ज्ञान विज्ञान से भरपूर अजूबे तथ्य -  Wonderful facts About Science

ज्ञान विज्ञान से भरपूर अजूबे तथ्य - Wonderful facts About Science

ज्ञान विज्ञान से भरपूर अजूबे तथ्य
दुनिया मे अजब गज़ब अजूबे तथा रोमांचक कहानिया, रहस्यमय, इत्यादि भरपूर मात्रा मे मौजूद है लेकिन कुछ जानकारी आपको मालूम होती है और कुछ नहीं और जो आपको नहीं मालूम वही हम आपके बीच लाने की कोशिश करते है तो आज हम आपको विज्ञान के अजूबे तथ्यो  [ Wonderful facts About Science ] के बारे मे बताने वाले है जैसे अनोखे जानवर अंतरिक्ष मे क्या क्यू कैसे पौधो के अजब गजब तथ्य इत्यादि |


दुनिया के अजीबो गरीब तथ्य

  • मगरमच्छ का नाम तो सुना ही होगा पर क्या आपको पता है मगरमच्छ पानी मे से सीधे उछल कर उड़ती हुई चिड़िया को पकड़ सकता है अगर नहीं तो यह सच है |

  • उल्लू एक मात्र ऐसा पक्षी है जो अगर चाहे तो अपने गर्दन को लगभग एक गोले के आकार मे घूमा सकता है |
  • साँपो मे कोबरा साप का नाम तो सुना ही होगा पर आपको पता है कि कुछ कोबरा साप अपने दुश्मन के आंखो मे विष थूक देते है कारण यह की दुश्मन के आंखो मे दर्द होता है इससे और दुश्मन के आँख भी इस तरह खराब हो सकता है |
  • साँप सुघने का काम अपनी जीभ से करते है |
  • हाइड्रोजन H2O एक ऐसा तत्व है जो पूरे विश्व मे सबसे ज्यादा पाया जाता है |
  • चंद्रमा जा रहा है दूर - धीरे धीरे पृथ्वी से दूर जा रहा है यह प्रक्रिया 100 साल मे 2 इंच की होती है |
  • जानवरो मे बकरी को भूख का एहसास सबसे ज्यादा होता है और कुछ बकरिया भूख के कारण पेड़ पर भी चढ़ जाती है और पेड़ का पत्ता धीरे धीरे सफाचट्ट भी कर देती है |
  • जानवरो की बरसात [ Rain ] इतिहास मे कई दफा हो चुकी है इसके गवाह इंसान है लोगो ने मेढकों, मछलियो, साँप कीड़े मकोड़े को आसमान से गिरते हुए कई बार देखा है | और मछ्ली की बारिस तो हमने भी अपनी आंखो से देखा है |
  • गोरिल्ला एक ऐसा जानवर है जो पानी से बहुत डरता है जिसके कारण वह पानी भी नहीं पीते लेकिन पानी की जरूरत उनकी फल फूल ओर पौधे से पूरी करते है |
  • जिराफ एक ऐसा जानवर है जिसकी जीभ 18 इंच लंबी और काले रंग की होती है |
  • अगर आप केवल गाजर खाए तो आपके चहरे का कलर भी गाजर की तरह नारंगी हो जाएगा | गाजर मे केरोटीन नामक का प्रदार्थ मौजूद होता है जो ज्यादा मात्र मे लेने से त्वचा का रंग भी नारंगी कर देता है 
  • चींटीया कितना खतरनाक होती है यह तो आपको मालूम ही है लेकिन शायद यह आपको नहीं मालूम की कुछ चींटीया दूसरी बस्ती की चींटीयो को पकड़ लेती है और फिर पकड़ी चींटी से गुलामी या मजदूरी करवाती है ||
  • मच्छर पुरुषो की तुलना मे औरतों को ज्यादा काटती और मच्छर C2O कार्बनडाइ आकसाइड पर ज्यादा आकर्षित होती है यही कारण है शाम के वक्त पेड़ो के नीचे मच्छर ज्यादा लगते है |
  • जब डायनोसौर का काल था उस समय उड़ने वाले साँप भी पाए जाते थे जिसका नाम टेरोसौर है | आपको जानकार हैरानी होगी इस उड़ने वाले साँप के जो पंख थे वह चमड़ी के बने थे न की पंखो के |


