ATM पिन में क्यों होते हैं सिर्फ 4 डिजिट? जानें ऐसे ही 8 सवालों के जवाब

ATM पिन में क्यों होते हैं सिर्फ 4 डिजिट? जानें ऐसे ही 8 सवालों के जवाब

कई बार कुछ ऐसी चीजें होती हैं जिन्हें देख कर कभी न कभी मन में ये सवाल जरूर आता है कि ऐसा क्यों होता है। ATM में 4 डिजिट का पिन ही क्यों होता है? या फिर आईफोन के हर ऐड में हैंडसेट पर 9:41 ही क्यों बजा होता है? हम आपको बता रहे हैं ऐसे ही 8 सवाल और उनके इंट्रेस्टिंग जवाब...



ATM मशीन का इंवेंशन स्कॉटिश इन्वेंटर John Adrian Shepherd-Barron ने किया था। इसका इस्तेमाल साल 1967 से किया जा रहा है। मशीन बनाते वक्त Shepherd-Barron ने पिन के लिए 6 डिजिट नंबर सजेस्ट किया था। लेकिन हुआ ये कि उनकी वाइफ कैरोलाइन को 6 डिजिट पिन याद करने में दिक्कत आ रही थी, वो सिर्फ 4 डिजिट तक पिन नंबर याद कर पा रही थीं। तब से ATM का पिन मात्र 4 डिजिट का हो गया।

आपको बता दें कि कुछ बैंको के ATM पिन 6 डिजिट के हैं इनमें कोटक महिंद्रा बैंक भी शामिल है।



आपने आईफोन का ऐड गौर से देखा हो तो आप उसमें फोन की स्क्रीन पर हमेशा 9:41 AM का टाइम ही शो होते देखेंगे। दरअसल, ये वही समय है जब दुनिया ने एप्पल के आईफोन की पहली झलक देखी थी। आईफोन और आईपेड के ऐड में 9:41 का वक्त दिखाने का चलन साल 2007 में मेकवर्ल्ड कॉन्फ्रेंस एंड एक्सपो से शुरू हुआ। इसी इवेंट में एप्पल के तत्कालीन CEO स्टीव जॉब्स ने एक हिस्टोरिकल की-नोट प्रेजेंटेशन दिया था, और आईफोन की पहली झलक दिखाई थी। इवेंट से पहले जॉब्स ने सोचा कि क्यों ना जब आईफोन दुनिया के सामने आए तो उसकी स्क्रीन पर वही टाइम दिखे जो ऑडियंस की घड़ी में हो रहा हो। प्लानिंग के मुताबिक 9 बजे शुरू होने वाला प्रेजेंटेशन 40 मिनट में पूरा हो जाना था और उसके बाद आईफोन की झलक दिखानी थी।


इसका कारण मैनुअल टाइपराइटर्स के समय से जुड़ा हुआ है। पहले मैनुअल टाइपराइटर में अल्फाबेटिकल ऑर्डर में ही Keys को अरेंज किया गया था, लेकिन उस समय टाइपिस्ट इतना फास्ट टाइप करते थे कि टाइपराइटर जल्दी खराब हो जते। ऐसे में टाइपिंग स्पीड को स्लो करने के लिए Keys को QWERTY स्टाइल में अरेंज कर दिया गया। इस रैंडम अरेंजमेंट को ही स्टैंडर्ड मान लिया गया और ये आज तक फॉलो किए जा रहे हैं।


माइक्रोसॉफ्ट के विंडोज XP ऑपरेटिंग सिस्टम का वो सिंपल और अट्रैक्टिव सा वॉलपेपर आपको भी याद होगा। इसका नाम Bliss है। इसमें रोलिंग ग्रीन हिल्स, ब्लू स्काई और सफेद खूबसूरत बादल दिखाई देता है। दरअसल, ये कैलिफोर्निया स्थित सोनोमा काउंटी के अमेरिकन विटिकल्चरल एरिया का फोटो है। नेशनल जिओग्राफी के फोटोग्राफर Charles O'Rear ने 1996 में ये लैंडस्केप फोटो खींची थी।


एप्पल के को-फाउंडर स्टीव जॉब्स नया और इनोवेटिव लोगो बनाना चाहते थे। इस काम के लिए उन्होंने Rob Janoff को हायर किया। लोगो के कटे होने का कारण बताते हुए Janoff कहते हैं कि हम चाहते थे लोग इसे एप्पल ही समझें चेरी नहीं। हालांकि, एप्पल 'bite' को कम्प्यूटर के 'Byte' से भी जेड़कर देखा जाता है।
आपको बता दें कि साल 1976 में एप्पल के तीसरे को-फाउंडर Ronald Wayne ने एप्पल का पहला लोगो डिजाइन किया था। इसमें एप्पल के पेड़ के नीचे बैठे न्यूटन को दिखाया गया था


कुछ लोगों का मानना है कि ये कोई लाइट सेंसर है। वहीं, कुछ का कहना है कि ये माइक्रोफोन हो सकता है। कइयों का मानना तो ये है कि ये कोई रिसेट बटन है। अगर आपको भी ऐसा ही कुछ लगता है तो आपको बता दें कि ऐसा कुछ भी नहीं है। सच तो ये है कि ये एक माइक्रोफोन है लेकिन ये आपकी आवाज नहीं सुनता। इसे नॉइज कैंसलिंग माइक्रोफोन कहते हैं। ये बैकग्राउंड नॉइस को कम करने का काम करता है, जिससे कॉलर को क्रिस्टल क्लियर वॉइस सुनाई दे।


फेसबुक के नीले रंग में रंगे होने के पीछे सीधा सा कारण है। इसके फाउंडर मार्क जुकरबर्ग का कलर ब्लाइंड होना। न्यूयॉर्कर को दिए अपने एक इंटरव्यू में मार्क ने कहा की उन्हें लाल और हरा रंग दिखाई नहीं देता है। इसलिए नीला रंग उनके लिए सबसे आसान रंग है। फेसबुक शुरू से ही एक ही रंग में रंगा हुआ है। मार्के इसे हमेशा से जितना हो सके उतना सादा बनाना चाहते थे। यही वजह है कि उन्होंने फेसबुक को नीले रंग में रंग दिया।


नोकिया के लोगो में जो दो हाथ दिखाई देते हैं वो कोई इलस्ट्रेशन या इमेज नहीं है बल्कि ये फिनलैंड के दो मॉडल्स के हाथ हैं। एक हाथ बच्चे का है और दूसरा मेल का। कंपनी ने इन मॉडल्स को एजेंसी के जरिए हायर किया था। Janne Lehtinen नाम के आर्टिस्ट ने इस लोगो को फिनिशिंग दी है।

यह पढ़े :- फोनबुक के नंबर्स को ऐसे रखें Safe, डिलीट होने पर नहीं होगी प्रॉब्लम
दुनिया में कैसे आया एटीएम, पहली बार कहाँ निकला "पैसा"

दुनिया में कैसे आया एटीएम, पहली बार कहाँ निकला "पैसा"

हममे से हर एक व्‍यक्‍ति रोजाना ATM यानी की आटोमेटिड टैलर मशीन का उपयोग करता है। लेकिन आपको पता है ATM मशीन का अविष्कार कैसे हुआ? किसने बनाया इसे? और क्या है इसका भारत से कनेक्शन? और कहां इससे पहली बार पैसे निकाले गए? आइए आपको बताते हैं कैसे हुआ ATM मशीन का अविष्कार? और किस भारतीय ने इसे बनाया।

आज के दौर में जबकि पूरी दुनिया में बैंकिंग व्यवस्था बेहद एडवांस हो चुकी है और यहां तक कि मोबाइल पर आ चुकी है, वहां हर व्‍यक्‍ति ATM को न केवल ठीक से जानता है बल्कि उसका प्रयोग भी करता है। भारत में भी हर बैंक का ATM है और यह अब बेहद अनिवार्य जरूरत बन गई है।

ATM का पूरा नाम आटोमेटिड टैलर मशीन यानी की स्वचालित गणक मशीन है। भारत में इसे ATM ही कहा जाता है जबकि यूरोप, अमेरिका व रूस आदि में आटोमेटिक बैंकिंग मशीन, कैश पाइंट, होल इन द वॉल, बैंनकोमैट कहा जाता है।

पढ़े :- ATM पिन में क्यों होते हैं सिर्फ 4 डिजिट? जानें ऐसे ही 8 सवालों के जवाब

ATM एक ऐसी मशीन है, जिसका कनेक्शन कंप्यूटर से होता है। यह निर्धारित बैंकों के कस्टमर को कैश या नकदी पैसे उपलब्ध कराने में सहायक होता है। खास बात यह है कि इस कैश ट्रांजेक्‍शन में कस्टमर को कैशियर, क्लर्क या बैंक टैलर आवश्यकता नहीं होती है।

