इन गर्मियों में लू से बचने के 5 आसान तरीके lu se bachne ke upay hindi

इन गर्मियों में लू से बचने के 5 आसान तरीके lu se bachne ke upay hindi

इन गर्मियों में लू से बचने के 5 आसान तरीके, गर्मी से बचने के 5 उपाय- अप्रेल का महिना चल रहा है और लू की गरम हवाए अपने आपने का एहसास करा रही है | ऐसे मे इन गर्मियों में लू से बचने के 5 आसान तरीके आज हम आपको बताने जा रहे है | लू लगना meaning in english - to be sun-struck, to struck down by a hot-wind. लू लगने के घरेलू उपचार हिन्दी मे, लू लगने के लक्षण हिन्दी मे |


यह पढे -

लू की गर्मी से बचने के 5 उपाय जानिए

आपको क्या मालूम है कि अगर किसी व्यक्ति को लू लग जाये तो उसकी मृत्यु भी हो सकती है इसका कारण है व्यक्ति के शरीर का तापमान 37 डिग्री से ज्यादा हो गया था | एक समान्य व्यक्ति का तापमान 37 डिग्री होता है | अगर किसी का तापमान 37 डिग्री से ऊपर चला जाता है तो उसका खून गरम धीरे धीरे होने लगता है | इस कारण से शरीर मे मौजूद प्रोटीन पकने लगता है और धीरे धीरे मनुष्य के शरीर काम करना बंद कर देते है | इसलिए लू से बचने की बहुत ही जरूरत है लेकिन कैसे? इसलिए आज हम  इन गर्मियों में लू से बचने के 5 आसान तरीके बताने जा रहे है |

गर्मी से बचने के 5 उपाय

लू की गर्मी से बचने के 5 उपाय तरीके इन हिन्दी

लू लग जाना बहुत ही बुरा है ऐसे मे इससे बचने के उपाय जानना बहुत ही जरूरी है तो हम आपको कुछ उपाय तरीके लू से बचने के लिए बताने जा रहे है |

  • सबसे पहले आपको लू न लगे इसलिए आप पूरे कपड़े पहनकर गर्म हवाओ से बचे | मतलब आप अपने शरीर के सभी अंगो को ढक कर जाये |
  • लू का मौसम आ चुका है ऐसे मे आप घर से बाहर कम जाये मतलब सुबह और शाम आप घर से बाहर जाये और दोपहर मे घर से बाहर न जाये | अगर जाना हो तो पूरे सावधानी की साथ जाये |
  • गर्मी के मौसम मे पसीना निकलना बहुत जरूरी होता है इसलिए ज्यादा से ज्यादा पानि पिए | जब आप अधिक पानी पीते है तो आपको पसीना आता है | इस तरह से आपका शरीर का टेम्परेचर 37 डिग्री तक बना रहता है और इस डिग्री पर इंसान का शरीर बहुत अच्छे से काम करता है |
  • अपने खान पान मे हरी सब्जियों को शामिल करे क्योकि यह आपको हर बीमारी से लड़ने के लिए काबिल बनाता है और शरीर की किसी समस्या को होने से रोकता है |
  • लू अगर किसी को लग जाये तो उसे तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए |
इस तरह से आप गर्मी के मौसम मे लू से बच सकते है | आगे हम आपको लू के बारे और जानकारी लेकर आएंगे आज के लिए इतना ही धन्यवाद |
1 दिन में कितने लीटर पानी पीना चाहिए

1 दिन में कितने लीटर पानी पीना चाहिए

1 दिन में कितने लीटर पानी पीना चाहिए - बहुत सारे लोग अक्सर यह सवाल 1 दिन में कितने लीटर पानी पीना चाहिए के बारे मे सुना है | इसका कारण उन्हे नहीं मालूम मनुष्य को 1 दिन में कितना पानी पीना चाहिए तो इसके बारे मे जानकारी दे रहे है उससे पहले आपको बता दे मनुष्य को 1 दिन में कितना पानी पीना चाहिए और क्यो ?

यह पढे -

मनुष्य को 1 दिन में कितना पानी पीना चाहिए और क्यो ?

जल ही जीवन है यह सबको पता है फिर भी हमने देखा है बहुत सारे लोग पानी बहुत कम मात्रा मे पीते है | ऐसे लोग या तो बीमार हो जाते है या फिर कई समस्याओ से जूझते है | ऐसे मे ऐसे लोगो को हम बस यही कहना चाएंगे की हर दिन आपको एक रूटीन बना लेना चाहिए और अपने वजन के हिसाब से रोजाना पानी पी लेना चाहिए | 

1 दिन में कितने लीटर पानी पीना चाहिए

मनुष्य को 1 दिन में कितना पानी पीना चाहिए

एक मनुष्य को रोजाना कितना पानी पीना चाहिए इसके बारे मे हमने आपको पूरा डिटेल्स और सूत्र दिया है | अगर आपको पढ़ना है अधिक जानकारी के बारे मे तो यहा क्लिक कीजिए

1 दिन में कितने लीटर पानी पीना चाहिए मनुष्य को इसके बारे मे हमने कई vidio भी बनाए है तो आप उन्हे देख सकते है | हमारी राय आपके लिए पानी को पीना न भूले और रोजाना कम से कम @2 लीटर पानी का सेवन करे | इस तरह से आपका स्वास्थ बहुत ही अच्छा रहेगा और आप बहुत सी बीमारियो के चपेट मे नहीं आओगे |


per day kitna water pina chahiye liter pani kitna hota hai0/mo  litre pani kitna hota hai0/mo  litre me kitne glass pani hota hai0/mo -  jyada pani pine ke nuksan in hindi khana khane ke kitne der bad pani piye kitne liter pani piye kb kitna pani piye
मनुष्य को 1 दिन में कितना पानी पीना चाहिए

मनुष्य को 1 दिन में कितना पानी पीना चाहिए

मनुष्य को 1 दिन में कितना पानी पीना चाहिए पानी पीना जरूरी क्योकि manushya ko 1 din मे कितना पानी पीना चाहिए इसके बारे मे जानकारी दे रहे है |
एक मनुष्य को 1 दिन मे कितना पानी पीना चाहिए यह जरूर पता होना चाहिए क्योकि कम पानी पीने से डिहाइड्रेशन जैसी समस्या हो सकती है | साथ ही अधिक पानी भी अगर पी लिया जाये तो भी नुकसान हो सकता है | ऐसे मे एक रोजाना कितना पानी पिये | अक्सर लोग सवाल करते है 1 दिन मे कितने लीटर पानी पीना चाहिए | तो चलिये जानते है daily रोजाना कितना पानी पीना चाहिए ???


daily water kitna pina chahiye

1 लीटर या 2 लीटर या 3 लीटर ? कितना पानी रोज सेवन करे | इस सवाल का जवाब लेकर बहुत से लोग परेशान से दिखते है और मन मे एक सवाल बना रहता है |


जर्मनी के रेस्टेमेयर इस बात का जवाब देती है और कहती है एक मनुष्य को कम से कम 1 लीटर पानी हर दिन पीना चाहिए साथ ही वयस्क मनुष्य को पूरे दिन मे डेढ लीटर पानी जरूर पीना चाहिए |

पानी पीने का तरीका

  • पानी पीते समय इस बात को ध्यान मे रखे की आप एक समय मे बहुत ज्यादा पानी न पिए | क्योकि इस तरह से मनुष्य के बॉडी से सोडियम का स्तर गिर सकता है |
  • अचानक सोडियम स्तर गिरने से आपको थकान, नाक बहना, उल्टी और मितली जैसी समस्या हो सकती है |
अगर आप जिम जाते है या व्यायाम करते है तो ऐसे मे आपको डेढ लीटर से अधिक पानी पीना चाहिए | लेकिन गर्म देशों में गर्मियों के दौरान शरीर से काफी पसीना निकलता है. तापमान बहुत ज्यादा हो और काफी पसीना आये तो ढाई से तीन लीटर पानी पीना चाहिए.

