जादू टोना बुरी नजर कैसे उतारे मंत्रो से - Nazar Utarne Ka Mantr Hindi

जादू टोना बुरी नजर कैसे उतारे मंत्रो से - Nazar Utarne Ka Mantr Hindi

बुरी नजर उपाए, बुरी नजर मंत्र, बुरी नजर से छुटकारा, बुरी नजर से कैसे बचे नजर कैसे उतारे नजर उतारने का तरीका मंत्र
कुछ ऐसी घटनाए होती है जो हमारी खुशहाल भरी लाइफ मे आ जाती है और हमे परेशान करती है और इसमे से एक नजर लग जाना भी है | अगर किसी को नजर लग जाती है तो वह इंसान परेशान रहता है और कितना भी दवा करा लो पर ठीक नहीं होता है | नजर लगना कई तरह का होता है जैसे - इंसान को लगी नजर, रोजगार मे घाटा, नौकरी न मिलना इत्यादि | अगर आपको भी लगता है कि आपको नजर लगी है तो नज़र लगने के उपाय खुद ही कर सकते है क्योकि आज नजर उतारने के मंत्र आपको बताने वाले है साथ मे buri Nazar से Bachne के Upay


बुरी नजर क्यो लगती है -

जब भी आप किसी काम मे कामयाबी और धन प्राप्ति करते है तो हमारे आस पास कुछ ऐसे लोग होते है जिनहे आपकी कामयाबी से जलन होती है | इस जलन के कारण आपसे जलने वाला आप पर टोना टोटका कर देता है जिससे आपको कई प्रकार के नुकसान होने स्टार्ट हो जाते है |


buri njar se bache


बुरी नजर के लक्षण या पहचान

  • जब भी किसी को नजर लगती है तो नजर लगे व्यक्ति को धन व्यापार अथवा रोजगार जैसे चीजे मे नुकसान उठाना पड़ता है | पैसो कि कमी होने लगती है और परिवार के सदस्य बीमार होने लगते है |
  • पारिवारिक क्लेश - लड़ाई झगड़ा इत्यादि जैसी समस्याओ देखने को मिलती है |
  • कभी कभी बुरी नजर बहूत ही घटक साबित होटी है जिस भी व्यक्ति पर बुरी नजर लगी होती है उसकि जान भी जाने का खतरा भी पैदा हो सकता है |

बुरी नजर से कैसे उतारे - 
  • अगर आपको लगता है आपको बुरी नजर या परिवार को लग गई है तो भेरों मंदिर जाए और वहा से मिलने वाला काला धागा धारण करे और पूरे परिवार को भी धारण करवाए |
  • नजर उतारने के लिए सरसों [ पीली ] लाल मिर्च सुखी हुई और अजवाइन को किसी भी एक पात्र [ बर्तन ] मे जला ले और उससे निकलते हुए धुआ नजर लगे व्यक्ति को हल्के हाथो से दे इस तरीके से नजर जल्दी उतर जाएगा |
  • अगर आपके काम काज वाले स्थान पर बुरी नजर न लगे एसा चाहते है तो घर के बाहर नींबू और हरी मिर्च को शनिवार या मंगलवार को एक धागे मे पिरोकर लटका दे ध्यान दे कि जब भी यह सूखे तो इसे तुरंत बदल दे |
  • खाने पीने या भूख न लगना यह भी नजर लग जाता है इसे उतारने के लिए इमली कि तीन छोटी डालियो को लेकर आग मे जला दे फिर नजर लगे व्यक्ति के माथे पर 7 बार घुमाकर पानी मे बुझा दे | जिस भी पानी मे आपने आग बुजाई हैउस पानी को नजर लगे व्यक्ति को पिलाए |
हनुमान चालीसा के फायदे Benefits Of Hanuman Chalisa

हनुमान चालीसा के फायदे Benefits Of Hanuman Chalisa

हनुमान जी सर्वसक्तिमान और एकमात्र ऐसे देवता है जिंनका नाम जपने से ही संकट दूर हो जाता है | हनुमान चालीसा पाठ करने के बहुत सारे फायदे है जैसे - हनुमान चालीसा का पाठ करने से हमारी जिंदगी मे आने वाली बाधाओ को रोका जा सकता है जो भी नित ध्यान से हनुमान चालीसा करता है यहा क्लिक से पढे - वह संकट से मुक्त हो जाता है तो आज हम उन्ही चमत्कारी फायदे को हम बताने वाले है जो हनुमान चालीसा ( Hanuman Chalisa ) के पाठ से हमे प्राप्त होता है |



hanuman chalisa


हनुमान चालीसा के लाभ - 

  • हनुमान चालीसा को डर, भय, संकट या विपत्ति आने पर पढ़ने से सारे कष्‍ट दूर हो जाते हैं।
  • अगर किसी व्‍यक्ति पर शनि का संकट छाया है तो उस व्‍यक्ति का हनुमान चालीसा पढ़ना चाहिए। इसस उसके जीवन में शांति आती है
  • अगर किसी व्‍यक्ति को बुरी शक्तियां परेशान करती हैं तो उसे चालीसा पढ़ने से मुक्ति मिल जाती है।

