रुद्राक्ष के प्रकार पहचान धारण नियम मतलब फायदे समझे rudraksha fayde niyam

रुद्राक्ष के प्रकार पहचान धारण नियम मतलब फायदे समझे rudraksha fayde niyam

रुद्राक्ष ke fayde उपयोगरुद्राक्ष को हिन्दू धर्म मे बहुत ही महत्व है रुद्राक्ष के कई प्रकार होते है आज हम आपको रुद्राक्षो के बारे मे जानकारी देने वाले है जैसे -  रुद्राक्ष के प्रकार,  रुद्राक्ष के उपयोग लाभ इत्यादि |

रुद्राक्ष अगर आप पहनने की सोच रहे है तो आपको बता दे  रुद्राक्ष आप जब भी पहने तो  रुद्राक्ष को मंत्र और देवता जाप करके ही पहने | क्योकि ऐसा करके  रुद्राक्ष पहनने वाले को लाभ प्राप्ति होती है |

rudraksha the tears of lord shiva, rudraksha the divine power............................|

रुद्राक्ष की उत्पत्ति rudraksha Ki Utpatti

हिन्दू पुराणो के अनुसार rudraksha की उत्पत्ति के बारे मे कहा जाता है कि कई सालो कि तपस्या करने के बाद देवो के देव महादेव, भगवान शिव जी ने जब अपनी आंखे खोली तो उनकी आंखो से आँसू धरती पर गिरे और फिर रुद्राक्ष के पेड़ बन गए | आज हम आपको पुराणो से 14 प्रकार के रुद्राक्ष के बारे मे बताने वाले है |

rudraksh ki pahchan


आइये जाने 14 रुद्राक्ष प्रकार के बारे मे - 

एक मुखी रुद्राक्ष - इस रुद्राक्ष को शिव जी के सबसे करीब माना जाता है अगर किसी को धन, दौलत और भौतिक चीजों कि चाहत होती है तो वह लोग एक मुखी रुद्राक्ष को धरण करते है |
एक मुखी रुद्राक्ष धारण मंत्र जाप- ॐ ह्रि नमः 

दो मुखी रुद्राक्ष - यह रुद्राक्ष अर्धनारिशवर देवता कहलाता है | इस रुद्राक्ष कि खास बात है यह इच्छाओ को पूरी करने कि शक्ति रखता है |
दो मुखी रुद्राक्ष धारण मंत्र जाप- ॐ नमः

तीन मुखी रुद्राक्ष - यह अग्नि देवता का रुद्राक्ष कहलाता है | अगर किसी को अपनी इच्छाए जल्दी पूरी करनी हो तो इस रुद्राक्ष को धारण कर सकते है |
तीन मुखी रुद्राक्ष धारण मंत्र जाप- ॐ क्ली नमः

चार मुखी रुद्राक्ष - इस रुद्राक्ष को ब्रह्मा का रुद्राक्ष कहते है अगर कोई इसे धारण करे तो उसे धर्म, अर्थ, काम मोक्ष कि प्राप्ति होती है | 
चार मुखी रुद्राक्ष धारण मंत्र जाप- ॐ ह्रि नमः

पाँच मुखी रुद्राक्ष - यह कालग्नि रुद्राक्ष कहलाता है इसे धारण करने से व्यक्ति कि परेशानी से छुटकारा मिलता है |
पाँच मुखी रुद्राक्ष धारण मंत्र जाप- ॐ ह्रि नमः

छः मुखी रुद्राक्ष - यह रुद्राक्ष कार्तिकेय का रुद्रक्ष कहलाता है | इसे पहनने से ब्रहमह्त्या के पाप से मुक्ति मिलती है |
छः मुखी रुद्राक्ष धारण मंत्र जाप- ॐ ह्रि हुम नमः

सात मुखी रुद्राक्ष - यह रुद्राक्ष सप्तर्षि सप्तमातृकए रुद्राक्ष कहलाता है | अगर किसी को अधिकतम धन कि हानी हो गई हो और उस हानी से बाहर निकालने का रास्ता न मिल रहा हो ऐसे मे इस रुद्राक्ष को धारण करना चाहिए |
सात मुखी रुद्राक्ष धारण मंत्र जाप- ॐ हूं नमः