ज्ञान विज्ञान की रोचक जानकारी आपको कैसी लगी बताइएगा जरूर हम आगे भी लिखते रहते है कृपया आते रहे और जानकारी लेते रहे | जानकारी अजब गज़ब आपको पसंद आया तो आप हमे Like और Follow नीचे बटन दबाकर कर सकते है |
वैबसाइट Traffics Increase या Improve कैसे करे

वैबसाइट Traffics Increase या Improve कैसे करे

वैबसाइट ट्रैफिक ज्यादा कैसे करे -
वैबसाइट Traffic Increase या Improve या a way to increase blogger or web site traffic जैसे artical अक्सर web site owner Search करते है और इसका कारण है web site traffic terribly Low तो आपके साथ भी ऐसा हो रहा है तो आज हम आपको कुछ टिप्स बता रहे है जिससे आपके web site की Traffic मे Improve या Increase जरूर होगा लेकिन web site traffic बढ़ाने के लिए कोई Magic तो नहीं है लेकिन सब्र और mehnat और सही कदम उठाए तो समय अनुसार आपके वैबसाइट पर एक बढ़िया वैबसाइट ट्रैफिक पा सकते है |


Improve Website Traffic

Traffic क्या है - 
आपके वैबसाइट पर जो भी पोस्ट या जानकारी Share की जा रही है उसे लोगो के बीच ले जाना ही वैबसाइट का उद्देश होता है और वैबसाइट को यह Traffic google से या yahoo traffic या किसी और computer programme से मिलती है और जो Traffic हमारे वैबसाइट पर आती है हमरे वैबसाइट की पोस्ट पढ़ती है उन्हे ही हम Traffic कहते है यह वैबसाइट Traffic किसी वैबसाइट पर बहुत ज्यादा और किसी पर बहुत कम होती है | तो अगर आपके वैबसाइट ट्रैफिक कम है तो उसे कुछ तरीके अपना कर बढ़ा सकते है | Website Traffic improve


How To increase web site traffic In India

SEO Post Tital - ब्लॉग या वैबसाइट traffic Improve करने मे सबसे बड़ा हाथ होता है Post Tital अगर आपका ब्लॉग पोस्ट देखने मे engaging And साथ ही Seo होगा तो आपके ब्लॉग या वैबसाइट पर ज्यादा Traffic जरूर आएगा तो आपसे हम यही कहेंगे कि Post tital पर Focus करे और बढ़िया Seo Tital इस्तेमाल करे |

  • पोस्ट टाइटल target Keyword से शुरू करे
  • कॉपीराइट टाइटल का इस्तेमाल न करे जैसे बहुत से लोग computer programme से Tital Copy करते है और Post मे लिख देते है जो कॉपीराइट हो जाता है और पोस्ट rank नहीं करती तो ऐसी गलती आप न करे |

Unique Search Discription - Saerch Discription two तरह के होते है पहला Bloggger Discription और दूसरा Post discription यह हमारे ब्लॉग और पोस्ट के बारे मे computer programme को बताता है और इसका बहुत बड़ा हाथ होता है Post rank करने मे तो इसमे आप distinctive Keyword का इस्तेमाल करे |

Website Disign - अगर आपका वैबसाइट का डिजाइन या लूक engaging न हो तो यह भी एक कारण होता है ब्लॉग पर visiter न रुकना तो आप अपने webiste पर एक अच्छा सा Disign दे और साथ ही web site Disign Seo रखे |



Heading tag  का सही प्रयोग - अक्सर new ब्लॉगर पोस्ट मे heading tag का प्रयोग नहीं करते है और यह भी एक कारण होता है Post के rank न करने का तो आप कोई भी पोस्ट लिखे तो उसमे Heading tag का सही इस्तेमाल करे |

रेगुलर पोस्ट - खुद की वैबसाइट पर daily Upadte रहे और daily कम से कम एक New Post Publish करे | रोजाना पोस्ट करने से आपके ब्लॉग के रीडर को पता होता है यहा कुछ न कुछ Daily नया पढ़ने को मिलता है तो वह आपके वैबसाइट पर बने रहेंगे और धीरे धीरे इस तरह से आपके ब्लॉग या वैबसाइट की Traffic Increase हो जाएगी |

Social Media पर Post Share -  अगर आप अपनी पोस्ट Social Media पर Share करेंगे तो आपको यहा से भी अच्छी traffic मिलगी मतलब अगर आपकी web site को जो नहीं जानता उसे भी आपके internet के बारे मे पता चलेगा और धीरे धीरे आपके वैबसाइट की traffic Increase होने लगेगी |

