरानी एक ही थी जिनका नाम रुक्मणी था जो महाराष्ट्र के विदर्भ राज्य के राजा रुक्मी की बहन थी।। रुक्मी शिशुपाल का मित्र था और श्री कृष्ण का शत्रु ।

6 :- दुर्योधन श्री कृष्ण का समधी था और उसकी बेटी लक्ष्मणा का विवाह श्री कृष्ण के पुत्र साम्ब के साथ हुआ था।

7 :- श्री कृष्ण के धनुष को सारंग नाम जाना है और शंख को पाञ्चजन्य के नाम से जाना जाता है और उनके चक्र का नाम सुदर्शन था | श्री कृष्ण की प्रेमिका को राधारानी के नाम था जोकि बरसाना के सरपंच वृषभानु की बेटी थी। श्री कृष्ण राधारानी से निष्काम और निश्वार्थ प्रेम करते थे | राधारानी की उम्र श्री कृष्ण की उम्र से 6 वर्ष अधिक थी | श्री कृष्ण 14 वर्ष की उम्र मे वृंदावन त्याग किया और उसके बाद राधा से कभी नहीं मिले |

8 :- श्री कृष्ण की कुल आयु 125 वर्ष थी और उनके शरीर का रंग गहरा काला था साथ ही उनके शरीर से 24 घंटे पवित्र अष्टगंध महकता था | उनके वस्त्र रेशम के पीले रंग के होते है और मष्टक पर मोर मुकुट विराजमान था | उनके सारथि का नाम दारुक था और उनके रथ में चार घोड़े जुते होते थे। उनकी दोनो आँखों में प्रचंड सम्मोहन था।

9 :- श्री कृष्ण विद्या अर्जित करने हेतु मथुरा से उज्जैन मध्य प्रदेश आये थे। और यहाँ उन्होंने उच्च कोटि के ब्राह्मण महर्षि सान्दीपनि से अलौकिक विद्याओ का ज्ञान अर्जित किया था

10 :- श्री कृष्ण ने गुजरात के समुद्र के बीचो बीच द्वारिका नाम की राजधानी बसाई थी। द्वारिका पुरी सोने की थी और उसका निर्माण देवशिल्पी विश्वकर्मा ने किया था।

श्री कृष्ण के बारे मे जानकारी - 

  • श्री कृष्ण के कुलगुरु महर्षि शांडिल्य थे। 
  • श्री कृष्ण का नामकरण महर्षि गर्ग ने किया था। 
  • श्री कृष्ण के बड़े पोते का नाम अनिरुद्ध था जिसके लिए श्री कृष्ण ने बाणासुर और भगवान् शिव से युद्ध करके उन्हें पराजित किया था। 
  • श्री कृष्ण को ज़रा नाम के शिकारी ने बाण मारा था।। 
  • श्री कृष्ण ने हरियाणा के कुरुक्षेत्र में अर्जुन को पवित्र गीता का ज्ञान रविवार शुक्ल पक्ष एकादशी के दिन मात्र 45 मिनट में दे दिया था। 
  • श्री कृष्ण ने सिर्फ एक बार बाल्यावस्था में नदी में नग्न स्नान कर रही स्त्रियों के वस्त्र चुराए थे और उन्हें अगली बार यूँ खुले में नग्न स्नान न करने की नसीहत दी थी। 
  • श्री कृष्ण के अनुसार गौ हत्या करने वाला असुर है और उसको जीने का कोई अधिकार नहीं। 
  • श्री कृष्ण अवतार नहीं थे बल्कि अवतारी थे....जिसका अर्थ होता है "पूर्ण पुरुषोत्तम भगवान्" 
  • न ही उनका जन्म साधारण मनुष्य की तरह हुआ था । 
  • सर्वान् धर्मान परित्यजम मामेकं शरणम् व्रज अहम् त्वम् सर्व पापेभ्यो मोक्षस्यामी मा शुच-- भगवद् गीता अध्याय 18, श्री कृष्ण 
  • सभी धर्मो का परित्याग करके एकमात्र मेरी शरण ग्रहण करो, मैं सभी पापो से तुम्हारा उद्धार कर दूंगा,डरो मत |
सनी लियोन जीविनी और फिल्म मूवी sunny leone jivan parichay