1 दिन मे पानी पीने का सूत्र 

कुछ जानकार लोगो ने 1 दिन मे कितना पानी पीना चाहिए इसके लिए एक सूत्र बनया है - 
सूत्र - मनुष्य के शरीर का वजन मे 10 का भाग देदे | जितना आए उतना पानी पीना चाहिए |
nariyal pani peene ke fayde benefits नारियल पानी पीने के फायदे

nariyal pani peene ke fayde benefits नारियल पानी पीने के फायदे

nariyal pani benefits in hindi - नारियल पानी का नाम तो सभी जानते है लेकिन nariyal pani peene ke fayde benefits सभी को मालूम नहीं होता है | ऐसे मे आज आपको हम nariyal pani peene ke fayde बताने जा रहे है |

नारियल पानी का प्रयोग कई तरह के फ़ायदो के लिए किया जाता है जैसे सुंदर और चमकदार त्वचा पाने के लिए , आपको बता दे नारियल के सभी हिस्से किसी किसी से एक मनुष्य को फायदा देता है | क्योकि नारियल मे कुछ ऐसे तत्व पाये जाते है जो इंसानी शरीर के लिए सबसे ज्यादा जरूरत होती है |


nariyal pani benefits

नारियल के बारे मे कुछ खास बाते - 

  • एक नारियल मे लगभग 200 ml या इससे भी आदिक मात्रा मे पानी होता है |
  • नारियल मीठा और ताजगीभरा होता है |
  • नारियल पानी को लो - केलोरी ड्रिंक के नाम से भी जाना जाता है |
  • नारियल पानी में एंटीऑक्सीडेंट्स, अमीनो-एसिड, एंजाइम्स, बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन, विटामिन सी और कई प्रमुख लवण होते हैं |

nariyal pani peene ke benefits

  • पानी की कमी से डायरिया, उल्टी और दस्त जैसे रोग होने का खतरा बना रहता है ऐसे मे अगर आप नारियल पानी का सेवन करते है तो आपके शरीर मे तरलता बनी रहती है और इन रोगो से आप बचे रहते है | 
  • हाई ब्लड प्रेशर मरीज को सलाह दी जाती है nariyal pani प्रयोग मे लेने के लिए क्योकि इस पानी से हाई ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है |
  • हैंगओवर से छुटकारा पाने के लिए नारियल पानी बहुत ही उपयोगी साबित होता है |
  • कोलेस्ट्रॉल और फैट-फ्री होने की वजह से ये दिल के लिए बहुत अच्छा होता है. इसके साथ ही इसका एंटी-ऑक्सीडेंट गुण भी सर्कुलेशन पर सकारात्मक प्रभाव डालता है |
  • अगर आपका वजन बहुत अधिक हो गया है जिसको घटाने के लिए आपने बहुत सारे तरीके अपनाए है तो एक बार नारियल पानी पीकर इस्तेमाल करे फिर देखे कैसे आपका वजन कम होने लगेगा जिसके लिए आपको नियमित रूप से हर दिन सेवन करना होगा |
  • बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करने के लिए भी नारियल पानी का प्रयोग किया जाता है. इसमें मौजूद cytokinins कोशिकाओं और ऊतकों पर सकारात्मक प्रभाव डालकर बढ़ती उम्र के प्रभाव को कम करने में मदद करता है. 
nariyal pani peene ke fayde benefits नारियल पानी पीने के फायदे आज आपने जाना अगर आप किसी तरह का सवाल करना चाहते है तो कमेन्ट माध्यम का प्रयोग करे |
हल्दी से प्रेग्नेंसी रोकने के उपाय pregnancy rokne ke upay

हल्दी से प्रेग्नेंसी रोकने के उपाय pregnancy rokne ke upay

haldi se pregnancy rokne ke upay - आज आपको हम pregnancy rokne ke upay बताने जा रहे है क्योकि अक्सर जवान लड़के और लड़कीया एक दूसरे मिलते है और ऐसा कुछ कर जाते है जो वह नहीं चाहते थे | ऐसे मे बहुत ही tension का माहोल बन जाता है | क्योकि कूवारी लड़की का माँ बनना बहुत ही गिरि नजर से देखा जाता है | ऐसे मे अनचाहे pregnancy rokne ke upay करना बहुत जरूरी हो जाता है | तो चलिये आपको बताते है हल्दी से प्रेग्नेंसी रोकने के उपाय के बारे मे |

haldi se pregnancy rokne ke upay pregnancy rokne ke upay hindi mein pregnancy rokne ki tablet hindi bacha rokne ke upay

pregnant hone se kaise bache


हल्दी से प्रेग्नेंसी कैसे रोके उपाय

  • आपको बता दे सीताफल कई तरह की बीमारियो को दूर करने के लिए प्रयोग मे लिया जाता है साथ है अगर किसी को गर्भ धरण करने से बचना हो तो इसका सेवन कर सकता है | क्योकि सीताफल का बीज पीसकर खाने से गर्भ नहीं रुक पता है क्योकि सीताफल की तासीर बहुत ही गरम होती है |
  • करेले का जूश भी अगर आप पीरियड के पांचवे दिन पी लेते है तो अनचाहे गर्भ से मुक्ति पा सकते है |
  • हल्दी से कई तरह के फायदे लिए जाते है और अगर आपको अनचाहे गर्भ से छुटकारा पाना है तो आप हल्दी पाउडर का प्रयोग कर सकते है | इसके लिए हल्दी पाउडर को पानी मे गोले और फिर पिये | इस तरह से गर्भ धारण होने से बचा जा सकता है |
  • पीरियड्स खत्म होने के बाद तुलसी कुछ पत्तों का काढ़ा बनाकर पीने से भी गर्भधारण रोक जा सकता है
  • पीरियड्स के दौरान लहसुन की दो फाडिया छीलकर निगल जाए इससे भी गर्भधारण रोका जा सकता है।
पतले शरीर से छुटकारा कैसे पाये, मोटा होने के उपाय तरीका

पतले शरीर से छुटकारा कैसे पाये, मोटा होने के उपाय तरीका

mota kaise bane - क्या आप बहुत पतले दिखते है और चाहते है मोटा होना तो जानिए मोटा होने के उपाय तरीका | सभी लोग अपनी बॉडी को लेकर बहुत ही गंभीर होते है इसलिए अक्सर पाया जाता है की जो लोग मोटे होते है वह सोचते है कास मे पतला होता और जो पतले होते है वह सोचते है कास मे मोटा होता | पतला व्यक्ति मोटे इंसान को देखकर सोचता है मैं उसी के तरह हो जाता और मोटा इंसान पतले इंसान की तरह बनना चाहता है | मोटे होने के आराम ज्यादा और काम कम करना चाहिए आइये जाने mote hone ke tarike मोटा कैसे हो |

body bilder

मोटा बनना है तो जाने पहले पतले होने के कारण -

  • ज़्यादातर लोग बीमार होने के कारण पतले होते है |
  • अगर कोई व्यक्ति मेहनत या काम ज्यादा करता है तो भी पतला ही बना रहता है
  • मानसिक बीमारी भी एक कारण है पतले होने के लिए |

मोटा कैसे बने जानिए मोटा बनने का तरीका -

  • आपको अगर पेट या गैस की समस्या या फिर कब्ज बंता है तो आपको चाहिए इसका इलाज कराना क्योकि पाचन क्रिया अगर ठीक नहीं होता तो वजन बढ्ने की सारी कोसिश बेकार साबित होती है |
  • भोजन मे पोष्टिक आहार ले जैसे दूध, अंडा, ब्रेड, केला |
  • अगर आप एक बार मे भर पेट भोजन करते है तो इससे बचे और एक बार मे खाना खाने के बजाय थोड़ा थोड़ा करके 3 - 4 बार मे खाए |
  • तेल से युक्त भोजन को अपने खान मे शामिल करे |
  • मांस मछ्ली को भी भोजन मे शामिल करे |
  • अगर आप एमआईटी मछ्ली नहीं खा सकते है तो शाकाहारी भोजन मे दाल पनीर घी मखखन, चावल, दहि, सलाद, और फल शामिल करे | यदि पैसे की समस्या है वनस्पति घी का इस्तेमाल करे |
  • शरीर मे फैलाव लाने के लिए रोजाना सुबह मे उठकर खजूर खाये साथ ही दूध पिए |
  • आपको मोटा करने मे कार्बोहाइड्रेट आपकी मदद करेगा तो इसे भी अपने भोजन मे शामिल करे |
  • मेदे से बनी वस्तुवों का सेवन रोजाना अपने खाने मे करे जैसे समोसा, पकोड़ा इत्यादि |
  • पानी की मात्रा अधिक अधिक लेने की कोसिश करे ध्यान रहे हद से ज्यादा कुछ भी लेने से नुकसान हो सकता है तो ज्यादा मात्रा मे पानी पिए जो आपकी केपेसिटी हो |
  • यह सब करने के बाद सबसे ज्यादा जरूरी है आराम तो आप ज्यादा से ज्यादा आराम करे |
  • अगर आप फिर भी मोटे नहीं हो रहे है तो डॉक्टर से सलाह ले सकते है |
स्वप्नदोष कैसे रोके घरेलू इलाज swapndosh dur karne ke upay