यह पढे - ब्लॉगर SEO PlugIn Code For More traffic

Guest Post - अगर आपको जल्दी कामयाब होना है और एक अच्छा traffic web site पर पाना है तो आपको अपने ही नहीं दूसरे Populer web site को भी New post लिखकर दे ऐशा करके भी आपके web site पर बहुत जल्दी Visiter की संख्या बढ़ेगी | लगभग ऐसा कोई नहीं होगा जो Guest Post settle for न करता हो क्योकि Guset पोस्ट से web site owner को profit होता ही है साथ मे Guest Post करने वाले को भी तो आप किसी भी Populer web site पर Guest Post करके वैबसाइट ट्रैफिक बढ़ा सकते है और अगर आप हमारे web site पर guest post करना चाहते है तो कर सकते है |

हम आगे भी लिखते है web site tips या web site traffic Increase करने के बारे तो आइये और पढ़ते रहे
भारतीय रेलवे की रोचक जानकारी Indian Railway Fact Hindi

भारतीय रेलवे की रोचक जानकारी Indian Railway Fact Hindi

Indian Railway Fact In Hindi - इंडियन रेलवे तथ्य हिन्दी जानकारी 
भारतीय रेलवे - अगर आप भारतवासी है तो आपने जरूर भारतीय रेलवे ट्रेन से सफर किया होगा लेकिन जिस रेलवे से आप सफर कर चुके है या कर रहे है उसके बारे मे Rochak fact पता है आपको ?? अगर नहीं तो चलिये जानते है दुनिया के तीसरे सबसे बड़े रेलवे नेटवर्क भारतीय रेलवे के कुछ आश्चर्यजनक तथ्यो के बारे मे क्या क्यू कैसे |

Information About India railway And Rochak fact -





  • भारतीय रेलवे का शुभ आरम्भ 16 अप्रेल 1853 मे हुआ और आज के समय मे इतनी ज्यादा पटरिया बिछा दिया गया है कि उन्हे अगर सीधा जोड़कर कर दिया जाए तो उनकी लंबाई पृथ्वी के आकार से भी 1.5 गुना ज्यादा हो जाएगी |
  • आपको पता ही होगा आए दिन Train भिड़ंत होती रहती है लेकिन कभी भी ऐसा नहीं हुआ की किसी Train ड्राइवर द्वरा मौत सामने होते हुए ट्रेन को छोड़ दिया हो 
  • एक ऐसा भी रेलवे स्टेशन है जो 2 राज्यो की सीमा को छूती है ओर उस स्टेशन का नाम है भवानी मंडी | भवानी मंडी MP और राजस्थान दोनों राज्यो के सीमा को छूती है |
  • अगर बात की जाए सबसे बड़े नाम वाले स्टेशन की तो वेंकटनरसिम्हाराजुवारिपटा है और सबसे छोटे नाम वाला स्टेशन नावाला रेलवे स्टेशन इब है जो ओड़ीशा मे है |
  • देश की सबसे देरी से चलने वाली ट्रेन गोवाहाटी - त्रिवेंदरम् है एकप्रेस है जो लगभग 10 - 12 घंटे देरी से चलती है |
  • सबसे हैरान करने वाली बात है यह है की भारतीय रेलवे की वैबसाइट पर 12 लाख प्रति मिनट से ज्यादा हिट होते है साथ ही Indian Railway Website पर Cyber Attack भी होते है लेकिन railway Website पर इसका कोई फर्क नहीं पड़ता |
  • भारत मे सबसे लंबी दूरी यात्रा करने वाली ट्रेन विवेक एकप्रेस है जो डिब्रूगण से कन्याकुमारी तक दूरी 4273 Km तह करती है |
  • गोरखपुर (भारत) रेलवे स्टेशन का प्लेटफॉर्म दुनिया का सबसे लंबा रेलवे प्लेटफॉर्म है, जिसकी लंबाई 1380 मीटर है| इसके पहले खड्गपुर पहले पायदान पर था, जिसके प्लेटफार्म की लंबाई 1072.5 मीटर है|
भारत 15 अगस्त 1947 स्वतंत्रा दिवस से जुड़े रोचक तथ्य

भारत 15 अगस्त 1947 स्वतंत्रा दिवस से जुड़े रोचक तथ्य

भारत का स्वतंत्रा दिवस 15 अगस्त 1947 को मनाया जाता है अंग्रेजी मे इंडिपेंडेंस डे ऑफ़ इंडिया [ Independence Day Of India ] बोला जाता है जैसा कि आपको पता है की 15 अगस्त की तारीख फिरसे नजदीक आ गई और यह भी पता होगा पन्द्रह अगस्त को भारत मे स्वतंत्रा दिवस मनाया जाता है |



