तेज बहादुर यादव को award क्या मिला था

तेज बहादुर यादव को award क्या मिला था

रोटी के लिए जंग छेड़ने वाले तेज बहादुर का नाम तो आपने सूना होगा लेकिन क्या आपको पता हा तेज बहादुर यादव को award अपनी बहादुरी के लिए कई बार मिले और ऐसे जवान को आज फ़ौज से निकाल बाहर कर दिया गया है तेज बहादुर के दादा जी भी ताम्र पत्र के award से सम्मानित थे और उनके खुद के पिता को भी कई तरह के award से सम्मानित किया गया था.

तेज बहादुर उस समय में चर्चा में जब उन्होंने ख़राब खाने की शिकयात सोशल मिडिया पर किया और दुबारा जब उन्होंने चुनाव के लिए आवेदन किया. यह अफ़सोस की बात है इतने अच्छे सिपाही को आज चुनाव में लड़ने से भी रोक दिया गया. अंजना ओम कश्यप photo age instagram बायोडाटा.

तेज बहादुर का जीवन परिचय

तेज बहादुर महेंद्रगढ के रहने वाले है और उनका परिवार स्वतंत्रा सेनानियों का परिवार है उनके परिवार के लोग इस बात को बताने में गर्व करते है की उनका पिटा ईश्वर सिंह सुभाष चन्द्र बोस के साथ थे और आजाद हिन्द फ़ौज में वह रहे थे. इसलिए हरियाणा सरकार ने उन्हें ताम्रपत्र से सम्मानित किया था. तेज बहादुर की wife का नाम शर्मीला रेवाड़ी है आयर वह एक प्राइवेट कम्पनी में जॉब करती है. 

तेज बहादुर का एक लड़का था जो दिल्ली के विश्वविद्यालय में प्रथम वर्ष BA पूरा किया लेकिन पिछले साल आत्महत्या करने की वजह से मौत हो गई.

तेज बहादुर यादव को award

तेज बहादुर का नामांकन हुआ रद्द -
तेज बहादुर के साथ हुए अत्याचार के खिलाफ वह मोदी जी को दोषी मानते है इसलिए वह मोदी जी के खिलाफ बनारस से चुनाव लड़ने के लिए पर्चा भरा था लेकिन उनका पर्चा रद्द हो गया और इसका कारन तेज बहादुर मोदी जी को बताते है उनका कहना है वह बनारस से चुनाव जीत रहे थे इसलिए मोदी जी ने चुनाव आयोग की मदद से उनका पर्चा रद्द करा दिया. 

तेज बहादुर ने इसके खिलाफ सुप्रिम कोर्ट में याचिका दाखिल किया था लेकिन वहा से भी उन्हें निराश होना अब आगे क्या करने वाले तेज बहादुर वह आने वाला समय बतायेगा लेकिन अगर आपको कुछ पूछना है तेज बहादुर के बारे में या किसी तरह का जवाब आपको देना है तो आप कमेन्ट करे.

अंजना ओम कश्यप photo age instagram बायोडाटा विकी

अंजना ओम कश्यप photo age instagram बायोडाटा विकी

अंजना ओम कश्यप photo age instagram - अंजना ओम कश्यप का नाम तो सूना ही होगा. यह वह शख्शियत है जिन्होंने साबित करके दिखाया है कोई भी काम छोटा नहीं होता है. अंजना ओम कश्यप ने अपना करियर २००३ में दूरदर्शन के एक प्रोग्राम आँखों देखी से शुरू किया था और उसके बाद जी न्यूज़, न्यूज़ २४ और स्टार न्यूज़ जैसे बड़े चैनलो में भी काम किया है. आज के समय में अंजना ओम कश्यप देश के सबसे पोपुलर चैनल आज तक में सीनियर एडिटर और न्यूज एंकर के तौर पर काम कर रही है. आईएस टीना डाबी का जीवन परिचय 

अंजना ओम कश्यप विकी

अंजना ओम कश्यप उनका रियल नाम है और इनका निक नाम NOK है यह एक न्यूज़ एंकर के तौर पर काम करती है और इनका जन्मदिन की तारीख 12 जून 1975 है इसके हिसाब से आज कश्यप ४४ साल की लगभग २०१९ में हो चुकी है. इनका जन्मस्थान रांची झारखंड है इनकी hight ५.४ फीट है.

Weight 58 kg 
School Loreto Convent School Jhansi 
College Daulat Ram College, Dehli University,Jamia Islamia for Mass Communication 
Education Diploma in Journilism,
Degree In Botany 
Nationallity Indian,Hindu 
Marital Status Married
sallary - १ करोड़ +
contact number - is private

अंजना ओम कश्यप के शादीशुदा महिला है और इनके पति का नाम आईपीएस मंगेश कश्यप है अंजना खुद के एपिसोड का 8 लाख रूपए लेती है यह एक भूमिहार परिवार से बेलोंग करती है. 