सनी लियोन जीविनी और फिल्म मूवी sunny leone jivan parichay

सनी लियोन का नाम आपने जरूर सुना होगा लेकिन क्या सनी लियोन का पूरा नाम जानते है, अगर नहीं तो आज हम सनी लियोन के बारे मे या जीवनी बता रहे है साथ ही सनी लियोन द्वारा की गई फिल्म मूवी के नाम भी बता रहे है |

सनी लियोन - सनी लियोन एक ऐसा नाम है जिसे सुनते ही आपके माइंड मे कुछ हलचल सी हो जाती होगी क्योकि यह नाम हर एक नौजवान के जबान पर कभी न कभी आ ही जाता होगा | सभी लियोन का असली और पूरा नाम करनजीत कौर वोहरा उर्फ सनी लियोन है | यह इंडो-कनाडियन, अमेरिकन अभिनेत्री, व्‍यवसायी और पूर्व पॉर्न फिल्‍मों की अभिनेत्री रह चुकी है |



सनी लियोन के हिन्दी फिल्मों मे आने से पहले कई तरह के झमेलो का सामना करना पड़ा | ऐसा उनके बैकग्राउंड के कारण हुआ | सनी लियोन का बैकग्राउंड क्या था यह सब आप तो जानते ही है | इसलिए भारत जैसे देश मे भावनाओ का आहत होना सामन्य सा था | खैर, इंडस्‍टी से भी कई लोगों की तरफ से उनके खिलाफ विरोध के स्‍वर उठे लेकिन आखिरकार उन्‍हें भट्ट कैंप के साथ हिन्‍दी फिल्‍मों में ब्रेक मिलाा उन्‍हें पहली बार जब बिग बॉस के घर में महेश भट्ट ने देखा तो तभी उन्‍हें अपनी फिल्‍म में कास्‍ट करने का ऑफर दे दिया |


सनी लियोन जीवन परिचय - 

  • सनी लियोन का पूरा नाम करनजीत कौर वोहरा उर्फ सनी लियोन
  • सनी का जन्‍म सार्निया, ओंटेरियो, कनाडा में एक सिख पंजाबी परिवार में हुआ था |
  • सनी लियोन के पिता का जन्‍म तिब्‍बत में हुआ, बाद में वे दिल्‍ली में रहने लगे थे वहीं उनकी मां हिमाचल प्रदेश की है |
  • सनी की पढ़ाई उनके परिवार ने कैथलिक स्‍कूल में कराया, ऐसा इसलिए हुआ क्‍योंकि वे सोचते थे कि पब्लिक स्‍कूल में जाना सनी के लिए सुरक्षित नहीं है |
  • सनी ने डेनियल वेबर से शादी की है जो उनके पति है |
  • हिन्‍दी फिल्‍मों में उनके करियर की शुरूआत फिल्‍म 'जिस्‍म 2' से हुई थी जिसको आलोच‍कों की तो कोई खास प्रतिक्रिया नहीं मिली लेकिन फिल्‍म ने ठीकठाक कमाई कर ली |
  • सनी लियोन की प्रसिद्ध फिल्‍में- जिस्‍म 2, जैकपॉट, रागिनी एमएमएस 2,  एक पहेली लीला जैसी फिल्‍मों में वे अपनी पुरानी छवि की छाप छोड़ चुकी हैं और दर्शकों ने भी इसे काफी पसंद किया है | आलम यह था कि लोग इन फिल्‍मों को सिर्फ सनी लियोन के नाम पर देखने गए |
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से संपर्क कैसे करे India PM Narendra Modi Contact Details

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से संपर्क कैसे करे India PM Narendra Modi Contact Details

