नई कार लेने से पहले चेक करे यह फीचर्स

नई कार लेने से पहले चेक करे यह फीचर्स

NEW CAR BUYING GUIDE - अगर आप दिसंबर के महीने मे कारो पर मिल रहे भारी छूट के बीच अपने लिए नई कार खरीदने की तैयारी कर रहे है तो हम आपको बता रहे है कुछ ऐसे फीचर्स के बारे मे जो सफर को सेफ और कम्फ़र्टेबल बनाने के लिए जरूर आपकी कार मे जरूर होनी चाहिए |


NEW CAR BUYING GUIDE

एयरबैग और एबीएस -
अगले साल अप्रैल से सरकार नई कारो के लिए नए सेफ़्टी नार्म्स लागू करने जा रही है. हालाकी, अगर आप अभी कार खरीदेने जा रहे है तो एयरबैग और एबीएस जैसी सेफ़्टी फीचर्स को जरूर चेक करे | क्योकि एबीएस तेज रफ्तार मे इमरजेंसी ब्रेकिंग के दौरान कार को कंट्रोल मे रखता है और फिसलने नहीं देता है | इससे कोई हादसा होने के चांस कम हो जाते है | जबकि एयरबैग सिरियस एक्सीडेंट की कंडीशन मे ड्राइवर और पेसेंजर्स को जानलेवा चोट से बचाता है |


रियर पार्किंग सेंसर -
car rear parking senser

भीड़भाड़ या छोटी जगहो पर कार पार्किंग एक बड़ी समस्या है ऐसे मे रियर सेंसर या फिर कैमरा आपके लिए फायदे का सौदा हो सकता है | यह फीचर आपके कार पार्किंग करते समय उसके पीछे की स्थिति के बारे मे बताता है |  जब कोई चीज कार के नजदीक आती है तो सेंसर आपको वार्निंग देकर आपको अलर्ट का संदेश देता है | रियर पार्किंग सेंसर/कैमरा की मदद से आप कार को बिना किसी परेशानी के आसनी से पार्किंग मे खड़ा कर सकते है |



सेंट्रल लाकिंग सिस्टम और पावर विंडो -
"सेंट्रल लाकिंग सिस्टम" भी एक तरह का सेफ़्टी फीचर है जो आपकी मेहनत की कमाई से खरीदी गई कार को चोरी या किसी तरह की छेड़खाड़ होने से बचाता है | यह फीचर ड्राइविंग के दौरान चारो दरवाजो को लॉक कर देता है |
पावर विंडो भी कॉमन फीचर है | ज़्यादातर कारो मे आगे की विंडो के लिए यह फीचर स्टैडर्ड तौर पर मिलने लगा है | सिर्फ आराम ही नहीं बल्कि कार और पैसेंजर की सेफ़्टी के नजरिए से भी यह बहुत अहम फीचर है | कोशिश करे की आपकी कार मे आगे और पीछे दोनों तरफ विंडो की फैसेलिटी मौजूद हो, आप कार मे बाहर से भी पावर विंडो सिस्टम लगवा सकते है |

ब्लूटूथ इन्फोटेनमेंट सिस्टम - 
car bluetooth system

आजकल लगभग सभी कारो मे स्टीरियो सिस्टम के साथ ब्लूटूथ, आक्स और यूएसबी कनेक्टिविटी फंकशन जैसे फीचर्स आने लगे है | म्यूजिक सिस्टम सिर्फ गाने सुनने तक ही लिमिटेड नहीं रह गया बल्कि यह अब इन्फ़ोटेनमेंट सिस्टम मे बदल चुका है क्योकि इसमे कार के दूसरे फंकशन की जानकारी के अलावा फोन को कनैक्ट करने की फ़ैसिलिटी भी मिलती है | 
कार या बाइक की Mileage कैसे पता करे आसान तरीका

कार या बाइक की Mileage कैसे पता करे आसान तरीका

बाइक खरीदे या कार लेकिन एक कामन सवाल सबसे पहले पूछा जाता है - आपके बाइक की माइलेज क्या है या फिर आपके कार की माइलेज क्या है और यह सही भी है क्योकि भारत मे पेट्रोल डीजल महंगा तो है ही साथ ही मे पेट्रोल डीजल के दाम मे भी बढ़होत्तरी हो रही है | ऐसे बहुत से लोग जिन्हे नहीं पता होता है की कार या बाइक की माइलेज कैसे पता लगाते है | तो आज हम आपको बता रहे है आसान तरीका जिससे आप पता लगा सकते है बाइक या कार की माइलेज क्या है |
वेबहोस्टिंग बिज़नस प्लान कैसे करे
Mileage Of bike

कार या बाइक की टैंक करे पहले फुल - Bike Mileage Checking Tips



  • अगर आप चाहते है कार की माइलेज पता करना तो सबसे पहले आप कार की टंकी को फुल करे |
  • अब आप ट्रिप मीटर 0 कर लीजिए और अगर ट्रिप मीटर नहीं है तो ओडोमीटर क्या है वह लिख ले |
  • अब जब ईधन आधा हो जाए तो फिरसे कार का टैंक फुल करे |
  • अब आप नोट करे की दूसरी बार मे कितने लीटर तेल डाला गया और आखिर ट्रिप मे कितने किलोमीटर कार चली |

Mileage निकालने का तरीका -

आसान है सबसे पहले किमी. को ईधन की मात्रा से भाग देना होगा और निकाल गया आपके बाइक या कार की माइलेज [ Mileage ] जैसे - आपकी कार चली 600 KM और आपने 20 लीटर पेट्रोल या डीजल डाला तो आपके कार या बाइक की माइलेज होगा 30 Kmpl [ 600/30 ]




ऐप्स से पता कर सकते है Mileage 
इंटरनेट पर कई ऐसी ऐप्स मौजूद है जो Mileage Check करने मे आपकी मदद कर सकती है | यह ऐप्स जीपीएस के जरिये KM मापकर सही Mileage बता देती है साथ ही ईधन का ब्योरा और सर्विस सेड्यूल का हिसाब रख सकते है |

Mileage पता करते समय रखे इन बातो का का ख्याल -
  • माइलेज शहर मे कम और हाइवे पर ज्यादा आ सकता है तो आप सही माइलेज पता करने के लिए माइलेज चेक करने के तरीके को कई बार दोहराना चाहिए |
  • आप अलग अलग पेट्रोल पंप से तेल ना भरवाए क्योकि ऐसा करने से Mileage मे अंतर आ सकता है |