  • कोई भी अपराध करने पर अगर आप ग्‍लानि महसूस करते हैं और क्षमा मांगना चाहते है तो हनुमान चालीसा का पाठ करें।
  • भगवान गणेश की तरह हनुमान जी भी कष्‍ट हरते हैं। ऐसे में हनुमान चालीसा का पाठ करने से भी लाभ मिलता है।
  • हनुमान चालीसा पढ़ने से मन शांत होता है तनाव मुक्‍त हो जाता है। hanuman ji 
  • सुरक्षित यात्रा के लिए हनुमान चालीसा का पाठ पढ़ें। इससे लाभ मिलता है और भय नहीं लगता है।
  • किसी भी प्रकार की इच्‍छा होने पर भगवन हनुमान के चालीसा का पाठ पढ़ने से लाभ मिलता है। 
  • हनुमान चालीसा के पाठ से दैवीय शक्ति मिलती है। इससे सुकुन मिलता है।
  • हनुमान जी बुद्धि और बल के ईश्‍वर हैं। उनका पाठ करने से यह दोनों ही मिलते हैं।
  • हनुमान चालीसा का पाठ करने से कुटिल से कुटिल व्‍यक्ति का मन भी अच्‍छा हो जाता है।
  • हनुमान चालीसा का पाठ करने से एकता की भावना में विकास होता है। 
  • हनुमान चालीसा का पाठ करने से नकरात्‍मक भावनाएं दूर हो जाती है और मन में सकारात्‍मकता आती है।
हनुमान चालीसा Hunumaan Chalisa Hindi

हनुमान चालीसा Hunumaan Chalisa Hindi

Hanuman Chalisa Benefit, Hanuman Chalisa Chopai, Hanuman Chalisa
हनुमान चालीसा - हनुमान जी के बारे मे बारे मे यह कहा जाता है कि जब भी कही रामकथा होती है | हनुमान जी किसी न किसी रूप मे उपस्थित रहते है | हनुमान जी सर्वशक्तिमान और एक मात्र ऐसे देवता है जिंका नाम जपने से ही संकट शरीर और मन से दूर हो जाता है | आइये देखे हनुमान चालीसा -


श्री हनुमान चालीसा (Shri Hanuman Chalisa in Hindi) 
।।दोहा।। 
श्री गुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुर सुधार | 
बरनौ रघुवर बिमल जसु , जो दायक फल चारि | 
बुद्धिहीन तनु जानि के , सुमिरौ पवन कुमार | 
बल बुद्धि विद्या देहु मोहि हरहु कलेश विकार ||



।।चौपाई।। 
जय हनुमान ज्ञान गुन सागर, जय कपीस तिंहु लोक उजागर | 
रामदूत अतुलित बल धामा अंजनि पुत्र पवन सुत नामा ||2|| 
महाबीर बिक्रम बजरंगी कुमति निवार सुमति के संगी | 
कंचन बरन बिराज सुबेसा, कान्हन कुण्डल कुंचित केसा ||4| 
हाथ ब्रज औ ध्वजा विराजे कान्धे मूंज जनेऊ साजे | 
शंकर सुवन केसरी नन्दन तेज प्रताप महा जग बन्दन ||6| 
विद्यावान गुनी अति चातुर राम काज करिबे को आतुर | 
प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया रामलखन सीता मन बसिया ||8|| 
सूक्ष्म रूप धरि सियंहि दिखावा बिकट रूप धरि लंक जरावा | 
भीम रूप धरि असुर संहारे रामचन्द्र के काज सवारे ||10|| 
लाये सजीवन लखन जियाये श्री रघुबीर हरषि उर लाये | 
रघुपति कीन्हि बहुत बड़ाई तुम मम प्रिय भरत सम भाई ||12|| 
सहस बदन तुम्हरो जस गावें अस कहि श्रीपति कण्ठ लगावें | 
सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा नारद सारद सहित अहीसा ||14|| 
जम कुबेर दिगपाल कहाँ ते कबि कोबिद कहि सके कहाँ ते | 
तुम उपकार सुग्रीवहिं कीन्हा राम मिलाय राज पद दीन्हा ||16|| 
तुम्हरो मन्त्र विभीषन माना लंकेश्वर भये सब जग जाना | 
जुग सहस्र जोजन पर भानु लील्यो ताहि मधुर फल जानु ||18| 
प्रभु मुद्रिका मेलि मुख मांहि जलधि लाँघ गये अचरज नाहिं |
दुर्गम काज जगत के जेते सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते ||20|| 
राम दुवारे तुम रखवारे होत न आज्ञा बिनु पैसारे | 
सब सुख लहे तुम्हारी सरना तुम रक्षक काहें को डरना ||22|| 
आपन तेज सम्हारो आपे तीनों लोक हाँक ते काँपे | 
भूत पिशाच निकट नहीं आवें महाबीर जब नाम सुनावें ||24|| 
नासे रोग हरे सब पीरा जपत निरंतर हनुमत बीरा | 
संकट ते हनुमान छुड़ावें मन क्रम बचन ध्यान जो लावें ||26|| 
सब पर राम तपस्वी राजा तिनके काज सकल तुम साजा | 
और मनोरथ जो कोई लावे सोई अमित जीवन फल पावे ||28|| 
चारों जुग परताप तुम्हारा है परसिद्ध जगत उजियारा | 
साधु संत के तुम रखवारे। असुर निकंदन राम दुलारे ||30|| 
अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता। 
अस बर दीन्ह जानकी माता राम रसायन तुम्हरे पासा सदा रहो रघुपति के दासा ||32|| 
तुम्हरे भजन राम को पावें जनम जनम के दुख बिसरावें | 
अन्त काल रघुबर पुर जाई जहाँ जन्म हरि भक्त कहाई ||34|| 
और देवता चित्त न धरई हनुमत सेई सर्व सुख करई | 
संकट कटे मिटे सब पीरा जपत निरन्तर हनुमत बलबीरा ||36|| 
जय जय जय हनुमान गोसाईं कृपा करो गुरुदेव की नाईं | 
जो सत बार पाठ कर कोई छूटई बन्दि महासुख होई ||38|| 
जो यह पाठ पढे हनुमान चालीसा होय सिद्धि साखी गौरीसा |
तुलसीदास सदा हरि चेरा कीजै नाथ हृदय मँह डेरा ||40||