अंजना ओम कश्यप photo age instagram

अंजना ओम कश्यप photo age instagram


अंजना ओम कश्यप को instagram पर फॉलो आप क्लिक से कर सकते है यदि आपको अंजना कश्यप के बारे में कुछ पूछना है तो कमेन्ट करे.
टीना डाबी के बारे में जीवन परिचय wikipedia

टीना डाबी के बारे में जीवन परिचय wikipedia

टीना डाबी जो की एक IAS बन चुकी है जबसे टीना डाबी जी IAS बनी है तब से लोग उनके बारे में जानकारी चाहती है जैसे टीना डाबी posting wikipedia, टीना डाबी ias notes तो हमने पहले ही IAS टीना डाबी के नोट्स pdf में आपको प्रोवाइड कर दिया और आज हम आपको टीना डाबी का जीवन परिचय बताने जा रहे है.

जीवन परिचय टीना डाबी के बारे में ?

अगर कोई व्यक्ति किसी चीज को पाने में अपनी जी जान लगा दे तो use हासिल एक दिन कर ही लेता है और इस जुमले को सही साबित कर दिया है दिल्ली की टीना डाबी ने क्योकि उन्होंने हिंदुस्तान की सबसे कठिन माने जाने वाली UPSC परीक्षा को क्लियर करके दिखाया है वह भी फर्स्ट अटेम्प में फर्स्ट रैंक के साथ पास कर लिया.

टीना डाबी का जन्मस्थान भोपाल है मतलब इनका जन्म मध्य प्रदेश के एक परिवार में हुआ. टीना डाबी के माता पिता इंजिनियरिंग सर्विस में अधिकारी के तौर कार्य कर चुके है. टीना की शुरुवाती पढाई भोपाल से हुई है इनके पिता जी का कहना है मेरी बच्ची बचपन से ही पढाई में होशियार थी. दिल्ली से श्री राम कॉलेज से टीना ने २०१४ से ग्रेजुवेशन किया था और यहाँ से उन्होंने स्टूडेंट ऑफ इयर का अवार्ड भी प्राप्त किया.

टीना डाबी के बारे में जीवन परिचय wikipedia

टीना डाबी का प्यार और शादी ?

टीना डाबी सरकार द्वारा आयोजित एक प्रोग्राम में गयी थी और इस आयोजन में उनकी मुलाक़ात दुसरे रैंक होल्डर अतर आमिर हुसैन से हुई थी और इस मुलाकात में टीना डाबी और अतर को first time love हुआ और फिर दोनों ने शादी भी कर लिया . टीना का कहना है "मुझे पहली नजर में ही अतर से प्यार हो गया था" इस प्यार को प्यार का परवान मैसूरी में ट्रेनिंग के दौरान मिला.

टीना डाबी की पर्सनल लाइफ 

टीना डाबी को अपने लाइफ में जो करना सबसे ज्यादा अच्छा लगता है वह है पेंटिंग साथ ही पढाई करना और शोपिंग एंव movie देखना भी काफी अच्छा लगता है 

टीना डाबी UPSC में कैसे १st रैंक पाया इसके बारे में तो हम कुछ नहीं कह सकते है लेकिन उनका कहना है मैं बहुत ही कड़ी मेहनत करती थी और इसके लिए वह रोजान प्रेक्टिस करती थी जब भी उन्हें अपने पढाई में कमी नजर आती थी तो सबसे पहले अपनी कमीयो को दूर करने के लिए कोशिश करने में लग जाती थी . और इस काम को कल के भरोसे नहीं रखती थी, जो भी करना है आज करो कल किसने देखा है उनका कहना है.  इस तरह से उनकी पढाई पूरी हुई और बन गई आईएसआई टीना डाबी .
बिटकॉइन इंडिया में रहकर कैसे खरीदे

बिटकॉइन इंडिया में रहकर कैसे खरीदे

बिटकॉइन की कीमत आज का रेट लाखो में है इसलिए लोग बिटकॉइन के बारे में जानकारी चाहते है जैसे - बिटकॉइन क्या है बिटकॉइन आज का रेट लेकिन बिटकॉइन की जनाकारी इन्टरनेट पर बहुत कम होने के कारण लोग इसके बारे में जान नहीं पा रहे है अगर आप भी सोच रहे है बिटकॉइन इंडिया में रहकर कैसे खरीदे ? तो आज हम आपको बिटकॉइन खरीदने का तरीका बताने जा रहे है.