दुनिया में ATM मशीन के अविष्कार का विचार एक साथ कई देशों में आया। यह जापान, स्वीडन, अमेरिका और इंग्लैंड में जन्म और विकसित हुआ। हालांकि सबसे पहले इसका प्रयोग कहां शुरू हुआ यह अभी तय नहीं हो पाया है।

बहरहाल, देखा जाए तो विश्व में ATM के अविष्कार को लेकर कई देशों के अलग-अलग दावे हैं। लंदन और न्यूयॉर्क में सबसे पहले इससे प्रयोग में लाए जाने के उल्लेख मिलते हैं। 1960 के दशक में इसे बैंकोग्राफ के नाम से जाना जाता था।




कुछ दावों के अनुसार ATM का सबसे पहले प्रयोग 1961 में सिटी बैंक ऑफ न्यूयॉर्क के ग्राहकों के लिए किया गया था। हालांकि ग्राहकों ने तब इसे अस्वीकृत कर दिया था। इस कारण छह माह के बाद ही इससे हटा लिया गया था। इसके बाद टोक्यो, जापान में 1966 में इसका उपयोग हुआ था।

यूरोप में यानी की ब्रिटेन की राजधानी लंदन में ATM का प्रयोग किया गया। चौंकाने वाली बात यह है कि इंग्लैंड ने प्रयोग में लाई गई मशीन के अविष्कार का श्रेय जॉन शेपर्ड को जाता है। हालांकि इसके विकास में इंजीनियर डे ला रूई का भी महत्त्वपूर्ण योगदान है।

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि जॉन शेपर्ड का जन्म। ब्रिटिशकालीन भारत में ही हुआ था। जॉन भारत में पूर्वोत्तचर राज्य असम के शिलांग और वर्तमान में मेघालय के शिलांग के जन्में थे। जॉन शेफर्ड बैरन का जन्म 23 जून 1925 को मेघालय के शिलांग में हुआ था। उनके स्कॉटिश पिता विलफ्रिड बैरन चीफ इंजीनियर थे।

ATM बनाने वाले जॉन शेफॉर्ड को ही एटीएम के पिन का भी अविष्कारक कहा गया। उन्होंने ही चार नंबर के पिन का भी अविष्कार किया, जिसका आज भी प्रचलन है। इसका प्रयोग 27 जून, 1967 में लंदन के बार्केले बैंक ने किया था।

जॉन शेफर्ड बैरन की मृत्यु् हाल ही में यानी की 15 मई 2010 को हुई थी।

यह भी पढे -

Tag :- #Atm #atm discovery #atm code # Atm pin  # atm machine # atm scienctist # all knowledge of Atm # 
डिजिटल मार्केटिंग कोर्स क्या है digital marketing course in hindi

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स क्या है digital marketing course in hindi

digital marketing course kya hai in hindi - डिजिटल मार्केटिंग कोर्स क्या है लोग इन हिन्दी मे जानने की कोशिश करते है | ऐसे मे हमारी के माध्यम से आज आपको डिजिटल मार्केटिंग क्या है के बारे मे बताने वाले है | आज के दौर मे डिजिटल मार्केटिंग की डिमांड बहुत तेजी से बढ़ रही है और इस कारण इस क्षेत्र मे बहुत सारे जॉब्स नौकरी भी बढ़ती चली जा रही है | इसलिए इंटरनेट पर लोग search कर रहे है - डिजिटल मार्केटिंग क्या है इन हिंदी डिजिटल मार्केटिंग कोर्स डिजिटल मार्केटिंग में करियर डिजिटल मार्केटिंग कोर्स इन हिंदी डिजिटल मार्केटिंग कोर्स फीस डिजिटल मार्केटिंग कोर्स इन हिंदी पीडीएफ व्हाट इस डिजिटल मार्केटिंग डिजिटल मार्केटिंग कोर्स digital marketing course


digital marketing kya hai


डिजिटल मार्केटिंग के बारे मे क्या है

डिजिटल मार्केटिंग मे करियर के बारे मे जानने से पहले आपको बता दे डिजिटल मार्केटिंग क्या है तो आपको बता दे - अपनी वस्तुओ या सेवाओ को डिजिटल तरीके से बेचना या सेवाए प्रदान करना डिजिटल मार्केटिंग कहलाता है | जैसे - मोबाइल रिचार्ज, paytm shop से कुछ खरीदना |

अब आपको यह तो समझ मे आ चुका है कि डिजिटल मार्केटिंग इंटरनेट के प्रयोग से और phone tablet computer के माध्यम से किया जाता है |

डिजिटल मार्केटिंग मे करियर -

आज के समय मे डिजिटल मार्केटिंग के क्षेत्र मे करियर बनाना चाहते है तो आप सबसे डिजिटल मार्केटिंग के क्षेत्र मे बढ़िया नालेज प्राप्त करे | हम आपको आगे कुछ डिजिटल मार्केटिंग मे उपलबध्य क्षेत्र के बारे मे बताने जा रहे है -

सर्च इंजन ओप्टीमाईजेशन SEO 
जब आप गूगल या याहू search मे कुछ सर्च करते है तो आपके सामने कई परिणाम खुल कर सामने आते है और यह परिणाम का जो क्रम होता है | जैसे - सबसे ऊपर कोई परिणाम आना | यह सब seo का कमाल होता है | तो आप इस क्षेत्र मे निपुण होकर भी डिजिटल मार्केटिंग से जुड़ सकते है |

डिजिटल मार्केटिंग की शुरुवात कैसे करे

  • आज के समय मे ऐसे बहुत से ब्लॉग इंटरनेट पर मौजूद है जो online digital marketing course की पूरी जानकारी आपको बताते है |
  • डिजिटल मार्केटिंग करने के बारे ऐसे बहुत से प्रोग्राम किए जाते है जिसमे आपको शामिल होना चाहिए और अधिक जानकारी डिजिटल मार्केटिंग की लेनी चाहिए |
  • सबसे अच्छा तरीका है आप अपना खुद की वैबसाइट [ ब्लॉग ] की शुरुवात करे | यहा क्लिक से जाने वैबसाइट कैसे बनाए |
डिजिटल मार्केटिंग करने वालो की वेतन - 
आपको जान कर हैरानी हो सकती है लेकिन यह सच है एक डिजिटल मार्केटिंग करने वाले की वेतन 20 हजार से 1 लाख तक या इससे भी अधिक हर महीने हो सकती है | इतना ही नहीं अगर आपकी पकड़ अच्छी डिजिटल मार्केटिंग मे हो चुकी है तो आप कुछ ही सालो मे खुद के बॉस और खुद का ऑफिस भी बना पाओगे |


अगर आपको डिजिटल मार्केटिंग के बारे मे कुछ पुंछना है तो आप अपने सवाल कमेन्ट मे लिखे हम आपको बहुत जल्दी ही आपके सवालो के जवाब देंगे |
इन्टरनेट से खुद को कैसे डिलीट करे

इन्टरनेट से खुद को कैसे डिलीट करे

इन्टरनेट से खुद को कैसे डिलीट करे

क्या आप अपनी पहचान इन्टरनेट से छुपाना चाहते है | तो आज हमको बताने वाले है की आप किस तरह से अपने आपको इन्टरनेट से डिलीट कर सकते है |

remove form internet


आपको पता ही है की इन्टरनेट की दुनिया कितनी विशाल है और कोई कोई भी इन्टरनेट मे घुस जाता है तो उसकी पहचान सदा सदा के लिए रह जाति है |



क्या आपने अभी तक केवल Gmail पर ही अपनी आईडी बनाई हुई फिर भी कुछ ही समय मे आपके पास कई तरीके के mail आने लगे है और आपको समझ मे नहीं आ रहा है की आपके बारे मे इन लोगो को कैसे जानकारी प्राप्त हो गई | तो ऐसे मे आप deseat Me आप प्रयोग करे | Deseat Me द्वारा आप अपनी पहचान इन्टरनेट से हटा सकते है | Deseat Me एक वैबसाइट है जिसका प्रयोग करके आप अपने फालतू सर्विस वाले मेल को Unsubscribe कर सकते है | और इस तरह आप अनचाहे मेल से मुक्ति पा सकते है |

अक्सर अगर आप या हम किसी किसी वैबसाइट पर जाते है और अगर वह Singup का ऑप्शन आए तो आप Fb से या Gmail से Login की Request कर देते है | और ऐसा करने से आपको Personal Data भी चला जाता है | लेकिन Deseat के द्वारा इस Personal Data को Remove किया जा सकता है | तो आप इसका use करके अपनी पहचान सार्वजनिक होने से बचा सकते है और अपनी आईडी पर केवल अपनी जरूरत की mail प्राप्त कर सकते है | 



इसी तरह का एक और वैबसाइट है Unroll.me जिसका प्रयोग करके User Newslatter Unsuscribe कर सकता है | अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग या बीमा पॉलिसी के मेल से परेशान हो गए है तो आप इस वैबसाइट पर जाकर मेल को फिल्टर करके कंपनियो के Newslatter से निजात पा सकते है |