स्वप्नदोष कैसे रोके घरेलू इलाज swapndosh dur karne ke upay

nightfall ka gharelu ilaj - नाइटफाल जिसे स्वप्नदोष भी कहा जाता है यह एक प्राकृतिक क्रिया है | अगर किसी पुरुष को रात मे सोते समय नींद मे वीर्य निकल जाता है तो उसे स्वप्नदोष या Nightfall कहा जाता है | स्वप्नदोष का घरेलू उपचार, स्वप्नदोष (nightfall) आयुर्वेदिक इलाज, स्वप्नदोष कैसे रोका जाये, स्वप्नदोष कैसे रोका जाये, swapndosh से कैसे बचेजब बच्चा जवानी मे कदम रखता है तो स्वप्नदोष जैसी समस्या होना आम बात है | स्वप्नदोष रोकने के लिए अँग्रेजी दवाए भी आती है लेकिन आज हम आपको घरेलू तरीका बता रहे है स्वप्नदोष यानि नाइट फाल रोकने के लिए |
swapndosh ilaj

स्वप्नदोष होने के कारण - 
स्वप्नदोष मानसिक समस्या होती है इसके होने के कई कारण हो सकते है जैसे अश्लील फिल्मे देखना, अश्लील बाते सोचना, लड़की के सपने देखना इत्यादि |



स्वप्नदोष होने से नुकसान -
स्वप्नदोष के कुछ नुकसान भी होते है इसलिए आपको इसका इलाज करना चाहिए जानिए नुकसान |
  • शारीरिक कमजोरी होना
  • किसी कार्य मे मन न लगना
  • आलस महसूस होना
  • पत्नी को खुश न कर पाना [ शीघ्रपतन समस्या ]
स्वप्नदोष का घरेलू उपाय उपचार इलाज
  • सबसे पहले तो आप गंदी फिल्मे देखना बंद कर दे और अपने मन मे गंदे ख्याल भी न लाए | इसके लिए आपको किसी अच्छे काम मे व्यस्त करे |
  • कब्ज के कारण भी स्वपन दोष हो सकता है क्योकि कब्ज से पेट मे मल सड़ने लगता है और गर्मी पैदा करता है | इसलिए पेट साफ रखे |

  • भोजन करने के बाद पके हुए 2 केले ले फिर केले मे 2 से 4 बूंद शहद के मिलाकर खाए | इस तरह से स्वपनदोष दूर किया जा सकता है साथ ही आपके वीर्य मे भी वृद्धि होगी |
  • मिश्री एंव सुखी धनिया को आपस मे मिलकार पिसे और पाउडर बना ले | यह स्वप्न दोष की दवा है इसे आप रोजाना पानी के साथ आधा चम्मच लीजिए | यह घरेलू नुस्खा आपके नाइटफाल को कम करने के लिए कारगर  है |
  • त्रिफला चूर्ण 100 ग्राम, 5 ग्राम गेरू और 5 ग्राम सुखी हल्दी, भुनी फिटकरी 100 ग्राम लीजिए | अब इनका मिश्रण तैयार कीजिए फिर किसी शीशी मे भर दीजिए | अब इस चूर्ण के साथ 1/2 चम्मच चीनी मिलाकर सुबह शाम और दोपहर सेवन करे | यह वीर्य की कमजोरी दूर करता है साथ ही स्वप्नदोष के लिए लाभकारी है |
  • अगर आप रोजाना 1 आंवले का मुरब्बा खाएँगे तो आपका नाइटफाल होना ठीक हो जाएगा |
  • नाइटफाल रोकने के लिए आप योगा का भी सहारा ले सकते है जैसे - अश्विनी मुद्रा योग, वजोरोली क्रियाविधि |
  • अनार का छिलके को पिसकर चूर्ण बनाए इसे आप सुबह शाम 5 ग्राम के रूप मे ले |
  • 3 ग्राम सुखी धनिया 1/2 ग्राम छोटी ईलाईची के बीज और 2 ग्राम गरम मिश्री पीसी हुई सुबह शाम पानी के साथ लेने से भी स्वपनदोष खत्म कर देगा | 
  • इसबगोल की भूसी 100 ग्राम, बंग भस्म 100 ग्राम आपस मे मिलाए फिर शीशी मे रख दे | अब आप इसे रात मे सोते वक्त एक चम्मच दूध के साथ इसका सेवन करे आपका स्वप्नदोष खत्म हो जाएगा |
खटमल मारने का स्प्रे दवा उपाय Bed Bugs kills spray hindi

खटमल मारने का स्प्रे दवा उपाय Bed Bugs kills spray hindi

Bed Bugs kills spray tips hindi - खटमल एक ऐसा जीव है जो हमारी ओर आपकी नींद हराम कर सकता है क्योकि खटमल काटते है और हमारा सोना दूषवार कर देते है ऐसे मे हमे खटमल मारने की दवा या स्प्रे या फिर खटमल मारने के उपाय को आजमाना चाहिए जिससे सारे खटमल मर जाये और हम हराम से अपने बिस्तर ओर सो सके तो आज हम जानेगे khatmal maarne का tarikaa in hindi

खटमल एक छोटा जीव है जो आंखे से ओझल हो जाते है और दिन मे चुप जाते है जब रात मे हम सो जाते है तो यह अपना काम यानि की इंसान को काटने का काम शुरू कर देते है | kahtmal के बारे मे आपको बताना चाहेंगे कि एक खटमल अपने पूरे जीवन मे 500 अंडे देते है | इससे आपको समझ मे आ चुका होगा कि अगर इन्हे जल्दी खत्म न किया जाये तो 500 और khatmal आपको काटने वाले है और आपके नींद को हराम करने वाले है |


Bed Bugs kills spray hindi


खटमल की खास खुबी यह है कि यह कई दिनी तक बिना खाये पिए रह सटे है साथ ही इनको मारना बहुत मुश्किल लेकिन आप घरेलू टिप्स अपनाकर इनका खात्मा कर सकते है |

खटमल मारने का उपाय और खटमल की दवा(खटमल मारने की मेडिसिन) के बारे में:

खटमल इंसान को काटता है और फिर खून पिता है तो इन्हे मारने के लिए कई तरह की दवाओ का उपयोग किया जाता है | खटमल मारने की दवा या खटमल मारने की मेडिसिन डेटॉल (Dettol), नींबू, सिरका और प्याज़ का रस आदि घरेलू नुस्खे अपनाकर खटमल से छुटकारा पाया जा सकता है |


खटमल को मारने के लिए पायरथ्रोइड्स कीटनाशक दवा का उपयोग किया जाता है | खटमल की दवा से आप आसानी से खटमल खत्म कर सकते है |

खटमल मारने के घरेलू उपाय नुस्खे जानिए -

पुदेने से पाये खटमल से निजात -
आपको बता दे पुदीना खटमल के लिए जहर का काम करता है इसलिए खटमल पुदेने से दूर भागते है | पुदीने की खुशबू यह बर्दास्त नहीं कर पाते है | इस नुस्खे को इस तरह आजमाए - पुदीने की कुछ पत्तियों को तोड़ ले फिर अपने और बच्चो के बिस्तर के नीचे पत्ती को रखे.