बिटकॉइन क्या है ?

बिटकॉइन को डिजिटल कैरेंसी के नाम से भी जाना जाता है बिटकॉइन एक आभसी मुद्रा है जिसे आप अपने वॉलेट मे नहीं रख सकते मतलब इसे आप छु नहीं सकते है लेकिन अगर आपके पास एक बिटकॉइन है तो समझिए आप 10 लाख के मालिक है. बिटकॉइन ऑनलाइन उपयोग किया जाने वाला कैरेंसी है और इस बिटकॉइन का अविष्कार संतोषी नाकोमोटो ने सन २००८ में किया था जो उस समय पोपुलर नहीं था लेकिन आज के समय में बिटकॉइन की कीमत बहुत ज्यादा है साथ ही यह एक पोपुलर आभासी मुद्रा बन चूका है.


बिटकॉइन इंडिया में रहकर कैसे खरीदे


बिटकॉइन की कीमत आज का रेट ?

आज की तारीख मे 1 बिटकॉइन = 1136906.70 इंडियन रुपए मे है लेकिन यह बढ़ता रहता है. हाल ही मे हमने आपको 1 Bitcoin की कीमत बताई थी 7 लाख रुपए के बराबर लेकिन आज यह 4 लाख बढ़ चुका है | इससे आप अंदाजा लगा सकते है Bitcoin की कीमत कितनी तेजी से भाग रहा है. बिटकॉइन खरदीने के कई सारे तरीके है उदाहरण के तौर पर आपको बताए तो - बिटकॉइन को आप अपने लोकल करेंसी मे खरीद सकते है किसी सर्विस से या किसी चीज को बेचकर मतलब साफ है आपके द्वारा दिए गए समान के बदले आप बिटकॉइन ले सकते है. आज के समय मे Bitcoin जीता भी सकता है ऐसी कई एप्लिकेशन मौजूद है Bitcoin जितने का मौका दे रही है लेकिन ध्यान रहे है बिटकॉइन धोखाधड़ी से बचे.

बिटकॉइन इंडिया में रहकर कैसे खरीदे ?

अगर आप 1st टाइम बिटकॉइन खरीद रहे है तो आपके लिए सबसे अच्छी वैबसाइट unicon हो सकती है और हम भी आपको इसी वैबसाइट से बिटकॉइन खरीदने के लिए कहेंगे | unicon india की अच्छी वेबसाइट है जहाँ से आप बिटकॉइन खरीद सकते है. यह एक पोपुलर वैबसाइट है इसे प्रयोग करना काफी आसान है.
  •  सबसे पहले आपको Unicon वैबसाइट पर एकाउंट बनाना होगा यहा क्लिक से जाए
  • बिटकॉइन खरीदने के लिए सबसे पहले आपको Unicon Account मे RTGS/NEFT के द्वारा Amount Add करना है
  • अब आपको Unicon के डैशबोर्ड मे जाना है एंव Buy Bitcoin पर क्लिक करना है |
  • अब आगे कुछ डिटेल्स भरना होगा जो आप बहुत ही आसनी से भर सकते है |
  • आप पेमेंट के लिए to my bitcoin wallet को सेलेक्ट करे |
  • इस तरह से आप बिटकॉइन आसानी से इंडिया मे रहकर खरीद सकते है |
बच्चों की नजर उतारने के mantra

बच्चों की नजर उतारने के mantra

नजर लगना एक अंधविश्वाश माना जाता है लेकिन जब अपने ही बच्चो को नजर लग जाए तो क्या हकीम और क्या अंधविश्वाश इसलिए बच्चों की नजर उतारने के mantra भी लोग अजमाने लगते है. बच्चों की नजर उतारने के mantra जो भी है उससे पहले आपको बता दे यह सब विश्वाश की बाते है.जिसे मानने वाले मानते है और न मानने वाले नहीं मानते है . आज हम आपको बच्चों की नजर उतारने के उपाय तरीके मन्त्र के बारे में जानकारी दे रहे है.

बच्चों की नजर उतारने के mantra उपाय

बच्चे की त्वचा बहुत ही कोमल होते है और बच्चो पर नजर लगना बहुत आम बात है क्योकि लोग एक टुक होकर बच्चो को देखते है इसलिए कभी कभी किसी की नजर लग जाती है इसलिए इस नजर का इलाज करना जरुरी हो जाता है. इसके लिए आप एक तांबे का पात्र ले फिर पानी एंव ताजा फुल इस पात्र में रखे उसके बाद ११ बार बच्चे के चारो तरफ घुमाए और इस पात्र को किसी भी गमले में डाले, इस तरह से नजर का असर ख़त्म होना शुरू हो जाता है. इसी तरह से मुट्ठी भर चीनी लेकर बच्चे के चारो तरफ दोनों हाथो से घुमाए फिर चीनी को वाश बेशिन में डाले और पानी की धार से चीनी को गला ले. इस तरह से बच्चे को लगी मीठी नजर खत्म हो जाता है . दूध में मिश्री डालकर 7 बार उतारें और शिव जी के मंदिर में रख आएं।