आठ मुखी रुद्राक्ष - अगर कोई रोगी हो और रोग ठीक न हो रहा हो तो इस आठ मुखी रुद्राक्ष को उसे धारण करना चाहिए | यह रोगमुक्त करने के लिए फायदेमन्द है |
आठ मुखी रुद्राक्ष धारण मंत्र जाप- ॐ हुम नमः

नौ मुखी रुद्राक्ष - यह रुद्राक्ष देवियो का स्वरूप कहलाता है | अगर समाज मे प्रतिष्ठा कि चाहत हो तो आपको नौ मुखी रुद्राक्ष को धारण करना चाहिए |
आठ मुखी रुद्राक्ष धारण मंत्र जाप- ॐ ह्रि हुम नमः

दस मुखी रुद्राक्ष - इस रुद्राक्ष को विष्णु का स्वरूप माना जाता है इस रुद्राक्ष को पहनने से खुशियो कि प्राप्ति होती है |
दस मुखी रुद्राक्ष धारण मंत्र जाप- ॐ ह्रि नमः

ग्यारह मुखी रुद्राक्ष - यह रुद्राक्ष रुद्रदेव का स्वरूप कहलाता है | अगर आप जीवन मे सफल या सफलता पाने कि चाह रखते है तो इस रुद्राक्ष को धारण कर सकते है |
ग्यारह मुखी रुद्राक्ष धारण मंत्र जाप- ॐ ह्रि हुम नमः

बारह मुखी रुद्राक्ष - इस रुद्राक्ष को अन्य से भिन्न माना जाता है और इसे बालो मे पहना जाता है | 
बारह मुखी रुद्राक्ष धारण मंत्र जाप- ऊँ क्रौ छौ रौ नमः

तेरह मुखी रुद्राक्ष - अगर सौभाग्य किसी को चमकाना हो तो उसे तेरह मुखी रुद्राक्ष को पहनना चाहिए |
तेरह मुखी रुद्राक्ष धारण मंत्र जाप- ॐ ह्रि नमः

चौदह मुखी रुद्राक्ष - यह रुद्राक्ष पापो से मुक्ति पाने के पहना जाता है इसके जाप ॐ नमः है |
श्री राधा जी के 32 नाम क्या आपको पता है radha name hindi benefits

श्री राधा जी के 32 नाम क्या आपको पता है radha name hindi benefits

अगर आप श्री राधा जी के 32 नामो का स्मरण करते है तो आपके जीवन मे सुख, प्रेम और शांति की प्राप्ति होगी लेकिन क्या आपको श्री राधा जी के 32 नाम पता है क्या ?? अगर नहीं तो आइये जाने राधा जी 32 नाम जिससे आपके जीवन मे शांति और सुखमय योग बनेगे |
रावण संहिता के उपाय चमकाते है किस्मत
radha maa ki photo

कर जोरि वन्दन करूं मैं_ नित नित करूं प्रणाम_ रसना से गाती/गाता रहूं_ श्री राधा राधा नाम


मृदुल भाषिणी राधा ! राधा !! 
सौंदर्य राषिणी राधा ! राधा !! 
परम् पुनीता राधा ! राधा !! 
नित्य नवनीता राधा ! राधा !! 
रास विलासिनी राधा ! राधा !! 
दिव्य सुवासिनी राधा ! राधा !! 
नवल किशोरी राधा ! राधा !! 
अति ही भोरी राधा ! राधा !! 
कंचनवर्णी राधा ! राधा !! 
नित्य सुखकरणी राधा ! राधा !! 
सुभग भामिनी राधा ! राधा !! 
जगत स्वामिनी राधा ! राधा !! 
कृष्ण आनन्दिनी राधा ! राधा !! 
आनंद कन्दिनी राधा ! राधा !! 
प्रेम मूर्ति राधा ! राधा !! 
रस आपूर्ति राधा ! राधा !! 
नवल ब्रजेश्वरी राधा ! राधा !! 
नित्य रासेश्वरी राधा ! राधा !! 
कोमल अंगिनी राधा ! राधा !! 
कृष्ण संगिनी राधा ! राधा !! 
कृपा वर्षिणी राधा ! राधा !! 
परम् हर्षिणी राधा ! राधा !! 
सिंधु स्वरूपा राधा ! राधा !! 
परम् अनूपा राधा ! राधा !! 
परम् हितकारी राधा ! राधा !! 
कृष्ण सुखकारी राधा ! राधा !! 
निकुंज स्वामिनी राधा ! राधा !! 
नवल भामिनी राधा ! राधा !! 
रास रासेश्वरी राधा ! राधा !! 
स्वयं परमेश्वरी राधा ! राधा !! 
सकल गुणीता राधा ! राधा !! 
रसिकिनी पुनीता राधा ! राधा !! 