नीलगिरी के तेल से दूर भाग जाएँगे खटमल - 
नीलगिरी के तेल के प्रयोग से खटमल दूर भाग जाते है क्योकि नीलगिरी के तेल मे खटमल को दूर भगाने वाले औषधीय गुणों को पाया जाता है |

नीम का तेल: 
खटमल की दवा में से सबसे उपयोगी है नीम का तेल| निम का पौधा अपने औषधीय गुणों के कारण बहुत ही फायेदेमंद होता है। इसका प्रयोग बहुत से रोगों को दूर करने एवं कीड़े- मकोड़ों को मारने में किया जाता है। इसका पूरा पेड़ ही खूबियों से भर होता है। इसका ताना, पत्तियाँ और इसका तेल बहुत से कामों में आता है। इसके तेल से खटमल को बहुत ही आसानी से मारा जा सकता है। इसका तेल खटमल वाली जगह पर लगायें, जल्दी ही सभी खटमल मर जायेंगे।


इन सभी उपायो को आज़माकर आप अपने घरो से खटमल को दूर भगा सकते है और खटमल का खात्म याय खटमल मार सकते है |
समस्या मोटापा कम करने के लिए उपाय दवा इलाज

समस्या मोटापा कम करने के लिए उपाय दवा इलाज

यह सोलह आने सही बात है कि मोटापा एक बहुत बड़ी समस्या है। तो मोटापा की समस्या होने पर इलाज दवा उपाय करना बहुत जरूरी है | यह बिन बुलाए मेहमान की तरह है जो कि आराम से आ जाता है पर जाने का नाम नहीं लेता। लोग अपने आप को पतला करने के लिए जमीन आसमान एक कर देते हैं। परंतु पूरी तरह से सफलता नहीं मिल पाती। तरह-तरह के डाइट प्लान अपनाये जाते हैं। जिम जाया जाता है।

अगर बाजार में देखा जाए तो बाज़ार में बहुत सी दवाएं है जो आपको पतला करने का दावा करती हैं। बहुत से Sliming centre खुले हैं। जो कि आपको एक निश्चित समय में आपको पतला करने का वादा है। कई you tube पर विडियोज भी आती हैं जैसे- रातों-रात मोटापा दूर कीजिए। 
motapa ka ilaj upay


हमने मोटापे के बारे में बात तो कर ली। पर अब हमें यह भी जानना चाहिए कि इसके क्या कारण है। और किन कारणों से मोटापा बढ़ता है।

मोटापा बढ्ने के कारण

* मेहनत की कमी- क्या आपने कभी सोचा है कि पहले जमाने में लोग मोटे क्यों नहीं होते थे। जबकि पहले तो देसी घी का जमाना था। फिर भी वह लोग पतले होते थे। इसका भी एक कारण है क्योंकि पहले सारे काम हाथों से किए जाते थे। मशीनें नहीं हुआ करती थी। परंतु अब हर काम के लिए मशीनें आ गई है जिस कारण शारीरिक मेहनत कम हो गई है। लोग पहले मीलों दूर पैदल चल कर जाते थे। परंतु अब पास की दुकान पर भी जाना हो तो गाड़ी या स्कूटर पर जाएंगे। 

* जंक फूड- आजकल की भागदौड़ की जिंदगी में लोगों के पास समय की बहुत कमी है। सब चीजें उन्हें तैयार चाहिए। इस पर पीज्जा, चाऊमीन, बर्गर जैसी चीजें लोगों की life style बन गई है जो की जल्दी बन भी जाती हैं। और स्वाद भी लगती हैं। लेकिन हम यह नहीं सोचते कि इनमें कितना fats होता हैं। जो दुगनी तेजी से मोटापा बढ़ाता है। 

* आनुवंशिक मोटापा- इसमें वह लोग आते हैं जिनके परिवार में मोटापा पीछे से चला आता है। 

* भूख से अधिक खाना- कई बार ऐसा होता है कि कभी कोई चीज बहुत स्वाद लगती है। और हम उसे भूख न होते हुए भी खाते जाते हैं। जिस कारण मोटापा बढ़ता जाता है। हमेशा अपनी भूख से कम ही खाना चाहिए। 

* एक जगह बैठे रहना - घण्टों-घण्टों एक जगह पर बैठे रहना, आलस दिखाना, कम चलना फिरना भी मोटापे को बढ़ावा देता हैं। यह सभी कारण है जिनके कारण मोटापा बढ़ता है। और बढ़ता मोटापा हर तरह की बीमारियों को न्यौता देता है। जैसे- ह्रदय रोग (heart diseases), उच्च रक्तचाप (high blood pressure), जोड़ों में दर्द, शूगर आदि। यह सब इसी के कारण अधिकतर होती हैं। अपने आप को इन मुसीबतों से बचाने के लिए अपने वज़न को हमेशा control में रखो। वज़न कैसे कम होगा। यह सबसे बड़ा प्रश्न है। आपने वज़न कम करने के लिए बहुत सारे विज्ञापन, विडियोज, व लेख पढ़ें होंगे। उन सब में एक ही बात पर जोर दिया जाता है कि अधिक तेल वाला और अधिक खाना नहीं खाना चाहिए। जंक फूड बिल्कुल छोड़ दो। 

मेरे प्यारे साथियों आज मैं आपको एक बहुत बड़ी बात बताने जा रही हूं। जो सभी डाइटिंग का मूलमंत्र है। 

* अगर आपको लगता है कि आप का वजन बढ़ रहा है तो सबसे पहले आप आलस को अलविदा कह दीजिए। 

* अगर आप जिम जा सकते हो तो बढ़िया अगर किसी कारणवश नहीं जा सकते तो कोई बात नहीं। सुबह जल्दी उठकर एक लम्बी सैर तेज कदमों से करें। सैर ऐसी होनी चाहिए कि आपका पसीना निकलने लगे। 

* जिम जाने वाले तो वहां exercises कर लेते है। पर जो नहीं जा पाते वो लोग इंटरनेट से अच्छा सा workout डाउनलोड करें व उसे follow करें। 

* सबसे मुख्य बात वज़न कम करने के लिए तला हुआ, चावल, मीठा बिल्कुल छोड़ दें। वज़न कम करने का मूलमंत्र है ज़बान पर लगाम लगाना इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि आप भूखे रहो। अगर आप यह कर लेते हैं तो आप अपना वजन कम कर लोगे।
आंवला खाने के फायदे नुकसान

आंवला खाने के फायदे नुकसान

आँवला हरा सा गोल-गोल फल है। कहा जाता है कि “बड़े-बूढ़ो की सलाह और आँवले का उपयोग के फायदे आगे चलकर काम आते हैं। इसमें विटामीन सी, ए, बी कामपलैकस, और ई पाया जाता हैं। इसके अलावा इसमें कैलशियम, लौह, फासफोरस, पोटेशियम, जिंक, कैरोटिन, प्रोटीन, फोलेट और सोडियम भी होते है। यह संतृप्त वसा और फाइबर युक्त भी होते है।  आँवले के सेवन के बहुत सारे लाभ होते है |
aanvla ke fayde nuksan
आंवला खाने के लाभ 
• यह बालों के लिए अच्छा होता है। 
• दिमाग तेज करता है। 
• आँखों की रोशनी बढ़ता है। 
• दाँत मजबूत करता है। 
• साँस की बीमारियों में फायदा पहुँचाता है। 
• पाचन शक्ति बढ़ाता है। 
• हड्डियों को मजबूत करता है। 
• मोटापा कम करता है

इसके अलावा इसके कई और लाभ भी हैं। एक और बात ध्यान देने योग्य है कि लाभ के साथ-साथ कई नुकसान भी हैं। इन पर भी ध्यान देना चाहिये। 