बच्चों की नजर उतारने के mantra
  • नमक, लहसुन  मिर्च और प्याज के छिलके को किसी कटोरी में जला दे फिर उस कटोरी को बच्चे के चारो तरफ घुमाए इस तरह से बच्चो से बुरी नजर वाला दोष खत्म हो जाता है.  इसे करने में सावधानी रखे और धुआ बच्चे को आँखों से दूर रखे.
  • शनिवार के दिन हनुमान मंदिर जाए फिर हनुमान जी के कंधे का सिन्धुर मंदिर से लेकर आये और इस सिंदूर को बच्चे के माथे पर लगाये इस तरह से भी बच्चो को लगी नजर ख़त्म किया जाता है.
  • स्तनपान करते समय बच्चे को नजर लगे तो आप इमली को ३ डाल ले और आग में जलाए फिर बच्चे के माथे के चारो तरफ घुमाए  फिर पानी से आग को बुझा दे.
  • अगर बच्चो का विकाश नहीं हो रहा है यानी उस पर बुरी नजर का प्रभाव है तो आप फिटकरी और सरसों का तेल बच्चे पर वार करे फिर इसे चूल्हे में डाले इस तरह से बच्चो का दोष ख़त्म हो जाता है अगर इसे आप सुबह शाम और रात में करते है तो एक ही दिन में बुरी नजर का प्रभाव ख़त्म हो जाता है
  • अगर आपका बच्चा दूध पीना नहीं चाहता है और ऐसा हर बार कर रहा है तो आप कच्चा दूध बच्चे के ऊपर से 7 बार वार करे फिर इस दूध को कुत्ते के बच्चे को पिलाये इस तरह से बच्चे का दिश ख़त्म हो जाएगा
  • बच्चे को नजर जब लगती है तो वह रोता बहुत है साथ ही चिल्लाना और बीमार रहना शुरू हो जाता है तो आप साबुत मिर्च को बच्चो के ऊपर ३ बार वार करे फिर जलती आग में झोके इस तरह से नजर का प्रकोप ख़त्म होगा
  • बुरी नजर से बचने के लिए प्रति शनिवार बच्चे के ऊपर से झाड़ू या उसी के बाएं पैर की चप्पल या जूता लेकर 7 बार उल्टे क्रम से उतारें और दरवाजे की दहलीज पर तीन बार झाड़ कर अंदर आ जाए। यह भी नजर उतारने का बहुत पुराना पारंपरिक तरीका है।
यह सभी उपाय करके आप अपने बच्चो को बुरी नजर से बचा सकते है लेकिन अगर इन सबसे भी बच्चों को नजर नहीं उतरता है तो आप 9120298775 पर ५०१ रूपए पेटीम करे. साथ ही बच्चे का नाम और माता पिता का नाम एड्रेस के साथ हमें इमेल करे हर हफ्ते होने वाली पूजा में आपके बच्चे के लिए नजर उतारने का जाप किया जाएगा. यह एक निशुल्क सेवा है लेकिन हवन और पूजा में कुछ सामग्री लगती है उसके लिए आपसे ५०१ रूपए की डिमांड की जाती है.
ऑटो पार्ट्स बिज़नेस प्लान इन हिंदी meaning in hindi

ऑटो पार्ट्स बिज़नेस प्लान इन हिंदी meaning in hindi

ऑटो पार्ट्स बिज़नेस मतलब जहा पर टू व्हीलर वाहन से लेकर फोर व्हीलर वाहन की मरम्मत की जाती है | ऑटो पार्ट्स बिज़नेस प्लान  करना चाह रहे है तो पहले इस क्षेत्र मे तजुर्बा लेना होगा फिर ही इस बिज़नस मे आप सक्सेस हो पाएगे | तो यहा हम ऑटो मोबाइल बिज़नस शुरू करने के लिए कुछ टिप्स बता रहे जिन्हे आप पढ़ सकते है.

