jio मोबाइल का एप्स अपडेट कैसे करें

jio मोबाइल का एप्स अपडेट कैसे करें

अगर आपके पास फ़ोन है तो उसे अपडेट करना बहुत ही जरुरी होता है क्योकि बिना अपडेट के आपका फ़ोन slow हो जाता है ऐसे में आपको अपने jio मोबाइल अपडेट कैसे करें के बारे में जानकारी पढनी चाहिए . jio मोबाइल के एप्स अपडेट करने के लिए आपको पूरी जानकारी आज दे रहे है . सबसे पहले तो हम आपको बताना चाहेंगे एंड्रोयड मे अपडेट 2 प्रकार के होते है पहला मोबाइल अपडेट और दूसरा एप्स अपडेट. जिसमे से तो ज्यादातर यूजर मोबाइल अपडेट के बारे मे जानते भी नही अगर उनके फोन मे हैंग समस्या हो रही हो और कोई कह दे मोबाइल अपडेट करो तो फोन हैंग नहीं होगा तो उनका जवाब होगा कल ही तो किया था सारे एप्स को अपडेट तो आपको ध्यान से पढ़ने की जरूरत है क्योकि मोबाइल का अपडेट और एप्स का अपडेट दोनों अलग अलग बाते है.


jio मोबाइल अपडेट कैसे करें



jio मोबाइल का एप्स अपडेट कैसे करें

  • सबसे पहले अपने फोन की Setting मे जाए |
  • अब आप अपने फोन के About Device Option पर क्लिक करे |




  • अब आपके सामने Software Update का ऑप्शन दिखेगा उस पर क्लिक करे |





  • अब आपके सामने Upadte Now का ऑप्शन दिखेगा जिस पर क्लिक करते ही आपका फोन अपडेट होना स्टार्ट हो जाएगा | ठीक Update NOw के नीचे आप देख सकते है आपका फोन किस Date पर अपडेट किया गया था |




  • जब आप Update Now पर क्लिक करेंगे तो आपके फोन मे Download होना स्टार्ट हो जाएगा साथ ही आपका फोन स्विच ऑफ और ऑन ऑटोमेटिक भी होगा तो परेशान न हो |
  • जब आपका अपडेट हो जाएगा तो आपको Upadte Done का नोटीफिकेशन मोबाइल Dispaly पर दिखेगा

jio मोबाइल के एप्स अपडेट करने के फायदे

अगर आप एड्रॉयड फोन प्रयोग करते है तो आपने देखा होगा अपने फोन मे कई समस्याओ को आते हुए जैसे - फोन हैंग, हीटिंग प्रोब्लेम सॉल्व, फोन ऑटोमेटिक स्विच ऑफ हो जाना, मोबाइल बैटरी 100% से 20% अचानक हो जाना और भी कई प्रकार की समस्या | यह सारी समस्या मोबाइल को अपडेट न करने के कारण आती है -

  • आपका मोबाइल फोन मे हैंग समस्या कम हो जाएगी या फिर फोन हैंग ही न हो |
  • आपका फोन धीमा काम करने लगा था लेकिन अब काफी तेजी से काम करेगा |
  • आपको न्यू फ्यूचर मिलेंगे - जी हा गूगल की ही सर्विस है एड्रॉयड और जब हम अपडेट करते है तो एड्रॉयड फोन को तो खुद ही फोन मे न्यू फ्यूचर आ जाते है |
  • मोबाइल कम्पनीया न्यू मॉडल मार्केट मे जब लाती है तो उन्हे Bugs [ कमी ] के बारे मे नहीं पता होता है और जब उन्हे पता चलता है तो वह Bugs को Fix करने के लिए आपके फोन मे न्यू अपडेट भेजती है तो फोन के अपडेट से आपके फोन मे यह कामिया दूर हो जाती है |