अब आप हमे बता सकते है हमारी छोटी सी पोस्ट इन्टरनेट से खुद को कैसे डिलीट करे जानकारी कैसी लगी |


अपने पुराने एंड्रॉयड फोन को ऐसे बनाये सीसी टीवी केमरा - Android Phone Ko CCTV Camera Kaise Banaye

अपने पुराने एंड्रॉयड फोन को ऐसे बनाये सीसी टीवी केमरा - Android Phone Ko CCTV Camera Kaise Banaye

अपने पुराने एंड्रॉयड फोन को ऐसे बनाये सीसी टीवी केमरा - Android Phone Ko CCTV Camera Kaise Banaye

आपको पता ही होगा की CCTV Camera Use कहा और कयू किया जाता है ! और आज के समय मे हर इंसान अपनी जान - माल की  sefety के क्या क्या करता है ! और इसमे से एक है सुरक्षा के लिए cctv केमरा जिसका इस्तेमाल आपके लिये बहूत ही फायदेमंद साबित हो सकता है ! cctv cemera मार्केट मे बहूत ज्यादा महँगे होते है और आपको कभी सीसी टीवी केमरे की ज़रूरत पड़ जाए और आपके पास इतने पैसे ना हो जिससे आप एक cctv खरीद पाए ! तो आप क्या करेंगे ! तो आज आप सही जानकारी ले रहे है क्योंकि आज हम आपको बताने वाले है की कैसे आप अपने पुराने एंड्रॉयड फोन को एक cctv केमरा बना सकते है ! तो चलिए जानते है smart phone को cctv cemera बनाने के तरीके को !

Cctv Cemera

Security Camera Ki Tarah Use Kare Android Phone - सिक्युरटी केमरे की तरह काम ले स्मार्ट फोन !

आज हम जिस तरीके से smart phone to cctv cemera बनाने की बात कर रहे है वह बिल्कुल security cctv cemera की तरह काम करेगा !


अपने स्मार्ट फोन को सीसी केमरा की तरह कैसे प्रयोग करे - How To Use Smart Phone For CCTV

अपने एंड्रॉयड फोन को CCTV की तरह USE करने के लिए आपको IP camera नाम की ऐप डाउनलोड करनी होगी !


  • सबसे पहले अपने एंड्रॉयड फोन मे प्ले स्टोर से IP camera नाम की ऐप डाउनलोड करके इनस्टॉल कीजिए !
  • अब ऐप ओपन करे और फ़िर cctv application की setting को ओपन कीजिए !
  • अब आपको अपने एंड्रॉयड फोन को connect करना होगा लेकिन एंड्रॉयड को activate करने के लिए आपको सर्वर शुरू करना होगा !
  • सर्वर connect करने के लिए अपने android phone के right side मे ऊपर दिये गये how to connect बटन पर क्लिक कीजिए !
  • अब आपके फोन मे प्रक्रिया स्टार्ट हो जाएगी और यह पूरा हो जाने पर आपको network type Select करना होगा जिसमे आपको mobile internet connection select करे 
  • अब आपको एक wifi rowter मिल जाएगा !
  • अब आपको यह ऐप एक ip address की तरह का एक एड्रेस देगा जो आपके cctv का transfer address है मतलब की जो एड्रेस आपको मिला है उसे किसी कम्पूटर या लेपटाप के browser पर enter करे !
  • अब आप जिस live video recording को देखना चाहते है उसी के अनुसार अपना पथ चुन सकते है !

कैसे देखे live vidio एंड्रॉयड सीसी केमरा से -



  • एंड्रॉयड सीसी केमरा से live vidio देखने के लिए आप चाहे तो अपने कम्पूटर मे third party ऐप को इंस्टाल कर ले !
  • अपने किसी एंड्रॉयड फोन के security servilance camera की सहायता से विडिओ देख सकते है !
  • आप recording save करके उसे कभी भी देख सकते है !


कम्प्यूटर मे कैसे देखे live vidio cctv केमरा विडिओ !
अगर आपको अपने pc मे बहूत ही आसानी से live vidio देखना है ! 
ऊपर बताए गये तरीकों मे हमने एंड्रॉयड फोन मे ऐप setting setup करने को बताया गया था ! जिसमे आपको एक ip एड्रेस की तरह एड्रेस मिला होगा !

Readऐसे बनाए चंद मिनट मे स्मार्टफोन को प्रोजेक्टर - तकनीकी ज्ञान

अब उसे अपने कम्पुटर के ब्राउजर जैसे chrome या firefox मे ip एड्रेस जैसा जो मिला है उस एड्रेस को किसी भी एक ब्राउजर मे लिख दें या paste कार दें ! और सर्च करे ! अब आपके सामने बहूत से पेज ओपन हो जाएगी ! अब अपने मनपसंद की कोई एक लिंक को ओपन करे @  और अब आपको वहा live video देखने के लिए कुछ ऑप्शन मिलेगी जैसे -

  • विडिओ प्लेयर के द्वारा live video को देख सकते है
  •  java browser plugin का use करके भी देख सकते है !
  • Browser bilt in viewer का use करके देख सकते है !
  •  अन्य android device पर tiny cam monitor का use कर सकते है !
  • किसी दूसरी android device पर IP cam viewer का उसे कर सकते है !
  • android के लिए IP web cam apps पर full view भी देख सकते है !

तो आप इस तरह से अपने Android Phone को CCTV Camera की तरह use कर सकते है और इसके लिए आपको IP camera या dvr setup भी नही खरीदना होगा !
 लैपटॉप या कम्प्यूटर को टीवी से कैसे कनेक्ट करे ¦¦ Laptop Ya Pc Ko Tv Se Kaise Connect Kare

लैपटॉप या कम्प्यूटर को टीवी से कैसे कनेक्ट करे ¦¦ Laptop Ya Pc Ko Tv Se Kaise Connect Kare

लैपटॉप या कम्प्यूटर को टीवी से कैसे कनेक्ट करे ¦¦ Laptop Ya Pc Ko Tv Se Kaise Connect Kare

क्या आपको पता है लैपटॉप को टीवी से कनेक्ट करने का तरीका अगर नही तो आज हम आपको बताने वाले है लैपटॉप को कैसे कनेक्ट करे टीवी और कम्पुटर से !
How To Connect Laptop Or Pc In Tv.




Tv [ Television ] को Laptop या Pc [ Personal Computer ] से Connect करना बहूत ही आसान है लेकिन जानकारी न होने से इसे बहूत लोग कनेक्ट नही कर पाते है !


लेकिन आज की इस पोस्ट आप सीख जायेंगे कैसे लैपटॉप को टीवी से कनेक्ट करते है ! हम आपको ऐसे 2 तरीके बताने वाले है जिससे आसानी से Tv Connect To Pc Or Laptop कर सकते है !

टीवी को लैपटॉप या कम्पुटर से जोड़ने का तरीका ¦¦ Laptop Or Pc Connect Process To Tv

टीवी को लैपटॉप या कम्प्यूटर से 3 तरीकों से कनेक्ट किया जा सकता है !
TV ko Laptop Ya Computer Se 3 Tariko Se Connect Kiya Ja Sakta Hai !


1. HDMI Port
2. VGA Port
3. Wireless connection [ इसके बारे मे आपको जल्दी ही जानकारी दी जाएगी !]

HDMI Port Se Laptop Ko Tv Se Connect Karna ¦¦ Hdmi पोर्ट के जरिये टीवी को लैपटॉप से कनेक्ट करना 




  • HDMI Cable के ज़रिए laptop को Tv से Connect करना एक आसान तरीका है और यह आपके लिए काफी किफायती है ! क्योंकि यह Cable Market मे सस्ते मे मिल जाती है !
  • इसकी पिक्चर और साउंड क्वालिटी Hd होती है !
  • Laptop से HDMI cable को कनेक्ट करे और फ़िर Tv से connect करे !
  • Connect करते समय लैपटॉप को चालू ही रहने दें और टीवी को correct HDMI channel पर Set करे ! Laptop automatically HDMI setting detect कर लेता है !

अगर किसी कारण laptop ya Pc auto setting ना करे तो यह  process complete करे —

  • Control panel> display> adjust resolution tab me jaakar Tv select kare.

Read - एक फोन से दूसरे फोन को ऐसे चार्ज करे आसान ट्रिक 

VGA Cable Se laptop Ko Tv Se Kaise Connect Kare ¦¦ VGA Cable लैपटॉप को टीवी से कैसे कनेक्ट करे 

यह एक पुराना तरीका है लैपटॉप को टीवी से कनेक्ट करने के लिए जिससे एक multimedia device  to Other multimedia device को connect किया जाता है ! Latest laptop मे inbuilt
VGA port होता है ! VGA port का प्रयोग आप तब करे  जब आप कोई old model TV
को laptop से connect करना चाहते हो क्योंकि ऐसे TV मे HDMI port नही होता है !

