bhoot pret nivaran mantra in hindi भूत प्रेत भगाने का उपाय

bhoot pret nivaran mantra in hindi भूत प्रेत भगाने का उपाय

bhoot pret nivaran mantra in hindi भूत प्रेत भगाने का उपाय भूत प्रेत बाधा से उपचार का उपाय भूत प्रेत से बचने का उपाय भूत प्रेत से छुटकारा पाने का उपाय भूत प्रेत से छुटकारा पाने का मंत्र भूत प्रेत भगाने का शाबर मंत्र भूत प्रेत से छुटकारा पाने के लिए उपाय भूत भगाने का शाबर मंत्र भूत प्रेत निवारण धूनी

bhoot pret nivaran mantra in hindi भूत प्रेत भगाने का उपाय हिन्दू धर्म में भूतों से बचने के अनेक उपाय बताए गए हैं। चरक संहिता में प्रेत बाधा से पीड़ित रोगी के लक्षण और निदान के उपाय विस्तार से मिलते हैं।ज्योतिष साहित्य के मूल ग्रंथों- प्रश्नमार्ग, वृहत्पराषर, होरा सार, फलदीपिका, मानसागरी आदि में ज्योतिषीय योग हैं जो प्रेत पीड़ा, पितृ दोष आदि बाधाओं से मुक्ति का उपाय बताते हैं।

अथर्ववेद में भूतों और दुष्ट आत्माओं को भगाने से संबंधित अनेक उपायों का वर्णन मिलता है। यहां प्रस्तुत है प्रेतबाधा से मुक्ति के 10 सरल उपाय

bhoot pret nivaran mantra

प्रेतबाधा से मुक्ति के 10 सरल उपाय

1. ॐ या रुद्राक्ष का अभिमंत्रित लॉकेट गले में पहने और घर के बाहर एक त्रिशूल में जड़ा ॐ का प्रतीक दरवाजे के ऊपर लगाएं। सिर पर चंदन, केसर या भभूति का तिलक लगाएं। हाथ में मौली (नाड़ा) अवश्य बांध कर रखें।

2. दीपावली के दिन सरसों के तेल का या शुद्ध घी का दिया जलाकर काजल बना लें। यह काजल लगाने से भूत, प्रेत, पिशाच, डाकिनी आदि से रक्षा होती है और बुरी नजर से भी रक्षा होती है।

3. घर में रात्रि को भोजन पश्चात सोने से पूर्व चांदी की कटोरी में देवस्थान या किसी अन्य पवित्र स्थल पर कपूर तथा लौंग जला दें। इससे आकस्मिक, दैहिक, दैविक एवं भौतिक संकटों से मुक्त मिलती है।

4. प्रेत बाधा दूर करने के लिए पुष्य नक्षत्र में चिड़चिटे अथवा धतूरे का पौधा जड़सहित उखाड़ कर उसे धरती में ऐसा दबाएं कि जड़ वाला भाग ऊपर रहे और पूरा पौधा धरती में समा जाएं। इस उपाय से घर में प्रेतबाधा नहीं रहती और व्यक्ति सुख-शांति का अनुभव करता है।

5. प्रेत बाधा निवारक हनुमत मंत्र – ऊँ ऐं ह्रीं श्रीं ह्रां ह्रीं ह्रूं ह्रैं ऊँ नमो भगवते महाबल पराक्रमाय भूत-प्रेत पिशाच-शाकिनी-डाकिनी-यक्षणी-पूतना-मारी-महामारी, यक्ष राक्षस भैरव बेताल ग्रह राक्षसादिकम्‌ क्षणेन हन हन भंजय भंजय मारय मारय शिक्षय शिक्षय महामारेश्वर रुद्रावतार हुं फट् स्वाहा। इस हनुमान मंत्र का पांच बार जाप करने से भूत कभी भी निकट नहीं आ सकते।

6. अशोक वृक्ष के सात पत्ते मंदिर में रख कर पूजा करें। उनके सूखने पर नए पत्ते रखें और पुराने पत्ते पीपल के पेड़ के नीचे रख दें। यह क्रिया नियमित रूप से करें, आपका घर भूत-प्रेत बाधा, नजर दोष आदि से मुक्त रहेगा।

