प्यार के प्रकार नाम क्या होता है मतलब अर्थ शायरी

प्यार के प्रकार नाम क्या होता है मतलब अर्थ शायरी

प्यार के कई प्रकार है लेकिन आप कितने तरह का प्यार जानते है प्यार का नाम सुनते ही लोगो के मन में लड़का लड़की का प्यार उभर कर सामने आ जाते है. जो भी हो आज हम भी आपको प्यार के प्रकार के बारे में कुछ जानकारी दे रहे है. प्यार को एक अलग सब्जेक्ट बनाना चाहिए, क्योंकि इसके एग्जाम में पास होना हर किसी के बस की बात नहीं है. प्यार के प्रकार नाम क्या होता है मतलब अर्थ शायरी.

प्यार दिल से शुरू होता है और धीरे-धीरे आपके पुरे शरीर पर इसका वश हो जाता है. इसलिए तो दिल का टूटना पत्थरों के टूटने से भी भयंकर होता है. सच्चा प्यार यूँ ही नहीं मिल जाता, बल्कि इसे पाने के लिए बहुत पापड़ बेलने पड़ते है |


रूह तेरी..इश्क मेरा..जाँ मेरी..जिस्म तेरा, जन्नत मिले.
पहलु में तेरे..बाहें तेरी और सुकून मेरा. 

प्यार तो ऐसा होता है जिसे समझने में तो सदिया भी गुजर जाता है बस जो चीज दिल को छु जाए वही तो प्यार है. प्यार सिर्फ पति-पत्नी या गर्ल्सफ्रेंड्स और बॉयफ्रेंड्स का ही नहीं होता बल्कि इसके कई प्रकार है. 

प्यार के प्रकार

  • एक तरफ़ा प्यार 
  • जिस्म का प्यार
  • दोस्त का प्यार
  • खुद का खुद पर प्यार
  • सच्चा लव वाला प्यार
  • उम्र का प्यार
  • नहीं मिलने वाला प्यार
  • अफेयर वाला प्यार
  • निस्वार्थ प्यार
  • पहली नजर का प्यार
types of love

किसी को पहली नजर में पसंद करना, तो किसी को पाने के लिए रात-दिन एक करना, किसी के हुस्न की चाह तो किसी के लिए निस्वार्थ प्रेम यह सब प्यार के ही रूप है. आईये जानते है प्यार के प्रकार के बारे में और इस पोस्ट को पढने के बाते हमें भी बताना की आपको इनमे से कौनसा प्यार हुआ है 

प्यार कितने प्रकार के होते है ?

एक तरफ़ा प्यार 

इसे एकतरफा प्यार कहते है. इसमें आप तो किसी को बहुत प्यार करते है लेकिन वो आपको प्यार नहीं करता. आपके दिल में उसके लिए बहुत Feelings होती है और आप उसे हर हाल में पाना चाहते है लेकिन वो सिर्फ आपको अपना अच्छा दोस्त मानती है. ऐसे में आपके लिए यह प्यार जूनून बन जाता है और कई बार आप गलत कदम भी उठा लेते है. इस तरह के प्यार को भूल जाना ही बेहतर है और हो सके तो ऐसे रिश्ते का अंत करना ही समझदारी का काम है, वरना आप उसे किसी और का होते देख नहीं पाओगे. 



जिस्म की भूख वाला प्यार 


इसे लस्ट अफेयर भी कहते है. इस तरह के प्यार में आपका पार्टनर सिर्फ आपके साथ शारीरिक संबध बनाना चाहता है. उसे सिर्फ और सिर्फ आपके जिस्म की भूख होती है और इस तरह के प्यार में Feelings का कोई Role नहीं होता है. ऐसा प्यार बहुत जल्दी टूटता है और इस तरह के प्यार में एक का भरोसा जिंदगी भर के लिए टूट जाता है. इस तरह के प्यार में सिर्फ और सिर्फ नए जिस्म की तलाश रहती है. 