  • VGA cable के एक हिस्से को टीवी और दूसरे हिस्से को लैपटॉप से connect करके screw से कस दें ! VGA cable मे केवल video का Output होता है !
  • इसलिए audio के ले 3.5 mm audio jack लैपटॉप के headphone की इनपुट मे लगाए और दूसरा end Tv के audio jack मे लगाए !

HDMI port की तरह लैपटॉप VGA cable से भी automatic setting कर लेता है ! और अगर नही करे तो आप ऊपर वाली process से Control panel मे जाकर सेट्टिंग कर सकते है !
jaakar setting kar ley.

To Aap Is Tarh Se apne Laptop Ko Tv Se Connect Kar Sakte Hai ! Ek Baar Try Karke Dekhe Aapko Benefit Hi Hoga !



  • Share
  • खुद का NGO बनाना चाहते हो तो बनाए ऐसे

    खुद का NGO बनाना चाहते हो तो बनाए ऐसे

    खुद का NGO बनाना चाहते हो तो करे Make Own NGO in Hindi
    अखबारों में कई बार खबरें आती हे की बच्चो के लिए काम करने वाले NGO ने बाल श्रमिकों को छुड़वाया, महिला सुरक्षा के लिए बने NGO ने घरेलू हिंसा शिकार महिलाओं की मदद की. इस तरह बहुत सी खबरें NGO के संगठन के बारे में आती रहती हे. यह NGO ऐसे संगठन होते हे जो किसी विशेष उद्देश्य के लिए काम करते हे. ऐसे लोग जो समाज के लिए कुछ करना चाहते हे, लोगो की मदद करना चाहते हे वे लोग ही NGO की शुरुआत करते हे. हर NGO में यह ताकत होनी चाहिए की वो अपनी योजनायें क्रियान्वित कर सकें और अपने द्वारा किये गए कार्यों की जिम्मेदारी ले सकें. आज की इस पोस्ट में, में आपको यह बताऊंगा की खुद का NGO बनाने के लिए क्या करे.


    1. अगर खोलना ही हे NGO तो 
    समाज के लिए लम्बे समय से काम कर रहे लोग NGO खोलने पर गंभीरता से विचार कर रहे हे. अपने कार्यों को संगठन का रूप देने के लिए इस दिशा में रूचि रखने वाले लोगों को एक साथ लेने में मदद मिलती हे, साथ ही इसके लिए फंड जुटाने में भी मदद मिलती हे. अगर कोई संगठन क़ानूनी चीजों के बारे में भी अच्छे से जनता हे तो वो इसमें अच्छा प्रदर्शन कर सकता हे !

    2. जरुरी हे पारदर्शिता
    NGO को करों में छुट मिलती हे. NGO सुचारू रूप से चलाने के लिए इसके कार्यों में पारदर्शिता बरतें. एक बार जब अनुदान या फंड मिलना स्टार्ट हो जाए तो मिलने वाले धन, खर्च आदि का पूरा ब्यौरा रखें. इस रिकॉर्ड का वित वर्ष के अंत में ऑडिट जरुर करवाएं. NGO के अकाउंट और अपने निजी अकाउंट को अलग अलग रखें.

    3. सही तरह से संचालन कैसे हो 
    NGO का संचालन सामाजिक कार्यों से जुड़ा होता हे और इन जिम्मेदारियों को पूरी तरह से निभाने के लिए उन्हें सरकारी एजेंसियों, दुसरे NGO, मीडिया, कारपोरेट सेक्टर आदि से तालमेल बैठाकर चलना होता हे.

    4. जरुरी हे क़ानूनी पहल 
    NGO खोलने वाले अक्सर क़ानूनी सलाहकार नियुक्त करते हे. अब सबसे पहले आपको NGO को रजिस्टर करवाना होगा. भारत में यह रजिस्ट्रेशन इंडियन ट्रस्ट्स एक्ट, सोसाइटीज रजिस्ट्रेशन एक्ट और कम्पनी एक्ट के तहत होता हे. रजिस्ट्रेशन से पहले आपको ऐसा नाम और लोगो चुनना होगा, जो भारत में पहले किसी संस्था ने ना ले रखा हो यानी लोगो और नाम कॉपी नहीं होना चाहिए.
    एनजीओ क्या है एनजीओ रजिस्ट्रेशन कैसे करे
    5. एक उद्देश्य होना चाहिए 
    NGO खोलने के लिए सबसे पहले आपके जनहित से जुड़ा एक उद्देश्य होना चाहिए. संस्थापक के सामने आपके उद्देश्य लिखित रूप में हो, ताकि उसे अपनी संस्था का लक्ष्य पता रहे और साथ ही वो अपने साथ जुड़ने वाले लोगों को भी इसके बारे में बता सके. अगर ज्यादा संभावनाओं को जानना हे तो हो सके तो आप पहले किसी NGO के साथ कार्य करें.
    फ्री इन्टरनेट चलाइए Jio 4g setting for lifetime free internet

    फ्री इन्टरनेट चलाइए Jio 4g setting for lifetime free internet

    free interenet jio speed - फ्री इंटरनेट चलाइए जी हाँ अगर आप भी फ्री इंटरनेट 4g speed मे चलाना चाहते है तो उसके लिए आपके पास होना चाहिए एक jio की sim फिर ही आप free 4g jio internet का मजा ले सकते है | आज कल एक वीडियो यूट्यूब पर पोपुलर हो रहा है क्योकि वीडियो मे बताया गया है कि कैसे आप जियो 4g सिम के प्रयोग से फ्री इंटरनेट का मजा लाइफटाइम के लिए ले सकते है | आगे आपको हम बता रहे है यूट्यूब के वीडियो मे क्या और कैसे फ्री इंटरनेट जियो के द्वारा इस्तेमाल कर सकते है दिखाया गया है |
    free internet chalaiye

    फ्री इंटरनेट का इस्तेमाल करने का तरीका जो यूट्यूब वीडियो मे दिखाया जा रहा है

    • यूट्यूब वीडियो मे फ्री इंटरनेट पाने के लिए जो तरीका बताया और दिखाया गया है उसके हिसाब से my jio app सबसे पहले आपको डाउनलोड करना है लेकिन ध्यान रहे यह जो एप है जियो कि वह पुराना वर्जन होना चाहिए |
    • जियो का पुराना वर्जन इन्स्टाल करने के लिए सबसे पहले आपको अपने फोन से न्यू वर्जन को अनइन्स्टाल करना होगा |
    • ओल्ड वर्जन को अनइन्स्टाल करने के बाद आपको http://gifyu.com इस वैबसाइट पर जाना होगा और फिर jio old वर्जन का Apk डाउनलोड करना होगा |
    • जियो कि apk जब आप डाउनलोड कर लेते है तो आपसे जियो update करने के लिए कहेगा लेकिन आपको अपडेट नहीं करना है बल्कि आपको back हो जाना है |
    • अब आप जियो app को खोलिए फिर साइन इन कीजिए जिसके लिए अब आपको जियो नंबर और पासवर्ड इंटर करना है |
    • जब आप लॉगिन कर लेते है जियो एप मे तो आपको एक एसएमएस शो होता हुआ दिखाई देगा | जिसमे Unlimited access to Digital Life Till लिखा हुआ दिखाई देगा |
    यह फ्री इंटरनेट चलाने का तरीका हमने आपको यूट्यूब पर जो वीडियो वायरल हुई है उसे देखकर बताया गया है अगर आप इस फ्री इंटरनेट चलाने के तरीके को प्रयोग मे लेते है और आपका इंटरनेट फ्री नहीं चलता है तो इसकी ज़िम्मेदारी हमारी नहीं होगी | 
    वॉट्सऐप पेमेंट्स अब होगा शुरू जानिए खास बाते

    वॉट्सऐप पेमेंट्स अब होगा शुरू जानिए खास बाते

    whatsapp kya hai meaning - अगर आपके फोन पर इंटरनेट जुड़ा हुआ है तो आप वॉट्सऐप एप का प्रयोग न करे भला ऐसा कैसे हो सकता है | आपको पता ही होगा वॉट्सऐप के जरिये बिना रुपए खर्च किए एसएमएस भेजा जा सकता है | यही कारण हो सकता है कि आज वॉट्सऐप इतना पोपुलर है की विश्वभर मे करोड़ो लोग इस मैसेज एप का प्रयोग कर रहे है | अब वॉट्सऐप प्रयोग करने वाले लोगो को वॉट्सऐप एक न्यू गिफ्ट whatsapp payment service देने जा रहा है जिसका प्रयोग आप बहुत जल्दी ही कर पाएंगे |
    वॉट्सऐप-पेमेंट्स-अब-होगा-शुरू
    whatsapp se paise kaise send kare


    whatsapp meaning in hindi - 

    • एक ऍप का नाम जो कि यूजर्स के बीच सन्देश भेजने के काम आती है । 
    • इसका नाम एक अंग्रेजी वाक्यांश What's up से लिया है । 
    • What's up का मतलब है - "क्या चल रहा है"