About15 August Knowledge
भारत पर ब्रिटिश शासन की हुकूमत थी मतलब भारत को ब्रिटिश शासन द्वरा गुलाम बना लिया गया था फिर इसी दिन [ 15 अगस्त 1947 ] भारत के निवासियों को ब्रिटिश शासन से स्वतंत्रा प्राप्त हुई | इसी खुशी मे भारत के निवासी द्वारा 15 अगस्त यानि स्वतंत्रा दिवस को एक राष्ट्रीय त्यौहार के रूप मनाया जाने लगा | हर साल इस दिन भारत के प्रधानमंत्री लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करते है |



15 अगस्त 1947 के बारे मे रोचक तथ्य जानकारी हिन्दी इंडिया

  • भारत एक गुलाम देश था जिसे काफी संघर्ष के बाद आजादी मिली | आजादी का पहला बलिदान सन 1857 मे दिया गया |
  • पाकिस्तान मे आजादी 14 August को मनाया जाता है और India मे 15 August पर |
  • रवीन्द्रनाथ टैगोर द्वारा जन-गण-मन 1911 मे ही लिखा गया था लेकिन इसे 1950 मे राष्ट्रीयगान के रूप मे अपनाया गया |
  • जैसा कि आप सब जानते है की हर वर्ष 15 अगस्त 1947 को माननीय प्रधानमंत्री द्वारा लाल किले पर झण्डा फहराया जाता है लेकिन 1947 मे एस नहीं हुआ | इस वर्ष नेहरू जी ने 16 अगस्त को को झण्डा फहराया था |
  • आजादी के बाद पुर्तगाल ने अपने संविधान मे संशोधन कर गोआ को अपना अपना हिसा घोषित कर दिया लेकिन 19 दिसंबर 1961 को भारतीय फौज ने गोआ पर कब्जा करके भारत का हिस्सा बनाया |
  • आजादी के समय 1 रुपया 1 डॉलर के बराबर था और आज 1 डॉलर 63.68 रुपए है |


कुछ और जानकारी 15 अगस्त के खास 
  • भारत मे डाक पिन की शुरुवात 15 अगस्त 1972 मे हुई और यह छह अंको का नंबर होता है |
  • 15 August 1982, को इंदिरा गांधी के भाषण के साथ भारत में टीवी पर रंगीन प्रसारण की शुरूआत हुई। 
  • 15 August, भारत के अलावा तीन अन्य देशों का भी स्वतंत्रता दिवस हैं। दक्षिण कोरिया जापान से 15 अगस्त, 1945 को आज़ाद हुआ। ब्रिटेन से बहरीन 15 अगस्त, 1971 को और फ्रांस से कांगो 15 अगस्त, 1960 को आज़ाद हुआ।
अगर आपको कुछ भी इस जानकारी मे गलत लगता है या फिर 15 August In Hindi पर ज्यादा जानकारी है हमसे Share करे आपकी जानकारी बहुतों के काम आ सकती है |

15 August WatsApp Stutus
अनेकता में एकता ही इस देश की शान है, 
इसीलिए मेरा भारत महान है
||
बेबी को बेस पसन्द हैं, सलमान को केस पसन्द हैं, मोदी को विदेश पसन्द हैं, और मुझे मेरा देश पसंद हैं !! HAPPY INDEPENDENCE DAY
||
स्वतंत्रता दिवस की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाये

रॉकेट के आविष्कार की जानकारी कब और किसने

रॉकेट के आविष्कार की जानकारी कब और किसने

Rocket Ka Avishkar Kisne And Kab Kiya

रॉकेट का आविष्कार  - रॉकेट एक प्रकार वाहन है रॉकेट के उड़ने का सिधान्त न्यूटन के गति के तीसरे नियम क्रिया तथा बराबर एंव विपरीत प्रतिक्रिया पर आधारित है | आप पढ़ रहे है Rocket ka Avishkar Kisne And kab Kiya ..........रॉकेट की खोज और आविष्कार जानकारी |