7. गणेश भगवान को एक पूरी सुपारी रोज चढ़ाएं और एक कटोरी चावल दान करें। यह क्रिया एक वर्ष तक करें, नजर दोष व भूत-प्रेत बाधा आदि के कारण बाधित सभी कार्य पूरे होंगे।

8. मां काली के लिए उनके नाम से प्रतिदिन अच्छी तरह से पवित्र ‍की हुई दो अगरबत्ती सुबह और दो दिन ढलने से पूर्व लगाएं और उनसे घर और शरीर की रक्षा करने की प्रार्थना करें।

9. हनुमान चालीसा और गजेंद्र मोक्ष का पाठ करें और हनुमान मंदिर में हनुमान जी का श्रृंगार करें व चोला चढ़ाएं।

10. मंगलवार या शनिवार के दिन बजरंग बाण का पाठ शुरू करें। यह डर और भय को भगाने का सबसे अच्छा उपाय है।

इस तरह यह कुछ सरल और प्रभावशाली टोटके हैं, जिनका कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं होता। ध्यान रहें, नजर दोष, भूत-प्रेत बाधा आदि से मुक्ति हेतु उपाय ही करने चाहिए टोना या टोटके नहीं।

इन बातों का भी सदा रखे ध्यान

  • सदा हनुमानजी का स्मरण करें। चतुर्थी, तेरस, चौदस और अमावस्या को पवि‍त्रता का पालन करें। शराब न पीएं और न ही मांस का सेवन करें।
  • नदी, पूल या सड़क पार करते समय भगवान का स्मरण जरूर करें। एकांत में शयन या यात्रा करते समय पवित्रता का ध्यान रखें। पेशाब करने के बाद धेला अवश्य लें और जगह देखकर ही पेशाब करें। रात्रि में सोने से पूर्व भूत-प्रेत पर चर्चा न करें। किसी भी प्रकार के टोने-टोटकों से बच कर रहें।
  • ऐसे स्थान पर न जाएं, जहां पर तांत्रिक अनुष्ठान होता हो। जहां पर किसी पशु की बलि दी जाती हो या जहां भी लोभान आदि के धुएं से भूत भगाने का दावा किया जाता हो। भूत भागाने वाले सभी स्थानों से बच कर रहें, क्योंकि यह धर्म और पवित्रता के विरुद्ध है।
  • जो लोग भूत, प्रेत या पितरों की उपासना करते हैं, वह राक्षसी कर्म के होते हैं। ऐसे लोगों का संपूर्ण जीवन ही भूतों के अधीन रहता है। भूत-प्रेत से बचने के लिए ऐसे कोई भी टोने-टोटके न करें जो धर्म विरुद्ध हो। हो सकता है आपको इससे तात्कालिक लाभ मिल जाए, लेकिन अंतत: जीवन भर आपको परेशान ही रहना पड़ेगा।
Pati को Vash मे कैसे करे आसान उपाय

Pati को Vash मे कैसे करे आसान उपाय

Pati को Vash मे करने के आसान Upay Kaise Kare - क्या आप अपने पति को वश मे या फिर पति को कंट्रोल मे करना चाहती है पर Kaise तो आज हम आपको वश मे पति करने के उपाय तरीके बताने वाले है | अक्सर बहुत से पुरुष अपनी पत्नी की बात नहीं मानते है और फिर पत्नीया परेशान सी रहती है | इस कंडीशन मे महिलाए जादू टोना या फिर लाल किताब जैसी चीजों से अपने पति को वश मे करना शुरू कर देती है लेकिन क्या इससे आपका पति वश मे आ गया अगर नहीं तो आप हमारे द्वारा बताए हुए तरीके से आजमाए जिससे आपका पति आपके वश मे रहे या फिर आपकी हर बात माने तो आप हमारे द्वारा बताए हुए आसान तरीके अपना सकती है |

girl boy

तरीके पति को वश मे करने के बहुत आसान है आइये जानते है जिससे आपका पति Life Time के लिए आपका हो जाए और आपकी हर बात भी सुनने को तैयार रहे |