ऑटोमोबाइल कोर्स

अगर आप ऑटोमोबाइल की तकनीकी जानकारी हासिल करना चाहते है तो ऑटोमोबाइल मे डिप्लोमा कर सकते है | यह कोर्स 10TH के बाद किया जा सकता है | यह बिज़नस आप चाहे तो बिना किसी कोर्स के भी शुरू कर सकते है लेकिन अगर कोर्स करते है तो आप ऑटोमोबाइल से जुड़े टेक्निकल जानकारी प्राप्त कर पाएंगे | यह कोर्स करने के लिए आप प्राइवेट संस्था या फिर सरकारी संस्था से जुड़ सकते है |
How To Start Automobail Business

तजुर्बा हासिल करे - अगर आप बिना किसी डिप्लोमा के ऑटोमोबाइल बिजनस शुरू करना चाहते है तो आप किसी ऑटोमोबाइल गैराज पर हेल्पर और मैकेनिक के तौर पर काम कर सकते है | अगर आपने अच्छा तजुर्बा हासिल कर लिया तो बहुत ही आराम से Automobail Business शुरू कर सकते है | आप जब हेल्पर का काम सीखते है तो निम्न चीजे जानेगे - टूल किट कैसे चलाये, गाड़ी का कौनसा पार्ट कहाँ है और वो कैसे चलता है | आपके सीखने का जुनून एंव काबिलियत पर यह तह होता है आप कितने दिन मे हेल्पर का काम सीख पाएंगे | वैसे एक अच्छा हेल्पर 2 से 6 महीने मे बना जा सकता है |




मैकेनिक का काम सीखे - एक मैकेनिक गाड़ी की सर्विस से लेकर हाफ इंजन वर्क करता है तो अब जान लीजिए एक मैकेनिक के और कौन कौन से कार्य करने पड़ते है |

  • सर्विसिंग करना सीखे - गाड़ियो की 1st सर्विस,  टू व्हीलर की 2 हजार किलोमीटर एंव 4 व्हीलर की 5 से 10 हजार पर की जाती है | साथ ही 1st सर्विस पर मोटर वाहन की आयल बदलना, आयल फिल्टर चेंज करना, एयर फिल्टर साफ करना, ब्रेक आयल, गियर आयल, एंव कूलेंट का लेबल चेक करना इत्यादि काम किए जाते है |
  • सस्पेंसन चेक करना - यह चेक करने के लिए आपको गाड़ी का ट्रायल लेना होगा | जब गाड़ी चलते समय ससपेंशन मे से आवाज आए तो जरूरी पार्ट्स बदल दिया जाता है [ क्या क्या वर्क करना है या गाड़ी मे क्या सस्पेंशन है यह पता करने के लिए गाड़ी आपको चलाना पड़ेगा ]
  • गियर बॉक्स चेक करना - यह आसानी से खराब होने वाला पार्ट नहीं है लेकिन अगर कोई गाड़ी रफ तरीके से चलाया जाए तो गियर बॉक्स टूट फुट जाते है | ऐसे मे आपको गियर बॉक्स रिपेयर या रिप्लेस करना पड़ता है |
  • प्रोपेलर शाफ़्ट - पहियो तक शक्ति गियर बॉक्स से पहुचती है और यह काम प्रोपेलर शाफ़्ट करता है | रफ़ गाड़ी चली और बार बार गाड़ी को जर्क बैठा तो प्रोपेलर शाफ़्ट के जॉइंट में प्ले आता है. ऐसे वक्त प्रोपेलर शाफ़्ट रिप्लेस करना होता है |
  • ब्रेक पैड - यह ब्रेक पैड फ्रंट व्हील में होतें है. इन ब्रेक पैड की थिकनेस आपको चेक करनी होगी अगर स्टैण्डर्ड साइज़ से ये कम है तो आपको ब्रेक पैड रिप्लेस करने है |
ऐसे ही और भी कई काम एक मैकेनिक को आने चाहिए जैसे - हेड गैस किट समस्या ठीक करना, एक्सेल समस्या को ठीक करना, पिस्टन समस्या को ठीक करना इत्यादि |


कानूनी दस्तावेज़ बनवाए - कोई भी कारोबार शुरू करने से पहले उसके कानूनी जरूरी दस्तावेज़ तैयार कर लेना अच्छा होता है क्योकि इसी जरूरत आपको कभी भी पड सकती है | आपको बैंक मे करेंट बैंक एकाउंट खोलना है तो या फिर अगर आपकी गैराज सोसाइटी मे है तो आप सोसाइटी NOC ले |

ऑटो पार्ट्स बिज़नस मे लगने वाली लागत


एक छोटे तौर पर ऑटोमोबाईल सर्विस शुरू करने के लिए कम से कम 2 लाख का खर्च आता है जिसमे 30 से 40 हजार का खर्च केवल टूल किट मे हो जाता है | आप इस एमाउंट मे कोई मशीनरी तो नहीं खरीद सकते है लेकिन आप अपने कस्टमर को एक अच्छी सर्विस दे पाएनेग |