रॉकेट एक ऐसा वायुयान है जिसे किसी भी वातावरण मे उड़ा सकते है | ऐरोप्लेन को उड़ान भरने के लिए हवा कि जरूरत होती है लेकिन रॉकेट को उड़ान के लिए हवा कि जरूरत नहीं होती | धरती पर एक स्थान से दूसरे स्थान जाने के लिए एरोप्लेन बनाया गया लेकिन धरती से बाहर के वातावरण मे जाने के लिए मतलब अन्तरिक्ष मे जाने के लिए रॉकेट का आविष्कार हुआ | रॉकेट का आविष्कार मानव के लिए बहुत ही उपयोगी साबित होता रहा है क्योकि रॉकेट के आविष्कार से नई नई खोजे हुई और वैज्ञानिको को धरती से बाहर बहुत सारे रिसर्च किया और साथ ही अभी दूसरे ग्रह पर जीवन कि खोज करने के कोशिश कि जा रही है साथ ही रॉकेट यान ने मानव को धरती से चंद्रमा पर पहुचाया है |


Rocket Kya hai


रॉकेट का आविष्कार कि जानकारी - 
रॉकेट एक इंगलिश शब्द है जिसे हिन्दी मे मिशाइल कहा जाता है | रॉकेट का इस्तेमाल सबसे पहले चीन मे मे किया गया और उस समय रॉकेट को हथियार के रूप मे इस्तेमाल किया जाता था | उस समय का सबसे शक्तिशाली हथियार के रूप मे रॉकेट का प्रयोग किया जाता था | सन 1232 मे चीन और मंगलो के युद्ध मे रॉकेट का सबसे पहले इस्टेलाल किया गया |



ऐसा माना जाता है मंगलो द्वारा रॉकेट टेक्नोलोजी का यूरोप मे विस्तार हुआ और फिर यह धीरे धीरे यूरोप से एशिया तक फेल गया | इतिहास को खंगाला जाए तो पता चलता है कि टीपू सुल्तान द्वारा अंग्रेजी सेना से भिड़ंत के समय लोहे से बने रॉकेटो का इस्तेमाल किया |

दुनिया का पहला तरल ईधन सन 1926 मे रोबर्ट गोडार्ड द्वारा शुरू किया गया और 16 मार्च 1926 को आबर्न मैसाचूसेट्स पर दुनिया का पहला तरल ईधन रॉकेट प्रक्षेपण था |

यह पढेदूरबीन के आविष्कार की कहानी 

रॉकेट की कार्यप्रणाली -
रॉकेट इंजन क्रिया और प्रतिक्रिया सिद्धांत पर काम करता है इसे समझने के हम आपको कुछ उदाहरण दे रहे है |

  • आपने एक गुब्बारे मे हवा भरकर उसे छोड़ा ही होगा। गुब्बारा उसके अंदर की हवा के खत्म होने तक तेज गति सारे कमरे मे इधर उधर उड़ता फिरता है। यह एक छोटा सा राकेट इंजीन ही है। गुब्बारे के खूले सीरे से हवा बाहर उत्सर्जित होते रहती है, जिससे उसकी विपरीत दिशा मे गुब्बारा जा रहा होता है। हवा का भी भार होता है। विश्वास ना हो तो एक खाली गुब्बारे का वजन और उसके बाद हवा भरकर गुब्बारे का वजन लेकर देंखें। 
  • आपने अग्निशामक दल के कर्मियों को पानी की धार फेंकने वाले पाइप को पकड़े देखा होगा। इस पाइप को पकड़ने काफी शक्ति चाहीये होती है, कभी दो तीन कर्मी इस पाइप को पकड़कर रखते है। इस पाइप से तेज गति से पानी बाहर आता है, जिससे उसके विपरीत दिशा मे प्रतिक्रिया होती है जिसे अग्निशामन दल के कर्मी अपनी शक्ति से नियंत्रण मे रखते है। यह भी राकेट प्रणाली का एक उदाहरण है। 
  • किसी बंदूक से गोली दागे जाने पर बंदूक के बट से पीछे कंधे पर धक्का लगता है। यह पिछे कंधे पर लगने वाला धक्का ही गोली के सामने वाली दिशा के जाने की प्रतिक्रिया के फलस्वरूप है। यदि आप किसी स्केटबोर्ड (पहीयो वाली तख्ती) पर खड़े हो कर यदि गोली चलायें तो तब आप उसके धक्के से विपरित दिशा मे जायेंगे। गोली का दागा जाना भी एक राकेट इंजन के जैसे कार्य करेगा। 
  • पानी मे नाव : जब आप चप्पू चलाते है, तब पानी को पीछे धकेलते है, प्रतिक्रिया स्वरूप नाव विपरीत दिशा मे बढ़ती है।
पहले अंडा आया या मुर्गी सुलझ गई पहेली