अगर कोई व्यक्ति पुरे श्र्धा भाव से राधा नाम के नाम को जपता है उस व्यक्ति को प्रभु गोद मे बेठाकर अपना स्नेह देते है | ब्रहमवैवर्त पुराण मे इस बात को खुद श्री विष्णु जी ने कहा है कि जो व्यक्ति जाने अंजाने मे राधा नाम कहेगा उसके आगे मे सुदर्शन लेकर चलता हु और उसके पीछे भगवान शिव जी उनका त्रिसुल लेकर चलते है साथ ही दायी और इन्द्र व्रज और बाई और वरुण देव छत्र लेकर चलते है |
बजरंग बली हनुमान के 12 बारह नाम जपने के फायदे hanuman name benefits

बजरंग बली हनुमान के 12 बारह नाम जपने के फायदे hanuman name benefits

bajrang bali Hanuman - बजरंग बली हनुमान के 12 नाम को अगर कोई स्मरण करता है तो उस व्यक्ति की उम्र बढ़ जाती है | इसके साथ ही बजरंग बली हनुमान जपने से दुनिया या संसार के समस्त सांसारिक सुखो की प्राप्ति होती है | हनुमान जी के जो 12 नाम है उसे अधिक संख्या मे जपने से श्री हुनुमानजी महराज 10 दिशाओ एंव आकाश पताल से रक्षा करते है |
भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग के नाम, स्थान कहा है
hanuman photo image sanjivni buti

12 नाम बजरंग बली हनुमानजी के 

  1. ॐ हनुमान 
  2. ॐ अंजनी सुत 
  3. ॐ वायु पुत्र 
  4. ॐ महाबल 
  5. ॐ रामेष्ठ 
  6. ॐ फाल्गुण सखा 
  7. ॐ पिंगाक्ष 
  8. ॐ अमित विक्रम 
  9. ॐ उदधिक्रमण 
  10. ॐ सीता शोक विनाशन 
  11. ॐ लक्ष्मण प्राण दाता 
  12. ॐ दशग्रीव दर्पहा
हनुमान जी के 12 नाम जपने के फायदे -
  • रोजाना सुबह सो कर उठते ही जिस भी व्यवस्था मे हो हनुमान जी बारह नाम को ग्यारह बार लेने से लंबी उम्र की प्राप्ति होती है |
  • नित्य नियम के समय जो भी व्यक्ति hanuman ji के बारह नाम लेगा उसे इष्ट की प्राप्ति होगी |
  • दिन के दुपहर मे अगर बारह नाम कोई लेगा तो वह व्यक्ति धनवान हो जाएगा और दुपहर संध्या पर अगर नाम जपा जाए तो सुखो की प्राप्ति होती है |
  • शत्रु पर विजय या हराने के लिए आप रात्रि के समय हनुमान जी 12 नाम लेते रहे |
  • अगर किसी को सरदर्द समस्या हो रही हो तो हर मंगलवार लाल स्याही से भोज्प्त्र पर हनुमान जी के बारह नाम लिखे और मंगलवार के दिन ही ताबीज को बांध ले इस तरह आपको कभी भी सरदर्द समस्या नहीं होगी |
  • ताबीज को गले या फिर बाजू पर ताबे की ताबीज बनाकर बांधना बढ़िया होता है | भोज पत्र पर प्रयोग किया जाने वाला पेन या कल्म नया प्रयोग मे लाए |
रावण संहिता के यह उपाय जो चमका सकती है आपकी किस्मत