तरीके जानिए पति को वश मे करने के लिए 

  • सबसे पहले आप अपने पति की हर छोटी से छोटी चीजों का ख्याल रखे जैसे आपके पति को खाने मे क्या पसंद है और फिर उसी के हिसाब से पति का मनपसंद खाना बनाए | Pati Ko Vash Me karne Ke Tarike
  • अगर आप चाहती है आपका पति आपके कंट्रोल या वश मे रहे तो अपने पति को रात मे पूरा समय दे और उनके साथ Night Loving Time अच्छा रखे मतलब बिस्तर पर उनके साथ एक Best Relationship बनाए | पति को वश मे करने के टोटके

अभी हमने जो 2 बाते बताई पति को वश या कंट्रोल मे करने के सबसे ज्यादा इनको फॉलो करे फिर निम्न नीचे बताए गए तरीके अपनाए आपका पति पक्का वश मे आ जाएगा |

जादू टोना या टोटका पति को वश मे करने के लिए -
लौंग के प्रयोग से - शनिवार को आधी रात मे 21 बार अपने पति का नाम लेकर लौंग पर फुक मार दे और फिर अगले दिन रविवार को लौंग को जला दे | इस तरीके से पति को vash मे किया जा सकता है साथ ही किसी और को भी कर सकते है इसका असर 2 -3 हफ्ते मे दिख जाता है |


पति के चोटी से - अगर आपका पति किसी और औरत या लड़की के चक्कर मे है और आपसे दूरी बना लिए है साथ ही आपसे लड़ाई झगड़ा भी खूब करते है तो आप गुरुवार या शुक्रवार की रात मे करीबन 12 बजे पति की चोटी [ शिखा ] के कुछ बाल काट लीजिए फिर कटे हुए बाल को ऐसी जगह रख दे जहा आपका पति न देख पाए | इस तरीके से आपके पति के दिमाग मे बदलाव आएगा और आपकी बात भी सुनने लगेगा | कटे हुए बाल जो आपने पति से छुपाया हुआ है उसे कुछ दिनो बाद जला दीजिए फिर अपने पैरो से कुचल दीजिए और घर से बाहर दीजिए | यह तरीका पीरियड यानि मासिकधर्म मे किया जाए तो ज्यादा उपयोगी सिध्द होगा |

डाल्फिन मछ्ली - डाल्फिन मछ्ली की फोटो चित्र अपने घर के उस कमरे मे लगाए जहां आप ओर आपके पति रात मे सोते है | इससे वैवाहिक जीवन मे मधुरता आती है | पति को वश मे करने के आसान तरीके 
श्री राधा जी के 32 नाम क्या आपको पता है radha name hindi benefits

श्री राधा जी के 32 नाम क्या आपको पता है radha name hindi benefits

अगर आप श्री राधा जी के 32 नामो का स्मरण करते है तो आपके जीवन मे सुख, प्रेम और शांति की प्राप्ति होगी लेकिन क्या आपको श्री राधा जी के 32 नाम पता है क्या ?? अगर नहीं तो आइये जाने राधा जी 32 नाम जिससे आपके जीवन मे शांति और सुखमय योग बनेगे |
रावण संहिता के उपाय चमकाते है किस्मत
radha maa ki photo

कर जोरि वन्दन करूं मैं_ नित नित करूं प्रणाम_ रसना से गाती/गाता रहूं_ श्री राधा राधा नाम