8 से 10 लाख रुपयोंकी लागत से अच्छा सर्विस सेंटर आप शुरू कर सकते है. इसमें आप रैंप ( टू पोस्ट ), न्यूमेटिक गन, एअर कॉम्प्रेसर, अलायलमेंट बैलेंसिंग, जनरेटर, PUC मशीन, लैपटॉप ( स्कैनर ), यह मशीनरी खरीद सकते है |
भारत में खरगोश पालन का बिज़नस कैसे शुरू करे

भारत में खरगोश पालन का बिज़नस कैसे शुरू करे

खरगोश बहुत ही प्यारा जीव है इसलिए इसे लोग अपने घरो में रखते है और भारत में रहने वाले खरगोश पालन का बिज़नस भी करते है लेकिन भारत में खरगोश का बिजनस कैसे शुरू करे और कैसे बेचे ?

खरगोश बहुत ही प्यारा जीव है इसलिए लोग अपने घर की शोभा बढ़ाने के लिए घरो मे खरगोश पालन करते है ऐसे मे अगर आप खरगोश पालन का बिज़नस शुरू करते है तो यह बिज़नस आपके लिए काफी लाभदायक साबित हो सकता है. खरगोश एक शाकाहारी जीव है इसलिए इस जीव से किसी को खतरा भी नहीं रहता.  वेब होस्टिंग बिज़नस की शुरुवात कैसे करे
भारत में खरगोश पालन का बिज़नस कैसे शुरू करे

भारत में खरगोश पालन का बिज़नस कैसे शुरू करे ?

खरगोश का पालन करने के लिए आपको कुछ बाते ध्यान मे रखनी होगी जो हम आपको बता रेह है - 
  • कितने खरगोश से शुरू करे बिज़नस -  अगर आप खरगोश पालने का बिज़नस शुरू कर रहे है तो आपको खरगोश के 10 यूनिट रखने जरूरी है क्योकि इतने से कम खरगोश रखने पर आपको अच्छा मुनाफा नहीं हो पाएगा | आपके बता दे एक यूनिट मे 10 खरगोश होते है तो इस तरह आपको पूरे 100 खरगोश रख कर अपने बिज़नस की शुरुवात कर सकते है | ध्यान रहे इन खरगोशो के संख्या मे 50 से 60 मादा हो एंव 35 से 40 नर
  • खरगोश का खाना - अगर आपने खरगोश को देखा होगा तो आपको पता होगा खरगोश हरी चीजे बहुत ही शौक से खाते है तो आप अपने फर्म के खरगोशो को दिन मे बार खाना खिलाए एक टाइम मे हरी छीजे खाने दो और दूसरे टाइम मे खाने के अन्य चीजे दे
  • खरगोश पालन के लिए स्थान या घर - खरगोश पालने का स्थान या घर ऐसे जगह पर बनाना चाहिए जहा पर ध्वनि प्रदूषण एंव वायु प्रदूषण न हो | इसलिए आप शहर से कही दूर शांत स्थान पर खरगोश फार्म बना सकते है | अगर हरियाली वाला स्थान पर फार्म बनाया जाए तो यह बहुत अच्छा रहेगा
  • फार्म का पंजीकरण है जरूरी - अगर आप खरगोश पालन बिज़नस शुरू कर रहे है तो फार्म का रजिस्ट्रेशन जरूरी है | जिसे आप पार्टनरशिप के अंतर्गत रजिस्टरेशन करा सकते है | इसके अलावा आपके हर साल फार्म को चलाने के लिए इन्कम टैक्स भी भरना पड़ेगा और फार्म के लिए करंट एकाउंट एंव पैन कार्ड भी होना जरूरी है
  • खरगोश पालने मे आने वाला खर्च - अगर आप 10 यूनिट खरगोश यानि की 100 खरगोश रखते है तो इतने खरगोश का खर्च लगभग 2 लाख 50 हजार रूपए के आसपास आता है | आपको इन्ही पैसो से खरगोश पालने के लिए 10/4 का पिंजरा, पानी पिलाने के कटोरी एंव वाटर निप्पल भी मिल जाएगा

खरगोश पालन के बाद कहा बेचे ?