दोस्ती वाला प्यार 


सबसे लंबा चलने वाला प्यार दोस्ती वाला प्यार ही होता है. इस तरह के प्यार में ना Romance होता है और ना ही सेक्सुअली अटैचमेंट. इस तरह के प्यार में किसी भी तरह की डिमांड भी नहीं होती है. इसमें आप एक-दसूरे के लिए तन और मन से समर्पित रहते है. अगर धन भी है तो फिर तो बहुत अच्छी बात है. इस तरह के प्यार में “यह दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे” डायलॉग फेमस है. 

खुद से होने वाला प्यार 


इस तरह के प्यार में आप खुद से ही प्यार करने लगते है. आप चाहते है की आपको किसी भी तरह की परेशानी ना हो और ना ही किसी तरह की टेंशन हो. आपकी जिंदगी बहुत ही खुशहाल हो और जो आप चाहो वो आपको मिले. इस तरह के प्यार में आप सिर्फ और सिर्फ अपना हित चाहते है. 

सच्चा प्यार


इस तरह का प्यार हीर-रांजा, रोमियो-जूलियट, मजनू-लैला वाला प्यार होता है. इस तरह का प्यार सच्चा और Trust से भरा होता है. अगर आपको किसी के लिए अच्छी वाली Feelings आ रही हो तो समझ जाईये आपको सच्चे वाला प्यार हो गया है. सच्चा प्यार सिर्फ और सिर्फ दो लोगों के बीच बिना किसी मतलब और स्वार्थ के होता है. कहते है भी है ना की सच्चा प्यार सिर्फ जिंदगी में एक बार ही होता है और वो प्यार आपका पहला प्यार होता है, जहां आप अपना सब कुछ दाव पे लगा देते है. 

उम्र का प्यार


कभी आपको अपनी मैडम से प्यार हुआ है या पड़ोस की किसी आंटी से. इस तरह के प्यार में उम्र का कोई लिहाज नहीं होता. किसी भी उम्र के इंसान को किसी भी उम्र के व्यक्ति से प्यार हो सकता है. हालाँकि इस तरह के प्यार का Success Ratio ख़ास अच्छा नहीं है, बस किस्मत से मिल जाये तो अलग बात है. 

नहीं मिलने वाला प्यार


आपको शायद कपूर से प्यार हुआ है या आपको कैटरीना से प्यार हुआ है, हाँ हुआ ही होगा. नाम सुनते ही रोम-रोम खिल उठा होगता, लेकिन इस तरह का प्यार ना मिलने वाला प्यार होता है. चाहे शायद कपूर के पैर पड़ जाओ तो भी वो आपको ना मिले. पहले पैर तक तो पहुचं जाओ (Jokspat). इस तरह का प्यार सिर्फ एक स्टेज तक रहता है. शादी से पहले इस तरह का प्यार देखने को मिल जाता है और शादी के बाद तो आपकी कैटरीना आपके साथ है. 

अफेयर वाला प्यार


इस तरह के प्यार में आप एक रिश्ते में होते हुए भी दुसरे रिश्ते में जाने की कोशिश करते है, इसे अफेयर भी कहते है. कई बार अपने साथी से ख़ुशी ना मिल पाने के कारण भी इस तरह के प्यार देखने को मिलते है. 

निस्वार्थ प्यार 


ऐसा प्यार तो आपको सिर्फ और सिर्फ माँ-बेटे का प्यार ही मिलेगा. इस तरह के प्यार में सिर्फ माँ आपको बिना किसी स्वार्थ के प्यार करती है और आपकी जरुरतो और खुशियों का ध्यान रखती है. 

पहली नजर का प्यार


आप किसी पार्क में गये और आपको कोई लड़का/लड़की पहली नजर में ही पसंद आ गयी और आपकी उस पर से नजर नहीं हट रही है तो उसे पहली नजर का प्यार कहते है. इस तरह के प्यार में उसे पाने की चाह होती है और उसे पाने के लिए आप उसके आगे-पीछे चक्कर भी लगाते है. सावधान- चप्पल की रफ्तार का ध्यान रखें. (Jokspat) 

अगर आपको भी इनमे से किसी तरह का प्यार हुआ है तो हमे Comment Box में अपने विचार दे और अपनी कहानी को हमसे साझा करें और हाँ इस पोस्ट को भी Share कर दे तुम्हे तुम्हारे प्यार की कसम.