रावण संहिता के यह उपाय जो चमका सकती है आपकी किस्मत

Ravan Sanhita Ke upay Aur totke Hindi - भारतीय कहानियो मे रावण के बारे मे कहा गया की वह एक असुर था साथ ही वह समस्त शास्त्रो का का जानकार और प्रकाण्ड पंडीत भी था | कहानियो से पता चलता है कि रावण ज्योतिष और तंत्र सम्बन्धी ज्ञान के लिए रावण संहिता की रचना की थी | रावण संहिता मे ज्योतिष और तंत्र के द्वारा भविष्य जानने के कई रहस्य बताए गए है | रावण संहिता मे बुरे वक्त को अच्छे वक्त मे बदलने के लिए चमत्कारी तांत्रिक उपाय मंत्र बताए गए है | यह उपाय जो आजमाए उसे तुरंत लाभ होता है मतलब इन उपायो से रातो रात किस्मत बदली जा सकती है |
भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंग इन्फार्मेशन


किसी को वश मे करना या किसी के राज को पता करना - 
सफ़ेद आकडे के फूल को छाया मे सूखा ले फिर कपिला गाय यानि सफ़ेद गाय के दूध मे मिलाकर इसे पिसे | अब आप इसे तिलक की तरह लगा ले | ऐसा करने से समाज मे व्यक्ति का वर्चस्व हो जाता है |



धन प्राप्ति के उपाय - 

  • जब भी कोई शुभ मुहूरत हो या शुभ दिन तो उस दिन सुबह मे जल्दी उठ जाना चाहिए फिर नित्यकर्मो से निवृत्त होकर किसी पवित्र नदी या जलाशय के किनारे चले जाए |
  • अब शांत एंव जहां कोई न हो [ एकांत स्थान ] ऐसी जगह पर चमड़े का आसान बिछाये | अब आप बैठकर धन प्राप्ति का मंत्र का जप करे |
धन प्राप्ति मंत्र - ऊँ ह्रीं श्रीं क्लीं नम: ध्व: ध्व: स्वाहा।
  • इस मंत्र का जप 21 दिनो तक करना होता है साथ ही मंत्र जप करते समय रुद्राक्ष माला का उपयोग करे | मंत्र पढ़ने की कोई सीमा नहीं है मतलब 21 दिनो मे आप मंत्र ज्यादा से ज्यादा संख्या मे पढ़ने की कोसिश करे | मंत्र सिध्द होते ही आपके धन प्राप्ति के योग बन जाएँगे |

10 दिशाओ से धन प्राप्त करना - मतलब अगर आप चाहते है 4रो तरफ से पैसा प्राप्त करना तो उपाय करे | इस उपाय आप दिवाली पर आजमाए |
  • दिवाली की रात मे विधि विधान से महालक्ष्मी की पूजा करे |
  • पूजा जब खत्म हो जाए तो सो जाए लेकिन सुबह मे जल्दी उठ जाए |
  • उठने या जागने के बाद पलंग या बेड से नीचे नहीं उतरना है और बेड पर रहकर 108 बार इस एमएनटीआर का जप करे |
  • मंत्र: ऊँ नमो भगवती पद्म पदमावी ऊँ ह्रीं ऊँ ऊँ पूर्वाय दक्षिणाय उत्तराय आष पूरय सर्वजन वश्य कुरु कुरु स्वाहा
  • मंत्रो का जप करने के बाद 10वो दिहाओ मे 10 -10 बार फीक मारना है | इस तरह के जप से आपको चरो तरफ से धन प्राप्ति होगी |
मोजिज़ा और जादू मे फर्क jadu & mojija antar