अगर आप बिज़नस के तौर पर खरगोश का पालन कर रहे है आप अपने खरगोश को बेचकर ही मुनाफा कमा सकते है | तो आप बेचने के लिए Advertising करे, फार्म के पास पोस्टर या बोर्ड लगवा दे की यहा खरगोश बेचा जाता है | आप चाए तो अपने बिज़नस को ऑनलाइन भी कर सकते है | आज कल इंटरनेट के जरिये सब कुछ बिक जाता है | ऐसे कुछ और जगह जहा पर आप अपने खरगोश को बेच सकते है |
  • खरगोश का मांस को मेडिकल क्षेत्रो मे अधिक प्रयोग किया जाता है तो आप ऐसी मेडिकल क्षेत्र को ढूँढे जहा आपका खरगोश ले लिया जाए |
  • कई लोग शौक के लिए भी खरगोश पालन करते है तो आपने अच्छी Advertising कर दिया तो लोग आपसे खुद संपर्क करने लग जाएँगे |
  • एग्रीकल्चर रिचर्च के लिए भी खरगोश की डिमांड होती है तो एसी जगहो पर भी खरगोश को आप दे सकते है |
खरगोश पालन मे लाभ 

एक खरगोश कम से 4 से 5 बच्चो को जन्म देती है तो इस तरह आपके 60 मादा खरगोश के 300 नवजात खरगोश हो जाएँगे | यह सब 45 दिन मे होता है और इन बच्चो को तैयार होने मे 4 महीने का समय लगता है | अगर आपने सारे बच्चो को तैयार कर दिया तो 4 महीने मे आपके पास 1.10.000 रुपए के आसपास कीमत के खरगोश हो जायनेगे | इतने बच्चो को पालने मे 70 से 80 हजार से कम का खर्च आएगा और लाभ 30 से 40 हजार का होगा टूर एंड ट्रेवल बिज़नस की शुरुवात कैसे करे
खरगोश पालन प्रशिक्षण जरुर ले 
  • खरगोश फार्म की पूरी तरह से साफ सफाई करते रहे | यह खरगोश को बीमार होने से बचाने का अच्छा तरीका है
  • इनके खाने पीने का खास ध्यान देना चाहिए इसलिए इन्हे समय से खाना और समय से पानी देना चाहिए
  • अगर एक खरगोश बीमार है तो उसे दवा दे साथ ही बीमार खरगोश को अन्य खरगोशो से अलग स्थान मे रखे
  • खरगोश फार्म का तापमान लगभग 38 डिग्री होता है तो इससे अधिक तापमान पर उन्हे न रखे
प्लास्टिक बोतल बनाने की मशीन price क्या है

प्लास्टिक बोतल बनाने की मशीन price क्या है

प्लास्टिक बोतल बनाने की मशीन price क्या है ? आप प्लास्टिक बोतल का बिजनस शुरू करना चाहते है तो आपको प्लास्टिक बोतल बनाने की मशीन की कीमत price पता होना चाहिए क्योकि इसी प्लास्टिक बोतल बनाने वाली मशीन से आप बहुत आसानी से प्लास्टिक बोतल बना सकते है.

प्लास्टिक बोतल बनाने की मशीन price

प्लास्टिक बोतल बनाने की मशीन price की कीमत भिन्न भिन्न है क्योकि इसे आप ऑनलाइन खरीदते है तो आपको यह मशीन कई वेबसाइट पर मिल जाती है. सभी मशीन की कीमत उसके क्वालिटी पर निर्भर करती है और जिस प्लास्टिक बोतल बनाने वाले मशीन की बात कर रहे है वह अच्छे क्वालिटी का है इसे हम खुद ही उपयोग मे ले रहे है तो अगर आपको इसे खरदीना है तो आप इसे india mart से खरीद सकते है सरकारी कलेजो मे एमएमबीएस की फीस क्या है.
प्लास्टिक बोतल बनाने की मशीन price क्या है

  • Four Cavity Plastic Bottle Making Machine, 
  • Capacity: 1200 - 2400, 15 Kw Rs 
  • Latest Price  - 5 Lakh/ 1 SET
  • Capacity: 1200 - 2400 
  • Power Consumption: 15 kw 
  • Blow Moulding Type: PET BLOWING 
  • Machine Type: Semi-Automatic 
  • Mould Cavity: 4 cavity 
  • Automation Grade: Semi-Automatic अधिक जानिए

प्लास्टिक बोतल बनाने की मशीन की कीमत 

इस तरह का प्रोजेक्ट शुरू करने के लिए लगभग आपको 6 लाख के आसपास खर्च करना होगा | फिर आप एक प्लास्टिक बोतल बनाने का प्रोजेक्ट शुरू कर सकते है |

क्या होगी कमाई इत्यादि के बारे मे भी जानना चाहते है और इसका पूरा setup कैसे करना है पूछना चाहते है तो कमेन्ट करे हम जल्दी ही आपके एक बढ़िया सुझाव देंगे | आप इस विषय पर सवाल पूछे |