मोबाइल अपडेट करने से पहले बर्ते सावधानी -

  • सबसे पहले तो देख ले आपका फोन Up To Date मे है या नहीं
  • फोन को अपडेट करने से पहले मोबाइल बैटरी 100% चार्ज कर ले क्योकि अपडेट के समय आपका फोन स्विच ऑफ नहीं होना चाहिए | ऐसा होने से फोन मे न्यू समस्याए पैदा हो सकती है
  • फोन अपडेट मे मोबाइल डाटा का ज्यादा खर्च आता है तो 500Mb डाटा Save रखे
  • मोबाइल डाटा के जगह अगर Wi- Fi का इस्तेमाल मोबाइल को अपडेट करने मे करे तो ज्यादा अच्छा रहेगा इससे आपको स्पीड तेज मिलेगी साथ ही इंटरनेट स्थिर रहेगा
  • आपके फोन मे एमपी3 विडिओ फोटो इत्यादि जो है उसका एक Backup बना ले.
nfc क्या है जियो फ़ोन में एनएफसी का मतलब nfc in jio phone

nfc क्या है जियो फ़ोन में एनएफसी का मतलब nfc in jio phone

nfc full form in hindi - अगर आपके पास जियो फ़ोन है तो उसमे आपने एनएफसी आप्शन देखा होगा. आज कल लगभग सभी स्मार्टफ़ोन में NFC Technology दिया होता लेकिन यह जियो फोन में NFC क्या है ? जिओ फ़ोन में नफ़्स का क्या मतलब है ?

NFC क्या है ?

अगर यह सोच रहे है NFC का क्या मतलब है तो आपको बता दे NFC का full Form होता है Near Field Communication. इसके नाम से ही पता चलता है की यह दो डिवाइस के बीच शोर्ट रेंज में कम्युनिकेशन कर सकता है. एनएफसी ब्लूटूथ और वाईफाई जैसी वायरलेस सर्विस है लेकिन NFC इन सबसे कही ज्यादा बेहतर है एनएफसीएक short range wireless टेक्नोलॉजी है जो कम्युनिकेशन प्रोटोकाल और डाटा exchange format को Radio Frequency identification (RFID) standard के आधार पर work करती है.  NFC का उपयोग हम नज़दीक मे comunication बनाने के लिए कर सकते है जैसे अगर आप किसी भी 2 इलेक्ट्रॉनिक device को touch कराकर या फ़िर maximum 4 सीमी की दूरी तक डिस्टेंस बनाकर उन दोनो device के बीच मे communication establish कर सकते है. NFC transmission मे electromagnetic radio field का use किया जाता है इसलिये device को बहूत नज़दीक रखना पड़ता है और ऐसा करने से communication बहूत ही secured हो जाता है.


nfc in jio phone

NFC के क्या उपयोग है ?

एनएफसी के बहुत सारे उपयोग है और आज हम आपको एनएफसी के बारे में जैसे इसका उपयोग कहा कहा किया जाता है बता रहे है -

मोबाईल पेमंट 

एनएफसी की मदद से आप बहूत ही आसानी से मोबाइल से payment कर सकते है क्योंकि यह Debit or Credit card जैसे ही payment कर सकता है जैसे की debit card से Swiping machine मे swipe करते है ! ठीक वैसे ही NFC enable mobile मे Debit card की information save करके swiping machine से touch कराकर payment कर सकते है ! इससे आपको Debit or Credit card को साथ लेकर चलने की ज़रूरत नही पड़ेगी. Apple ने Apple Pay के द्वारा यह सर्विस Sep-2014 को launch की थी और Google ने Android 4.4 मे Android Pay के द्वारा ये सर्विस launch कर दी थी !

data ट्रान्सफर करने में 


NFC की मदद से 2 मोबाइल के बीच बहूत ही आसानी से data transfer कर सकते है ! इसके लिए केवल मोबाइल मे NFC on karke 2 दोनो device को केवल touch करवाना होता है ! उसके बाद जो भी data transfer करना है उसे केवल tap करने से वह data दूसरे device मे transfer हो जाएगा.


डिवाइस pair करने के लिए


NFC की हेल्प से दो device को आप आसानी से pair (सम्बन्ध) कर सकते है ! जैसे की Bluetooth pairing, Music player, Bluetooth speaker,  Wi-Fi networks, Wi-Fi Direct जैसी सर्विस को आसानी से pair कर सकते है !