    वॉट्सऐप पेमेंट्स सर्विस - आपका सबसे प्रिय एप वॉट्सऐप बहुत जल्द ही वॉट्सऐप पेमेंट सर्विस की टेस्टिंग करने जा रहा है | वॉट्सऐप कंपनी ने इसकी टेस्टिंग करना स्टार्ट कर दिया है | अभी वॉट्सऐप द्वारा पेमेंट सर्विसेज की बीटा टेस्टिंग कर रही है साथ ही एक रिपोर्ट से जानकारी प्राप्त हुई है कि वॉट्सऐप फरवरी महीने के अंत तक वॉट्सऐप  पेमेंट सर्विस अपने यूजर को गिफ्ट के तौर पर दे सकता है | फिलहाल अभी वॉट्सऐप इस सर्विस को अपने पार्टनर के साथ रन कर रही है | रिपोर्ट मे यह भी बताया गया है कि वॉट्सऐप टॉप लेयर पर काम करते हुए सेंडर और रिसीवर की पहचान करेगा और मोबाइल नंबर्स को बैंक अकाउंट से जोड़ेगा |
    • अभी कुछ दिन पहले यूपीआई एप की ग्रोथ सबसे बढ़िया रही रिपोर्ट की माने तो दिसंबर 2017 मे यूपीआई के माध्यम से कुल 145 मिलियन ट्राजेक्सन किए गए |
    • अब वॉट्सऐप पेमेंट्स सर्विस शुरू होने जा रही है तो कहा जा रहा है इसका सबसे बड़ा नुकसान Paytm और भीम एप को होगा | इसका कारण वॉट्सऐप के यूजर सबसे अधिक है |
    • बैंकिंग पार्टनर्स का कहना है कि मेसेंजिंग ऐप में पेमेंट सर्विस चलाने के कारण इसकी सिक्यॉरिटी बरकरार रखना एक बड़ी चुनौती है, जिसे रोल-आउट से पहले ही दूर करना होगा |
    • वॉट्सऐप ने स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई, एचडीएफसी और ऐक्सिस बैंक के साथ पहले ही करार कर लिया है। वॉट्सऐप ने पेमेंट सर्विस के लिए भारत सरकार से जुलाई 2017 में ही परमिशन ले ली है |
    गलत बैंक खाते मे पैसा ट्रांसफर तो ऐसे पाए वापस

    गलत बैंक खाते मे पैसा ट्रांसफर तो ऐसे पाए वापस

    पैसा ट्रांसफर गलत खाते मे - ऑनलाइन पैसे का लेन देन तो हर कोई करता है लेकिन क्या करे जब पैसा आपके खाते या आपके मनचाहे खाते मे न जाए | इस तरह की गलती कभी कभी हो जाती है जिस कारण आप टेंसन मे आ जाते है तो आज हम तरीका बताने जा रहे है पैसे गलत खाते मे ट्रान्सफर होने पर क्या करे ???

    ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करना बहुत आसान है इसलिए आज अधिक संख्या मे लोग ऑनलाइन पैसे इधर से उधर भेज रहे है लेकिन यह भी आपको पता ही होगा ऑनलाइन पैसा जितना भेजना आसान है उतना ही जोखिम भरा, जरा सी गलती से आपके पैसे किसी अंजान शख्स को मिल जाएँगे | तो ऐसे गलती आपसे हो जाती है तो करे आइये जाने -

    ऑनलाइन पैसे भेजने [ ट्रान्सफर ]  का तरीका

    अगर आपका किसी भी बैंक मे इंटरनेट खाता है तो आप ऑनलाइन NEFT और RGTS की तरह पैसा ट्रांसफर कर सकते है | यह आप उस समय कर पाते है जब आपके पास बैंक से मिले यूजर नेम एंव पासवर्ड हो |  अगर आपके पास यूजर नेम, पासवर्ड है तो आप ऑनलाइन यूजर प्रणाली मे डालकर लॉगिन कर सकते है | इसके बाद थर्ड पार्टी या सेम बैंक एकाउंट होल्डर के विकल्प पर जाकर जिसको पैसा भेजना है उसका विवरण भरे | यह प्रोसेस पूरा जब आप कर लेते है तो बैंक 10 से 12 घंटे के भीतर वेरिफ़ाई कर आपके खाते से लिंक कर देता है |



    बैंक एकाउंट भरने मे गलती - 
    बैंक मे पैसे के लेन देन के लिए आपसे 2 बार बैंक खाता नंबर भरने को कहा जाता है इसका कारण एक मे आपने गलत खाता नंबर अगर आपने भर दिया हो दूसरे मे सही तो आपका प्रोसेस पूरा नहीं हो पता है लेकिन कभी कभी अंजाने मे दोनों बार नंबर का हेर फेर हो जाता है और गलत खाता आपके बैंक से जुड़ जाता है | मतलब पैसा गलत व्यक्ति के खाते मे ट्रांसफर हो जाएगा | खाता जुड़ जाने के बाद आप कभी भी संबन्धित खाते मे बैंक की सीमा के अनुसार पैसे भेज सकते है | ऑनलाइन पैसे भेजने के लिए आपसे कितना पैसा ट्रांसफर करना है यह भी पूछा जाता है | लेकिन इसमे भी कई बार गलती हो जाती है ऐसे मे आप नीचे दिए गए तरीके अपना सकते है |

    बैंक से करे शिकायत - जी हाँ अगर गलत खाते मे या गलत व्यक्ति को पैसे भेज दिया है तो तुरंत ही बैंक को सूचित कर देना चाहिए | आपका और लाभार्थी का खाता एक ही बैंक मे होने पर प्रोसेस तेज हो जाता है | मतलब आपके पैसे आपको एक से दो दिन मे वापस मिल जाएगा |

    दो तरीके से मिल जाता है पैसा - 

    • पहला तरीका किसी अन्य व्यक्ति के खाते मे पैसा ट्रान्सफर हो जाने के बाद तत्काल सूचना कर देंना चाहिए | अगर आप ऐसा करते है तो बैंक आपके द्वारा मिली सूचना के आधार पर बैंक उस व्यक्ति को सूचना देगा जिसके खाते मे आपसे गलती से पैसे भेज दिये गए है | बैंक उस व्यक्ति से गलत ट्रांसफार हुए पैसे को वापस करने की अनुमति मागेगा |
    • अगर पैसा लौटाने के लिए व्यक्ति राजी हो जाता है तो आपके पैसे आपके खाते मे आ जाएगा अगर नहीं राजी होता है तो आप उसके खिलाफ केश दर्ज करा सकते है |
    बैंक के निशार्देश के अनुसार आप सही जानकारी ही दे अगर आप से गलती होती है और इस तरह की घटना हो जाती है तो बैंक इसका जिम्मेदार नहीं होगा |
    एटीएम प्रयोग करते है तो ATM चार्ज से बचे ऐसे

    एटीएम प्रयोग करते है तो ATM चार्ज से बचे ऐसे

    atm charge fee - आज  के समय मे बहुत ही कम लोग ऐसे बचे है जो ATM प्रयोग न करते होंगे | अगर आप Atm Use करते है तो आपको इतना तो पता ही होगा अगर Atm को लिमिट से ज्यादा प्रयोग किया जाए तो आपके पैसे कट जाते है जिसे atm charge fee कहा जाता है | लेकिन आप चाहे तो कुछ टिप्स अपनाकर Atm Uses Charge fee से बच सकते है | तो आइये जाने कैसे एटीएम चार्ज से बचा जा सकता है
    girl in atm

    एटीएम प्रयोग करते है तो रखे यह सावधानी For ATM Charge Free

    कैश ही निकाले एटीएम से केवल - अक्सर देखा जाता है बहुत से लोग खुद के एटीएम कार्ड का प्रयोग बैंक खाते मे बैलेन्स या मिनीस्टेटमेंट जानने के लिए करते है तो हम आपसे यही कहेगे ऐसा आप न करे | इसके लिए आप एसएमएस सुविधा या फोन बैंकिंग सुविधा का प्रयोग कर सकते है |



    कैश का प्रयोग कम करे - अगर आप अपने कुछ खर्च कैश से न करके किसी दूसरे तरीके से करेंगे तो आपका ATM प्रयोग कम होगा मतलब आपको एटीएम जाने की जरूरत कम पड़ेगी | तो आप कुछ पेमेंट नेटबैंकिंग, डेबिटकार्ड या क्रेडिटकार्ड से कर सकते है | अगर आप ऐसा करते है तो आपको एटीएम कम जाना पड़ेगा और आप ATM Charge Fee से बच सकते है साथ ही अगर आप ऑनलाइन पेमेंट करते है तो आपको कई सारे फायदे भी मिल जाते है जैसे कैशबैक ऑफर | ऐसे कई पोपुलर वैबसाइट है जैसे PayTM का प्रयोग करके कैशबैक पा सकते है |