आंवला खाने के हानियाँ 
 आँवले की प्रकृति ठंडी होती है, यह सर्दियों में खाँसी पर बुरा असर डालता है। 
 सरदी में इसका सेवन शहद व काली मिर्च के साथ करना चाहिये।  आँवले का आचार हाई बी. पी. के रोगी के लिए हानिकारक होता है। 
 आँवला त्वचा की नमी कम करता है। इसलिए इसके सेवन के साथ पानी अधिक पीना चाहिये। 
 आँवले के अधिक सेवन से पेशाब में जलन होने लगती है। किसी भी चीज की अधिकता के कारण हमेशा नुकसान होता हैं। इसलिए हर चीज का सेवन सही मात्रा में करना चाहिये।
बालो मे जूएँ मारने की दवा इन हिंदी

बालो मे जूएँ मारने की दवा इन हिंदी

बालो से जूएँ - बालो से जूएँ होना आम समस्या है लेकिन इसका इलाज कर लिया जाए तो ही अच्छा है क्योकि जू व्यक्ति के सिर मे रहकर खून पीते है | अगर जू मारने की दवा नहीं किया जाए तो यह अधिक संख्या मे हो जाती है और एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक पहुच जाती है | आइए जाने लीख या जूएँ हटाने के उपाय |

लीख हटाने के लिए आजमाए बादाम Juon ka gharelu upchar

सबसे पहले आप 10 बादाम ले फिर इन बादाम को रात भर भीगने के लिए छोड़ दे फिर सुबह मे भीगे हुए बादाम को पीसकर पेस्ट बनाए | पेस्ट बनने के बाद उसमे नींबू का रस मिलाए और बालो मे लगाए | 2 घंटे बीतने के बाद सिर को साफ पानी से धो दे | इस तरह से बालो से जुआँ खत्म हो जाएगा |
ju maarne ki dava

लहसुन एंव नीबू का रस खत्म कर देगा बालो से जूएँ 

सबसे पहले लहसुन की कुछ कालिया लीजिए फिर कलियो को पेस्ट बना दीजिए फिर लहसुन के पेस्ट मे नींबू के रस के कुछ बुँदे मिला दे | अब इस पेस्ट को बालो की जड़ो मे अच्छे से लगाए | जब 20 से 30 मिनट गुजर जाये तो बालो को साफ पानी से धो दे | यह तरीका आपको हफ्ते मे 2 बार करना है और देख पाएंगे की आपके बाल के सारे लीख खत्म हो गए है |



नमक से करे जू का सफाया - 
नमक से जूओं का खात्मा किया जा सकता है इस तरीके मे आपको थोड़ा सा नमक ले और नमक मे एक चम्मच सिरका मिला दे और पेस्ट बना दे | अब इस पेस्ट को बालो की जड़ो मे लगाए | करीब 30 मिनट बाद हल्के गरम पानी एंव शैम्पू से अपने बालो को धोए | इस तरह से नमक जुवे को खत्म कर देगा |

जुओं को मारने के लिए नीम का प्रयोग करे
  • नीम के पत्ते को पीसकर रस निकाले फिर इस रस को बालो मे अच्छे से ढंग से लगाए | ऐसा करने से बालो के जू मर कर खत्म हो जाते है |
  • नीम का तेल कई बीमारियो को दूर करता है साथ ही नीम का तेल जुओं को खत्म करने मे कारगर है |
तो यह बालो से जूएँ हटाने के लिए घरेलू नुस्खे एंव उपाय है जिन्हे आज़माकर आप अपने बालो से  जूएँ खत्म कर सकते है |
पतंजलि की दवा एंव उपयोग इन हिंदी

पतंजलि की दवा एंव उपयोग इन हिंदी

पंतजली मेडिसिन पंतजली की दवाइया, पंतजली गैस की दवा पंतजली भूख लगने की दवा
पतंजलि की दवा इन हिन्दी - जब कोई व्यक्ति बीमार हो जाता है तो दवा का प्रयोग करता है जैसे - अंग्रेजी दवाए लेकिन दवा हर छोटी मोटी बीमारी मे लेना सही नहीं है | तो ऐसे मे आप घरेलू नुस्खे से बीमारी दूर करने की कोशिश करे फिर भी द्वाए के बिना तबीयत मे सुधार नहीं हो रही है तो आयुर्वेदिक दवा लेना सही होगा | हम आपको पतंजलि की दवाए एंव उपयोग के बारे मे आज बता रहे है जिसके प्रयोग से आप छोटी छोटी समस्याए ठीक कर सकते है | 

हम आपको पंतजली की आयुर्वेदिक दवाइयो के बारे मे इसलिए बता रहे है क्योकि आयुर्वेदिक दवाई मे पंतजली का नाम सबसे ऊपर आता है | 

बाबा राम देव पतंजलि औषधि list और उपयोग Baba Ramdev Pantjali Ayurvedic Medicine List & Use -


रोग/बीमारी

पंतजली दवाए/मेडिसिन

Pantjali Medicine Price

पतंजलि गैस की दवा दिव्य गैसहर चूर्ण
50 Rs/
100 gm 


पंतजली बवासीर की दवा दिव्य अर्शकल्प वटी
65 Rs/40gm


पंतजली भूख बढ्ने की दवा दिव्य शुंठी चूर्ण 
55Rs/100gm


पंतजली पेट दर्द की आयुर्वेदिक दवा दिव्य उदरकल्प चूर्ण
50Rs/100gm


पंतजली कब्ज की आयुर्वेदिक दवात्रिफला चूर्ण/इसबगुल भूसी
23Rs/100gm/90rs/100gm


एसिडिटी एंव पेट मे जलनअविपत्तीकर चूर्ण
47Rs/100gm


हाजमा ठीक करने एंव पाचक शक्ति बढ़ाएअमला चूर्ण
28Rs/100gm



बालो की समस्या के लिए बाबा रामदेव पंतजली प्रॉडक्ट -

  • केश कान्ति सिकई - 95 Rs/200ml
  • केश कान्ति रीठा - 85 Rs/200ml
  • कोकोनट हैयर वॉश - 95 Rs/150ml
  • हर्बल मेहदी - 35 Rs/100gm
  • केश कान्ति मिल्क प्रोटीन शैम्पू - 95 Rs/200ml
अगर आपको किसी प्रकार का रोग या बीमारी है जिसके लिए आप पंतजली का प्रोडक्ट प्रयोग मे लेना चाहते है लेकिन आपको दवा का नाम नहीं मालूम तो आप हमे अपना रोग या समस्या बता सकते है | हम आपको पंतजली के प्रोडक्ट के नाम और मूल्य और कहा से प्रोडक्ट या आयुर्वेदिक दवा मिलेगा बता सकते है |
गर्मी के मौसम मे खुद का कैसे ख्याल रखे जरूरी बाते

गर्मी के मौसम मे खुद का कैसे ख्याल रखे जरूरी बाते

गरमियों में ध्यान रखने वाली बातें सर्दियाँ जा रही है. और गरमियों का आगमन होने वाला है. हर एक मौसम का अपना महत्व होता है. परंतु गरमियों में लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. और यह भी सच है कि यह सब परेशानियाँ भी हमारे कारण ही है. पेड़ो की अंधाधुंध कटाई के कारण और गलोबल वामिृंग के कारण गरमियाँ अधिक, और अधिक समय तक पड़ती है. गरमियों में घर से बाहर निकल कर काम करना बड़ा कठिन होता है. चाहे बच्चे हो या बड़े सब परेशान हो जाते है. सुबह ७:३० बजे के बाद से ही धूप तेज़ हो जाती है. पसीने से बुरा हाल हो जाता है. दिन के १०:०० बजे से लेकर शाम ६:३० बजे तक बहुत गरमी रहती है. और इस भयंकर गरमी से कई परेशानियाँ होती है जैसे :- 
• फूड पॉयज़निग 
• डायरिया 
• नाक से खून आना 
• सनबृन 
• हीट-सटृोक आदि 



यह सब परेशानियाँ हमें गरमियों में होती है. जिसका सब पर असर होता है. मैंने यहाँ परेशानियों की बात की है तो साथ ही कुछ समाधान भी बता रही हूँ. 