मोजिज़ा और जादू मे फर्क jadu & mojija antar

जादू और मोजिज़ा मे फर्क - किसी एक शख्स का सवाल ईमेल से मिला और उन्होने सवाल किया की जादू और मोजिज़ा मे क्या फर्क है तो आज हम आपको यही बताने वाले है जादू और मोजिज़ा मे क्या फर्क है |

magic and mojija me fark

जादूगर क्या है जादूगर के प्रकार 

मोजिजा क्या है ........?
 मोजिज़ा [ चमत्कार ] व जादू मे यह फर्क है कि मोजिज़ा सीधे खुदा का काम है जो बिना किसी असबाब के एक सच्चे की सच्ची के लिए वजूद मे आता है और वह किसी वसूल व कानून पर आधारित नहीं होता है कि एक कला की तरह सिखाया जा सके और नबी हर समय उसके दिखाने पर कादिर हो या यह विरोधी सच्चाई के सामने चुनौती के तौर पर उसके दिखाने की जरुरत पेश न आए। ऐसी सुयर्ट मे जब नबी ने खुदा की तरफ पलटता है तो खुदा की और से उसको दिखाने की ताकत पैदा हो जाती है | 

जादू क्या है .........?
जबकि जादू एक कला है जिसे उसके निर्धारित उसूल व कायदों की पाबंदी के साथ हर कलाकार जादूगर हर समय काम मे ला सकता है | उसके असबाब यदि आम नजर से छिपे रहते है लेकिन इस कला को जानने वाले इससे परिचित होते है |
दुश्मन को बर्बाद करने वाला चमत्कारी मंत्र

दुश्मन को बर्बाद करने वाला चमत्कारी मंत्र

dusman ko harane ka mantr, shatru ko barbad kaise kare, dushman ko preshan karne ka mantr, जादू टोना बुरी नजर से कैसे बचे 
दुश्मन को हराने का मंत्र क्या आप ढूंढ रहे है तो आज हम आपको दुश्मन को बर्बाद कैसे करे इसी के लिए मंत्र बताने वाले है जिंदगी मे बहुत कुछ ऐसा होता है जो हम नहीं चाहते | न तो आप न तो हम दुश्मन बनाना चाहते है लेकिन फिर भी कुछ ऐसे कारण बन जाते है की न चाहते हुए भी दुश्मन तैयार बैठा होता है हमे काट खाने को | अगर हम सही समय पर उसका उपाय ना करे तो दुश्मन हमे बर्बाद कर सकता है |

jadu tona

जादू टोना बुरी नजर कैसे उतारे मंत्रो से जानिए
दुशमन से दूर रहना अच्छा है लेकिन जब दुश्मन बार बार हम पर वार करे तो हमे भी दुश्मन को बर्बाद करने के लिए सोचना चाहिए क्योकि अगर यह उपाय ना किया जाए तो हमे बहुत भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है |

आप चाहते होंगे आपके दुशमन से आपकी सुलह हो जाए लेकिन जब आपके दुश्मन को आपकी तरक्की से जलन होती है तो वह कभी भी आपसे दोस्ती नहीं करेगा और आप के पीठ पीछे आपको बर्बाद करने के फिराक मे रहेगा तो उससे बचने का एक मात्र उपाय है की आप खुद अपने दुश्मन को बर्बाद कर दे तो चलिये जानते है दुश्मन को बर्बाद करने वाला मंत्र कौन सा है |


शत्रु को बर्बाद करने का मंत्र -

नृसिंहाय विदमहे व्रज नखाय धी माही तन्नो नृसिंह प्रचोदयात

शत्रु को हराने का मंत्र का प्रयोग कैसे करे
  • इस मंत्र का प्रयोग सुबह मे सूरज निकलने से पहले कर लेना चाहिए |
  • इस मंत्र का प्रयोग शांत स्थान पर करे जहा कोई इंसान नजर ना आए |
  • इस मंत्र को उच्चारण अगर आप रोजाना नियमित ढंग से करेंगे तो आपके शत्रु का प्रहार आप पर कभी भी असर नहीं करेगा |
जादूगर क्या है जादूगर meaning in english