    कैश फलो योजना बनाए - अगर आप छोटी छोटी जरूरतों के लिए एटीएम जाते है तो ऐसा करने से बचे जिसके लिए आप कैश फ़्लो योजना जरूर बनाए साथ ही अगर आप बहुत ही कम पैसे एटीएम से निकालते है तो इससे भी बचे मतलब अधिक पैसे एक बार मे निकाले जो आपके अगले 1 से 7 दिनो तक के खर्च चला पाए |

    खुद का बैंक एटीएम ही प्रयोग करे - अगर आपका बैंक एकाउंट SBI Bank मे हो तो आप एसबीआई एटीएम का प्रयोग करे इस तरह आप अधिक बार ATM का प्रयोग कर पाएंगे और आपको ATM Charge नहीं लगेगा | अगर नहीं पता आपके बैंक का एटीएम कहा है तो अपने स्मार्ट फोन से पता लगा सकते है |

    नो फ्रिल खाते का इस्तेमाल करे - नो फ्रिल खाते का प्रयोग पर एटीएम चार्ज के नियम नहीं लागू होते है तो आप एटीएम चार्ज से बचने के लिए नो फ्रिल खाते का इस्तेमाल कर सकते है |

    एमेरजेंसी कैश खुद के पास रखे - ऐसे बहुत से खर्च होते है जो बता कर नहीं आते है तो आप इन खर्चो के लिए आप खुद के पास कैश रखे लेकिन धन रहे बहुत ज्यादा कैश न रखे | नहीं तो 20 रूपए बचाने के लिए अधिक का नुकसान भी हो सकता है | तो यह थे कुछ टिप्स जिसको अपनाकर ATM चार्ज से बचा जा सकता है |
    8 ह्यूमन जिन्होंने बदली रोबोटिक्स की दुनिया robert word

    8 ह्यूमन जिन्होंने बदली रोबोटिक्स की दुनिया robert word

    रोबर्ट कैसे बनाए क्या आप जानते है अगर नहीं तो आज हम रोबर्ट बनाने का तरीका और रोबर्ट कि दुनिया मे बनाने वाले 8 ह्यूमन के बारे मे जानेगे
    टेक्नोलॉजी इस कद्र आगे बढ़ चुकी हे की जो चीज हम सपने में भी नहीं सोच सकते आज वो हकीकत हे. हमने कभी नहीं सोचा था की एक इंसान का काम मशीन करेगी. आज देख लो विदेशों में इंसान के काम भी रोबोट कर रहे हे. भारत के दिवाकर वैश्य ने भी ऐसा रोबोट बनाया था. दो महीने की मेहनत से उन्होंने रोबोट को मानव का रूप दिया. इसे Wifi और ब्लूटूथ से भी जोड़ा जा सकता हे. इस रोबोटिक मानव की बैटरी 1 घंटे तक चलती हे. इसमें कुल 21 सेंसर लगे हुए हे. यह रोबोट हमारी एक आवाज पर चल सकता हे. आज में आपको कुछ ऐसे ही ह्यूमन के नाम बता रहा हु जिन्होंने रोबोटिक्स की दुनिया में तहलका मचा दिया |

    यह पोस्ट एक वैबसाइट ऑनर के द्वारा हमे भेजा गया है जिनकी वैबसाइट का नाम माई नेट सलुशन है यहा क्लिक से जाए

    robert image
    रॉबर्ट कार कैसे बनाए घरेलू उपकरणो के प्रयोग से

    8 ह्यूमन जिन्होंने बदली रोबोटिक्स की दुनिया

    1. नेक्सी
    MIT मीडिया लैब तथा मीका रोबोटिक्स ने 2008 में एक अनूठा मोबाइल एक्सपेरिमेंटल रोबोट बनाया जो ना केवल चेहरे पर हावभाव प्रकट कर सकता था बल्कि उंगलियों से भी चीजें उठा सकता था.
    2. रीम-बी
    2008 में एक ऐसा रोबोट बनाया गया जो ना केवल आवाज पर प्रतिक्रिया दे सकता था बल्कि चेहरे भी पहचान सकता था और खुद चल भी सकता था. यह रोबोट अपने वजन के 20% के बराबर भार भी उठा सकता था
    3. कोबियन
    जापान के वसेट्रा विश्वविधालय ने वर्ष 2009 में कोबियन ह्युमन रोबोट विकसित किया जो चलने और बोलने के साथ-साथ अलग-अलग भाव प्रकट कर सकता था |


    4. रोबोनाट 2
    नासा और जनरल मोटर्स कम्पनी ने टांगो वाला एक विकसित रोबोट बनाया जो स्पेस स्टेशन के अंदर चल सकता था और ऊंचाई पर भी चढ़ सकता था. यह 24 फरवरी 2011 को लोंच होए स्पेस शटल डिस्कवरी मिशन का हिस्सा था
    5. असीमो
    यह दूसरी पीढ़ी का रोबोट था जो 3 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दोड़ सकता था और उछलने में भी सक्षम था. हौंडा कम्पनी द्वारा विकसित इस रोबोट में स्वतंत्र मूवमेंट टेक्नोलॉजी का उपयोग किया गया था
    6. शैफ्ट
    टोक्यो विश्वविधालय द्वारा विकसित इस रोबोट ने 2013 में DARPA रोबोटिक्स चैलेंज जीता था. इसे बाद में गूगल कम्पनी में अपने स्वामित्व में ले लिया. यह एक ऐसा नवीन रोबोट था जो मानवीय कार्यों को करने वाली गतिविधियों पर नियन्त्रण रख सकता था
    7. पेप्पर
    जापान के सॉफ्टबैंक कारपोरेशन की सहायक इकाई एल्डेबेरेन रोबोटिक्स SA ने यह ह्युमन रोबोट विकसित किया को लोगो के साथ रह सकता था, भावनाओं को प्रकट कर सकता था और लोगों से बातचीत कर सकता था
    8. मानव
    भारत के अग्रणी कंप्यूटर संस्थान A-SET ट्रेनिंग एंड रिसर्च इंस्टिट्यूट के रोबोटिक्स एंड रिसर्च हेड दिवाकर वैश्य ने भारत का पहला थ्रीडी प्रिंटिंग रोबोट बनाया था जिसकी प्रोसेसिंग क्षमता इसे मनुष्य के बराबर बोलने और चलने योग्य बनाती हे. भारत का पहला रोबोट हे जिसमे थ्री दी प्रिंटिंग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया
    नाक को हिलाने - डुलाने भर से काल कट जाएगी

    नाक को हिलाने - डुलाने भर से काल कट जाएगी

    जरा सोचिए बस और मेट्रो की भीड़ मे जेब से फोन निकाले बगैर ही आप वीडियो रोक सके या गाना आगे बढ़ा पाए तो कितना अच्छा रहेगा |

    काएस्ट यूनिवर्सिटी [ दक्षिण कोरिया ] कियो विश्वविद्यालय [ जापान ] के कम्प्युटर विशेज्ञों ने आपकी यह खवाइस पूरी कर दिखाई है | उन्होने अत्याधुनिक सेंसर से लैस स्मार्ट चसमा "ईची नोज " बनाया है | जो नाक को लग अलग अंदाज मे छूकर स्मार्टफोन के 3 बड़े फीचर को नियंत्रित करने की सुविधा प्रदान की है |

    काला साम्राज्य - दाऊद के परिवार मे एक नहीं कई डॉन



    निर्माण दल से जुड़े प्रोफेसर जोयुंग ली के मुताबिक "ईची नोज" ब्लूटूथ के जरिये आसानी से स्मार्टफोन से जुड़ जाएगा | इसमे लगे इलेक्ट्रोग्राफी [ ईओजी ] सेंसर यूजर के नाक के इशारे भापकर फोन को काटने, वीडियो रोकने प्ले करने, आवाज घाटने बढ़ाने और अलग गाना बजाने के निर्देश देंगे | ईओजी सेंसर फेशियल रिक्गिनिशन तकनीकी पर काम करते है |

    चश्मा एसे करेगा काम -

    • नाक दाई और व बाई और हिलान पर कटेगी काल
    • नाक को उंगली से ऊपर करने पर वीडियो पाज होगा
    • नाक के निचले हिस्से उंगली फिरान्दे से गाना बादल जाएगा |
    कोरिया परमाणु ताकत के पीछे पाकिस्तान का हाथ

    कोरिया परमाणु ताकत के पीछे पाकिस्तान का हाथ

    पाक ने दिया था उत्तर कोरिया को परमाणु तकनीकी जानिए क्या है पूरा मामला, परमाणु तकनीकी उत्तर कोरिया चीन बना रहा है मजबूत पाकिस्तान और कोरिया को परमाणु तकनीकी से
    पाक के उत्तरी कोरिया से परमाणु सम्बंध - ऐसा माना जाता है की पाकिस्तान ने उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम को आगे बढ़ाने मे मदद की सीआईए की रिपोर्ट से द्नो देशो के परमाणु संबंधो की जानकारी हुई | पाक के परमाणु बम के जनक माने जाने वाले अब्दुल कादिर खान ने 2004 मे ईरान, उत्तरी कोरिया, लीबिया को परमाणु तकनीकी को बेचने की बात स्वीकार की थी | इस माह की शुरुवात मे पाक भौतिक विज्ञानी परवेज़ हूड़बॉय ने बताया था कि इस बात के संकेत है कि खान ने अकेले यह काम नहीं किया | इसमे उच्च स्तर के लोगो का हाथ भी रहा होगा |

    north koriya
    ब्लूव्हेल गेम के चक्रव्यूह मे फस रहे है बच्चे bluewahle game kya hai
    अमेरिका के पास भी सबूत -