NFC टैग के लिए -
NFC Tags एक छोटा सा स्टीकर जिसे NFC app द्वारा tag किया गया हो ! NFC Tag मे आप अपने personal data को store कर सकते है ! NFC tags ज्यादातर read only format मे data को store करता है ! जैसे की Debit और Credit card information, PIN or password, networking contacts और इसकी जैसी important informationबकौल securely store करता है ! तो इस तरह आप NFC Tags की मदद से अपने data को securely exchange कर सकते है !


NFC बिसनेस कार्ड के लिए 


NFC business cards वह cards है जिसमे  NFC chip लगी होती है और उस chip मे उसके business के related information, Address, website, Contacts hote hai,NFC poster भी इसी तरह का होता है ! आप जैसे ही अपने device का NFC on करके अपने फोन को उस card या पोस्टर से touch करवाते है तो वह वह information आपके मोबाइल मे save हो जाएगी.

14422 मोबाइल चोरी हो गया क्या करू

14422 मोबाइल चोरी हो गया क्या करू

14422 मोबाइल चोरी पता कैसे करे - जब कभी हमारा फ़ोन चोरी या गायब हो जाता है तो हम परेशान हो जाते है और मन में यही सवाल आता है मोबाइल चोरी हो गया है या फिर खो गया गायब हो गया अब मैं क्या करू ? ऐसे में आप 14422 पर दिल्ली पुलिस की मदद लेकर मोबाइल चोरी होने की रिपोर्ट कर सकते है और अगर आप दिल्ली से नहीं है तो आगे पढ़े मोबाईल चोरी होने पर कैसे पता लगाये चोर कौन है ?

मोबाइल चोरी होने के बाद क्या करे ?

आप जब भी एक फोन खरीदते है तो इंटरनेट का प्रयोग करने के लिए गूगल की सर्विस जीमेल का प्रयोग करते है | जिसके लिए आपको एक जीमेल आईडी बनानी पड़ती है जिसे जीमेल आईडी के नाम से जाना जाता है | तो आपका फोन या मोबाइल अगर चोरी हो गया है या खो गया है, गुम हो गया है तो इसी गूगल की सर्विस से खुद के फोन को खोज सकते है | अगर आपको नहीं पता है GMAIL की मदद से फोन ढूँढे तो हम आपको स्टेप बता रहे है कैसे खोया मोबाइल खोजे |
14422 मोबाइल चोरी

चोरी हुए फ़ोन को जीमेल की मदद से फोन ढूँढे 

  • गुम हुए फोन को गूगल की सर्विस Android Device Manager की मदद खोजने मे मदद मिल सकती है | इसके लिए आपको खो हुए फोन मे जो जीमेल आईडी दर्ज है उसकी मदद लेनी होगी
  • सबसे पहले आप किसी भी कम्प्युटर पर टाइप करे FIND YOur Device 
  • अब आपको गूगल सर्च मे गूगल की सर्विस FInD YOUR Phone दिखाई देगा 
  • अब आप उस पर क्लिक करे | अब आपसे एक जीमेल मागी जाएगी तो आप खोये हुए फोन मे जो जीमेल दर्ज है उससे लॉगिन करे
  • आपको इस सर्विस से लाभ उस समय मिलेगा जब आपके फोन मे इंटरनेट ऑन हो 
  • अगर आपके गुम हुए फोन मे इंटरनेट ऑन है तो आप गूगल की सर्विस Find Your Phone की मदद से निम्लिखित कार्य कर सकते है .

चोरी हुए फ़ोन को आप जीमेल से इस तरह कंट्रोल कर सकते है 

  1. Lock your phone
  2. Try calling your phone
  3. Consider erasing your device
  4. Locate
Lock your phone - 
अगर आपका फोन गुम हो गया है तो इसकी मदद से आप अपने फोन को लॉक कर सकते है साथ ही एक मैसज भी सेट कर सकते है

Try calling your phone
इसकी मदद से गुम हुए फोन पर RIng कर सकते है | इस ऑप्शन से Silent Mode फोन मे Ring बजने लगता है | अगर आपका फोन घर पर ही इधर उधर हो गया है और ढूँढने पर नहीं मिल रहा है तो आप इसकी मदद से अपने फोन पर रिंग कर सकते है