जादूगर क्या है जादूगर meaning in english

जादूगर meaning in english, छोटा जादूगर summary, जादूगर कैसे बने, जादूगर ओपी शर्मा, Jadu kaise kare, jadu ki duniya, jadu mantr aml kaise kare 
जादूगर या जादू क्या है - सबसे पहले तो आपको जादू को समझना होगा क्योकि एसे बहुत से लोग है जो हाथो को इधर उधर चारो तरफ घूमा देते है और जादू कर देते है | जिससे लोग बेवकूफ भी बन जाते है लेकिन यहा पर हम ऐसे जादूगर या जादू की बात नहीं करते है | क्योकि यह सब केवल के मैजिक होता है और ऐसे लोग केवल Magic Show का ही प्रदर्शन कर सकते है इससे ज्यादा कुछ नहीं |

असली जादू क्या है
असली जादू इल्म से किया जाता है और यह हर कोई नहीं कर सकता है और असली जादूगर वही होता है जो किसी शैतान या जिन्न जिन्नात को अपने बस मे कर ले | जब कोई जादूगर किसी जिन्न या जिन्नात को अपने कब्जे मे कर लेता है तो वह जादूगर जो भी कहता है उसके गुलाम [ जिन्न जिन्नात ] वह सब कर देते है |



ऐसा कोई शख्स जो शेतानों से मदद ले उसे जादूगर, सिफली आमिल कहते है और ऐसे लोग जिन्न जिन्नात या शेतानों से लोगो को कष्ट पाहुचने मे करते है |