    • 1995 मे पाक मे अमेरिका के पूर्व राजदूत ओकले ने तस्वीर पेश की जिसमे विमान से उत्तर कोरिया से खरीदा नोडोंग मिसाइल के हिस्से उतारे जा रहे है व सेट्रीफ्यूज लद रहे है |
    • 2002 मे अमेरिका ने दावा किया पाकिस्तान से उत्तरी कोरिया को परमाणु तकनीकी दी, ख़ान से पूछताछ की मांग की तब पाक प्रमुख मुसर्राफ़ ने इंकार किया |


    70 के दशक मे हुई शुरुवात -
    • 1976 मे पाक की तत्कालीन मुख्यमंत्री जुल्फिकर भुट्टो ने उत्तर कोरिया की यात्रा की थी |
    • पाकिस्तान की मंशा कोरिया प्रायदीप के जरिये अमेरिका और चीन मे संतुलन बनाने की थी |
    कादिर खान की अहम भूमिका -
    • 1975 मे पाकिस्तान के परमाणु वैज्ञानिक अब्दुल कादिर खान यूरोप के यूआरईएनसीओ से सेंट्रीफ्यूज तकनीकी चौरी कर वापसा लौटे |
    • 1976 मे पाकिस्तान मे कहुता शौध प्रयोगशाला की स्थापना की और चोरी की तकनीकी से परमाणु तकनीकी का विकाश शुरू किया |
    • 1980 और 90 के दशक मे उत्तर कोरिया के साथ लीबिया और ईरान को परमाणु तकनीकी बेची, 2004 मे गुनाह काबुल कर आम माफी मांगी |


    2 शैतानी ताकतों का मेल -
    • उत्तर कोरिया के पास मिसाइल तकनीकी थी लेकिन इन मिसाइलों के लिए परमाणु हतियार नहीं |
    • इसी प्रकार पाकिस्तान ने चोरी की तकनीकी से परमाणु बम तो बना लिया था लेकिन प्र्क्षेपित करने के लिए मिसाइल नहीं |
    उत्तर कोरिया की ताकत -
    • 2006 मे प्योंगयांग ने पहला परमाणु विस्फोट किया |
    • 09 परमाणु परीक्षण किए है उत्तर कोरिया ने अब तक |
    • 5 हजार किमी मारक क्षमता की मिसाइले बनाने का दावा |
    पाकिस्तान की ताकत -
    • 150 के करीब परमाणु बम होने का अनुमान |
    • 2500 किमी तक शाहीन 3 मार कर सकती है |
    • 4 परमाणु रियकटर देश मे अभी कार्ययत है |
    भुट्टो ने तसदीक की थी -
    • 2004 मे पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो ने भी दुबई मे दिए एक इंटरव्यू मे परमाणु तकनीकी बेचने की बात मान चुकी है |
    • 1989 मे तत्कालीन सेना प्रमुख मिर्जा असलंम बेग ने कश्मीर मे घुसपेठ और उत्तर कोरिया को परमाणु तकनीकी बेचने का प्रस्ताव रखा |
    • 1993 मे कादिर के अनुरोध पर वह उत्तर कोरिया गई ताकि अधिक दूरी ताक मारक क्षमता वाली मिसाइले खरीदी जा सके |
    ब्लू व्हेल गेम के चक्रव्यूह मे फंस रहे है बच्चे - blue whale game

    ब्लू व्हेल गेम के चक्रव्यूह मे फंस रहे है बच्चे - blue whale game

    ब्लू व्हेल गेम क्या है और इससे कैसे बच्चे क्या आप जानते है अगर नहीं तो आज हम ब्लू व्हेल गेम के बारे मे आपको बताने वाले है और इससे अपने बच्चे को कैसे बचाए

    भारत सहित पूरे देश मे ब्लू व्हेल गेम के चलते कई बच्चे अपनी जान गवा चुके है मामले की गंभीरता को देखते हुए भारत सरकार ने गूगल और फेसबूक से ब्लू व्हेल गेम के लिंक को ब्लॉक करने को कहा है | लेकिन यह इतना आसान नहीं है क्योकि यह गेम किसी लिंक से या किसी APK या किसी एप मे नहीं मिलता | यह ब्लू व्हेल गेम सीधे पर्सनल मैसेज के माध्यम से भेजा जाता है और खेला जाता है |


    Blue Whale game

    ब्लू व्हेल गेम के टास्क
    ब्लू व्हेल गेम मे 50 टास्क होते है और इन टास्क को 50 दिन मे पूरा किया जाता है और 50 दिन जो गेम खेलता है उसके आत्महत्या या सुसाइड करने का होता है |
    कम पैसे मे शुरू करे बिज़नस और पाए अधिक मुनाफा

    ब्लू व्हेल गेम से बचने के तरीके -


    • किसी भी सोशल मीडिया साइट पर कोई टास्क जॉइन न करे |
    • अगर आपको कोई पर्सनल मैसेज करे और वह मैसेज ब्लू व्हेल गेम से संबन्धित हो तो तुरंत उसकी सिकायत करे |
    • किसी अंजान व्यक्ति के कुछ कहने पर उसके लिए मनचाहा काम न करे |
    • अगर आपका बच्चा छोटा है और सोशल मीडिया का प्रयोग कर रहा है तो उसे ब्लू व्हेल गेम के बारे मे बताए और सावधान करे |
    ब्लू व्हेल गेम
    इस गेम मे हर दिन एक नया टास्क पूरा करना होता है | इस गेम मे कुछ भी अच्छा नहीं है क्योकि इस गेम के हर एक टास्क मे खुद को नुक्सान पहुचाना होता है जैसे - खुद के खून से ब्लू व्हेल बनाना, डरावनी फिल्मे देखना, देर रात को जागना इत्यादि |

    इस गेम मे फंसे हुए बच्चे को कुछ हेशटैग से पहचाना जा सकता है -
    • सबसे पहले तो अपने बच्चे के व्यवहार पर खास नजर रखे |
    • बच्चे के सोने और उठने की आदत मे बदलाव तो नहीं है इस गेम को खेलने वाले को सुबह मे 4:30 am पर उठना पड़ता है |
    • इस गेम को खेलने वाले नटखट बच्चे भी अपने परिवार और दोस्तो से कटे कटे से रहते है |
    • अपने बच्चे के हाथ पैर और शरीर पर ध्यान दे क्योकि इस गेम के टास्क मे बच्चे को अपने को नुकसान पाहुचाना पड़ता है | ब्लू व्हेल का निशान बनाने को कहा या उकसाया जाता है |
    इन्टरनेट Google पर तेजी से बढ़ रही है हिन्दी

    इन्टरनेट Google पर तेजी से बढ़ रही है हिन्दी

    hindi ya english kya best hai, hindi khoj, hindi website, hindi me jankari, hindi ka istemal
    कुछ समय इनतारनेट पर कुछ भी सर्च करना होता था तो इंगलिश मे ही सर्च किया जाता था लेकिन समय बदल रहा है और आज आज हिन्दी इंगलिश से लोहा लेने को तैयार बैठी है | आज इन्टरनेट पर हिन्दी सामग्री की खपत तेजी से बढ़ी है | बीते कुछ समय वर्षो मे 94 फीसदी की दर से वृद्धि हुई है | जबकि अँग्रेजी सामग्री का इस्तेमाल महज 19 फीसदी की दर से बढ़ा है |
    आत्मा क्या होता है जानिए
    hindi

    इन्टरनेट पर हिन्दी की पकड़ Hindi is fast growing on the Internet

    • आज इन्टरनेट पर 50 हजार से ज्यादा हिन्दी ब्लॉग मौजूद है |
    • आज 15 से अधिक हिन्दी सर्च इंजन है साइबर संसार मे |
    • आज 5 भारतीय मे से 1 भारतीय इन्टरनेट पर हिन्दी मे सामग्री ढूंदता है 
    • एक रिपोर्ट के मुताबिक 94% सलाना की दर से इन्टरनेट पर हिन्दी का इस्तेमाल बढ़ रहा है |
    • रिपोर्ट मे यह भी पाया गया की  इन्टरनेट पर 20 करोड़ से भी ज्यादा हिन्दी पढ़ने वाले यूजर 2021 तक हो जाएँगे |
    • विकिपीडिया का नाम कौन नहीं जानता आज के टाइम विकिपीडिया पर 1.2 लाख से ज्यादा हिन्दी पेज मौजूद है | 