garmi

गंर्मी के मौसम मे बीमार होने से बचे समाधान 

१. फूड पॉयज़निग का सबसे बड़ा कारण गंदा व बासा खाना, खाना है. जब भी खाना खाए ताज़ा व साफ-सुथरा खाऐं अगर बाहर फलों की डायरिया का एकमात्र इलाज यही है कि खूब पानी पीऐ क्योंकि पसीना आने से शरीर का पानी खत्म हो जाता है इसलिए पानी अधिक पीयें. अगर आपका काम ज्यादा बाहर रहने का है तो आप पानी में नींबू व नमक मिला कर लें (पर हाई बी पी रोगी नींबू पानी में नमक न लें वह केवल पानी में नींबू का रस लें |
२. पानी में गलूकोस पाउडर डालकर भी ले सकते है. पर शूगर के रोगी न लें. 
३. चाट खाते हैं तो अपने सामने कटवा कर खाऐं साथ ही ध्यान दें कि मक्खियाँ व गंदगी न हो 
४.नींबू पानी, गनने का ताज़ा रस, जलजीरा, नारियल पानी का सेवन करें. तरबूज़, खीरा, ककड़ी, पयाज़ का सलाद लें. मौसमी फल खाऐं चाय और कॉफी का सेवन कम करें. 
६. अकसर गरमियों में नाक से खून आने लगता है ऐसे में रोगी को एक जगह बैठाऐं, सिर ऊपर करा दें और सिर पर ठंडे पानी का कपड़ा भिगो कर रखें 
७. अधिक गरमी व तेज़ धूप के कारण सनबृन हो जाता है. इसलिए जब भी बाहर जायें शरीर को ढक कर निकले, बाहर जाने से कुछ समय पहले सनसकृीम लगा लें. लेकटोकेलामाइन का उपयोग भी लाभदायक है.
८. हीट-सटृोक आने पर सिर घूमने लगता है, साँस लेने में कठिनाई होती है ऐसे में रोगी के कपड़े ढीले कर दें, छायादार स्थान पर बैठा दें, ठंडा पानी पीने को दें. 
९. सौंफ (कच्ची) और मिश्री को पीसकर रख लें. फिर हर रात थोड़ा सा यह पाउडर एक कटोरी पानी में डालकर रात भर रखे. और सुबह यह पानी छानकर पी लें और सौंफ खा ले. गुलकंद का सेवन करें. इससे सारे दिन शरीर में ताज़गी और ठंडक रहती है. 
१०. फिृज में ठंडा किया आम खाऐं . 
११. दही, छाछ, पुदीना व पयाज़ का सेवन करें. 
१२. मसालेदार व तला हुआ भोजन कम करें और अपनी भूख से थोड़ा कम खाऐं.

यह सब सावधानियाँ बरतें और जितना हो सके पानी पीयें. बाहर जाते समय पीने का पानी साथ लेकर निकलें क्योंकि हर जगह पीने का पानी नहीं मिल सकता. अगर आप इन सब बातों का ध्यान रखेंगे तो गरमियों में आपको कम परेशानी होगी.
कुछ समस्याओ के आसान इलाज नुस्खे जानिए

कुछ समस्याओ के आसान इलाज नुस्खे जानिए

हर किसी के जीवन मे छोटी मोटी शारीरिक समस्याए होती रहती है तो आज हम आपको ऐसे ही कुछ छोटी मोटी समस्याओ के आसान इलाज एंव उपाय बता रहे है | जिसे आप आज़माकर तंदुरुस्त ज़िंदगी जी सकते है | आइये जाने 10 जानकारी -
10 इलाज उपाय - 
  • अगर शराब ज्यादा पी हो तो 6 माशा फिटकरी को दूध या पानी मे घोलकर पीला दे या सेब का रस निचोड़कर पिलाने से नशा कम होता है |
  • अरहर के पत्तों को पिलाने से अफीम का नशा कम हो जाता है या दूध या घी पिलाए |
  • अरहर की आधी छाटाक दाल को पानी मे उबालकर उसका पानी पिलाने से भांग का नशा उतर जाता है
  • केले ज्यादा खा लेने पर छोटी ईलाईची खा ले, केला फौरन हजम हो जाएगा |
  • अगर आपने आम ज्यादा खा लिया हो तो ऊपर से 2 से 4 जामुन खा ले और जामुन खा लिए हो तो थोड़ा सा नमक, हजम हो जाएगा |
  • हल्दी तीन माशा माहवारी होने के पांचवे दिन के बाद लगातार दो दिन ताजे पानी से खिलाने से गर्भ नहीं होगा |
  • तरबूज ज्यादा खा लेने पर दो माशा नमक खाये |
  • धतूरे के जहर पर गरम पानी मे थोड़ा सा नमक मिलाकर पिलाए, जहर खत्म होगा |
  • जब बच्चे के दाँत निकल रहे हो तो भुना हुआ सुहागा शहद और मुलेठी दो दो माशा बारीक करके बच्चो के मसूड़ो पर एक हफ्ता मलने से दाँत बिना तकलीफ के निकल आते है |
  • दस बूंद बरगद का दूध बताशे मे डालकर रोजाना गाय के दूध के साथ खिलाने से जिस्मानी कमजोरी और पेशाब जलन व पेशाब को रुककर जाने का लाभ होता है और मर्दाना ताकत को बढ़ाता है |
कैसे चक्कर आने का कारण इलाज chakkar aane ka karan ilaj hindi

कैसे चक्कर आने का कारण इलाज chakkar aane ka karan ilaj hindi

chakkar aana in english, chakkar aana meaning in english, chakkar aana remedies in hindi urdu causes of chakkar aana during treatment
चक्कर आना सिर घूमना [ dizziness ] - चक्कर शब्द का अर्थ अलग अलग व्यक्ति के लिए अलग होता है जैसे कुछ लोग इसका मतलब भारी सा लगना, संतुलन खो देना साथ ही कुछ लोग चक्कर का मतलब बताते है कि उन्हे आसपास सब कुछ घूमता सा महसूस हो रहा है | इससे पता चलता है इस बीमारी का लक्षण अस्पष्ट ढंग से व्यक्त किया जाता है साथ ही चक्कर आने के कई लक्षण हो सकते है | तो चक्कर आने पर या आने से पहले इसका उपाय करना एक बढ़िया विकल्प है | यहा हमारे द्वारा आपको उपाय बताया गया है जो आप चक्कर आने पर अपना सकते है | चक्कर आने के कारण शरीर मे खून की कमी, माईग्रेन, आंखो मे समस्या, सर मे चोट, अधिक शारीरिक सम्बंध बनाना एंव महिलाओ मे मासिक धर्म की गड़बड़ी इत्यादि |


chakkar kaise roke

चक्कर आने की समस्या से बचने के उपाय

सबसे पहले आपको कहना चाहेंगे कि चक्कर आने के उपचार करने से पहले आपको इसके कारणो को जानना चाहिए | इससे आप बढ़िया इलाज या उपचार कर पाएंगे | चक्कर को तीन प्रकार मे बाटा गया है -