जादूगर के प्रकार -



  • बाज जादूगर - यह जादूगर बहुत ही खतरनाक किस्म के होते है क्योकि इनके जादू के आगे छोटे मोटे जादूगर टिक नहीं पाते | बाज जादूगर जो भी जादू करता है उसका काट कोई नहीं कर सकता | अगर कोई बहुत बड़ा जादूगर भी आ जाए तो बाज जादूगर के जादू को थोड़ा काट सकता है लेकिन पूरा नहीं 
  • काला इल्म करने वाला जादूगर - यह आपने सुना होगा क्योकि यह मामूली से बात है जैसे वह इंसान काला जादू करता है | इस किस्म के जादूगर ताबीज की मदद से जादू करते है साथ ही अम्ल भी करते है | काला इल्म करने वाले जादूगर किसी के भी घर को बहुत ही आराम से बर्बाद कर सकते है | यह जादूगर अपने ताबीज और जिन्नो की मदद से दुश्मन को लोहे के चने चबवा देता है |
  • कब्रिस्तान का जादूगर - इस तरह के जादूगर कब्रिस्तान मे रहते है साथ ही यह जादूगर अपना ज्यादा ज्यादा से समय कब्र मे ही गुजारते है और वही के अरवह को अपने जादू से पकड़ता है फिर उनसे अपने मन चाहा काम लेता है | कब्रिस्तान के जादूगर को एक अच्छी खाशी अरवह की फौज मिल जाती है जो दूसरे जादूगर या आमिल से लड़ने के लिए काफी होते है |
  • मुर्दों का जादूगर - इस किस्म के जादूगर ज्यादातर लाशों के ऊपर जादू करते है और लाशों को खाते भी है | यह जादूगर बहुत ही खतरनाक और शख्त होते है | यह लोग लाश हासिल करते है जो आपको पता ही होगा illegal है फिर भी बड़े या बच्चे की लाश पाने की फिराक मे रहते है | जब मिल जाता है तो उस पर खौफनाया मंत्र पढ़कर जादू करते है |
  • नापाकी का जादूगर - इस किस्म के जादूगर नापाक हालात मे रहते है और औरतों के नापाकी का पानी भी हासिल करते है फिर नापाक का पानी का प्रयोग जादू करने मे करते है | ऐसे जादूगर कुरान पाक की बेहूरमत [ बेजजती ] करते है और नपाकी के पानी से कुरान की आयात को लिखते है | इनके जादू करने का तरीका यही होता है |
  • जानवर का जादूगर -  ऐसे जादूगर अपना ज्यादा समय जानवरो को ढूंढने या तलाश मे रहते है जैसे - उल्लू , बकरा की बली, शेर या हिरण की खाल, मुर्गे की बली, यह जादूगर उल्लू से उल्लू तंत्र, कौवे से कौवा तंत्र और भी जनवार से कई प्रकार के तंत्र करते है |
सबसे ज्यादा खतरनाक जादूगर की किस्मे के बारे मे 
  • समंदर का जादूगर - इस तरह के जादूगर एक कस्ती पर सवार होकर समुन्द्र के बीचो बीच मे जाते है और फिर जादू करते है | यह समंदर के बीच से अत्याधिक Unlimited शैतान हासिल कतरते है | आपको जानकार हैरानी होगी लेकिन यह सच है की शैतान ज़्यादातर समुन्द्र मे ही रहते है और इनकी तादाद बहुत ज्यादा होती है | ऐसी जगह जादू कर जादूगर शैतानों की मदद लेता है इस तरह जादूगर के पास अरबों की संख्या मे शैतान आ जाते है फिर इन शैतानो से वह हर काम करवा लेते है |
  • बाथरूम का जादूगर - इस किस्म के जादूगर बाथरूम मे बैठ कर गु खाते है और यह भी एक खतरनाक जादूगर होते है | इनको खतरनाक इसलिए कहा जाता है क्योकि यह जादूगर 5 मिनट के अंदर खरबो खब्बीस को काबू कर लेता है | जादूगर बाथरूम मे कुरान पाक को ले जाकर कुरान पाक की बेहुरमत करता है जिससे जिस कारण बाथरूम का खब्बीस बहुत खुश होता है और जादूगर की फ़ौरन मदद के लिए तैयार हो जाता है | ऐसे जादूगर को हराना बहुत मुश्किल होता है क्योकि जब इनके खब्बीसों को मुवक्किल के द्वारा मारा जाता है तो यह यह न्यू न्यू बाथरूम मे जाकर वही वही काम करने लगता है और फिर 5 मिनट मे ही यह खरबो खब्बीस बुलाकर मदद ले लेता है | ऐसे जादूगर से बहुत लंबी लड़ाई चलती है हार तो जाता है लेकिन बहुत लंबी लड़ाई के बाद  लेकिन यह जादू अधिकतर तब ही आजमाते है जब किसी जादूगर की किसी फकीर बाबा से लड़ाई चल रही हो |
  • शैतानी जादूगर - ऐसा जादूगर जो केवल शैतान की सुनता हो मतलब जो भी जादूगर को शैतान आर्डर दे उसे ही करे | लेकिन यह दुनिया को बर्बाद करने मे मदद जैसा जादूगर करता है | इसमे जादूगर को हर वह काम करना पड़ता है जिससे शैतान खुश हो जिससे वह शैतान इसकी मदद करे _ शैतान किस तरह के काम करवाता है वह भी जान ले - सबसे ज्यादा बोरा का काम शैतान करवाता है [ बोरा मतलब - Sex ] जादूगर अपनी माँ बहन के साथ बोरा करवाता है , यह सिलशिला थमता नहीं है क्योकि शैतान फिर बच्चो के साथ भी बोरा करता है , कुरान के साथ भी बोरा करता है इस तरह से जादूगर को डाइरेक्ट मदद मिलती है और उसके पास अनगिनत शैतान की फौज होती है
आत्मा क्या होता है समझे atma kya hai

आत्मा क्या होता है समझे atma kya hai

आत्मा क्या होती है आइये समझे, आत्माओ का रहस्य, आत्माओ की कहानी,आत्मा से संपर्क आत्मा को कैसे देखे
Atma Meaning In Hindi - आत्मा एक हिन्दी शब्द है और उर्दू मे आत्मा को "रूह" के नाम से जाना जाता है आत्मा क्या है आइये जाने आत्मा या रूह का रहस्य, आत्मा को English Meaning "Spirit"
आप पढ़ रहे है Atma kya hai
क्या इंसान जिन्न जिन्नात को देख सकता है
आत्मा का रहस्य
आत्मा या रूह इंसान के जिस्म के अंदर पाए जाने वाली ऐसी शक्ति या जान है जो नजर नहीं आती मतलब देखा नहीं जा सकता है लेकिन आत्मा होती है | अगर किसी इंसान के बॉडी या शरीर से आत्मा रूह निकल जाए तो इंसान मर जाता है | आत्मा आदमी औरत बच्चो बूढ़ो और हर किसी जानदार मे पाई जाने वाली जान को कहते है |