Consider erasing your device
अगर आपके फोन मे पर्सनल डाटा मौजूद है तो इसकी मदद से खो चुके फोन के डाटा को मिटाया जा सकता है |
Locate
इसकी मदद से आप अपने फोन को trace कर सकते है जिससे आपका खोया फोन किस स्थान पर है पता लग सकता है |
एक नंबर से दो whatsapp कैसे चलाएं

एक नंबर से दो whatsapp कैसे चलाएं

एक नंबर से दो whatsapp कैसे चलाएं - आज के समय मे whatsapp ही अधिक प्रयोग किया जाने वाला app है . कुछ लोग किसी कारण एक नंबर से दो whatsapp चलाना चाहते है ऐसे मे ek phone me do whatsapp चलाना सीखा रहे है ?

whatsapp क्या है हिन्दी जानकारी ?

WhatsApp Android Phone के लिए एक एप्लिकेशन है जिसके माध्यम से आप किसी भी WhatsApp User को Text SMS, Vidio SMS, Image SMS, Document SMS, एमपी3 SMS  कर सकते है. इस एप्प को प्रयोग करने के लिए आपके पास Andorid phone होना जरूरी है. यह एप्प हाईटेक जमाने के अनुसार बनाया गया है इसलिए लोग पुराने Multimedia SMS को भूलते जा रहे है. whatsapp का प्रयोग करने के लिए आपके पास इंटरनेट का होना भी जरूरी है . यह ऐप एंड्राइड, एप्पल, विंडोज, ब्लैकबेरी और नोकिआ सहित अन्य कई प्रकार के फ़ोन के लिए उपलब्ध है, इनमे से किसी भी प्रकार के फ़ोन के बीच में संवाद के लिए उपयोग किया जा सकता है । 

एक नंबर से दो whatsapp कैसे चलाएं

ek phone me do whatsapp kaise chalaye ?

अगर आप एक ही फोन मे दो whatsapp चलाना चाहते है तो आप बहुत आसानी से चला सकते है -
  • सबसे पहले प्लेस्टोर मे जाये.
  • प्ले स्टोर मे आप Parallel Space लिखे एंव सर्च करे .
  • इस एप्प को फोन मे डाउनलोड करे फिर इन्स्टाल करे .
  • अब आप अपना whatsapp खाता बनाए.
  • खाता बनाने के लिए आप दूसरे नम्बर का प्रयोग करे .
  • इस तरह से आप एक फोन मे दो whatsapp चला सकते है । 

एक नंबर से दो whatsapp चलाने का तरीका हिन्दी मे जाने ?

एक ही नम्बर से 2 whatsapp चलाना आसान है इसके लिए आपको Google Browser की मदद लेनी होगी चलिये आपको तरीका बताते है -
  • सबसे पहले अपने Google crome browser को खोलिए.
  • अब आप side मे 3 dot को क्लिक करके desktop mode मे जाये .
  • अब आप गूगल मे सर्च करे web.whatsapp.com 
  • अब आपके सामने QR CODE दिखाई देगा तो आपको जिसके फोन का दो whatsapp बनाना है उसका फोन ले और phone मे whatsapp web ऑप्शन पर क्लिक करे ।
  • अब आपको sacan करने का option दिखाई देगा तो आप google crome मे दिखाई दे रहे QR code को phone scan से scan करे .
  • अब आप एक नम्बर से दो whatsapp चला सकते है । 
इस तरह से आप एक नंबर से दो whatsapp चला सकते है साथ ही ek phone me do whatsapp. 
सिम पोर्ट करने का तरीका online सीखे Mobile Number Port Kaise Kare

सिम पोर्ट करने का तरीका online सीखे Mobile Number Port Kaise Kare

सिम पोर्ट करने का तरीका online सीखे Mobile Number Port Kaise Kare - Reliance Jio Vodaphone Airtel Idea Uninor Sim को Port कैसे करे ? पोर्ट करना सीखे आज हम आपको बताने जा रहे है mobail number port क्या होता है साथ ही port करने का तरीका online hindi.

Mobail Number Port क्या है ?