पहले अंडा आया या मुर्गी सुलझ गई पहेली

पहले अंडा आया या मुर्गी ???? अक्सर लोगो को यह सवाल करते हुए पाया जाता है लेकिन इस पहेली पहले अंडा आया या मुर्गी का जवाब कोई नहो दे पाता है | हमसे भी हमारे दोस्तो ने कई बार यह सवाल पूछा था लेकिन उस समय मेरे पास इस सवाल अंडा या मुर्गी कौन आया पहले का जवाब नहीं था लेकिन अब वैज्ञानिकों ने इस पहेली का जवाब ढूंढ निकाला है |



जिस सवाल का जवाब हजारो सालो से हमे परेशान करता आ रहा है उस पहेली का जवाब शेफील्ड और वारविक विश्वविद्यालय के वैज्ञानिको के एक समूह ने  बताया है कि धरती पर अंडे से पहले मुर्गी का जन्म हुआ था मतलब धरती पर सबसे पहले मुर्गी आयी |

who come frist egg or hen


कैसे पता चला पहले अंडा आया या मुर्गी -

ओवोक्लाइडिन नाम का प्रोटीन अंडे के खोल के निर्माण मे बहुत जरूरी होता है इसके बिना अंडे का निर्माण नहीं हो सकता और यह प्रोटीन मुर्गी के अंडाशाय मे पाया जाता है जिससे पता चलता है पहले मुर्गी आई फिर अंडा |और इसी आधार पर वैज्ञानिको ने बताया पहले मुर्गी आई फिर अंडा पैदा हुआ |



लेकिन अभी भी एक सवाल का जवाब वैज्ञानिको ने नहीं बताया { डेली एक्सप्रेस } कि प्रोटीन जिन मुर्गियों मे पाया जाता है वह मुर्गी पहले कैसे आई ??? इस समूह ने अंडे के खोल को देखने के लिए अत्याधुनिक कम्प्युटर हेक्टर का Use किया |

यह पढे - दूरबीन के आविष्कार की कहानी हिन्दी जुबानी
अब खेले लूडो गेम स्मार्टफोन पर Ludo Borad Game इतिहास

अब खेले लूडो गेम स्मार्टफोन पर Ludo Borad Game इतिहास

लूडो का इतिहास
लूडो खेल की इतिहास की बात करे तो पचिसी या लूडो भारत मे 6वी शताब्दी मे जन्म लिया | भारत मे इस खेल Ludo की शुरुवात मुगल सम्राटों द्वारा किया गया यह माना जाता है | जिसका उल्लेखनीय उदाहरण अकबर है | भारत मे इस खेल का सबसे पहला सबूत अजंता की गुफाओ पर बोर्डो का चित्रण है |



भारत मे लूडो बोर्ड गेम की लोकप्रियता

भारत मे लूडो बोर्ड खेल एक समय था बहुत ही लोकप्रिय था लेकिन समय का फेर है कुछ समय से लूडो गेम समाप्त होने के कगार पर था लेकिन अब लूडो गेम फिर से लोगो को लुभा रही है क्योकि आज लूडो गेम ने स्मार्ट फोन पर जगह बना लिया है |




लूडो खेल - लूडो खेल को चार लोगो के साथ मिलकर खेला जा सकता है लेकिन अगर आपके दोस्त कम है जैसे एक दोस्त है फिर भी इसे खेल सकते है लेकिन Ludo game अकेले नहीं खेला जा सकता है |
लूडो गेम मे एक पासा फेकना होता है और नम्बर जितना पासा मे आए उतने चाल चलने होते है | लूडो गेम मे चार तरह की गोटिया होती है हरी पीली नीली लाल जो बचो को काफी लुभाती है और इस खेल को बच्चे बहुत पसंद करते है और यह एक ऐसा खेल है जिसे बड़े भी समय होने पर खेलते है और इसे हर मौसम मे खेला जा सकता है |



यह पढे - शानदार डील्स Top 5 gadget Flipkart पर 500 Rs के अन्दर

लूडो गेम स्मार्ट फोन पर कैसे खेले - 
इस खेल को स्मार्ट फोन पर अब खेला जा सकता है आप चाहे तो Play Stor से इसे DownLoad कर सकते है बस उसके लिए आपको Paly Stor पर लिखना होगा Ludo Game और आपके सामने Install का ऑप्शन आ जाएगा | और अगर आप चाहे तो यहा से भी Ludo Game Downlaod कर सकते है |