प्लास्टिक सामान बनाने की मशीन पानी की बोतल बनाने की मशीन की कीमत बोतल बनाने की विधि प्लास्टिक बनाने की मशीन प्लास्टिक उद्योग की जानकारी खाली प्लास्टिक बोतल का उपयोग प्लास्टिक बनाने वाली मशीन कांच की बोतल बनाने की मशीन
इनकम टैक्स कब लगता है स्लैब 2018-19

इनकम टैक्स कब लगता है स्लैब 2018-19

इनकम टैक्स क्या है कब लगता है स्लैब 2018-19 ? इनकम टैक्स से संबन्धित कई सारे भ्रम लोगो मे रहता है जैसे - इन्कम टैक्स कब लगेगा, कितनी इनकम पर टैक्स लगता है इनकम टैक्स स्लैब २०१९. अगर आपको कैश जमा करना है, शेयर म्यूचुवल फंड खरीदना है या फिर प्रॉपर्टी खरीदना है जैसे - जमीन, फिक्स डिपॉजिट, विदेशी केरेंसी के लेनदेन. इस तरह के बड़े लेन देन या ट्रांजेकसन की जानकारी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को यानि आयकर विभाग को देनी होगी. अगर आप 1 साल मे 10 लाख रुपए से ज्यादा रुपए, Bank Account मे जमा करते है तो बैंक इसकी जानकारी आईटी विभाग को देगा. गूगल का तेज एप क्या है जानिए फायदे 

इनकम टैक्स क्या होता है ?

आयकर (इनकम टैक्स) वह कर है जो सरकार लोगों की आय पर आय में से लेती है। आयकर सरकारों के क्षेत्राधिकार के भीतर स्थित सभी संस्थाओं द्वारा उत्पन्न वित्तीय आय पर लागू होता है। कानून के अनुसार, प्रत्येक व्यवसाय और व्यक्ति कर देने या एक कर वापसी के लिए पात्र हैं, और उन्हें हर साल एक आयकर रिटर्न फाइल करना होता है। आयकर धन का एक महत्वपूर्ण स्रोत है जिसे सरकार अपनी गतिविधियों निधि और जनता की सेवा करने के लिए उपयोग करता है।

इनकम टैक्स कब लगता है स्लैब 2018-19

इनकम टैक्स कब लगता है स्लैब 2018-19 ?


  • 60 साल से कम आयु के लिए आयकर सिमाए


Income Tax Slab    -Income Tax Rates
रु. 2,50,000 से कम आय सालाना तो 
   -
कोई टैक्स नहीं 
कुल आय रु. 2,0000 से ज्यादा मगर रु. 5,00,000 से कम
10 प्रतिशत टैक्स लगेगा
कुल आय रु. 5,00,000 से ज्यादा मगर 10,00,000 से कम
20 प्रतिशत टैक्स लगेगा
कुल आय रु. 10,00,000 से ज्यादा 30 प्रतिशत टैक्स लगेगा
30 प्रतिशत टैक्स लगेगा


    60 साल से अधिक और 80 से कम आयु के लिए आयकर सिमाए


    Income Tax Slab    -Income Tax Rates
    3 लाख सालाना आय पर
       -
    कोई टैक्स नहीं 
    3 लाख से 5 लाख तक
    10 प्रतिशत टैक्स लगेगा
    5 लाख तक से 10 लाख तक
    20 प्रतिशत टैक्स लगेगा
    10 लाख से जितनी भी सालाना आय हो उस पर
    30 प्रतिशत टैक्स लगेगा
    80 साल से अधिक आयु के लिए आयकर सिमाए


    Income Tax Slab    -Income Tax Rates
    5 लाख सालाना आय पर
       -
    कोई टैक्स नहीं 
    5 लाख तक से 10 लाख तक
    20 प्रतिशत टैक्स लगेगा
    10 लाख से जितनी भी सालाना आय हो उस पर 
    30 प्रतिशत टैक्स लगेगा

    सरकार हमसे Income Tax क्यों वसूलती है ? इसका जवाब यह है की सरकार द्वारा अपने अधिकार क्षेत्र में निवासित लोगों एवं स्थापित संस्थानों को विभिन्न फैसिलिटी जैसे सुरक्षा से लेकर बिजली, सड़कें, पानी एवं अन्य एडमिनिस्ट्रेशन सेवाएँ और नागरिक सेवाएँ उपलब्ध करायी जाती हैं जिन्हें उपलब्ध कराने में भारी मात्रा में खर्च करने की आवश्यकता होती है | और अपने द्वारा किये गए इस खर्च की भरपाई सरकार द्वारा टैक्स लगाकर की जाती है। कर प्रणाली केवल भारत में ही चालित नहीं है अपितु पूरे विश्व में जितने भी देश हैं सबकी सरकारों द्वारा उनके नागरिकों एवं संस्थानों से कर वसूला जाता है ।