।।दोहा।। 
पवन तनय संकट हरन मंगल मूरति रूप | 
राम लखन सीता सहित हृदय बसहु सुर भूप ||



आपने सुना ही होगा हनुमान चालीसा पढ़ने के बहुत सारे फायदे है यहा किलक से पढे हनुमान चालीसा पढ़ने के फायदे |
तरक्की मे बांधा इन 5 तरीके से करे दूर

तरक्की मे बांधा इन 5 तरीके से करे दूर

तरक्की मे आए रुकावट तो आजमाए 5 तरीके होगा फायदा -

तरक्की मे बांधा आ जाए तो क्या करे - हर एक इंसान मेहनत करता है और चाहता है नाम हो पैसा हो और लोग उसे जाने | जिसके लिए हर इंसान जी तोड़ मेहनत भी करता है | ज़्यादातर लोग सफल हो जाते है लेकिन कुछ लोगो की समस्या होती है जैसे की वह मेहनत तो पूरी करते है लेकिन फिर भी तरक्की पाने मे असफल हो जाते है | तरक्की मे आए रुकावट के कारण कई लोग निराश होकर मेहनत करना ही छोड़ देते है |



आपके मेहनत करने के बाद भी असलता मिल रही है या फिर आपका बेडलक  [ खराब समय ] आपका पीछा नहीं छोड़ रहा तो अब अप परेशान न हो | क्योकि आज हम आपको 5 ऐसे आसान उपाय बताने वाले है जिनहे अपनाकर आप अपनी तरक्की मे आए रुकावट को आसानी से दूर कर सकते है |
जिन्न जीन्नात भूत को मारना और जिस्म से निकालने का एक तरीका

जिन्न जीन्नात भूत को मारना और जिस्म से निकालने का एक तरीका

jin jinnat bhoot ko marna aur jism se nikalne ka ek tareeqa:- 


जिन्न भूत को भगाना और जिन्न को मारना पीटना एक बड़े आलिम ए दिन इब्ने ताइमीया रह. के मुतबिक मजलूम भाई की मदद करना एक ईमान वाले भाई की मदद करना एक ईमान वाले का फर्ज है ! Asebzadah ( जिसे जिन्न के असरात हो ऐसा ) इंसान भी मजलूम है लेकिन अल्लाह के हुकुम के मतबीक इंसाफ के साथ मदद करना होगा ! अगर जिन्न समझाने के बाद भी ना माने तो उसे डाटडपट करना गाली गलौज करना धमकी देना और लात मलामत करना जायज है ! जैसा की प्यारे नवी (muhmmad sallahualayhi wasllam) ने उस शैतान के साथ किया जो आपके चेहरे मुबारक पर मारने के लिए आग का शोला ले कर आया था !


आप s.a.w.s. ने फरमाया था :-  मैं तुझसे अल्लाह की पनाह चाहता हूँ ! मैं तुझ पर अल्लाह की लानत भेजता हूँ ! इस तरह आपने तीन दफा फरमाया !
किसी आसेबजदह शक्स के इलाज यानी जिन्न को भगाने के लिए कुछ लोग उसे खुश कर के उसकी माँगे पूरी करके या किसी चीज़ की कुर्बानी देकर या किसी बकरा बकरी की बलि देकर जिन्न को भगाते है लेकिन रुहानी इल्म मे यह अमल नही अपनाया जाता बल्की जिस शक्स को असरात हो गये हो उसके जिस्म से जिन्न जीन्नात निकालने के लिए सबसे पहले उस जिन्न को समझया जाता है और और जब वह नही मानता है तो जिसे असरात हो उसे मारा जाता है और यह अमल आमिल लोग करते है जिससे यह मार जिन्न को लगती है ! इस तरह उस जिन्न खूब मारा पिता जाता है लेकिन यह बात अच्छी तरह समझ लिजिए की जरूरी नही की हर बीमारी का इलाज इसी तरह किया जाए और हर बीमारी को जिन्न भुत से जोड़ कर देखा जाए बल्की सबसे पहले डॉक्टर को दिखाया जाए और अगर कोई बीमारी हो तो इलाज किया जाए !