कटे फटे नोट कैसे बदले और कैसे पाए पूरा पैसा

कटे फटे नोट कैसे बदले और कैसे पाए पूरा पैसा

कटे फटे नोट को नहीं समझना चाहिए बेकार क्योकि अगर नोट पूरा कट फट जाए तो उसे वापस कर पाया जा सकता है पूरा पैसा | अगर आपका नोट कट फट गया है तो इसे RBI मे ऐसे कर सकते है वापस जानिए किस नोट पर कितना मूल्य मिलता है | Purane Fate Note Change, Old Note Fate Kate Exchange In Bank And Get New Note.

old cut note return


हमारे एक दोस्त ने अपनि पत्नी को जींस धुलने को दिया लेकिन न तो दोस्त को ध्यान रहा कि जींस की जेब मे 500 रुपए के चार नोट पड़े हुए है और न ही धोते वक्त उसकी पत्नी को ध्यान मे रहा | और हुआ यू की जींस के साथ उसके 500-500 के चार नोट भी धूल गए | जब याद आया तो नोट को बाहर निकाला तो वह नोट पूरी तरह खराब हो चुके थे | हमारे दोस्त जैसी गलती आपसे भी शायद हो गई हो या फिर अनचाहे ऐसे कटे फटे फटे, चिपके या किसी और तरीके से छेड़ छाड़ किए नोट आपके पास भी कई डीनो से पड़े हो जिनहे आपने ले लिया हो लेकिन अब आपसे कोई दुकानदार न ले रहा हो तो आप परेशान न हो इसका उपाय है | केएमजी वेब रिजर्व ऑफ इंडिया RBI के नियम 2009 के आधार पर बता रहा है कि आरबीआई किस तरह का नोट वापस ले लेता है और उसके बदले मे आपको कितना पैसा वापस मिलता है |


1 रुपए से 20 रुपए तक के नोटो के लिए - 
अगर आपके पास 1 रुपए से लेकर 20 रुपए तक का नोट है और उन नोट का 50 % से अधिक हिस्सा ठीक है तो आपको वापस करने पर पूरा मूल्य मिल जाएगा | लेकिन 50 % या उससे कम हिस्सा बचा हुआ है तो आपको कुछ भी नहीं मिलेगा |



50, 100, 500 या 1000 का नोट -
 अगर आपके पास 50,100,2000 का नोट है और उन नोट का बचा हुआ हुआ हिस्सा पूरे नोट के 66 फीसदी से अधिक है तो आपको इसका पूरा मूल्य मिलेगा | यदि बचा हुआ हिस्सा पूरे नोट के 40 फीसदी से अधिक और 65 फीसदी से कम है तो इस स्थिति मे आपको आधा मूल्य मिलेगा लेकिन बचा हुआ हिस्सा 40 फीसदी से कम है तो आपको कुछ नहीं मिलेगा |


नोट नम्बर कटने पर मिलेगा पैसा - 
आपने सुना होगा या आपको लगता होगा की नोट का नम्बर कट जाए तो आपको रिफ़ंड नहीं मिलेगा लेकिन ऐसा नहीं है अगर नोट के दाहनी और ऊपर या बाई तरफ नीचे की और लिखे नंबर वाला हिस्सा फटा हुआ है | तो याद रखे नंबर महत्व नहीं रखता क्योकि नोट का बचा हुआ भाग ही महत्व रखता है तो नंबर के काटने पर भी आपको पूरा रिफ़ंड मिल जाएगा |


अगर किसी ने जान बूझकर या काटा फाड़ा या किसी प्रकार की बदलाव या कोई परिवर्तन किया है नोट पर तो इस तरह के नोट पर कोई भी पैसा रिफ़ंड नहीं मिलेगा |
शानदार डील्स Top 5 Gadget Filpkart पर 500 Rs के अन्दर

शानदार डील्स Top 5 Gadget Filpkart पर 500 Rs के अन्दर

FlipKart Shoping, Flipkart Product, Flipkart sell today offer, flipkart mobail, flipkart 5 big sale, Flipkart Customer care number In india.