मृदुल भाषिणी राधा ! राधा !! 
सौंदर्य राषिणी राधा ! राधा !! 
परम् पुनीता राधा ! राधा !! 
नित्य नवनीता राधा ! राधा !! 
रास विलासिनी राधा ! राधा !! 
दिव्य सुवासिनी राधा ! राधा !! 
नवल किशोरी राधा ! राधा !! 
अति ही भोरी राधा ! राधा !! 
कंचनवर्णी राधा ! राधा !! 
नित्य सुखकरणी राधा ! राधा !! 
सुभग भामिनी राधा ! राधा !! 
जगत स्वामिनी राधा ! राधा !! 
कृष्ण आनन्दिनी राधा ! राधा !! 
आनंद कन्दिनी राधा ! राधा !! 
प्रेम मूर्ति राधा ! राधा !! 
रस आपूर्ति राधा ! राधा !! 
नवल ब्रजेश्वरी राधा ! राधा !! 
नित्य रासेश्वरी राधा ! राधा !! 
कोमल अंगिनी राधा ! राधा !! 
कृष्ण संगिनी राधा ! राधा !! 
कृपा वर्षिणी राधा ! राधा !! 
परम् हर्षिणी राधा ! राधा !! 
सिंधु स्वरूपा राधा ! राधा !! 
परम् अनूपा राधा ! राधा !! 
परम् हितकारी राधा ! राधा !! 
कृष्ण सुखकारी राधा ! राधा !! 
निकुंज स्वामिनी राधा ! राधा !! 
नवल भामिनी राधा ! राधा !! 
रास रासेश्वरी राधा ! राधा !! 
स्वयं परमेश्वरी राधा ! राधा !! 
सकल गुणीता राधा ! राधा !! 
रसिकिनी पुनीता राधा ! राधा !! 

अगर कोई व्यक्ति पुरे श्र्धा भाव से राधा नाम के नाम को जपता है उस व्यक्ति को प्रभु गोद मे बेठाकर अपना स्नेह देते है | ब्रहमवैवर्त पुराण मे इस बात को खुद श्री विष्णु जी ने कहा है कि जो व्यक्ति जाने अंजाने मे राधा नाम कहेगा उसके आगे मे सुदर्शन लेकर चलता हु और उसके पीछे भगवान शिव जी उनका त्रिसुल लेकर चलते है साथ ही दायी और इन्द्र व्रज और बाई और वरुण देव छत्र लेकर चलते है |
बजरंग बली हनुमान के 12 बारह नाम जपने के फायदे hanuman name benefits

बजरंग बली हनुमान के 12 बारह नाम जपने के फायदे hanuman name benefits

bajrang bali Hanuman - बजरंग बली हनुमान के 12 नाम को अगर कोई स्मरण करता है तो उस व्यक्ति की उम्र बढ़ जाती है | इसके साथ ही बजरंग बली हनुमान जपने से दुनिया या संसार के समस्त सांसारिक सुखो की प्राप्ति होती है | हनुमान जी के जो 12 नाम है उसे अधिक संख्या मे जपने से श्री हुनुमानजी महराज 10 दिशाओ एंव आकाश पताल से रक्षा करते है |
भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिंग के नाम, स्थान कहा है
hanuman photo image sanjivni buti

12 नाम बजरंग बली हनुमानजी के 

  1. ॐ हनुमान 
  2. ॐ अंजनी सुत 
  3. ॐ वायु पुत्र 
  4. ॐ महाबल 
  5. ॐ रामेष्ठ 
  6. ॐ फाल्गुण सखा 
  7. ॐ पिंगाक्ष 
  8. ॐ अमित विक्रम 
  9. ॐ उदधिक्रमण 
  10. ॐ सीता शोक विनाशन 
  11. ॐ लक्ष्मण प्राण दाता 
  12. ॐ दशग्रीव दर्पहा
हनुमान जी के 12 नाम जपने के फायदे -
  • रोजाना सुबह सो कर उठते ही जिस भी व्यवस्था मे हो हनुमान जी बारह नाम को ग्यारह बार लेने से लंबी उम्र की प्राप्ति होती है |
  • नित्य नियम के समय जो भी व्यक्ति hanuman ji के बारह नाम लेगा उसे इष्ट की प्राप्ति होगी |
  • दिन के दुपहर मे अगर बारह नाम कोई लेगा तो वह व्यक्ति धनवान हो जाएगा और दुपहर संध्या पर अगर नाम जपा जाए तो सुखो की प्राप्ति होती है |
  • शत्रु पर विजय या हराने के लिए आप रात्रि के समय हनुमान जी 12 नाम लेते रहे |
  • अगर किसी को सरदर्द समस्या हो रही हो तो हर मंगलवार लाल स्याही से भोज्प्त्र पर हनुमान जी के बारह नाम लिखे और मंगलवार के दिन ही ताबीज को बांध ले इस तरह आपको कभी भी सरदर्द समस्या नहीं होगी |
  • ताबीज को गले या फिर बाजू पर ताबे की ताबीज बनाकर बांधना बढ़िया होता है | भोज पत्र पर प्रयोग किया जाने वाला पेन या कल्म नया प्रयोग मे लाए |
रावण संहिता के यह उपाय जो चमका सकती है आपकी किस्मत