पढ़े :-
1. जीन्नात की आबीदी ( तादाद )
2. Mohabbat KA Amal Surah Falak Ki Taweez Se
जीन्नात की जानाकरी - जीन्नात क्या है

जीन्नात की जानाकरी - जीन्नात क्या है

Jinnaat Ki Jankari - Jinnat Kya Hai ?

इंसानों और फरिश्तों और दूसरे हवानौ के इलावा अल्लाह पाक ने एक और कौम इबादत के लिए बनाया है जिसको जीन्नात कहते है और इसकी तस्दीक कुरान से देख ले !

surah dhariyat verse no 56
وَمَا خَلَقْتُ الْجِنَّ وَالْإِنسَ إِلَّا لِيَعْبُدُونِ ﴿٥٦﴾ (56) اور میں نے جنّات اور انسانوں کو صرف اسی لئے پیدا کیا کہ وہ میری بندگی اختیار کریں، 
जीन्नात को अल्लाह पाक ने आग से पैदा किया है और इंसान को मिट्टी से !

surah rehman verse no 15
وَخَلَقَ الْجَانَّ مِن مَّارِجٍ مِّن نَّارٍ ﴿١٥﴾ (15) اور جنّات کو آگ کے شعلے سے پیدا کیا،

जीन्नात और इंसानों मे कुछ चीजो मॉ फर्क होता है ! जीन्नात इंसानों को नज़र नही आते है इसकी तस्दीक कुरान मे है !


surah al araf verse no 27
يَا بَنِي آدَمَ لَا يَفْتِنَنَّكُمُ الشَّيْطَانُ كَمَا أَخْرَجَ أَبَوَيْكُم مِّنَ الْجَنَّةِ يَنزِعُ عَنْهُمَا لِبَاسَهُمَا لِيُرِيَهُمَا سَوْآتِهِمَا ۗ إِنَّهُ يَرَاكُمْ هُوَ وَقَبِيلُهُ مِنْ حَيْثُ لَا تَرَوْنَهُمْ ۗ إِنَّا جَعَلْنَا الشَّيَاطِينَ أَوْلِيَاءَ لِلَّذِينَ لَا يُؤْمِنُونَ ﴿٢٧﴾ (27) اے آدم کی اولاد تمہیں شیطان نہ بہکائے جیسا کہ اس نے تمہارے ماں باپ کو بہشت سے نکال دیا ان سے ان کے کپڑے اتروائے تاکہ تمہیں ان کی شرمگاہیں دکھائے وہ اور اس کی قوم تمہیں دیکھتی ہے جہاں سے تم انہیں نہیں دیکھتے ہم نے شیطانوں کو ان لوگوں کا دوست بنادیا ہے جوایمان نہیں لاتے

जीन्नात इंसान से पहले से इस दुनिया मे है इसकी तस्दीक कुरान पाक मे है देखले !


surah hijar verse no 26,27
وَلَقَدْ خَلَقْنَا الْإِنسَانَ مِن صَلْصَالٍ مِّنْ حَمَإٍ مَّسْنُونٍ ﴿٢٦﴾ (26) اور البتہ تحقیق ہم نے انسان کو بجتی ہوئی مٹی سے جو سڑے ہوئے گارے سے تھی پیدا کیا وَالْجَانَّ خَلَقْنَاهُ مِن قَبْلُ مِن نَّارِ السَّمُومِ ﴿٢٧﴾ (27) اور ہم نے اس سے پہلے جنوں کو آگ کے شعلے سے بنایا تھا

नेक और बद जिन्न :- 
जो मख्लूक अल्लाह की ना फ़रमान है इसको शैतान कहते है और जो नेक और गायर मौजर इनको जिन्न कहते है !

जीन्नात की ताकत :-
अल्लाह ताला ने जीन्नो को ऐसे सलेहत और ताकत बख्शे है जो इंसानों को भी नही बख्शे है ! अल्लाह ने इनको इतनी ताकत दी है की जीन्नात मिनटों सेकोन्डो मे एक जगह से दूसरे पहुँच जाती है !


surah namal verse no 39,40
قَالَ عِفْرِيتٌ مِّنَ الْجِنِّ أَنَا آتِيكَ بِهِ قَبْلَ أَن تَقُومَ مِن مَّقَامِكَ ۖ وَإِنِّي عَلَيْهِ لَقَوِيٌّ أَمِينٌ ﴿٣٩﴾ (39) جنوں میں سے ایک دیو نے کہا میں تمہیں وہ لا دیتا ہوں اس سے پہلے کہ تو اپنی جگہ سے اٹھے اور میں اس کے لیے طاقتور امانت دار ہوں قَالَ الَّذِي عِندَهُ عِلْمٌ مِّنَ الْكِتَابِ أَنَا آتِيكَ بِهِ قَبْلَ أَن يَرْتَدَّ إِلَيْكَ طَرْفُكَ ۚ فَلَمَّا رَآهُ مُسْتَقِرًّا عِندَهُ قَالَ هَـٰذَا مِن فَضْلِ رَبِّي لِيَبْلُوَنِي أَأَشْكُرُ أَمْ أَكْفُرُ ۖ وَمَن شَكَرَ فَإِنَّمَا يَشْكُرُ لِنَفْسِهِ ۖ وَمَن كَفَرَ فَإِنَّ رَبِّي غَنِيٌّ كَرِيمٌ ﴿٤٠﴾ (40) اس شخص نے کہا جس کے پاس کتاب کا علم تھا میں اسے تیری آنکھ جھپکنے سے پہلے لا دیتا ہوں پھر جب اسے اپنے روبرو رکھا دیکھا تو کہنے لگا یہ میرے رب کا ایک فضل ہے تاکہ میری آزمائش کرے کیا میں شکر کرتا ہوں یا ناشکری اور جو شخص شکر کرتا ہے اپنے ہی نفع کے لیے شکر کرتا ہے اورجو ناشکری کرتا ہے تو میرا رب بھی بے پرواہ عزت والا ہے