    हिन्दी की ऑनलाइन बढ़ती धमक -
    • साल 2000 - इस साल मे हिन्दी का पहला वेबपोर्टल अस्तित्व मे आया |
    • साल 2003 - इस साल मे हिन्दी का पहला ब्लॉग "नौ दो ग्यारह" बना | आपको बता नौ दो ग्यारह हिन्दी भाषा का पहला चिट्ठा था जिसे आलोक कुमार द्वारा 21 अप्रैल 2003 मे शुरू किया गया था |
    • साल 2011 - इस साल मे हिन्दी दिवस पर माइक्रो ब्लोगिंग वैबसाइट ट्विटर का संस्करण हुआ |
    Google ने भी माना लोहा - 
    • अँग्रेजी और जर्मन के बाद हिन्दी तीसरी भाषा है जिसमे Google ने व्रचुवल असिस्टेंट एप जारी किया गूगल एलो एक मैसेजिंग एप है जो Android और IOS प्लेटफार्म पर काम करता है | यह न सिर्फ हिन्दी यूजर की बात सुनता समझता है बल्कि उसकी जरूरत के मुताबिक प्रतिक्रिया भी करता है |
    • इसी तरह का एप्पल ने भी व्रचुवल असिस्टेंट जारी कर चुका है जो हिन्दी मे भी काम करता है |
    फ्री इन्टरनेट काल कैसे करे - Free Internet Call Kaise Kare

    फ्री इन्टरनेट काल कैसे करे - Free Internet Call Kaise Kare

    Free Internet Call Service - क्या आप Free Internet Call का मजा लेना चाहते है तो आज हम आपको कुछ बढ़िया Website के नांबटाने वाले है जहां से आप फ्री इन्टरनेट काल कर सकते है | इन्टरनेट पर बहुत सी ऐसी वैबसाइट है जो Paid और Free calling की सुविधा देती है | Paid Calling Service मे आप Intarnet से ज्यादा समय तक किसी से बात कर सकते है और free Call Service मे आपको Calling की या बात करने की Limit दी जाती है | तो चलिये जानते है Free मे Internet Call Kaise करे |


    Free Calling Service की Website

    आपको हम कुछ वैबसाइट के नाम बता रहे है जहा पर आप जाकर फ्री मे इन्टरनेट काल कर सकते है तो चलिये देखते है कौन सी है यह वैबसाइट |



    Call 2 Friends - काल 2 फ़्रेंड्स की वैबसाइट पर जाकर आप फ्री मे किसी को भी फोन कर सकते है इसकी खाश बात यह की आप इस वैबसाइट की मदद से आप पूरे Word मे कही भी Free call कर सकते है लेकिन बात करने की एक लिमिट फिक्स है | आइये जानते है कैसे करे इस website से Free काल |
    • सबसे पहले आपको Call 2 Friends की Website पर जाना होगा यहा क्लिक से जाए
    • अब आपके सामने एक Mobail Display Show होगा ठीक नीचे जैसा Image मे दिखाया गया है |


    • जब ऊपर की image जैसा आपके Internet Browser मे दिखे तो आप जिसको फ्री काल करना चाहते है उसका नम्बर डायल करे और लास्ट मे call बटन पर क्लिक करे |

    • अब आपको 30 सेकंड का इंतेजार करना होगा जैसे ही 30 सेकंड पूरा होगा Ring होना Strat हो जाएगा और जिससे बात करना चाहते है उससे बात कर पाएंगे |
    आप इन वैबसाइट पर जाकर ठीक जैसा ऊपर बताया गया वैसे ही Free Internet call कर सकते है |
    Android App की मदद से Free Call कैसे करे 
    अगर आप चाहे तो free internet Call App की मदद से भी Free call कर सकते है ऐसी बहुत सी Play Stor पर मौजूद है जो Free call करने की Service देती है लेकिन याद रहे फ्री काल आपको एक लिमिट तक ही मिलता है और यह कुछ Android App के नाम जो Play Stor पर मौजूद्फ़ है साथ ही Free Call Service देती है |

    • Voxofon
    • Call India - IntCall
    • Dingtone
    हमने आपको 3 app के नाम बाते है क्योकि हमने यह 3 तीनों App को प्रयोग मे लिया है और इनसे Free मे Caal भी की हुई है | अगर आप भी फ्री काल किसी को करना चाहते है टी इन App की मदद ले सकते है |

    यह पढे - Free Mobail Recharge Kaise  Kare - Get Free Recharge Trick
    Internet Business ने इन्हे बना दिया अमीर - Top Website Income Report

    Internet Business ने इन्हे बना दिया अमीर - Top Website Income Report

    Internet Business - इंटरनेट बिज़नस एक अच्छा प्लेटफ्राम है अमीर बनने का बस इसके लिए थोड़ा इंटरनेट ज्ञान For Internet Business और सही मार्ग की जरूरत है | अगर आपको नहीं विश्वाश तो आज हम आपको कुछ ऐसे ही लोगो के बारे मे बताने वाले है जिनहे Internet Business ने बना दिया अमीर |

    Internet Business In India, Internet Work In Home, Internet से कैसे बनाए Paisa

    इंटरनेट से ज्ञान मस्ती और Social Media जैसी वैबसाइट का मजा तो लिया ही जा सकता है साथ ही मे आज इंटरनेट कमाई का साधन भी बना हुआ अगर आपके भी मन Internet Business करने का Plan चल रहा है तो आप बिलकुल सही है आपको Internet पर Business जरूर Start करना चाहिए क्योकि हो सकता है आपका बिज़नस इंटरनेट पर Popular हो जाए और Populer हुआ तो समझो आप अमीर बन ही जाओगे

     

    आइये जानते कुछ ऐसे ही शख्स के बारे मे जिन्हे Internet Business ने बना दिया अमीर 

    New Age CEO,S - यह वह शख्स होते है जिनके पास Work की कमी नहीं है यह खुद तो काम करते ही है साथ मे दूसरे लोगो भी काम देते है | इनके पास हुनर की कमी नहीं और यह इसी का उपयोग करके बड़ी से बड़ी कंपनी को मात देते है | भारत मे ई रिटेलर कम्पनी की बात की जाए तो समझो आज के समय मे सबसे आगे है क्योकि इन पर हो रही है पैसे की बरसात | और इसमे सबसे पहले FlipKart का नाम आता है |Flipkart आज लगभग 7 -8 बिलियन $ की कंपनी बन चुकी है | और इस तरह की कंपनीया है जैसे - Jabong, Snepdeal, OLX, Myntra, 


    Directi Group - दिव्यांक और भाविन के दो भाई है | इन्होंने अपना पहला Business पढ़ाई के दौरान Start किया और यह बिज़नस Web Hosting की थी | दिवयांक को Intenet और Computer की जानकारी काफी पसंद थी और इस शौक को पूरा करने के लिए Lunch Time मे Lab Computer पर बैठ रिसर्च करता रहता था | और इंटरनेट पर जब उसे अच्छी जानकारी हुई तो अपने Parents से सन 1998 मे 25 K रुपए मांग कर computer Internet और Webhosting की Service Start किया और उसका नाम दिया Directi Group | 

    Directi Group business


    इस ग्रुप कंपनी मे इनके बहुत से पार्ट है जिनमे से आपने कुछ के नाम भी सुने होंगे जैसे - Bigrock, webhosting.info, resellerclub.com etc. आज इनके पास 10 लाख से भी ज्यादा कस्टमर है और साथ मे Internet Advertising Business भी है | दिवयांक शोकीया पायलेट भी है साथ ही इनके पास सेसना जेट प्लेन है | Comp. value - 350 मिलियन$, Indian carency 21000 करोड़ ]


    Snpdael Dot Com - नाम तो सुना ही होगा लेकिन शायद आपने कुनाल बहल का नाम नहीं सुना होगा तो आइये हम आपको बताते है | कुनाल बहल डिस्काउंट कूपन वेंचर की शुरुवात करना चाहते थे लेकिन इससे बात न बन पाई तो ग्रुप Buying Website Start करने की सोची | इसके बाद ही Snapdeal.com की शुरुवात हुई | 

    kunal bahl


    इस कंपनी मे Customer के साथ Invester भी काफी Intrested लेते है | कुछ समय पहले ही पाँच सौ मिलियन $ की Investment alibaba.com और faxcon किया | आज के समय मे Snapdeal India की populer Shoping website मे से एक है | एस कंपनी की शुरुवात 2010 मे किया गया और 5 साल के अंदर कम्पनी 4.8 बिलियन की कंपनी बन गई | 4.8 बिलियन $ को Indin Carency मे कीमत लगभग 311112000000 रुपए होते है |


    ऐसे बहुत से इंटरनेट सितारे मौजूद है जिन्होने Internet Business Strat करके अमीर बन चुके है आप भी बन सकते है बस internet से शै ज्ञान प्राप्त करे और आगे बढ्ने के लिए सही कदम उठाए | तो आपको कैसा जानकारी Rich Man By Internet Business or Internet technology