रावण संहिता के यह उपाय जो चमका सकती है आपकी किस्मत

Ravan Sanhita Ke upay Aur totke Hindi - भारतीय कहानियो मे रावण के बारे मे कहा गया की वह एक असुर था साथ ही वह समस्त शास्त्रो का का जानकार और प्रकाण्ड पंडीत भी था | कहानियो से पता चलता है कि रावण ज्योतिष और तंत्र सम्बन्धी ज्ञान के लिए रावण संहिता की रचना की थी | रावण संहिता मे ज्योतिष और तंत्र के द्वारा भविष्य जानने के कई रहस्य बताए गए है | रावण संहिता मे बुरे वक्त को अच्छे वक्त मे बदलने के लिए चमत्कारी तांत्रिक उपाय मंत्र बताए गए है | यह उपाय जो आजमाए उसे तुरंत लाभ होता है मतलब इन उपायो से रातो रात किस्मत बदली जा सकती है |
भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंग इन्फार्मेशन


किसी को वश मे करना या किसी के राज को पता करना - 
सफ़ेद आकडे के फूल को छाया मे सूखा ले फिर कपिला गाय यानि सफ़ेद गाय के दूध मे मिलाकर इसे पिसे | अब आप इसे तिलक की तरह लगा ले | ऐसा करने से समाज मे व्यक्ति का वर्चस्व हो जाता है |



धन प्राप्ति के उपाय - 

  • जब भी कोई शुभ मुहूरत हो या शुभ दिन तो उस दिन सुबह मे जल्दी उठ जाना चाहिए फिर नित्यकर्मो से निवृत्त होकर किसी पवित्र नदी या जलाशय के किनारे चले जाए |
  • अब शांत एंव जहां कोई न हो [ एकांत स्थान ] ऐसी जगह पर चमड़े का आसान बिछाये | अब आप बैठकर धन प्राप्ति का मंत्र का जप करे |
धन प्राप्ति मंत्र - ऊँ ह्रीं श्रीं क्लीं नम: ध्व: ध्व: स्वाहा।
  • इस मंत्र का जप 21 दिनो तक करना होता है साथ ही मंत्र जप करते समय रुद्राक्ष माला का उपयोग करे | मंत्र पढ़ने की कोई सीमा नहीं है मतलब 21 दिनो मे आप मंत्र ज्यादा से ज्यादा संख्या मे पढ़ने की कोसिश करे | मंत्र सिध्द होते ही आपके धन प्राप्ति के योग बन जाएँगे |

10 दिशाओ से धन प्राप्त करना - मतलब अगर आप चाहते है 4रो तरफ से पैसा प्राप्त करना तो उपाय करे | इस उपाय आप दिवाली पर आजमाए |
  • दिवाली की रात मे विधि विधान से महालक्ष्मी की पूजा करे |
  • पूजा जब खत्म हो जाए तो सो जाए लेकिन सुबह मे जल्दी उठ जाए |
  • उठने या जागने के बाद पलंग या बेड से नीचे नहीं उतरना है और बेड पर रहकर 108 बार इस एमएनटीआर का जप करे |
  • मंत्र: ऊँ नमो भगवती पद्म पदमावी ऊँ ह्रीं ऊँ ऊँ पूर्वाय दक्षिणाय उत्तराय आष पूरय सर्वजन वश्य कुरु कुरु स्वाहा
  • मंत्रो का जप करने के बाद 10वो दिहाओ मे 10 -10 बार फीक मारना है | इस तरह के जप से आपको चरो तरफ से धन प्राप्ति होगी |