जीन्नात की फिजा मे उड़ने की लिमिट ( limit ):-

जीन्नात 1 limit तक ही उड़ सकता है फिजा मे ! इससे ज्यादा ऊपर नही उड़ सकता है ! अल्लाह ताला ने इन पर हद बन्द दी है जिँनातो पर !


surah jinn verse no 8,9
وَأَنَّا لَمَسْنَا السَّمَاءَ فَوَجَدْنَاهَا مُلِئَتْ حَرَسًا شَدِيدًا وَشُهُبًا ﴿٨﴾ (8) اور ہم نے آسمان کو ٹٹولا تو ہم نے اسے سخت پہروں اور شعلوں سے بھرا ہو ا پایا وَأَنَّا كُنَّا نَقْعُدُ مِنْهَا مَقَاعِدَ لِلسَّمْعِ ۖ فَمَن يَسْتَمِعِ الْآنَ يَجِدْ لَهُ شِهَابًا رَّصَدًا ﴿٩﴾ (9) اورہم نے اس کے ٹھکانوں میں سننے کے لیے بیٹھا کرتے تھے پس جو کوئی اب کان دھرتا ہے تو وہ اپنے لیے ایک انگارہ تاک لگانے ہوئے پاتا ہے


जीन्नात का fun और महारते :- 
जीन्नात ऐसी ताकतवर कौम है जो बड़े बड़े इमारतें और दूर दराज से चीजे लाकर दें सकते है ! जीन्नात बड़े बड़े काम कर सकता है ! कुरान पाक मे जिक्र है इसके बारे मे !

Surah saba verse no 12,13
وَلِسُلَيْمَانَ الرِّيحَ غُدُوُّهَا شَهْرٌ وَرَوَاحُهَا شَهْرٌ ۖ وَأَسَلْنَا لَهُ عَيْنَ الْ

पढ़े :- 
1. जीन्नात की आबीदी ( तादाद )
2. Mohabbat KA Amal Surah Falak Ki Taweez Se
जीन्नात की आबीदी ( तादाद )

जीन्नात की आबीदी ( तादाद )

Jinnat KI Tadad (Abadi):-

1) रवायत मे आता है की जो जीन्नात औरतो और मर्दो को सताया करते है वह बहूत सारी किस्मों के होते है ! जीन्नात की 70 कौम होते है और हर कौम मे का 70 हजार क़बीला मे 70 हजार अफराद है मतलब अगर आसमान से सुई फेंकी जाए तो वो ज़मीन पर नही गिरेगी इनके सरो पर रुक जाएगी !


2) अब मैं आपको हज़रत सूफी जी के तजुर्बा के बुनियाद पर बताता हूँ ! अमल और अम्लीयात अगर जादूगर के पास जीन्नतो का बादशाह है तो उस बादशाह के अंदर ज्यादा से जयदा 70000 जिन्न होंगे ! अमौमन बादशाह के अंडर मे 40000 से लेकर 70000 तक जिन्न होते है क्योंकि हज़रत सूफी हफीज ने इतने जिन्न मारे है और बहूत सारे बादशाहों को हराया है ! और उनके किये gye काम के तजुर्बे के हिसाब से इतनी quntity होती है ! जादूगर को सिर्फ 1 दफा बादशाह को काबू करना होता है और इन दोनो का दरम्यान agrement होता है ! और जब agrement तह हो जाता है तो फ़िर जादूगर को सारी जिंदगी ऊन बातो की ताकीद करनी होती है !


बादशाहे नल निजाम का जिक्र कूरान पाक मे
al namal verse no 34

قَالَتْ إِنَّ الْمُلُوكَ إِذَا دَخَلُوا قَرْيَةً أَفْسَدُوهَا وَجَعَلُوا أَعِزَّةَ أَهْلِهَا أَذِلَّةً ۖ وَكَذَ‌ٰلِكَ يَفْعَلُونَ ﴿٣٤﴾ (34) کہنے لگی بادشاہ جب کسی بستی میں داخل ہوتے ہیں اسے خراب کر دیتے ہیں اور وہاں کے سرداروں کو بے عزت کرتے ہیں اور ایسا ہی کریں گے



3 ) अगर जादूगर ने जीन्नतो का सरदार को काबू किया हुआ तो समझ ले उसके पास भरी फौज है ! हज़रत सूफी हफीज के एक अंदाज़न से उस सरदार के कबीले मे 800 से 1200 करीब की तादात मे जीन्नात होते है क्योंकि हज़रत सूफी हफीज कई सरदारों और उनके कबीलों का खात्मा कर चुके है इसलिए मैं उनके कहने पर इनकी तादाद बता रहा हूँ ! सरदार से भी जादूगर को agrement करना पड़ता है और उसको अपनी माँ बहन पेश करनी होती है यहाँ तक की वो अपनी बीबी को भी पेश कर देता है ताकि सरदार खुश हो जाए और जब सरदार खुश हो जाता है तो फ़िर जादूगर की सारी बात मानता है और ऊन दोनो के दरम्यान agrement तह होता है और सरदार कुछ सिफ़लि मोकीलत इस जादूगर की खिदमत के लिए मौहैया कर देता है जो जादूगर की वक्त वक्त मदद करते है !