अगर आपके मन मे यह सवाल उठ रहा है क्या आत्मा किसी को मार सकती है या आत्मा दिखाई देती है या आत्मा भूत होते है तो इसका जवाब है नहीं | आत्मा का मतलब यह नहीं की वह भूत हो या लोगो को डरा सके | इस्लाम मे आत्मा या रूह के बारे मे बताया गया है जब किसी इंसानी शरीर से आत्मा बाहर निकाल ली जाती है तो वह आत्मा अपने शरीर मे घुसने का प्रयास करती है लेकिन उसके इंसानी शरीर मे प्रवेश के बावजूद भी इंसान चल फिर नहीं सकता और ना ही सांस ले सकता है | ऐसा तब तक चलता है जब तक उस इंसान को जला ना दिया जाए या दफन ना कर दिया जाए | साथ ही मे यह भी इस्लाम मे कहा गया है की किसी इंसान की आत्मा बाहर आ जाने के बाद मृत इंसान के घर को पूरे 40 दिन तक नहीं छोड़ कर जाती है और मृत इंसान के घर वाले जब रोते है तो वह आत्मा चिल्लाती है क्यू रो रहे हो मैं यही हु लेकिन उस आत्मा को कोई नहीं देख सकता और ना ही सुन सकता है | जब 40 दिन बीत जाते है तो आत्मा या रूह अपने मालिक [ भगवान, अल्लाह God ] के पास चली जाती है | आत्मा तब तक अपने मालिक के पास रहेगी जब तक की कयामत न आ जाए | कयामत मतलब होता है Last Day Of Word या हिन्दी मे कह सकते है दुनिया का आखिरी दिन |



कयामत के बाद क्या होगा आत्माओ का इस्लाम 
इस्लाम मे जिक्र किया गया है जब पूरी दुनिया तबाह हो जाएगी यानि दुनिया खत्म जब हो जाएगी फिर दुनिया के सभी इन्सानो की आत्माओ का अपने भगवान अल्लाह God के पास हाजिरी होगी और फिर आत्माओ का हिसाब - किताब  [ पाप का लेखा जोखा ] होगा |

पाप और पुण्य को नापने के लिए एक तराजू होगा जिस पास पाप और पुण्य को नापा जाएगा मतलब तराजू के एक और पाप को रखा जाएगा और दूसरी और पुण्य को जिसका पलड़ा भारी [ पाप भारी या पुण्य भरी ] होगा उसी के हिसाब से दोज़ख [ जहन्नुम नर्क ] या जन्नत [ स्वर्ग ] मे डाल दिया जाएगा |

आत्माओ के बारे मे लगभग सभी धर्म मे इसी तरह के अपने खुद के Concept है और आज भी आत्माओ को लेकर कई रिशर्च हो रहे है | एक वाकया याद आ गया उसे भी बता देता हु |

कुछ समय पहले की बात है आत्मा क्या होती है इसको लेकर रिशर्च हो रहा है तो वैज्ञानिको द्वारा इसका पता लगाने के लिए एक इंसान पर प्रयोग किया क्या प्रयोग था आइये जानते है |
जिन्न जिन्नात की आबादी तादाद 
वैज्ञानिको ने आत्मा का पता लगाने के लिए एक इंसान को इंतजाम किया जो मरने वाला हो मतलब कोई एक ऐसा इंसान जिसको मौत आने वाली थी | इस इंसान को वैज्ञानिको ने एक सीसे मे कवर कर दिया और देखने लगे क्या होता है जब इंसान मरता है क्या कोई शक्ति बाहर निकलती है | इसके बाद जो हुआ उससे वैज्ञानिक भी मान गए आत्मा होती है क्योकि जब वह इंसान मरा तो सीसा टूट गया | इससे साफ पता चलता है आत्मा होती है यह एक न्यूज चैनल पर भी दिखाया जा चुका है | अब इससे बड़ा प्रमाण क्या हो सकता है की सच मे आत्मा होती है |