  1. पहले चक्कर मे व्यक्ति को महसूस होता है कि उसके आसपास की वस्तुए घूम रही है |
  2. दूसरे चक्कर मे व्यक्ति को महसूस होता है कि वह अपने आप मे घूम मे रहा है |
  3. तीसरे मे व्यक्ति को सिर के अंदर ही घूमने का एहसास या महसूस होता है |
चक्कर आने के घरेलू उपचार home remedies for vertigo
  • चक्कर कम करने के लिए आवले का सेवन किया जाता है | जिसके लिए 10 ग्राम आवले का पाउडर एंव 10 ग्राम धनिया पाउडर को एक गिलास पानी मे मिलाए | अब पूरी रात ऐसे ही इस मिश्रण को छोड़ दे | सुबह उठकर इसका सेवन करे |
  • चक्कर से अगर जी मचल रहा है तो आप काली मिर्च का सेवन कर सकते है | इससे चक्कर आना बंद होगा साथ ही जी मचलना भी बंद हो जाएगा |
  • 2 नींबू के रस को एक कप गर्म पानी मे मिला ले फिर पिए, इससे आपको फायदा होगा |
  • 2 लौंग को 1 कप पानी मे उबालकर पीने से भी चक्कर से निजात पाया जा सकता है |
  • अगर आप चाहते है चक्कर आना बंद हो जाए तो इसके लिए आप छोटी इलाईची के काढ़े को गुड़ मे मिला ले फिर सुबह शाम इसका सेवन करे |
  • खून की कमी से अगर चक्कर आ रहा है तो आपको गाजर एंव चुकंदर के रस का सेवन करना चाहिए क्योकि इसके सेवन से खून की कमी एंव विटामिन की कमी दूर होती है |
  • गर्मी के मौसम के कारण चक्कर आ रहा है तो आप चंदन घिस कर सिर पर लेप लगाए इससे सिर चकराना बंद होता है |
चक्कर की समस्या है तो क्या खाए Diet for Vertigo
  • नाश्ते मे ताजे फल का रस शामिल करे |
  • शरीर मे पानी की कमी को दूर करे इसलिए लिए आप रोजाना 7 - 8 गिलास पानी पिए |
  • मसालेदार एंव चटपटे चाय, काफी, घी, तला हुआ भोजन इत्यादि का सेवन न करे |
  • गर्मी के मौसम मे चक्कर आ जाता हो या घबराहट महसूस हो रहा है तो आवले का शर्बत पिए |
  • नारियल पानी रोजाना पिए करे यह एक असरदार तरीका है चक्कर बंद करने के लिए |
  • समय से भोजन करे एंव बहुत अधिक भोजन करने से बचे मतलब हल्का फुल्का भोजन करे |
चक्कर समस्या मे रखे सावधानी - 
  1. अगर आपको चक्कर की समस्या बार बार हो रही है तो आप घर से अकेले जाने से बचे एंव |
  2. तंबाकू, नशीली पदार्थ का सेवन करते है तो इसे बंद करे क्योकि चक्कर इनकी वजह से भी आता है |
  3. तेज धूप , बहुत देर तक एक ही पोजीशन मे न बैठे क्योकि इस कारण आपको चक्कर भी आता है |
  4. अगर आपको चक्कर आने का एहसास हो रहा है तो तुरंत बैठेने के लिए एक बढ़िया जगह देख ले एंव अगर आप घर पर है तो सो जाए |
  5. यह समस्या है तो आपको चाहिए की कार, मोटरसाइकिल, स्कूटर इत्यादि न चलाए |
नॉर्थ ईस्ट वाले खाते है बासी चावल जानिए फायदे

नॉर्थ ईस्ट वाले खाते है बासी चावल जानिए फायदे

बासी चावल खाने के फायदे - सेहत के लिहाज से बासी खाना अच्छा नहीं लेकिन बासी चावल को लेकर आप अपनी राय बदल सकती है. क्योकि आज बासी चावल खाने के फायदे बताने वाले है | नॉर्थ ईस्ट चले जाइए या पश्चिम बंगाल के साइड, यहा के लोग बासी चावल बड़े ही चाव से खाते है | यहा लोग रात मे चावल बनाकर रख देत है और सुबह नाश्ते के रूप मे उसे अलग अलग तरीके से खाते है | काही काही तो लोग तैयार चावल को मिट्टी के बर्तन मे भिगोकर रातभर के लिए रख देते है |
सुबह तक जब चावल फर्मेन्ट हो जाते है तब वे इसे प्याज या अन्य चीजों के साथ खाते है | अब आप सोच रही होंगी बासी खाना सेहत के लिए ठीक नहीं होता, तो बासी चावल को इतना महत्व क्यो ....???

बासी चावल खाने के फायदे -

  • दरअसल, बासी चावल पेट के लिए अच्छा होता है | इसमे भरपूर मात्रा मे फाइबर्स होते है, जो कब्ज की समस्या के लिए फायदेमंद होते है | इसमे आपको दिन भर काम करने के लिए एनर्जी भरपुर मात्र मे मिल जाती है |

  • यही नहीं बासी चावल खाने से बॉडी टेम्परेचर भी कंट्रोल रहता है क्योकि बासी चावल की तासीर बहुत ठंडी होती है |
  • एक शौध के अनुसार, बासी चावल मे माइक्रो - न्यूट्रीएंट्स और कई जरूरी मिनरल्स होते है जैसे - आयरन , पौटेशियम और कैल्शियम |
  • अगर आप नियमित तौर पर बासी चावल का इस्तेमाल करती है तो इसका काफी फायदा मिलेगा | लेकिन तभी जब इसे सही तरीके से स्टोर किया गया हो और चावल एक दिन से ज्यादा पुराना नहीं होना चाहिए |
  • बासी चावल से तरह तरह की डिशेज भी तैयार होती है जैसे - पकोड़े, बड़िया, फ्राइड राइस, पापड़ इत्यादि |
सर्दी में कैसे त्वचा की देखभाल करे care of your skin in winter

सर्दी में कैसे त्वचा की देखभाल करे care of your skin in winter

सर्दी आ चुकी है जिस कारण लोग नहाने मे आलस करते है मतलब सर्दी के दिनो मे कुछ लोग कई दिन तक नहीं नहाते और इस कारण त्वचा रूखी सुखी हो जाती है | सर्दी मे त्वचा की care of your skin in winter, देखभाल रूखापन कैसे दूर करे |

care of your skin in winter -
सर्दीयो का सीजन आ चुका है आपको पता ही है इस मौसम मे त्वचा की देखभाल करना कितना जरूरी है क्योकि त्वचा की देखभाल न करने पर त्वचा मे रूखापन आ जाता है साथ ही नमी भी खोने लगती है | अगर कुछ उपाय आजमाए तो सर्दीयो के मौसम मे भी त्वचा आप चमकदार बनाए रख सकते है | चलिए जाने उपाय त्वचा को कैसे सर्दीयो के मौसम मे खूबसूरत एंव मुलायम बनाए |
sardiyo me tavcha ki dekhbhal kaise kare

सर्दियों में त्वचा चमकदार बनाए रखने के उपाय

त्वचा को रखे साफ -
सर्दी के मौसम मे आप अपनी त्वचा का ख्याल जरूर रखे नहीं तो आपकी त्वचा बहुत ही रूखी सुखी हो जाएगी | तो आप सर्दीयो मे अपनी त्वचा को साफ जरूर करे जिसके लिए आप दही एंव चीनी से बने हुए स्क्रब का प्रयोग करे क्योकि यह आपके त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद है |


त्वचा को बचाए सनस्क्रीन से -
सर्दी के मौसम मे धूप मे बैठना साधारण सी बात है लेकिन अगर आप सर्दी के मौसम मे त्वचा को चमकदर बनाए रखना चाहती है तो धूप मे बैठने से पहले सनस्क्रीन जरूर लगाए जिससे आपकी त्वचा हानिकारक किरणों यूवीए एंव यूवीबी से बची रहे |

नियमित मॉइस्‍चराइजर लगाएं
ऐसा माइस्‍चाराइजर लगाएं जिसमें तेल मिला हो ना कि वह वॉटर बेस हो। उदाहरण के तौर पर आप नाइट क्रीम का प्रयोग कर सकती हैं। चेहरे पर विटामिन इ युक्त क्रीम और एंटी-रिंकल क्रीम लगाये। जिससे आपकी त्वचा की कोमलता बरक़रार रहेगी |

पानी पिए - सर्दीयो के मौसम मे लोग पानी पीना कम कर देते है जो बिलकुल भी आपकी त्वचा के लिए सही नहीं है | पानी पीने से आप अंदर से हाइड्रेट होगी जो आपकी त्वचा को नम बनाए रखेगी |

ड्राई फेस पैक ना लगाएं -
मुल्‍तानी मिट्टी या ऐसे फेस पैक जो स्‍किन को ड्राई बनाते हैं, ऐसे फेस पैक ना लगाएं। इसके बदले क्‍लीजिंग मिल्‍क और ऐसे पैक लगाएं जिनमें तेल मिला हो |

तो आप इस तरह से सर्दी के मौसम मे अपने त्वचा की देखभाल कर सकती है और खुद को सुंदर बनाए रख सकती है |
मिसकैरेज क्या होता है बचाव और लक्षण Miscarriage Kya Hai