सरदाररे निजाम का जिक्र कूरान पाक मे
surah al anaam verse no 123

وَكَذَ‌ٰلِكَ جَعَلْنَا فِي كُلِّ قَرْيَةٍ أَكَابِرَ مُجْرِمِيهَا لِيَمْكُرُوا فِيهَا ۖ وَمَا يَمْكُرُونَ إِلَّا بِأَنفُسِهِمْ وَمَا يَشْعُرُونَ ﴿١٢٣﴾ (123) اور اسی طرح ہر بستی میں ہم نے گناہگاروں کے سردار بنا دیےہیں تاکہ وہاں اپنے مکرو فریب کا جال پھیلائیں حالانکہ وہ اپنے فریب کے جال میں آپ پھنستے ہیں مگر وہ سمجھتےنہیں

4 अगर जादूगर के पास जीन्नातो का बहूत बड़ा गिरोह है शेतानौ का तो फ़िर उसके पास लतादत जीन्नात है यानी unlimited ! क्योंकि इस दुनिया मे बहूत से अल्लाह पाक ने शैतान पैदा किए है और जो शेतान है वह शैतान की मदद करता है और ज़रूरत पढ़ने पर शैतानो मे इतना ज्यादा ईतेदाद होता है की वह एक दूसरे के लिए जान भी देने के लिए तैयार रहते है ! शैतानो के गिरोह मे एक बड़ा शैतान हकीम होता है जो इन छोटे शैतानो का leader होता है ! इन शैतानो मे बड़े बड़े आलिम अमेल क्लेम जीन्नात खतरनाक से खतरनाक जादू टोना करने वाले जीन्नात 24 घंटा अमल करके जादू करने वाले जीन्नात होते है ! इन शैतानो को दो चीजे बहूत पसन्द होती है !


1. मिया बीबी को आपस मे लड़ाना
2. औरतो से सेक्स करना

इनको जादूगर का सबसे अच्छा काम वह लगता है जब जादूगर इनको मिया बीबी को जुदा करने का ऑर्डर देता है ! और इनको लड़कियों के साथ sex करने मे बहूत मजा आता है आप खुद गौर करे की एक लड़की अगर किसी भी शख्स से sex करे और मर्द को हुकुम दें तो वो ताले गा ? हरगिज़ नही बल्की वह मर्द उसकी हर बात मानेगा बस यही हाल इन शैतानो का है ! जब जादूगर इनकी हजात पूरी करवा देता है तो यह उस पर निछावर हो जाता है और हर हुक्म मान लेटे है और इस किस्म के जीन्न्नतो को मारो तो यह आते रहते है एक के बाद एक ! अब इस स्थिति मे पूरा गिरोह ख़त्म करना पड़ता है और बहूत समय लगता है और ऐसे जीन्नतो के गिरोह से जान छुड़ाने मे समय लगता है ! किसी की जान छोटी 1 साल किसी की 3 साल मे किसी की 10 साल मे और किसी की 12 साल मे !

गिरोह का जिक्र कूरान पाक मे भी किया गया है 
kafe makamat pa allah tala na
surah al anaam verse no 128
وَيَوْمَ يَحْشُرُهُمْ جَمِيعًا يَا مَعْشَرَ الْجِنِّ قَدِ اسْتَكْثَرْتُم مِّنَ الْإِنسِ ۖ وَقَالَ أَوْلِيَاؤُهُم مِّن makamat pa allah tala na
surah al anaam verse no 128
وَيَوْمَ يَحْشُرُهُمْ جَمِيعًا يَا مَعْشَرَ الْجِنِّ قَدِ اسْتَكْثَرْتُم مِّنَ الْإِنسِ ۖ وَقَالَ أَوْلِيَاؤُهُم مِّن

पढ़े :-
1. Mohabbat KA Amal Surah Falak Ki Taweez Se
2. भूत व प्रेतबाधा मुक्ति के 10 सरल उपाय 
3. Jinaat Bhut Shetaan Ko Chiraag Me Jalane Ka Tarika Hindi Me
काला भैरव मंत्र हर काम के लिए

काला भैरव मंत्र हर काम के लिए

Kala Bhairav Mantra (har kam k liye :-
 


काला भेरौ हिंदू लोगों के देवता है और बहूत ही ताकत है इस अमल मे कोई हाजिरी नही है मगर तस्खीर बातीनी है यानी नज़र कुछ नही आएगा मगर इस अमल के जरिये भेरव से हर काम ले सकते है मगर काम लेने के बाद उसको भेट देना ज़रूर चाहिये ! और यह अमल काफी आसान है और बहूत ही ताकतवर अमल है और इस से अपना कोई भी काम करवा सकते है !