जब कोई सिम यूजर बिना सिम नंबर बदले एक मोबाइल कंपनी के सेवा से दूसरे कंपनी के सेवा लेता है तो इस प्रक्रिया को mobail number port कहा जाता है . मोबाइल number पोर्ट को MNP के नाम से भी जाना जाता है . आसानी से समझे - मान लीजिए आपका sim Voda कम्पनी का है लेकिन बिना Sim Number बदले अगर आप Airtel मे चले जाते है तो इसे MNP या Mobail Number Port कहा जाता है ।
आज के समय मे आप एक राज्य से दूसरे राज्य के लिए भी मोबाइल नम्बर पोर्ट कर सकते है लेकिन पहले ऐसा नहीं था . पहले अगर आप up के रहने वाले है तो up की ही सर्विस पोर्ट के द्वारा ले सकते है लेकिन आज के समय मे आप एक राज्य से दूसरे राज्य की सर्विस पोर्ट number के माध्यम से ले सकते है । 

mobail number port online kaise kare

sim port करना है क्यो ?

सिम कम्पनी जब मनमाने तरीके से अपने सर्विस को मंहगा कर देती है या फिर नेटवर्क कमजोर समस्या से जब कोई सिम यूजर परेशान होता है तो सिम यूजर sim number port करके दूसरी सिम कम्पनी मे जाना चाहता है तो अगर आप भी किसी कम्पनी के मनमानी या नेटवर्क समस्या से परेशान है तो आप mobail number port कर सकते है । 

मोबाइल सिम पोर्ट करने की शर्ते
  • आप सिम पोर्ट कर सकते है लेकिन उसी राज्य से जहां से आपने सिम खरीदा है या फिर आपने जहां की प्रूव आईडी लगाया है .
  • सिम पोर्ट करने के लिए आपके पास 90 दिन पुराना सिम होना चाहिए .
  • अगर आपके फोन number से लोन लिया है तो आपको balance को भर्ना होगा उसके बाद ही आप उस कम्पनी को छोड़ सकते है .
  • आपको पोर्ट करने के लिए आईडी प्रूव देना होगा जैसे - आधार कार्ड 

mobail number port / sim number port कैसे करे ?

  • सबसे पहले जिस फोन नम्बर को पोर्ट करना है उससे आपको sms भेजना है . sms मे निम्नलिखित sms भेजे .
Port<space>Mobail Number> भेजे 1900 number पर

Ex - PORT 9025444098 >< भेजे 1900 पर
  • मैसेज भेजते ही कुछ ही सेकंड के देरी पर एक पोर्टिंग कोड यानि UPC Number आपके मोबाइल नंबर पर मिलेगा जिसकी वैधता 15 दिन होगी.
  • अब प्राप्त हुए पोर्टिंग कोड को लेकर अपने नजदीक के किसी मोबाइल सर्विस स्टोर पर जाये और जिस कम्पनी मे आप अपना सिम पोर्ट करवाना चाहते है स्टोर वाले को बताये .
  • मोबाइल स्टोर का मालिक आपसे कुछ रुपए लेगा उसके बाद आपको जिस कंपनी का सिम पोर्ट द्वारा चाहिए था वह सिम दे देगा.
  • सिम प्राप्त होने के बाद आपका पोर्टेबिल्‍टी का कंफर्मेशन एक दिन के भीतर पूरा हो जाएगा.
  • आपका नंबर बदलने मे 7 दिन यानि एक हफ्ता का समय लग सकता है.
  • पोर्टिंग की प्रोसेस होने के बाद सभी जरूरी जानकारी आपको एसएमएस द्वारा प्राप्त होती रहेगी |
  • एक बार पोर्टिंग प्रोसेस पूरा हो जाने के बाद आपका पुराना सिम कार्ड बेकार हो जाएगा. क्योकि पोर्टिंग कराने के बाद आपको नया सिम प्राप्त होता है और जो मोबाइल नंबर आप चाहते थे वह मनचाहा नंबर आपको मिल जाएगा.
  • ओल्ड सिमकार्ड बंद हो जाने पर आप अपना न्यू सिम कार्ड प्रयोग मे ले सकते है.
सिम पोर्ट करने का तरीका online आपने सीखा अगर आपको किसी तरह का सवाल पुंछना है तो कमेन्ट मे सवाल करे ?