मिसकैरेज क्या होता है बचाव और लक्षण Miscarriage Kya Hai

Miscarriage क्या होता - जब किसी महिला को प्राकृतिक रूप से गर्भपात हो जाता है तो उसे मिसकैरेज [ Miscarriage ] कहते है | यह महिला गर्भावस्था के प्राम्भिक मे अधिक होता है | महिला गर्भवती हो जाती है लेकिन उन्हे पता ही नहीं होता की वह गर्भवती हो गई है तो गर्भपात हो सकता है | यहा आपको हम आपको मिसकैरेज के उपाय एंव लक्षण बता रहे है | अब आपको इतना तो पता ही चल चुका होगा की मिसकैरेज क्या है |
miscarriage se bachne ke upay

मिसकैरेज के लक्षण Miscarriage ke lakshan -

  • रक्त स्त्राव 
  • गंभीर ऐंठन 
  • पेट में दर्द 
  • बुखार 
  • कमजोरी 
  • पीठ में दर्द 
  • ब्रैस्ट का सख्त हो जाना 
  • सफेद और गुलाबी रंग का डिसचार्ज नज़र आना 
  • वजन का कम होना 
  • पीरियड के संकेत होना

मिसकैरेज से बचने के उपाय तरीके

अगर आप गर्भवती है तो आपको अपनी और शिशु दोनों की देखभाल करनी होगी जिससे आप एंव शिशु दोनों स्वस्थ और तंदरुस्त रहे | गर्भवस्था के समय आपको अपने खान पान के साथ कुछ और भी चीजों का ध्यान रखना चाहिए जैसे - भारी वस्तु न उठाए, धीरे धीरे चले, पेट पर बल देने वाला काम न करे इत्यादि | सबसे अधिक आपको गर्भवस्था के 3 महीने तक सावधानी रखने की जरूरत है क्योकि इन तीन महीनो मे मिसकैरेज का खतरा अधिक रहता है |

मिसकैरेज से बचने के लिए टिप्स - 

भारी समान न उठाए -
  • आप जब भी डॉक्टर के पास जाएंगी तो सबसे पहले आपको यही डॉक्टर सलाह देगा भारी समान न उठाए
  • अधिकतर मिसकैरेज की समस्या भारी समान उठाने के कारण होती है |
संतुलित भोजन का सेवन करे -
  • कुछ महिलाए गर्भवती होने के बावजूद अपना ख्याल नहीं रखती है और भोजन समय से न लेती है तो आपको बता दे इस कर्ण भी आपके गर्भवस्था के दौरान कई समस्याए पैदा हो सकती है |
  • इसलिए गर्भवती महिला को संतुलित आहार का सेवन करना चाहिए जैसे - हरी सब्जी, प्रोटीन, दूध एंव ऊर्जा देने वाले आहार का सेवन |
सोने का तरीका -
  • गर्भवती महिला के सोने के तरीके पर भी ध्यान देना जरूरी है |
  • अगर आप गलत तरीके से सो जाती है तो हो सकता है इस कारण से भी आपको मिसकैरेज हो |
डॉक्टर से परामर्श जरूर ले -
  • ऐसी बहुत सी महिलाए है जिन्हे के लक्षण नहीं पता होता है और इसलिए उन लक्षणो को अनदेखा करती है |
  • अगर आप गर्भवती है तो आप कभी भी किसी भी समस्या को अनदेखा न करे तो आप समय समय पर इसके लिए डॉक्टर के पास जा सकती है |
मिसकैरेज से बचने के लिए सावधानी -
  • आपको पता होना चाहिए कुछ फल और सब्जी मिसकैरेज के कारण बन सकते है जैसे - पपीते का सेवन, तासीर गर्म पदार्थ | 
  • गर्भवती महिला को ज्यादा मेहनत भरा कार्य नहीं करना चाहिए और भागदौड़ भी न करे |
  • गर्भवती महिला को ज्यादा तनाव मे भी नहीं रहना चाहिए यह भी मिसकैरेज का कारण बन सकता है |
  • व्यायाम कर लेकिन ध्यान रहे हल्का फुल्का व्यायाम ही करे |
  • छत पर कम जाए मतलब सीढ़ीयो का कम प्रयोग करे और हो सके तो करे ही नहीं तो बढ़िया है | खुद को आराम दे |
चेचक का कैसे आयुर्वेदिक इलाज करे chickenpox Ka ilaj

चेचक का कैसे आयुर्वेदिक इलाज करे chickenpox Ka ilaj

Chickenpox - Chechak Kya Hai - चेचक जिसे English मे चिकनपोक्स के नाम से भी जाना है साथ ही चेचक के प्रकार पर छोटी माता, बड़ी माता भी कहा जाता है | अगर आप चेचक का इलाज खोज रहे है - चेचक के दाग कैसे मिटाये, चेचक की पहचान, चेचक से कैसे निदान पाए तो हम आपको चेचक पर आज जानकारी दे रहे है | chechak ka ilaj nivaran kaise kare tarika upay hindi chickenpox ilaj kaise

चेचक - चेचक रोग वायरस द्वारा फैलता है इसके किटाणु स्रोत्र - मल मूत्र, थूक, खुरन्टो इत्यादि है | इन स्रोत्रो से किटाणु हवा मे घुल जाते है |जब इंसान सांस लेता है तो यह किटाणु इंसानी शरीर मे प्रवेश हो जाए है जिससे चीकनपोक्स हो जाता है |
chechak ki dava

चेचक की पहचान कैसे करे - 

चेचक होने पर रोगी के अन्दर कुछ लक्षण दिखाई देते है जिससे पहचाना जा सकता है कि आपको चेचक हुआ है नहीं आइये आजने लक्षण |

  • बच्चों को बुखार आता है और वह दो दिनों तक रहता है। फिर शरीर में दाने निकल आते हैं। इसमें छह दिन बाद दाने स्वयं ही समाप्त हो जाते हैं लेकिन पीडि़त बच्चा कमजोर हो जाता है और शरीर की प्रतिरोधी क्षमता कमजोर हो जाती है |
  • यह लाल उभरे दाने से शुरू होता है। 
  • लाल दाने बाद में फफोलों में बदल जाते है। 
  • मवाद आने लगता है, मवाद फूटकर खुरदुरा हो जाता है। 
  • यह मुख्य रूप से चेहरे, खोपडी, रीढ और टांगों पर दिखाई देती है। 
  • इसमें तेज खुजली होती है। ​ 
  • भूख ना लगना, उल्टी होना इसका प्रमुख लक्षण है।

चेचक का घरेलू इलाज उपाय कैसे करे

  • तुलसी और अजवाइन का मिश्रण तैयार करे फिर इसका रोजाना सेवन करे | इस तरह चेचक और बुखार कम होने लगेगा |
  • चिकन्पोक्स बढ्ने से रोकने के लिए आप रोजाना सुबह मे तुलसी के पत्तों का रस पी सकते है |
  • नीम पेड़ के पत्तों को उबालकर खाने से छोटी माता या चिकन्पोक्स मे लाभकारी साबित होता है |
  • करेला एंव हल्दी को आपस मे मिलाकर पीने से चेचक रोग ठीक हो जाएगा |
  • चेचक के दाग मिटाने के लिए नारियल तेल रोजाना लगाना चाहिए |
  • अंगूर को गरम पानी से धोकर खाए यह चेचक के लिए लाभकारी होता है |
  • भीगे हुए चने पर रोगी को अपने हाथ रखने चाहिए फिर चने को फेक देना चाहिए | भीगा हुआ चना चेचक का किटाणु सोखने का काम करता है |
  • चेचक के दानो मे घाव अगर बन चुके है तो इसे ठीक करने के लिए तो आप हल्दी और सूखा हुआ कथ्था बारिके पिस मिलाए और फिर सूखे हुए कथ्थे को ही अपने घाव पर लगाए | यह चेचक घाव ठीक करेगा |
  • चेचक रोगी को शहद चाटने को दे साथ ही जो फफोले फुट चुके है उन जगह शहद लगाए | इस तरह से रोगी के शरीर पर निशान नहीं होंगे साथ ही आंखे पर चेचक नहीं होगा |
  • चेचक का रोगी अगर 2 किशमिश एंव 2 मुनक्का सेवन करे तो उसे लाभ होगा |