Kala Bherav Mantra:

"Kala bhairo kala baan,
Hath khapre phire masaan,
Mad machli ka bojhan kary,
Sancha bhairo hankta chale,
Kala ka laadla bhooto ka beopari,
Dankni sakni sodagiri charr chatak tapak pacharr,
Sar khula mukh bala nai to mat kalka ka doodh haram kare,
Sabad sancha pind kaancha chalu bhairon aseeru bacha,
Mari sakat guru ki bhagat,
Jis kam ka kaho kar k laai,
Nahi to maara kali se paye maara kankali se paye"

Kala Mantr Use Karne Ki Trakib :- 

108 times for 40 night


Ingredients:

1-Fish(machli)
2-Liquor(sharaab)
3-Google+loban(bakhoor)

घड़ा मट्टी का तोड़ कर आगेयारी बना ले ! कोयला जलाकर धूयेनि देवे, चिराग क्डुवे टेल का जलावे googal सूलग्ता रहे, और जब अमल 108 बार पड़ ले तो मछली के कबाब और शराब आगेयारी मे डाल दें ! यह अमल 40 दिन मे पूरा होगा फ़िर आठवें दिन भोग देना होगा और फ़िर जो काम कहे पूरा होगा !

Note: बिना इजाजत ना करे और इजाजत के लिये राब्ता करे !

Cont :- nghosi7@gmail.com
जीन्नात से दोस्ती करने का मुज्जारीब अमल

जीन्नात से दोस्ती करने का मुज्जारीब अमल

Jinnat se dosti ka mujjarib amal :- 

जीन्नात से दोस्ती का मुज्जारीब अमल जो नगीना बाबा शाह का खुद का अजमाया हुआ है ! यह अमल बहूत ही लाजवाब है ! और अगर आप इसे करना चाहते है तो इजाजत लेकर करे या फ़िर किसी उस्ताद की निगरानी मे करे !


AMAL ( अमल ) :- Surah Taubah Ayat 128,

Laqad jaa'akum rasulun min anfusikum
AAaziizun AAalayhi ma AAanittum hariisun
AAalaykum bilmu' minina ra ufur rahiim




JINNAT SE DOSTI KARNE KI TARKEEB (तरीका) :- 

अगर आप जीन्नात से दोस्ती करना चाहते है तो ऊपर बताए गये आयत को रोजाना इस की तादाद के बराबर यानी (2929) मर्तबा ! और वक़्त muqarrara पर एक अलग ROOM (कमरे ) मे (41) roz (दिन) तक पढ़े और अपने गिर्द हिसार करले और परहेज़ जलाली और जमाली करे तो बेहतर होगा ! और अमल करने के 2 HOUR तक कोई भी बदबू वाली डेर सय ना खाए और हमेशा याद रख्खे की अमल करते समय पाक साफ रहकर अमल किया करे ! जब यह अमल आप करेंगे तो पहले (31) रोज़ (दिन) "jinn" हाज़िर होगा और आपकी तिलावत सुनकर वह वापस चला जाएगा ! इस अमल मे इजाजत लेना ही कामयाबी की दलील है ! मैं कई बार बता चुका हूँ की कामयाबी बहूत जरूरी है वरना रूजात या जन का खौफ है ! और इजाजत लेकर या फ़िर किसी उस्ताद की निगरानी मे अमल करे तो कामयाबी यकीनन मिलेगी !

अगर आपको यह अमल करना है तो आप हज़रत सूफी हफीज की इजाजत लेकर कर सकते है !
EMAIL :- nghosi@gmail.com
दुआ मे याद रखे

यह पढ़े :-
1. Mohabbat KA Amal Surah Falak Ki Taweez Se
2. Jinaat Bhut Shetaan Ko Chiraag Me Jalane Ka Tarika Hindi Me
3. जीन्नात को एक दिन मे वश मे करने का आसान अमल
Mohabbat KA Amal Surah Falak Ki Taweez Se

Mohabbat KA Amal Surah Falak Ki Taweez Se

Kisi Ko Mohabbat Me Lane Ka Tarika; ladki Ya ladka ko Bas Me Karne Ka Tarika


सबसे पहले नीचे दिये हुए तावीज का प्रिंट कराले और तावीज से जिसको मोहब्बत मे दीवाना करना है उसका नाम पीछे लिख दे ! इस तरह :-  अल हुब फला बिन फला अला हूब फला बिन फला !
फला बिन फला की जगह की जगह जिस इंसान पर अमल करना है उसका नाम और उसकी माँ का नाम लिखे  !
अगर चाहत है की मर्द औरत से मोहब्बत करे तो नाम औरत का पहले और मर्द का बाद का पीछे लिखी और अगर चाहत है की औरत मर्द से मोहब्बत करे तो नाम मर्द का औरत के नाम से पहले लिखे और लिखते वक्त मुँह मे चीनी खाए और अगर यह सब समझ मे नही आया कैसे करना है तो फ़िर इस आसान से तरीके से लिखे :- EX- या अल्लाह रजीआ बीनते रशीदा को असगर बिन बानो की मोहब्बत मे बेकरार करदे की वह असगर से इश्क करे !