प्रधानमंत्री से संपर्क कर पहुचाए अपनी बात - क्या आपकी कोई समस्या है जो खत्म नहीं हो रही या वह समस्या जब प्रधानमंत्री तक पहुचने पर ही खत्म होगी | कई लोगो कुछ इस तरह की समस्या थी जो खत्म नहीं हो रही थी लेकिन PM प्रधानमंत्री से लिखने के बाद उनकी समस्या खत्म हो गई |

PM Narendra Modi Contact Number And WhatsApp Number, Narendra Modi Official Website Phone No:+91-11-23012312. Fax:+91-11-23019545,23016857.


pm watsapp no


लोगो की समस्या प्रधानमंत्री तक पहुची और हुआ समाधान - जानिए समस्या

  • बैंक मे ट्रांसफर नहीं मिल रहा था
  • परिजनो के इलाज के लिए पैसे नहीं थे |
  • सरकार की योजनाओ पर कोई सुझाव या फीडबेक देना |
पीएम योजनाए -

वर्तमान में देश के प्रधानमंत्री से संपर्क करना अब पहले की अपेक्षा बहुत ही आसान हो गया है। जहां पहले लोगों को पत्र डालकर प्रधानमंत्री से संपर्क करना पड़ता था, वही अब इंटरनेट की सुविधा के चलते लोग किसी भी समय न सिर्फ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बल्कि किसी भी केंद्रीय मंत्री को संपर्क कर सकते हैं।चूंकि वर्तमान में इंटरनेट किसी तक बात पंहुचाने का सबसे सस्ता, सरल और तेज उपाय है। इसीलिए लगभग सभी केंद्रीय मंत्री सोशल मीडिया के जरिये ही लोगों की समस्याओं को सुन रहे हैं और लोगों को राहत पहुंचाने के लिए जरूरी कदम भी उठा रहे हैं। अगर आप भी किसी तरह की समस्या को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से संपर्क करना चाहते हैं या फिर अपने सुझाव या विचार उनके समक्ष रखना चाहते हैं, तो दिए गए विकल्पों में से किसी भी एक विकल्प को चुन सकते हैं।

Narendra Modi Contact Details - 

आप नीचे दिये हुए लिंक वैबसाइट पर जाकर पत्र लिख सकते है For Conatct PM.
इस पते पर आप अपने बारे मे कुछ जानकारी संपर्क न. इत्यादि देकर अपनी समस्या या शिकायत सीधे प्रधानमंत्री तक पाहुचा सकते है |

प्रधानमंत्री जी से जुड़ने और उन तक अपनी बात पहुँचाने के अन्य रास्ते: 

प्रधान मंत्री का ट्विटरhttps://twitter.com/PMOIndia 
नरेंद्र मोदी जी का ट्विटरhttps://twitter.com/narendramodi 
नरेंद्र मोदी जी का फेसबुक पेजhttp://facebook.com/narendramodi.official 
नरेंद्र मोदी जी की वेबसाइटhttp://www.narendramodi.in/hi/write-to-shri-narendra-modi/ 


देश की सरकार के कार्यक्रमों के बारे में राय, सुझाव या फीडबैक 
यदि आप सरकारी कार्यक्रमों, योजनाओं के बारे में हो रही चर्चा में शामिल होना चाहते है और अपने सुझाव और सेवा देना चाहते है तो “मेरी सरकार (माय गॉव) वेबसाइट से जुड़ें |
काला साम्राज्य - दाऊद के परिवार मे एक नहीं कई डॉन

काला साम्राज्य - दाऊद के परिवार मे एक नहीं कई डॉन

दाऊद इब्राहिम के नाम से आप भली भाति परिचित होंगे दाऊद इब्राहिम के इतिहास से लेकर उमके परिवार का इतिहास देखे तो आपको पता चलेगा दाऊद के परिवार मे एक नहीं कई डॉन है | दाऊद के बारे मे अक्सर इन्टरनेट पर सर्च किया जाता है दाऊद इब्राहिम कैसे बना डॉन,दाऊद इब्राहिम की पूरी कहानी, दाऊद इब्राहिम का घर तो आज हम दाऊद इब्राहिम के पूरे परिवार की चर्चा करने वाले है |