अगर आप इन्टरनेट से Shoping करते है तो यह पोस्ट आपके लिए क्योकि कुछ ऐसे Product है जिनकी जरूरत आपको हमेशा रहती होगी तो आज हम आपको FlipKart के 5 ऐसे Product के बारे मे बताने वाले है जो आपको FlipKart पर 500 रुपए के अंदर मिल जाते है तो आइये देखे वह कौन से पाँच शानदार Product है जो Flipkart पर 5 सौ के अंदर मिल रहे है |



flipkart sale under 500 rs


Flipkart 5 Top Product In Selling



पेनड्राइव 16 GB [ Sony Comp. ]




पहला Product पेन ड्राइव USB है यह पेनड्राइव USB 2.0 को सपोर्ट करता है | यहा प्लास्टिक का बना हुआ है तथा यह लैपटाप, औडियो प्लेयर, टेबलेट, डेस्कटॉप, कम्प्युटर, टेलीविजन, मोबाइल और नोटबूक मे इस्तेमाल किया जा सकता है इस पेनड्राइव का रंग पिंक [ गुलाबी ] मे होगा अगर आप इसे खरीद लेते है तो साथ मे आपको 2 साल की वारंटी मिलेगी |



Universal Bike/ Bicycle Handal Mount



इस Gadget की मदद से मोबाइल फोन को अपने बाइक पर या फिर अपने साइकिल पर लगा सकते है यह होल्डर काफी काम आता है | इसका उपयोग करना आसान है - अगर आपको वीडियो रिकार्डिंग करने का शौक है तो यह प्रोडकट आपके लिए अच्छा रहेगा जब भी घर के बाहर घूमते हुए वीडियो रिकार्डिंग करना चाहते है तो इस Gadget Holder को अपने साइकिल पर या बाइक पर एक जगह सुविधा अनुसार सेट करे फिर अपने मोबाइल को इस Gadget होल्डर पर लगा दे | यह होल्डर काफी मजबूती से आपके divice को पकड़ लेता है आप जितनी भी स्पीड मे बाइक चलाए फिर भी आपका divice उसी जगह बना रहेगा और आपके सुविधा अनुसार रिकार्डिंग करता जाएगा | इसका इस्तेमाल टेबल पर सेट करके अपना फ्रंट वीडियो रिकार्डिंग के लिए भी कर सकते है |



Signature Solo HD Wired Headphone




तीसरा प्रॉडक्ट है हेडफोन जो दिखने मे काफी आकर्षित है और साथ मे इस हेडफोन की क्वाल्टी भी बहुत ही बेहतरीन है इस हेडफोन मे आपको 3.5 mm पर दो जैक मिलेगा जो आपको लैपटाप, कम्प्युटर मोबाइल फोन, टेबलेट और आडियो प्लेयर से कनेक्ट करके एक बेस्ट साउंड क्वालिटी का मजा ले सकते है क्योकि इस हेडफोन की साउंड क्वालिटी बहुत ही बेहतरीन है |

पावर बैंक [ Ambrane P- 444 NA 40000 Mah




यह बिना करेंट के मोबाइल फोन को चार्ज करने के काम आता है जिसे पावर बैंक कहा जाता है पावर बैंक घर पर कैसे बना सकते घरेलू उपकरणो के प्रयोग से यहा क्लिक से पढे ..... 
अगर आप मोबाइल चर्जिंग के लिए पावर बैंक ढूंढ रहे है तो इस पावर बैंक को खरीद सकते है इस पावर बैंक का कलर सफ़ेद होगा | इस पावर बैंक मे 4000 Mh बैटरी की कैपिसिटी मिलेगी जिसमे लिथियम आयन बैटरी लगा हुआ होगा साथ मे आपको चरजिंग के लिए माइक्रो कनेक्टर भी मिल जाएगा | इस प्रोडकट पर अभी काफी छूट मिल रहा ही जिसे आप सही समय पर खरीद ले आपके लिए यह पावर बैंक आपके लिए काफी उपयोगी होगा |

मेमोरी कार्ड [ Sandisk Ultra High - Speed transfer 48MB/S




यह मेमोरी कार्ड बहुत ही अच्छा है इस मेमोरी कार्ड मे आपको 48MB/S सबसे ज्यादा डाटा ट्रान्सफर स्पीड मिलेगा | अगर आप इसका इस्तेमाल अपने मोबाइल मे करते है तो आपका मोबाइल कभी भी हैंग नहीं होगा | ज्यादा तर फोन मे इंटरनेट से फ़ाइल डाउनलोड करने मे हैंग होने लगता है पर इसे use करने पर एसी समस्या नहीं होगी | इस मेमोरी की स्पीड आपके फोन के इंटरनल मेमोरी की स्पीड जैसी होगी | यह एक बेस्ट price पर बेस्ट प्रॉडक्ट है जिसे आप एक लिमिटेड समय मे खरीद सकते है |