फ़िर इस पर सुरह फलक 10000 दफा पढ़कर दम करे एक ही स्थिति मे पढ़ना है ! इसके बाद इस तावीज को एक ग्लास पानी मे डालकर भीगा कर एक रात तक फ़िर आपने जिसके नाम का तावीज बनाया है उसको किसी तरह पीला दे या फ़िर उसके खाने मे यह पानी मिला दे या फ़िर कोल्डड्रिंक मे ! जब वह घर जाएगा जिसने यह पानी पिया होगा तो उसे उसी रात ऊसके दिमाग मे आपसे मोहब्बत करने के लिये आता रहेगा या सोचता रहेगा ! ऐसा केवल एक बार ही करना होता है और इसका असर तीन दिन मे जाहिर हो जाता है !

Note:- सिर्फ शादी की नियत करने वाले लोग यह करे !
Jinaat Bhut Shetaan Ko Chiraag Me Jalane Ka Tarika Hindi Me

Jinaat Bhut Shetaan Ko Chiraag Me Jalane Ka Tarika Hindi Me

Zin Zinnaat Bhut Pret Shetaan Sabse Se Chutkaraa Paane Ka Tarika :-

Zin Zinnaat Bhut Pret Shetaan Sabko Bhagane Ka Tarika :-


सबसे पहले ऊपर दिये हुए नकाश का प्रिंट ( PhotoCopy) करा लीजिये ! और फ़िर नकाश के पीछे मरीज का नाम और उसकी माँ का नाम लिख कर यह लिखे :-जो कुछ इस मरीज के जिस्म मे है और तकलीफ देता है ये मुवक्किलो इस को जला दो !
अगर घर मे जीन्नात है तो फ़िर नकाश के पीछे ऐसे लिखे:- जो कोई जिन; शेतान इस घर मे है ये मुवक्किलों इस को जला दो !
अगर जादूगर को हराना है या उसके पास जो जीन्नात है उसको मारना है तो ऐसे लिखे ! ए मुवक्किलों जादूगर का नाम और उसकी माँ का नाम [ ( Ex- Sonu बिन अबरार )  मर्द हो तो बिन लिखा जाएगा और अगर औरत है तो बिनते लिखा जाएगा ! ] ......इसके पास जितना भी जीन्नात है  आप ऊन सभी को ख़त्म कर दे !
अगर जादूगर का नाम वगेरह नही मालूम तो फ़िर ऐसे लिखे ए मुवक्किलों जो कोई भी इंसान मुझ पर अपना जीन्नात छोड़ रहा है और जो कोई भी मुझ पर जादू कर रहा है आप उसका सारे जीन्नात जिस भी किस्म के है ऊन सभी को ख़त्म करदे !
इस नकाश मे जहाँ 7 नम्बर लिखा है उधर से लपेटकर मोड़ ( fold ) ले ! जब fold जाए तो तो जहाँ 41 नम्बर लिखा हुआ है उधर से धागा लपेटे पूरे नकाश पर और धागा लपेटने के बाद 41 नम्बर वाली जगह काला मार्कर्स ( या pen ) से निशान लगा दे क्योंकि तावीज उधर से ही जलाना है ! अब एक चिराग ले ले और उसमे घी ( गाय का घी ghee ) डालकर नकाश को घी मे डुबाए ! फ़िर 41 no वाली साइड से नकाश को जलाए ! अब जैसे जैसे नकाश जलता जाए तो नकाश की लो (ज्वाला) को ऊपर करते जाए ताकि नकाश पूरा जले ! और तमाम आदत जालाए ! इस नकाश को जलाते वक्त अपना और नकाश दोनो का हिसार कर ले !

Important:- जब आप जीन्नात को जलाना शुरू करेंगे तो जीन्नात/शेतान जो भी है वह आएगा ऐसे मे डरना की ज़रूरत बिल्कुल भी नही है और ऊपर जो तावीज (tabij)  है! उसकी कम से कम 60 - 100 तक कॉपी करके रखले क्योंकि एक तावीज से सारे जीन्नात नही मरेगा !  इसलिए जैसे जैसे तावीज जलता जाए दूसरा तावीज fold करके तैयार रखखे और जब पहला पूरा जल जाए तो दूसरे को चिराग चिराग मे डालकर जलना शुरू करे ! ताकि आपका process चलता रहे ! और अपने पास extra घी भी रखखे ताकि घी कम पड़ने पर भाग दौड़ करना ना पड़े ! और वही पर extra copyes भी रखखे और अगर जीन्नात/शेतान जो भी धमकाये तो उनसे बिल्कुल भी डरने की ज़रूरत नही है क्योंकि कुछ ही सेकंड मे मुवक्किल (मोवकीलात) उनका काम तमाम कर देंगा !

हिसार-: जब आप यह काम करने बैठे सुरह अल हम्द आयतल कुर्सी और 4 कुल को 3 बार  पढ़कर अपनी उँगली पर दम करे और अपना गिर्द दहेरा बँद दहेरा इस तरह बांध कर पूरा सही से गुल हो अगर बीच मे कोई भी जगह खाली रह गयी तो समझिए जीन्नात या माकुल हिसार के अंदर घुस जाएगा ! और आपको नुकसान होने का खतरा हो सकता है !