दाऊद इब्राहिम - सैकड़ों लोगो की मौत के लिए जिम्मेदार अंडरवर्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के भाई बहनो का भी आपराधिक रिकार्ड भी छोटा नहीं है |  हालांकि दूसरों के बच्चो को अपराध की दुनिया मे धकेलने वाले डॉन ने खुद की ओलाद को इस काली दुनिया से दूर रखा है |
अट्ठारह सितम्बर का इतिहास मे महत्व
daud ibrahim photo
ओज़ोन डे पर ऐसे बचाए पृथ्वी
दाऊद के 2 बेटे और 1 बेटी -
दाऊद की पत्नी का नाम महज़बीन उर्फ जुबिना जरीन है दोनों के चार बच्चे थे तीन बेटिया माहरुख, माहरिन, और मारिया और एक बेटा मोइन है | बेटी मारिया की साल 1998 मे मौत हो गई | डॉन की सबसे बड़ी बेटी माहरुख के पति पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर जावेद मियादंद के बेटे जुनेद है | छोटी बेटी माहरिन की शादी अमेरिका मे बिज़नसमेन आयुब से हुई है | बेटे मोइन की शादी कराची मे लंदन के बिज़नसमेन की बेटी सानिया से 2011 मे हुई है मोइन ससुराल मे ही रहते है |



दाऊद की संपत्ती - 35 हजार की संपत्ति है सरकारी रिकार्ड के अनुसार दाऊद के पास है | अब तक जुर्म की दुनिया मे रहकर किसी शख्स ने इतनी दौलत नहीं बनाई है |

दाऊद के 2 भाई गैंगवार मे मारे गए -
दाऊद 1986 मे भारत छोड़कर दुबई भाग गया था इससे पहले 1981 मे उसके बड़े भाई साबिर की हत्या पठान गैंग ने कर दी थी | उसके साथ कराची मे रह रहे दूसरे भाई नूरा की 2009 मे सरदार रहमान गेंग ने मारा | एक भाई हुमायू कासकर की पिछले साल बीमारी से मौत हुई |



बहनौई की भी हुई हत्या - 
दाऊद के दुबई भागने के बाद उसका कारोबार बहनोई इब्राहिम पार्कर संभालने लगा था लेकिन गवली गैंग के गुर्गों ने उसकी हत्या कर दी | इसके बाद गॉडमदर से मशुहुर हसीना पारकर ने दाऊद का कारोबार संभाला |

11 भाई बहनी मे चौथे नंबर का इकबाल कासकर - 
दाऊद के पिता इकबाल कासकर महाराष्ट्र पुलिस मे हेड कान्सटेबल थे उनके सात बेटो मे से दाऊद एक है | इनमे इकबाल कासकर चौथे का बेटा था | कोकड़ी मुस्लिम परिवार से आने वाले दाऊद इब्राहिम की 4 बहने थी | दाऊद की बहन फरजाना तुंगेकर और हसीना पारकर की मौत हो चुकी है | मुमताज़ सेख और सईदा पारकर अभी जिंदा है | बालिबूड़ मे हसीना पार्कर पर बन रही फिल्म 22 सितंबर को रिलीज हुई |

2007 मे सबूतो के अभाव मे छूटा था
इकबाल कासकर मुंबई के नागपाड़ा इलाके मे रहता था | 2003 मे मुंबई पुलिस ने दुबई मे गिरफ्तार किया था इसके बाद 4 साल मुंबई की आर्थर रोड जेल मे रहा | 2007 मे सबूतो के अबाव मे रिहाई मिल गई | उस पर मुंबई के सारा - सहारा बिज़नस सेंटर मे ब्लैक मनी लगाने का केस चला था |